आपके जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव क्या रहा है?...


user

ER. ABHISHEK SIR

CEO , FOUNDER (MISHRA COMPETITION ZONE; PATNA)

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मैं इनिंग कॉलेज में था तो पल्सर बाइक हुआ करती थी भोपाल से मैंने किया जाए तो वहां पल्सर बाइक को मैंने 9 प्लस 1 महीने हंड्रेड प्लस भी कुछ समय के लिए कुछ समय कहने का मतलब कि 1 मिनट तक मैं हंड्रेड प्लस यानी कि 104 104 और मैंने पल्सर 220 को चलाया था तो यह हमारे जिंदगी का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव रहा है धन्यवाद

jab main inning college mein tha toh pulsar bike hua karti thi bhopal se maine kiya jaye toh wahan pulsar bike ko maine 9 plus 1 mahine hundred plus bhi kuch samay ke liye kuch samay kehne ka matlab ki 1 minute tak main hundred plus yani ki 104 104 aur maine pulsar 220 ko chalaya tha toh yeh hamare zindagi ka sabse romanchak aur paagalpani vala anubhav raha hai dhanyavad

जब मैं इनिंग कॉलेज में था तो पल्सर बाइक हुआ करती थी भोपाल से मैंने किया जाए तो वहां पल्सर

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  675
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अजीत एजुकेशन के दौरान फेल होना सबसे बड़ा रोमांचक का पागलपन दशहरा में जब नौकरी के लिए भटकना पड़ता जा रहा था मुझे घर जाते इंटरव्यू में फेल होता था पति से होते तो यह घर के लोग बाहर के लोग बोल देते कि नहीं कल अलग नहीं अनुभवानंद होता तो बदलने वाला है रहने वाला होगा तो सब कुछ सब का जवाब खुद मिल जाएगा इसके साथ में आगे बढ़ता है तो जो मैंने सोचा था कि सर आज मैं हूं आज भी मुझे गलत छुपाने में उसके लिए रोमांचित छोटी आगे बढ़ता रहता कुदरत का करिश्मा है कितना लेट कभी भोपाल की सफलता जरूर मिलती

ajit education ke dauran fail hona sabse bada romanchak ka paagalpani dussehra mein jab naukri ke liye bhatakana padta ja raha tha mujhe ghar jaate interview mein fail hota tha pati se hote toh yeh ghar ke log bahar ke log bol dete ki nahi kal alag nahi anubhvanand hota toh badalne vala hai rehne vala hoga toh sab kuch sab ka jawab khud mil jayega iske saath mein aage badhta hai toh jo maine socha tha ki sar aaj main hoon aaj bhi mujhe galat chhupaane mein uske liye romanchit choti aage badhta rehta kudrat ka karishma hai kitna late kabhi bhopal ki safalta zaroor milti

अजीत एजुकेशन के दौरान फेल होना सबसे बड़ा रोमांचक का पागलपन दशहरा में जब नौकरी के लिए भटकना

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  1733
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे कुछ नहीं आपके जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव के पागलपन वाला अनुभव को मेरे जीवन में कभी नहीं है अगर 15 से लिया जाता है या तो आपको काफी कमी से गुजर रहे हैं तो पागलपन अलार्म भव आपको होगा या आप तो काफी खुशी से गुजर रहे हैं तो पागलपन वाला नंबर होगा किसी व्यक्ति के जीवन में ऐसा पल नहीं आना चाहिए कि काफी वह खुश हो जाए जिससे पागल हो जाए या काफी हो कमी से ग्रसित होने लगे दुख से ग्रसित होने का पागल हो जाए ऐसा कुछ भी नहीं इसके लिए मध्यम मार्ग ऑफिस एक व्यक्ति के जीवन में होना चाहिए और रोमांचक पल की बात है तो अभी हाल ही में पूरी धाम को गया हुआ था वहां समुद्र में हम लोग स्नान किए और अभिषेक जी का दर्शन किए पुरी में जगन्नाथ जी का कोचिंग मेरे लिए रोमांचक पल रहा काफी हम लोग मैं मस्ती किए वह मेरे लिए रोमांचक पल रहा धन्यवाद

arre kuch nahi aapke jeevan mein ab tak ka sabse romanchak aur pagalpan vala anubhav ke pagalpan vala anubhav ko mere jeevan mein kabhi nahi hai agar 15 se liya jata hai ya toh aapko kaafi kami se gujar rahe hain toh pagalpan alarm bhav aapko hoga ya aap toh kaafi khushi se gujar rahe hain toh pagalpan vala number hoga kisi vyakti ke jeevan mein aisa pal nahi aana chahiye ki kaafi vaah khush ho jaaye jisse Pagal ho jaaye ya kaafi ho kami se grasit hone lage dukh se grasit hone ka Pagal ho jaaye aisa kuch bhi nahi iske liye madhyam marg office ek vyakti ke jeevan mein hona chahiye aur romanchak pal ki baat hai toh abhi haal hi mein puri dhaam ko gaya hua tha wahan samudra mein hum log snan kiye aur abhishek ji ka darshan kiye puri mein jagannath ji ka coaching mere liye romanchak pal raha kaafi hum log main masti kiye vaah mere liye romanchak pal raha dhanyavad

अरे कुछ नहीं आपके जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव के पागलपन वाला अनुभव

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  838
WhatsApp_icon
user

En Rajendra Kumar Joshi

Life Coach, Motivator

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी विवाह विवाह मेरे जीवन का सबसे रोमांचक और सबसे पागलपन वाला समय भाषण कहा जा सकता है

shadi vivah vivah mere jeevan ka sabse romanchak aur sabse paagalpani vala samay bhashan kaha ja sakta hai

शादी विवाह विवाह मेरे जीवन का सबसे रोमांचक और सबसे पागलपन वाला समय भाषण कहा जा सकता है

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  352
WhatsApp_icon
user

S.K.Singh

Founder, Disha Competitive Classes

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है काफी जीवन में अब तक सबसे रोमांचक पगला पर माला अनुभव कह रहा है दुनिया में नंबर 1 का विनर बनना चाहता है हर आदमी आवाज जाता है हर आदमी सोचता है कि मैं सबसे अच्छा विनर बनूंगा खेल जगत हो क्या बिजनेस लगा दो चार प्रतियोगिता की परीक्षाएं हो चाहे कॉलेज डिग्री हो इन वशी की डिग्री हो जहां पर संघर्ष करने के बाद आदमी नंबर वन ऊंचाई पर पहुंच नंबर वन का मन करता है नंबर वन का प्रयोग घोषित किया जाता है तब हर आदमी जो है अनुभव करता है रोमांच और अनुभव करता है अगर खेल के मैदानों में जीत गया जहां पर कई टीमें लड़ती है वहां पर भी उसकी बहुत आनंद आता है रोमांच होता है और पकड़ा या पर तोता परीक्षा में जहां पर लाखो लाखो स्टूडेंट जुटते हैं वहां पर हम सब करते हैं या कॉलेज यूनिवर्सिटी के परीक्षा हो वहां पर हम करते हैं सब से तब हमें मालूम बहुत होता है रोमांस और रोमांच होता है और पगला पर वहां पर बहुत आया अपनी खुशियों से झूम उठता है यह आदमी के लिए यह विनर बनने की इच्छा होता है दुनिया में हर इंसान अपने नंबर वन का विनर बनना चाहता है हम हो यार समझ दुनिया के कोई भी देती हो जब पत्रता परीक्षा में जीत हासिल हो जाती है या किसी गवर्नमेंट में अच्छे सर्विस के लिए जिसने रिजल्ट आ जाता है उस दिन बहुत आदमी रोमांच करता हम हो या दुनिया का समय कोई व्यक्ति हो या ऐसा मौका पर कोई ऐसा इंसान ना करें उसमें बहुत चाहता है

