65 साल की उम्र में अकेले जीवन कैसे जिए?...


user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी परेशानी इस उम्र के लोगों की आम परेशानी है और ज्यादातर लोग इस उम्र में अकेले रह जाते हैं क्योंकि इस उम्र तक आते आते हैं दोनों में से किसी एक को चले जाना होता है और कोई एक पहले जाता है और जो बच जाता है उसके लिए अपना जीवन जीना बहुत दोपहर हो जाता है इसलिए बहुत जरूरी है कि आप से बाहर निकले और अपने आप को किसी पॉजिटिव चीज के साथ जुड़े हालांकि कहना बहुत आसान है और किसी को भी सीख देना तो बहुत ही आसान है लेकिन फिर भी मैं चाहूंगी कि आप अपने आप को इस परिस्थिति से बाहर निकाले अगर आपका घर परिवार है तो आप उन्हें अपना समय व्यतीत करें लेकिन मैं जानती हूं आजकल के बच्चे भी अपने आप में बिजी रहते हैं उनके पास इतना वक्त नहीं होता कि वह घर के बड़े बुजुर्गों को पूरा वक्त दे पाए इस उम्र में हमेशा वक्त की जरूरत होती है कोई हमारे पास बैठे कोई हो जो हमसे बातें करें यही हमारी इच्छा रहती है तो मुझे लगता है शिक्षा संस्थान में चले जाना चाहिए या किसी वृद्ध आश्रम में चले जाना चाहिए या किसी ऐसे गार्डन में अपना टाइम रोज शाम को 2 घंटे या रोज सुबह एक घंटा करना चाहिए आप लोगों को देखेंगे कि सिला के बच्चों को देखेंगे तो आप भी जीवन से भरपूर हो उठेंगे और जीने की इच्छा मेरी जाटनी क्योंकि जिन लोगों को देखकर ही हम जीने के प्रति आशान्वित होते हैं और अकेले रहकर हम अपने आप को ही बुरा समझने लगते हैं और चाहते हैं कि कब हमें बोतल से बाहर निकले तो बहुत जरूरी है कि आप

aapki pareshani is umr ke logo ki aam pareshani hai aur jyadatar log is umr mein akele reh jaate hain kyonki is umr tak aate aate hain dono mein se kisi ek ko chale jana hota hai aur koi ek pehle jata hai aur jo bach jata hai uske liye apna jeevan jeena bahut dopahar ho jata hai isliye bahut zaroori hai ki aap se bahar nikle aur apne aap ko kisi positive cheez ke saath jude halaki kehna bahut aasaan hai aur kisi ko bhi seekh dena toh bahut hi aasaan hai lekin phir bhi main chahungi ki aap apne aap ko is paristithi se bahar nikale agar aapka ghar parivar hai toh aap unhe apna samay vyatit kare lekin main jaanti hoon aajkal ke bacche bhi apne aap mein busy rehte hain unke paas itna waqt nahi hota ki vaah ghar ke bade bujurgon ko pura waqt de paye is umr mein hamesha waqt ki zarurat hoti hai koi hamare paas baithe koi ho jo humse batein kare yahi hamari iccha rehti hai toh mujhe lagta hai shiksha sansthan mein chale jana chahiye ya kisi vriddh ashram mein chale jana chahiye ya kisi aise garden mein apna time roj shaam ko 2 ghante ya roj subah ek ghanta karna chahiye aap logo ko dekhenge ki sila ke baccho ko dekhenge toh aap bhi jeevan se bharpur ho uthenge aur jeene ki iccha meri jatni kyonki jin logo ko dekhkar hi hum jeene ke prati ashanwit hote hain aur akele rahkar hum apne aap ko hi bura samjhne lagte hain aur chahte hain ki kab hamein bottle se bahar nikle toh bahut zaroori hai ki aap

आपकी परेशानी इस उम्र के लोगों की आम परेशानी है और ज्यादातर लोग इस उम्र में अकेले रह जाते ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन अगर 65 साल की उम्र हो गई है तो उसमें अकेले जीवन जो बिताने है वह बहुत ही ज्यादा मुश्किल होता है क्योंकि बहुत सारी समस्याएं भी होती है आज आशिकी हेल्थ इश्यूज भी बहुत ज्यादा होता है बट अगर आपको अकेले जीवन बिताना तो बेहतर होगा कि आप अपने आप को किसी चीज में इन वॉल कर ले चाहे तो वह आज आप के आस पास की कॉलोनी के बच्चों को पढ़ाना हो या फिर उसके अलावा आप का कोई भी छोटा सा पार्ट टाइम बिजनेस अगर आप करना चाहते तो वह भी कर सकते हैं कोई नौकरी कर सकते हैं या फिर अगर आप किसी धार्मिक कार्य से जुड़ जाएंगे या फिर किसी संस्था से जुड़ जाएंगे तो भी आपका जो है टाइम पास इसलिए हो सकता है और आप जो है अपने आप को बहुत खुशी महसूस करेंगे

lekin agar 65 saal ki umr ho gayi hai toh usme akele jeevan jo bitane hai vaah bahut hi zyada mushkil hota hai kyonki bahut saree samasyaen bhi hoti hai aaj aashiqui health issues bhi bahut zyada hota hai but agar aapko akele jeevan bitana toh behtar hoga ki aap apne aap ko kisi cheez mein in wall kar le chahen toh vaah aaj aap ke aas paas ki colony ke baccho ko padhana ho ya phir uske alava aap ka koi bhi chota sa part time business agar aap karna chahte toh vaah bhi kar sakte hain koi naukri kar sakte hain ya phir agar aap kisi dharmik karya se jud jaenge ya phir kisi sanstha se jud jaenge toh bhi aapka jo hai time paas isliye ho sakta hai aur aap jo hai apne aap ko bahut khushi mehsus karenge

लेकिन अगर 65 साल की उम्र हो गई है तो उसमें अकेले जीवन जो बिताने है वह बहुत ही ज्यादा मुश्क

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  280
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!