aapka prashna hai kaafi jeevan mein ab tak sabse romanchak pagla par mala anubhav keh raha hai duniya mein number 1 ka winner banana chahta hai har aadmi awaaz jata hai har aadmi sochta hai ki main sabse accha winner banunga khel jagat ho kya business laga do char pratiyogita ki parikshaen ho chahe college degree ho in vashi ki degree ho jaha par sangharsh karne ke baad aadmi number van uchai par pohch number van ka man karta hai number van ka prayog ghoshit kiya jata hai tab har aadmi jo hai anubhav karta hai romanch aur anubhav karta hai agar khel ke maidano mein jeet gaya jaha par kai teamen ladati hai wahan par bhi uski bahut anand aata hai romanch hota hai aur pakada ya par tota pariksha mein jaha par lakho lakho student jutte hain wahan par hum sab karte hain ya college university ke pariksha ho wahan par hum karte hain sab se tab humein maloom bahut hota hai romance aur romanch hota hai aur pagla par wahan par bahut aaya apni khushiyon se jhoom uthata hai yeh aadmi ke liye yeh winner banne ki iccha hota hai duniya mein har insaan apne number van ka winner banana chahta hai hum ho yaar samajh duniya ke koi bhi deti ho jab patrata pariksha mein jeet hasil ho jati hai ya kisi government mein acche service ke liye jisne result aa jata hai us din bahut aadmi romanch karta hum ho ya duniya ka samay koi vyakti ho ya aisa mauka par koi aisa insaan na karein usme bahut chahta hai

आपका प्रश्न है काफी जीवन में अब तक सबसे रोमांचक पगला पर माला अनुभव कह रहा है दुनिया में नं

Romanized Version
Likes  133  Dislikes    views  5752
WhatsApp_icon
user

कांति नेगी

अध्यापिका,ज्योतिष,वास्तुशास्त्री,अडवाइजर

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी जिंदगी का सबसे ज्यादा पागलपन वाला अनुभव रहा है मेरा नाम में बेसिक कैंप के लिए ट्रेन पर जाना पूरी दिल्ली में से हमसे दो लड़कियां चुनी गई थी और उस समय मैं सातवें आसमान में थी जब हम लोग उत्तरकाशी पहुंचे तो हमने सोचा कि जननी एक नॉर्मल ट्रिक होगा लेकिन जैसे जैसे दिन बढ़ते गए हमें जो रोमांच अनुभव हुआ उसका वर्णन में शब्दों में नहीं कर सकती पूरे भारत से पूरब पश्चिम उत्तर दक्षिण अलग अलग राज्य से लड़की आई थी सब के विचार सब का खानपान सब का पहनावा हर चीज शेयर करने को मिली इतनी अच्छी मेंटोस थी जिनके बारे में आपको बता नहीं सकती हमें बहुत ही मजे किए हम अपने पैकिंग किया अब बहुत सारे कंपटीशन में पार्टिसिपेट किया गंगोत्री यमुनोत्री गोमुख तक की यात्रा की और बीच-बीच में हम कैंप लगाते हुए चलते थे और इतनी मस्ती करते थे ऐसा नहीं है कि हमारे टीचर्स हमें डांटते रहते थे बट कभी-कभी तो वह भी हमारे साथ में शामिल हो जाते थे और इस तरीके से कैसे होंगे तब तीनों कार्टून कंप्लीट किया हमें खुद ही नहीं पता चला और जिस दिन हम घर वापस आ रहे थे उसकी आंखों में आंसू थे और ऐसा लग रहा था कि जैसे हम किसी अपने परिवार के सदस्य कोई और छोड़कर जा रहे हैं

meri zindagi ka sabse zyada paagalpani vala anubhav raha hai mera naam mein basic camp ke liye train par jana puri delhi mein se humse do ladkiyan chuni gayi thi aur us samay main satve aasman mein thi jab hum log Uttarkaashi pahuche toh humne socha ki janani ek normal trick hoga lekin jaise jaise din badhte gaye humein jo romanch anubhav hua uska varnan mein shabdo mein nahi kar sakti poore bharat se purab paschim uttar dakshin alag alag rajya se ladki I thi sab ke vichar sab ka khanpan sab ka pahanava har cheez share karne ko mili itni acchi mentos thi jinke bare mein aapko bata nahi sakti humein bahut hi maje kiye hum apne packing kiya ab bahut saare competition mein participate kiya gangotri yamunotri gomukh tak ki yatra ki aur beech beech mein hum camp lagate hue chalte the aur itni masti karte the aisa nahi hai ki hamare teachers humein dantate rehte the but kabhi kabhi toh wah bhi hamare saath mein shaamil ho jaate the aur is tarike se kaise honge tab tatvo cartoon complete kiya humein khud hi nahi pata chala aur jis din hum ghar wapas aa rahe the uski aankho mein aasu the aur aisa lag raha tha ki jaise hum kisi apne parivar ke sadasya koi aur chhodkar ja rahe hain

मेरी जिंदगी का सबसे ज्यादा पागलपन वाला अनुभव रहा है मेरा नाम में बेसिक कैंप के लिए ट्रेन प

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  855
WhatsApp_icon
user

Vivek Shukla

Life coach

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरी जिंदगी का सबसे रोमांचक और पागलपन का अनुभव एक बार मैंने क्लास में पूरी लड़कियों की अलअव्वाल लड़कों के सामने क्योंकि मैं गांव से बिलॉन्ग करता हूं मैं शहर का नहीं तो गांव में लड़के और लड़कियां टीचरों के सामने एक लड़की को प्रपोज किया था था जिसके कारण मुझे मार भी पड़ी तो मेरा नाम भी काट के निकाला गया था कि पेरेंट्स के जाने के लिए वापस लिखा गया लेकिन मैंने उस लड़की को बहुत ही ज्यादा सबके सामने प्रपोज किया था से काफी सारे लोग मेड बदनामी हुई हुई थी अभी काफी तक हद तक लोग मुझ तरह से भी थे लेकिन आज भी वह पल मुझे बहुत अच्छे से याद है और यह पल बहुत ही इज्जत लॉन्ग लॉन्ग टाइम का नहीं है अभी जस्ट ही माने दो या 3 साल पहले की बात है कि मैंने ऐसा काम किया था मैं योग भी हो गया था लेकिन काफी हद तक गांव में जानती है इसे गलत माना जाता है वह मेरे पास इसलिए मैं उसे प्यार बहुत ज्यादा था बाद में वह मान तो गई है लेकिन उसके परिवार वालों ने उसकी शादी इस कारण जल्दी कर दी

lekin meri zindagi ka sabse romanchak aur paagalpani ka anubhav ek baar maine class mein puri ladkiyon ki alavwal ladko ke saamne kyonki main gaon se Bilong karta hoon main sheher ka nahi toh gaon mein ladke aur ladkiyan ticharon ke saamne ek ladki ko propose kiya tha tha jiske kaaran mujhe maar bhi padi toh mera naam bhi kaat ke nikaala gaya tha ki parents ke jaane ke liye wapas likha gaya lekin maine us ladki ko bahut hi zyada sabke saamne propose kiya tha se kaafi saare log made badnami hui hui thi abhi kaafi tak had tak log mujh tarah se bhi the lekin aaj bhi wah pal mujhe bahut acche se yaad hai aur yeh pal bahut hi izzat long long time ka nahi hai abhi just hi maane do ya 3 saal pehle ki baat hai ki maine aisa kaam kiya tha main yog bhi ho gaya tha lekin kaafi had tak gaon mein jaanti hai ise galat mana jata hai wah mere paas isliye main use pyar bahut zyada tha baad mein wah maan toh gayi hai lekin uske parivar walon ne uski shadi is kaaran jaldi kar di

लेकिन मेरी जिंदगी का सबसे रोमांचक और पागलपन का अनुभव एक बार मैंने क्लास में पूरी लड़कियों

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  749
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

6:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मेरी जीवन में साधू सन्यासियों कभी विश्वास नहीं करता हूं मैंने बहुत कम साधू सन्यासियों को विश्वास के लायक नहीं खाएं क्योंकि अधिकांश जिनमें 90 पर्सेंट होते हैं स्वादु होते हैं 10 परसेंट ही साधु होते हैं जो सन्यासी होते हैं जो कुछ भजन करते हैं ईशा का चिंतन करते हैं गीत राखी होता है ऐसा ही एक नंबर समा रहा हूं मैं आपको कि जब मैं स्टूडेंट लाइफ में था कॉलेज में पढ़ा करता था एक बार हमारे कॉलेज का टू सरिस्का में घूमने के लिए पांडुपोल भरतरी आदि स्थान देखने के लिए गए हम लोग को भरतरी जी में एक साधु और साधु को हमने देखा हमारे लेक्चरर हमको वहां पर लेकर गए हम करीबन 55 विद्यार्थी थे लड़के लड़कियां थे और बंधु में जाकर क्यों माता जी के पैर को छुआ और उनकी देखा देखी सभी 54 विद्यार्थियों ने उनके जाकर पैरों पैरों कुछ हुआ मेरा वो आया तो मैंने हाथ जोड़कर ही प्रणाम क्या मैं पैर छूने के लिए नहीं गया इससे मेरे लेक्चर बंधु मुझसे नाराज भी हुए उन्होंने दृष्टि से देखा को दी तो करके देखा लेकिन मैंने उसकी परवाह नहीं की क्योंकि मैं मेरे विश्वास को नहीं तोड़ना चाहता था अब मैंने देखा कि उस साधु के मन में ना तो नाता कोई प्रेम था अपनी मस्त मस्त बैठा हुआ था एकदम कड़कड़ाती धूप थी और अचानक साधु को क्या हुआ उसने कहा बच्चों आप गर्मी में पसीने पसीने हो रहे हो आओ बैठो अभी थोड़ी देर में बरसात आने वाली करूं से बरसात आएगी और तुम लोग अपने-अपने बैठने का स्थान ढूंढो जहां पर तुम अपने प्राणों की रक्षा कर सको बहुत धन को बरसाने वाली हम सब ने ऊपर की तरफ देखा कि आसमान एकदम सूर्य तप्त आप आ रहा था बादलों के कहीं नामोनिशान नहीं थे और मैं सोच रहा था कि चिलम पी करके यह साधु लोग अधिकतर ऐसे ही बकवास किया करते हैं मैं भी अन्य साथियों की तरफ बैठ गया हम बातों में तल्लीन हो गए अचानक कि हमने देखा कि भयंकर काले बादल आए और उन्होंने आकर के सूर्य करो उसको रोक लिया चारों ओर अंधेरा सा छा गया और जब करीबन 15 मिनट के अंदर जब बरसात आई तो कदर मूसलाधार बरसात आई हम आश्चर्यचकित रह गए हमारे बंधु और जातियों का तो साधु के प्रति इतनी श्रद्धा हो गई कि वह उनके चरणों से लिपट गए थे महाराज जी क्या अब तुम जाएगी कैसे तुम्हारा रास्ता ही ब्लॉक हो जाएगा नदिया जाएंगी रास्ते में बड़ी समस्या हो गई और हंस-हंसकर की कहानी बच्चों यह तो मैं मान बच्चों को देख रहा था तुम पसीने में लथपथ थे गर्मी में परेशान थे सारे बन्नी जी परेशान होंगे इस गरीब पर इस गर्मी के बाद ज्यादातर सकते तो मैंने सोचा कि इन सब के लिए रखनी चाहिए पानी बरसना चाहिए ऐसा सोचकर कि ही यह बरसात भी है अब बंदिश मन में यह रहा था कि आखरी हो साथ हुई हुई कैसे मैं सभी के साथ वापस लौट कर के आ गया आ जाने के बाद दिन में अचानक की चार करने लगा उसके 5:00 बजे छठे रोज मैं अकेला ही वर्तनी के लिए गया वहां जाकर मिली अपने उस और साधु को देखा और उसने बिना मुझे पहचाने हुए ही तुम चुरा गए मैंने पूछा आपने मुझे पहचाना हां मैंने पहचाना तुम चार पांच रोज पहले आए थे कुछ कॉलेज के विद्यार्थी थे और सब ने मेरे चरणों को स्पर्श किया लेकिन तुम वहीं बैठे थे मैं समझ गया था कि आपके मन में आप गर्मी से त्रस्त हो परेशान हो तुम सभी साधुओं को एक साथ समझते हो सभी साधु संसार में स्वादु नहीं होते हैं कुछ वाकई सन्यासी होते हैं कुछ वाकई साधु होते हैं इसलिए मैंने बरसात का उस दिन तुम को दिखाया था मैं कि तब तक कप कपा गया मुझे आज भी याद आता है और मैंने उस साधु के चरण स्पर्श किए और आशीर्वाद दिया उसने कहा जाओ बस अभी तो सच ही बनोगे और बाकी की बातें आज मुझे सार्थक दिखाई देते हैं इसलिए बच्चों में क्या आज भी कहता हूं कि संसार में यदि आज भी अपनी रखता हूं कि नब्बे परसेंट साधु यह गेरुआ वस्त्र पहने हुए स्वादु लोग बोलते हैं जो चीज किस बात के लिए या अन्य इच्छाओं की पूर्ति करने के लिए लागू होने का ढोंग करते हैं लेकिन परसेंट आज भी ऐसे मे मानता हूं जो बाकी बीत रही हैं सन्यासी हैं तपस्वी हैं साधु हैं मैं उनको नमन करता हूं

main meri jeevan mein sadhu sanyasiyon kabhi vishwas nahi karta hoon maine bahut kam sadhu sanyasiyon ko vishwas ke layak nahi khayen kyonki adhikaansh jinmein 90 percent hote hai svaadu hote hai 10 percent hi sadhu hote hai jo sanyaasi hote hai jo kuch bhajan karte hai isha ka chintan karte hai geet rakhi hota hai aisa hi ek number sama raha hoon main aapko ki jab main student life mein tha college mein padha karta tha ek baar hamare college ka to sariska mein ghoomne ke liye pandupol bhartari aadi sthan dekhne ke liye gaye hum log ko bhartari ji mein ek sadhu aur sadhu ko humne dekha hamare Lecturer hamko wahan par lekar gaye hum kariban 55 vidyarthi the ladke ladkiyan the aur bandhu mein jaakar kyon mata ji ke pair ko chhua aur unki dekha dekhi sabhi 54 vidyarthiyon ne unke jaakar pairon pairon kuch hua mera vo aaya toh maine hath jodkar hi pranam kya main pair chune ke liye nahi gaya isse mere lecture bandhu mujhse naraz bhi hue unhone drishti se dekha ko di toh karke dekha lekin maine uski parvaah nahi ki kyonki main mere vishwas ko nahi todna chahta tha ab maine dekha ki us sadhu ke man mein na toh nataa koi prem tha apni mast mast baitha hua tha ekdam kadakadati dhoop thi aur achanak sadhu ko kya hua usne kaha baccho aap garmi mein pasine paseene ho rahe ho aao baetho abhi thodi der mein barsat aane wali karu se barsat aayegi aur tum log apne apne baithne ka sthan dhundho jaha par tum apne praanon ki raksha kar Sako bahut dhan ko barsane wali hum sab ne upar ki taraf dekha ki aasman ekdam surya tapt aap aa raha tha badalon ke kahin naamonishaan nahi the aur main soch raha tha ki chillam p karke yeh sadhu log adhiktar aise hi bakwas kiya karte hai bhi anya sathiyo ki taraf baith gaya hum baaton mein tallin ho gaye achanak ki humne dekha ki bhayankar kaale badal aaye aur unhone aakar ke surya karo usko rok liya charo aur andhera sa cha gaya aur jab kariban 15 minute ke andar jab barsat I toh kadar musalaadhaar barsat I hum ashcharyachakit reh gaye hamare bandhu aur jaatiyo ka toh sadhu ke prati itni shraddha ho gayi ki wah unke charno se lipat gaye the maharaj ji kya ab tum jayegi kaise tumhara rasta hi block ho jayega nadiya jayegi raste mein baadi samasya ho gayi aur hans hansakar ki kahani baccho yeh toh main maan baccho ko dekh raha tha tum pasine mein latpat the garmi mein pareshan the saare bani ji pareshan honge is garib par is garmi ke baad jyadatar sakte toh maine socha ki in sab ke liye rakhni chahiye pani barasna chahiye aisa sochkar ki hi yeh barsat bhi hai ab bandish man mein yeh raha tha ki aakhri ho saath hui hui kaise main sabhi ke saath wapas lot kar ke aa gaya aa jaane ke baad din mein achanak ki char karne laga uske 5:00 baje chhathe roj main akela hi vartani ke liye gaya wahan jaakar mili apne us aur sadhu ko dekha aur usne bina mujhe pehchane hue hi tum chura gaye maine puchha aapne mujhe pehchana haan maine pehchana tum char paanch roj pehle aaye the kuch college ke vidyarthi the aur sab ne mere charno ko sparsh kiya lekin tum wahi baithe the main samajh gaya tha ki aapke man mein aap garmi se trast ho pareshan ho tum sabhi sadhuon ko ek saath samajhte ho sabhi sadhu sansar mein svaadu nahi hote hai kuch vaakai sanyaasi hote hai kuch vaakai sadhu hote hai isliye maine barsat ka us din tum ko dikhaya tha main ki tab tak cup kapa gaya mujhe aaj bhi yaad aata hai aur maine us sadhu ke charan sparsh kiye aur ashirvaad diya usne kaha jao bus abhi toh sach hi banoge aur baki ki batein aaj mujhe sarthak dikhai dete hai isliye baccho mein kya aaj bhi kahata hoon ki sansar mein yadi aaj bhi apni rakhta hoon ki nabbe percent sadhu yeh gerua vastra pehne hue svaadu log bolte hai jo cheez kis baat ke liye ya anya ikchao ki purti karne ke liye laagu hone ka dhong karte hai lekin percent aaj bhi aise mein manata hoon jo baki beet rahi hai sanyaasi hai tapaswi hai sadhu hai unko naman karta hoon

मैं मेरी जीवन में साधू सन्यासियों कभी विश्वास नहीं करता हूं मैंने बहुत कम साधू सन्यासियों

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
user

ANIL SINGH

Business Man | Ex-Teacher

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक ऐसी चीज जिससे अपने कल्पना में सपने में ही देखा है या पाने का प्रयास किया विद्या को रियल में मिल जाए तो उसे रोमांच पर पागल पल पागलपन वाला नंबर और क्या हो सकता है

ek aisi cheez jisse apne kalpana mein sapne mein hi dekha hai ya pane ka prayas kiya vidya ko real mein mil jaye toh use romanch par Pagal pal paagalpani vala number aur kya ho sakta hai

एक ऐसी चीज जिससे अपने कल्पना में सपने में ही देखा है या पाने का प्रयास किया विद्या को रियल

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

2:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो यह 1993 93 की शायद बात रही होगी जब बम ब्लास्ट के मुंबई में बम ब्लास्ट के बाद में बहुत ज्यादा दंगा फसाद होने लग गया था एक शाम को चलाने लग गए थे मतलब जात पात के कारण एक धर्म विशेष से बहुत ज्यादा द्वेष की भावना हो गई थी तो उस समय हमारा नियम था कि मैं और मेरी एक सहेली हम लोग सुबह सुबह 5:00 5:30 बजे वॉक के लिए जाते थे वर्ली सी फेस की बात है वाक्य में जाते थे और आधा पौना घंटा वॉक करके आ जाते थे और मेरा काम था कि मैं उसको फोन करती और फिर वह हम नीचे मिलते और हम वॉक करने जाते लेकिन उस दिन ऐसा हुआ कि हमें पता ही नहीं चला और हम वॉक करने के लिए निकल गए जवाब रोसी फेस पर निकले तो हमने देखा कि अभी भी काफी अंधेरा है और काफी सन्नाटा है जबकि 5 5:30 थोड़ी चहल-पहल शुरू हो जाती है हमें समझ में नहीं आ रहा था कि क्या बात है ये इतना सन्नाटा क्यों है अब हम दोनों डरने लग गए वह करते समय हम यही डर के सोच रहे थे कि हम अकेले हैं डर लग रहा है क्या करें कैसे वॉक करें हमने देखा कि हमारे साथ साथ ही कुत्ता है वह भी चलने लग गया अब हम जहां आधा घंटा में वॉक कि वह बराबर हमारे साथ रहा या तो बैठ कर इंतजार करता हमारा उसके बाद में करीबन आधा किलो मीटर से भी कम दूरी पर ही फैसला उसके बाद में वह सी फेस से लेकर हमारे घर तक एकदम बिल्डिंग के गेट तक आया और फिर चला गया तो मतलब मुझे ऐसा लग रहा है कि जैसे ही यह कैसा रोमांचक अनुभव की और घर पर जब आकर हमने देखा कि मतलब हम पांच सवा पांच के बदले हम चार 4:15 बजे एक घंटा जल्दी निकल गया इसलिए इतना सन्नाटा था तो जब घर पर आकर हमने घड़ी देखी और फिर वह याद किया वह चंकी किस तरह से हम दोनों अकेले घूम जाए मुक्ता हमारी रखवाली कर रहा है मतलब हमने भगवान का इतना शुकराना किया कि ऐसे समय में भी पहले बात तो हमारी वह कि घूमना हमारे लिए बहुत ऐसा था उस क्षण को याद करके मतलब वह बहुत ही रोमांचक और पागलपन वाला ही अनुभव लगा कि कैसे-कैसे हमने किया और किस तरह से हमारी ईश्वर ने मदद की और हम सही सलामत आ गए वरना कोई भी हम को मुश्किलों का सामना कर सकता था लेकिन हम आ गए अभी भी यह प्रश्न देखकर को एकदम अनुभव से याद आ गया और फिर आपसे शेयर करने का मन कर गया थैंक यू

toh yeh 1993 93 ki shayad baat rahi hogi jab bomb blast ke mumbai mein bomb blast ke baad mein bahut zyada danga fasad hone lag gaya tha ek shaam ko chalane lag gaye the matlab jaat pat ke kaaran ek dharm vishesh se bahut zyada dvesh ki bhavna ho gayi thi toh us samay hamara niyam tha ki main aur meri ek saheli hum log subah subah 5:00 5:30 baje walk ke liye jaate the worli si face ki baat hai vakya mein jaate the aur aadha paunaa ghanta walk karke aa jaate the aur mera kaam tha ki main usko phone karti aur phir wah hum niche milte aur hum walk karne jaate lekin us din aisa hua ki humein pata hi nahi chala aur hum walk karne ke liye nikal gaye jawab rossi face par nikle toh humne dekha ki abhi bhi kaafi andhera hai aur kaafi sannata hai jabki 5 5:30 thodi chahal pahal shuru ho jati hai humein samajh mein nahi aa raha tha ki kya baat hai ye itna sannata kyon hai ab hum dono darane lag gaye wah karte samay hum yahi dar ke soch rahe the ki hum akele hai dar lag raha hai kya karein kaise walk karein humne dekha ki hamare saath saath hi kutta hai wah bhi chalne lag gaya ab hum jaha aadha ghanta mein walk ki wah barabar hamare saath raha ya toh baith kar intejar karta hamara uske baad mein kariban aadha kilo meter se bhi kam doori par hi faisla uske baad mein wah si face se lekar hamare ghar tak ekdam building ke gate tak aaya aur phir chala gaya toh matlab mujhe aisa lag raha hai ki jaise hi yeh kaisa romanchak anubhav ki aur ghar par jab aakar humne dekha ki matlab hum paanch sava paanch ke badle hum char 4:15 baje ek ghanta jaldi nikal gaya isliye itna sannata tha toh jab ghar par aakar humne ghadi dekhi aur phir wah yaad kiya wah chunky kis tarah se hum dono akele ghum jaye mukta hamari rakhawali kar raha hai matlab humne bhagwan ka itna shukrana kiya ki aise samay mein bhi pehle baat toh hamari wah ki ghumana hamare liye bahut aisa tha us kshan ko yaad karke matlab wah bahut hi romanchak aur paagalpani vala hi anubhav laga ki kaise kaise humne kiya aur kis tarah se hamari ishwar ne madad ki aur hum sahi salamat aa gaye varna koi bhi hum ko mushkilon ka samana kar sakta tha lekin hum aa gaye abhi bhi yeh prashna dekhkar ko ekdam anubhav se yaad aa gaya aur phir aapse share karne ka man kar gaya thank you

तो यह 1993 93 की शायद बात रही होगी जब बम ब्लास्ट के मुंबई में बम ब्लास्ट के बाद में बहुत ज

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  37
WhatsApp_icon
user

ktbhadawar

Student

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे रोमांचक और पागल पलवाना पागलपन वाला अनुभव कहीं रहा है कि जब हम स्वयं में आनंदित हो रहे हो हमारे शरीर के कड़कड़ के उस समय के छेड़छाड़ से आनंद प्रतीत हो रहा हो और हम शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ अति स्वस्थ हो और आनंद ही आनंद उमड़ रहा हो हमारा इतना आनंद हो कि हमारे सानिध्य में हमारे साथ रहने वाली जो मानवीय विभूतियां है उनको भी उस आनंद का सुख प्राप्त हो रहा हो ऐसा ही हमारे साथ जब होता है तब हैं बहुत आनंद होता है उसमें बस आनंद ही आनंद है नाराज है ना तो इस है ना मन बसता है ना मानसिक अवसाद है ना ही किसी प्रकार का कोई भी कष्ट है ना धन कमाने की लालसा है ना तो परम वैराग्य की भावना है लेकिन वह आनंद करने वाला बैरागी है यह मैं अवश्य कह सकता ऐसा आनंद रोमांचित होता है

sabse romanchak aur Pagal palvana pagalpan vala anubhav kahin raha hai ki jab hum swayam mein anandit ho rahe ho hamare sharir ke kadkad ke us samay ke chedchad se anand pratit ho raha ho aur hum sharirik va mansik roop se swasthya ati swasthya ho aur anand hi anand umad raha ho hamara itna anand ho ki hamare sanidhya mein hamare saath rehne wali jo manviya vibhutiyan hai unko bhi us anand ka sukh prapt ho raha ho aisa hi hamare saath jab hota hai tab hain bahut anand hota hai usme bus anand hi anand hai naaraj hai na toh is hai na man basta hai na mansik avsad hai na hi kisi prakar ka koi bhi kasht hai na dhan kamane ki lalasa hai na toh param varagya ki bhavna hai lekin vaah anand karne vala bairagi hai yah main avashya keh sakta aisa anand romanchit hota hai

सबसे रोमांचक और पागल पलवाना पागलपन वाला अनुभव कहीं रहा है कि जब हम स्वयं में आनंदित हो रहे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हमारी जिंदगी में अब तक की सबसे बड़ी रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव क्या रहा यह जान आप लोग जानते हैं कि हमारा स्कूल लाइफ हमारे नहीं हम सब का फुल लाइफ एक अलग ही दुनिया टाइप होता है ऐसा लगता है कि हम उसके जीवन भर तक नहीं निकल सके नहीं निकलना चाहते हैं उन्हें निकल सके तो एक इंसान का सबसे बेहतर और सबसे अच्छा लाइफ को स्कूल लाइफ ही होता है जहां हम ढेर सारी मस्तियां बहुत सारी पागलपंती जो हमने कभी किया भी नहीं ट्राई भी नहीं किया है वह हमें ट्राई करते हैं जो हम जो हमारे स्टाफ लाइफ हमें वह याद रहती है और हमेशा बोल सोचते हैं कि हां मुझे फिर वापस मिल जाए वह पल फिर थम जा हम फिर उस पल में जा सके तो हमारे लिए तो अब तक का सबसे बेस्ट पार्ट हमारा स्कूल लाइफ ही रहा है हम तो यही हम जानते हैं आप पता नहीं आप सब का क्या होगा अगर आपको अगर आप सब का भी कुछ है तो प्लीज कमेंट करके हमें बताइए हम भी थोड़ा जाने की और सब का क्या क्या टाइम है

ji hamari zindagi mein ab tak ki sabse badi romanchak aur paagalpani vala anubhav kya raha yeh jaan aap log jante hain ki hamara school life hamare nahi hum sab ka full life ek alag hi duniya type hota hai aisa lagta hai ki hum uske jeevan bhar tak nahi nikal sake nahi nikalna chahte hain unhein nikal sake toh ek insaan ka sabse behtar aur sabse accha life ko school life hi hota hai jaha hum dher saree mastiyan bahut saree pagalpanti jo humne kabhi kiya bhi nahi try bhi nahi kiya hai wah humein try karte hain jo hum jo hamare staff life humein wah yaad rehti hai aur hamesha bol sochte hain ki haan mujhe phir wapas mil jaye wah pal phir tham ja hum phir us pal mein ja sake toh hamare liye toh ab tak ka sabse best part hamara school life hi raha hai hum toh yahi hum jante hain aap pata nahi aap sab ka kya hoga agar aapko agar aap sab ka bhi kuch hai toh please comment karke humein bataye hum bhi thoda jaane ki aur sab ka kya kya time hai

जी हमारी जिंदगी में अब तक की सबसे बड़ी रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव क्या रहा यह जान आप लोग

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्कूल टाइम सबसे अच्छा रहा मेरा स्कूल टाइम सबसे रोमांचक और पागलपन बहुत ही अच्छा स्कूल और कॉलेज टाइम मिला तो उन्होंने बहुत बेस्ट है बहुत याद कर रहे

school time sabse accha raha mera school time sabse romanchak aur paagalpani bahut hi accha school aur college time mila toh unhone bahut best hai bahut yaad kar rahe

स्कूल टाइम सबसे अच्छा रहा मेरा स्कूल टाइम सबसे रोमांचक और पागलपन बहुत ही अच्छा स्कूल और कॉ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  54
WhatsApp_icon
user
0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी जिंदगी का सबसे रोमांचक पर वह है आज उनसे में शादी करने वाली हूं गाना तनी कमा रहे हैं और जब मैं पहली बार उनसे मिली से मेरी शादी होने वाली है अभी हुई नहीं तो जमीन से पहली बार मिली तो हमसे बातें स्टार होटल में बुलाया था तो मैं आकर गई तो इतनी ज्यादा हैंडसम थी मैं भी किशनत्तम उछल पड़ी अच्छा लगे मुझे पहली नजर

meri zindagi ka sabse romanchak par wah hai aaj unse mein shadi karne wali hoon gaana tani kama rahe hain aur jab main pehli baar unse mili se meri shadi hone wali hai abhi hui nahi toh jameen se pehli baar mili toh humse batein star hotel mein bulaya tha toh main aakar gayi toh itni zyada handsome thi main bhi kishanattam uchal padi accha lage mujhe pehli nazar

मेरी जिंदगी का सबसे रोमांचक पर वह है आज उनसे में शादी करने वाली हूं गाना तनी कमा रहे हैं औ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  60
WhatsApp_icon
user

Raimani Munda

social work

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव है कि मैं लोगों के बीच में जब भी काम करती हो उनके लिए काम करती हूं तो मुझे अलग खुशी होती है लोग मुझे तारीफ करते हैं मेरी सराहना करते हैं तो मुझे खुशी होती है

mere jeevan mein ab tak ka sabse romanchak aur paagalpani vala anubhav hai ki main logo ke beech mein jab bhi kaam karti ho unke liye kaam karti hoon toh mujhe alag khushi hoti hai log mujhe tareef karte hain meri sarahana karte hain toh mujhe khushi hoti hai

मेरे जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव है कि मैं लोगों के बीच में जब भी

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  495
WhatsApp_icon
user

MOHIT KUMAR

COMPANY WORKER

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो भाई मेरी लाइफ में जो अब तक सबसे रोमांचक स्थान आया मैं नहीं तेरी गया था और वहां का जो डर से था वह भूत देखने योग्य था और रात को तो ऐसे लगता था कि मानो दिवाली मनाई जा रही हो ऊंचे नीचे पहाड़ देखने में बहुत मजा आता था धन्यवाद

dekho bhai meri life mein jo ab tak sabse romanchak sthan aaya main nahi teri gaya tha aur wahan ka jo dar se tha wah bhoot dekhne yogya tha aur raat ko toh aise lagta tha ki maano diwali manai ja rahi ho unche niche pahad dekhne mein bahut maza aata tha dhanyavad

देखो भाई मेरी लाइफ में जो अब तक सबसे रोमांचक स्थान आया मैं नहीं तेरी गया था और वहां का जो

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  57
WhatsApp_icon
user

Mujahid

Expert Advisor

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा सबसे अच्छा अनुभव है मेरे जीवन का मैंने हंसी मजाक बहुत पल गुजारे अपने जीवन में मेरे फ्रेंड का साथ जो है ना मेरे लिए बहुत महाकाल पहले और अभी भी रखता है नहीं ऐसा नहीं फिर भी मैं जॉब की वजह से मैं अपने फ्रेंड को वक्त नहीं दे पाता क्योंकि वह जो दिन देना कॉलेज के मेरे इस मेरे कॉलेज के लिए मम्मा बहुत मिस करता हूं और वही मेरा वजन अच्छा पहले मेरे जीवनकाल पागलपन मैंने तब किया था जब अपने फ्रेंड के लिए ना किसी और के लड़कों के साथ लड़ाई की थी और बहुत पीटा था उनका मेरे कॉलेज के सो गई थी हमारे प्रति कम कुछ दे क्योंकि हमने उनको पीटा था भाई यह मेरा पागलपन था थैंक यू भाई

mera sabse accha anubhav hai mere jeevan ka maine hansi mazak bahut pal gujare apne jeevan mein mere friend ka saath jo hai na mere liye bahut mahakal pehle aur abhi bhi rakhta hai nahi aisa nahi phir bhi main job ki wajah se main apne friend ko waqt nahi de pata kyonki wah jo din dena college ke mere is mere college ke liye mumma bahut miss karta hoon aur wahi mera wajan accha pehle mere jeevankal paagalpani maine tab kiya tha jab apne friend ke liye na kisi aur ke ladko ke saath ladai ki thi aur bahut pita tha unka mere college ke so gayi thi hamare prati kam kuch de kyonki humne unko pita tha bhai yeh mera paagalpani tha thank you bhai

मेरा सबसे अच्छा अनुभव है मेरे जीवन का मैंने हंसी मजाक बहुत पल गुजारे अपने जीवन में मेरे फ्

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  44
WhatsApp_icon
user

Ramakant

Student

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब मैं दौड़ता था तो लोग मेरा मजाक उड़ाते चाहिए दौड़ने पाएगा इसकी नौकरी नहीं होगी जब मैं उनसे चैलेंज करता था आ जाओ मैं दौड़ता हूं तुम्हारे साथ देखता हूं तुम्हारे में कितना दम है जब मैं जाता तो मुझे बहुत खुशी है बहुत यह मेरा पागलपन था कि मैं जीत गया खड़ा दिवस

jab main daudata tha toh log mera mazak udate chahiye daudne payega iski naukri nahi hogi jab main unse challenge karta tha aa jao main daudata hoon tumhare saath dekhta hoon tumhare mein kitna dum hai jab main jata toh mujhe bahut khushi hai bahut yah mera pagalpan tha ki main jeet gaya khada divas

जब मैं दौड़ता था तो लोग मेरा मजाक उड़ाते चाहिए दौड़ने पाएगा इसकी नौकरी नहीं होगी जब मैं उन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

दिनेश कुमार

Social Activist/ Electronic And Domestic Appliances Maintenance And Repair

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हेन आई गोट मैरिड जब मेरी शादी हुई तो मैं 4 दिन तक सोया नहीं पहले चार नाइट मुझे नींद नहीं आई शादी से पहले और शादी के बाद भी इतना घबराया से महसूस कर रहा है यार पहली बार कैसे मिलूंगा अनजान लड़की है कि फोन पर बात हो चुकी थी लेकिन फिर भी फेस टू फेस सामने मिलना थोड़ा कितना अलग फीलिंग होती है ऐसा रोमांचक वैसे मुझे कभी नहीं दोबारा

when I goat married jab meri shadi hui toh main 4 din tak soya nahi pehle char night mujhe neend nahi I shadi se pehle aur shadi ke baad bhi itna ghabraya se mehsus kar raha hai yaar pehli baar kaise milunga anjaan ladki hai ki phone par baat ho chuki thi lekin phir bhi face to face saamne milna thoda kitna alag feeling hoti hai aisa romanchak waise mujhe kabhi nahi dobara

व्हेन आई गोट मैरिड जब मेरी शादी हुई तो मैं 4 दिन तक सोया नहीं पहले चार नाइट मुझे नींद नहीं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शांत बैठ कर दूसरे की बातों को चुनना और जवाब ना देना

shaant baith kar dusre ki baaton ko chunana aur jawab na dena

शांत बैठ कर दूसरे की बातों को चुनना और जवाब ना देना

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

kamlesh kawar

##जन्मना जायते शूद्र: कर्मणा द्विज उच्यते 🙏🙏🙏

5:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज का जो आपके प्रश्न है आपके जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक पागलपन वाला अनुभव क्या रहा है लेकिन के साथ मेरा जीवन से जुड़ा एक कहानी है मेरी वह कहानी को बताऊंगा और आपको शायद अच्छा लगेगा सेवंथ क्लास में हमसे एक क्लास ऊपर वाले भैया जब उनको पढ़ाई लिखाई से बोरिंग लगने लगा था तो हम लोगों को बुला लिया करते थे चार पांच लड़के जो भी और उसके बाद वह कहा करते थे मजाक मजाक में वह सिखाएं हमको कहते थे कि कैसे लड़कियों को पटाया जाए इंट्रस्टिंग कहानी सुनी प्यार से कैसे लड़कियों को पटाया जाए सारी बातें बताते तो हम को और कैसे लाइन मारा जाए भाषाओं करना है मजाक करना है मस्ती करना तो कैसे किया जाए तुम्हें करीबन फिर वह हम अपना से फिर आप मान गए हैं उन्हें तो यह तो बताए थे तो हमको याद है अनुमान है तो मेरा एक फ्रेंड था ना नहीं बताएंगे राम को एक फ्रेंड था वह मेरा बेड पढ़ते थे तो उनको पता नहीं एक लड़की से प्यार हो गया एक तरफा जो प्यार है वह हो गया तो आंखें हमको हम कहते थे कि हमको प्यार हो गया है कैसे पटाए यह वह कंफर्म पूरा मतलब क्या था जो भैया बताते थान भी इनको बता ही तुमको हम बोले ना कि देखिए आप जो है ना ऐसे ऐसे बताइए लड़की को पटाना चाहते मेरा ख्वाब उनका था उस वक्त पैसा हम ही बोले क्या पैसे से कीजिए पड़ जाएगी लड़की चाहिए दूसरा तलाशने की कोशिश की नहीं हुआ फिर आके उदासी हम इंतजार है कि नहीं हुआ यह हुआ हुआ हुआ आप क्या बताएं कोई बात नहीं एक दिन हो रहा था कि कंबाइंड क्लास था मेरा कंबाइंड क्लास था तो वह जो लड़के थे उनको हम कहें बोलिए किन को पटाए तो वह ऐसे ही एक लड़की इधर उधर हो कर रही थी तो उनका उनके तरफ इशारा किया उसको पटा कोई बात नहीं उस वक्त मेरा साइंस का क्लास चला था तो जब हम पैसा जो है भैया बताएं करते थे एक बार देखे लड़कियों का खतना कितना बल लड़की देखी थी कम से कम लड़की तो चले पचास बार देख चुके हैं हम तो नहीं रहे थे उनको कहे कि आप बिन तेरे यह कितना बारिश हुआ ऐसे ही होता था प्यार जो है उसके बाद समाप्त हो गया हम लोग क्लास से बाहर चले हैं और धीरे-धीरे बढ़ता रहा प्यार ऐसे ही होता रहा और उसके बाद फिर क्या था लेकिन चाहता है कि प्रपोज करें लड़कियों को जो है वह 411 दिन पहुंच जब भी कुछ उनके साथ एक और लड़की थी वह आई क्लास खाली था ऐसा कुछ सिचुएशन पूरा एकदम समझ लेना जब अंदर हमारे प्यार आ रहा मतलब कि हम अंदर आए तो अकेले हम अकेले भी कुछ बोलना हो तो हमको पता था फिर एक तुम ही उसके बाद मुझे लग रहा था कि ऐसा भी हो सकता है पटाने की भी उससे ऐसा होगा लेकिन उसके बाद से फिर जो भी था वहां पसंद को एक मौका मिला मेरे दोस्त जब आया तो अच्छा हुआ कि नहीं रहे उनके और हम अपना जो कैरियर है वह अच्छा से चालू रखे हैं और यह सबसे बढ़िया हमको सबसे मेरा जीवन का इंपॉर्टेंट इलाज करते तो शायद यह वीडियो आपको बताना चाह नहीं बता पाते

aaj ka jo aapke prashna hai aapke jeevan mein ab tak ka sabse romanchak pagalpan vala anubhav kya raha hai lekin ke saath mera jeevan se juda ek kahani hai meri vaah kahani ko bataunga aur aapko shayad accha lagega sevanth class mein humse ek class upar waale bhaiya jab unko padhai likhai se boaring lagne laga tha toh hum logo ko bula liya karte the char paanch ladke jo bhi aur uske baad vaah kaha karte the mazak mazak mein vaah sikhaye hamko kehte the ki kaise ladkiyon ko pataya jaaye interesting kahani suni pyar se kaise ladkiyon ko pataya jaaye saree batein batatey toh hum ko aur kaise line mara jaaye bhashaon karna hai mazak karna hai masti karna toh kaise kiya jaaye tumhe kariban phir vaah hum apna se phir aap maan gaye hai unhe toh yah toh bataye the toh hamko yaad hai anumaan hai toh mera ek friend tha na nahi batayenge ram ko ek friend tha vaah mera bed padhte the toh unko pata nahi ek ladki se pyar ho gaya ek tarfa jo pyar hai vaah ho gaya toh aankhen hamko hum kehte the ki hamko pyar ho gaya hai kaise pataye yah vaah confirm pura matlab kya tha jo bhaiya batatey than bhi inko bata hi tumko hum bole na ki dekhiye aap jo hai na aise aise bataye ladki ko patana chahte mera khwaab unka tha us waqt paisa hum hi bole kya paise se kijiye pad jayegi ladki chahiye doosra talashane ki koshish ki nahi hua phir aake udasi hum intejar hai ki nahi hua yah hua hua hua aap kya bataye koi baat nahi ek din ho raha tha ki Combined class tha mera Combined class tha toh vaah jo ladke the unko hum kahein bolie kin ko pataye toh vaah aise hi ek ladki idhar udhar ho kar rahi thi toh unka unke taraf ishara kiya usko pata koi baat nahi us waqt mera science ka class chala tha toh jab hum paisa jo hai bhaiya bataye karte the ek baar dekhe ladkiyon ka khatana kitna bal ladki dekhi thi kam se kam ladki toh chale pachaas baar dekh chuke hai hum toh nahi rahe the unko kahe ki aap bin tere yah kitna barish hua aise hi hota tha pyar jo hai uske baad samapt ho gaya hum log class se bahar chale hai aur dhire dhire badhta raha pyar aise hi hota raha aur uske baad phir kya tha lekin chahta hai ki propose kare ladkiyon ko jo hai vaah 411 din pohch jab bhi kuch unke saath ek aur ladki thi vaah I class khaali tha aisa kuch situation pura ekdam samajh lena jab andar hamare pyar aa raha matlab ki hum andar aaye toh akele hum akele bhi kuch bolna ho toh hamko pata tha phir ek tum hi uske baad mujhe lag raha tha ki aisa bhi ho sakta hai pataane ki bhi usse aisa hoga lekin uske baad se phir jo bhi tha wahan pasand ko ek mauka mila mere dost jab aaya toh accha hua ki nahi rahe unke aur hum apna jo carrier hai vaah accha se chaalu rakhe hai aur yah sabse badhiya hamko sabse mera jeevan ka important ilaj karte toh shayad yah video aapko bataana chah nahi bata paate

आज का जो आपके प्रश्न है आपके जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक पागलपन वाला अनुभव क्या रहा है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में पागलपन और रोमांचक भरा अनुभव यह रहा है कि मैंने अपनी इच्छा के अनुसार कार्य किया है और जो मैं चाहता था वह किया है जैसे कि मुझे कहीं जाना है तुम्हें जाता और वह उसका हमसे फालतू में नहीं मैंने आज तक से

mere jeevan mein paagalpani aur romanchak bhara anubhav yeh raha hai ki maine apni iccha ke anusaar karya kiya hai aur jo main chahta tha wah kiya hai jaise ki mujhe kahin jana hai tumhe jata aur wah uska humse faltu mein nahi maine aaj tak se

मेरे जीवन में पागलपन और रोमांचक भरा अनुभव यह रहा है कि मैंने अपनी इच्छा के अनुसार कार्य कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  21
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में रोमांचक दर्द हो रहा जब मैंने लोकसभा इंटरव्यू दिया और साक्षात्कार के दौरान यह पता चला मेरा हो गया और जब ज्वाइन करना था तो मैं हवन कराने के बाद व्यापार कराने के बाद मैं बाद में ज्वाइन किया वह मेरा पागलपन

mere jeevan mein romanchak dard ho raha jab maine lok sabha interview diya aur sakshatkar ke dauran yah pata chala mera ho gaya aur jab join karna tha toh main hawan karane ke baad vyapar karane ke baad main baad mein join kiya vaah mera paagalpan

मेरे जीवन में रोमांचक दर्द हो रहा जब मैंने लोकसभा इंटरव्यू दिया और साक्षात्कार के दौरान य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Dr. Dipak

sex specialist, Physiotherapist

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल तो बड़ा अच्छा भेजा हर किसी का रोमांच होता तो शायद मेरी लाइफ में ऐसा हुआ भी है मैं और मेरा फ्रेंड अभी लगता आप से 10 दिन पहले की बात है नया लेने से जा रहे थे ऊपर से फैजाबाद से वजह से शिरडी में जब से चला गया हमें अनफ्रेंड मुझे उसे संभाल ले गया वह ऐसे मुझ को संभालना है उसको पकड़ कर उसको ही गिरा दिया उसको गिरजाघर करते हैं मैं भी कुछ ऐसे पीछे गिर गया उसका शादी वालों से ढका नाल तेरे जैसे लग रहा है चौधरी साहब पागलपन जसोदा क्रिएट हुआ ना दिल से दूर साथ रहो तो उसने फोटो क्लिक कर लिया मेरे उसके से गिरे हुए अजागम गिर गए थे उसे कैसे साफ फोटो क्लिक किए तो यह घड़ी अगर हम पर हमला किया सेंटर पर झाइयां तरह से उत्तेजित से दूसरे से फिसल गया उसी तरह के

yah sawaal toh bada accha bheja har kisi ka romanch hota toh shayad meri life mein aisa hua bhi hai aur mera friend abhi lagta aap se 10 din pehle ki baat hai naya lene se ja rahe the upar se faizabad se wajah se shirdi mein jab se chala gaya hamein anafrend mujhe use sambhaal le gaya vaah aise mujhse ko sambhaalna hai usko pakad kar usko hi gira diya usko girjaghar karte hain main bhi kuch aise peeche gir gaya uska shadi walon se dhaka naal tere jaise lag raha hai choudhary saheb pagalpan jasoda create hua na dil se dur saath raho toh usne photo click kar liya mere uske se gire hue ajagam gir gaye the use kaise saaf photo click kiye toh yah ghadi agar hum par hamla kiya center par jhaiyan tarah se uttejit se dusre se fisal gaya usi tarah ke

यह सवाल तो बड़ा अच्छा भेजा हर किसी का रोमांच होता तो शायद मेरी लाइफ में ऐसा हुआ भी है मैं

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  357
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में सबसे ज्यादा रोमांचक और यही कहेगी पागलपन वाला अनुभव यह रहा कि जब मैं सेवंथ क्लास में थी तब मैं कोई एक रोमांटिक सा सीरियल आता था मुझसे काफी ज्यादा फॉलो कर दी तो बहुत ज्यादा उसे पसंद करते तो मैं कंट्री बस उसे देखती थी कभी-कभी स्कूल भी जाना मैंने छोड़ दिया ना कि मुझे डांट खानी पड़ी खूब पिटाई के बावजूद भी मैंने उस सीरियल देखना बंद नहीं किया तो रोमांच से बोलेंगे क्योंकि मैं उसको बंद करके आते थे देखने पागलपन यह कहे कि मैं उसके लिए बहुत ज्यादा पागल थी तो आप समझ सकते हैं यह इसकी भी पागल है तो हमारे टाइम पे तुम कुछ ऐसा होता भी नहीं तो और मैं उस समय रोमांटिक को सीरियल आता था तो मैं उसको देखती थी तो मेरे लिए जब सदा पागलपन यही है

mere jeevan me sabse zyada romanchak aur yahi kahegi pagalpan vala anubhav yah raha ki jab main sevanth class me thi tab main koi ek romantic sa serial aata tha mujhse kaafi zyada follow kar di toh bahut zyada use pasand karte toh main country bus use dekhti thi kabhi kabhi school bhi jana maine chhod diya na ki mujhe dant khaani padi khoob pitai ke bawajud bhi maine us serial dekhna band nahi kiya toh romanch se bolenge kyonki main usko band karke aate the dekhne pagalpan yah kahe ki main uske liye bahut zyada Pagal thi toh aap samajh sakte hain yah iski bhi Pagal hai toh hamare time pe tum kuch aisa hota bhi nahi toh aur main us samay romantic ko serial aata tha toh main usko dekhti thi toh mere liye jab sada pagalpan yahi hai

मेरे जीवन में सबसे ज्यादा रोमांचक और यही कहेगी पागलपन वाला अनुभव यह रहा कि जब मैं सेवंथ क्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Deepti

12 pass out

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल तो मेरे जीवन से जीवन का मेरे हर दिन से जुड़ा हुआ है आपके जीवन में अब तक का सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव क्या रहा है मुझे लगता है कि मेरे लिए मेरा हर दिन हर एक घंटा और हर एक पल हमेशा पागलपन और रोमांचक ही रहता है क्योंकि मैं अपनी लाइफ को सिर्फ इंजॉय करती हूं मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कब आ गए मेरे फ्यूचर में क्या होने वाला या फिर मेरे पास में क्या हुआ था मैं हमेशा प्रजेंट में जीती हूं और मुझे लगता है कि हम सबको प्रजेंट में ही जीना चाहिए क्योंकि हम जो फालतू की टेंशन लेते हैं जिससे ना तो जिस नाम कभी सुधार सकते हैं ना हम उसे कभी ठीक कर सकते हैं तो जो पास की टेंशन ले रहा है वह तो बेकार है जो भी हो चुका है और जो फ्यूचर है वह होने वाला है तो हमें उन दोनों के बारे में सोच कर कोई टेंशन नहीं लीजिए और हम प्रजेंट में तो हमें खुल कर जीना चाहिए और हर मूवमेंट को इंजॉय करना चाहिए क्योंकि यह हमारी जिंदगी थोड़ी सी लड़की जो कि हमें भी नहीं पता कि कितना टाइम है हमारे पास इतना टाइम नहीं है तो इसीलिए हमें कान्हा जी और फुल पागलपंती करनी चाहिए इसीलिए मैं तो हम हर एक पल को इंजॉय करके जीती है और यह सवाल मुझे बहुत अच्छा लगा

yeh sawal toh mere jeevan se jeevan ka mere har din se juda hua hai aapke jeevan mein ab tak ka sabse romanchak aur paagalpani vala anubhav kya raha hai mujhe lagta hai ki mere liye mera har din har ek ghanta aur har ek pal hamesha paagalpani aur romanchak hi rehta hai kyonki main apni life ko sirf enjoy karti hoon mujhe koi fark nahi padta ki kab aa gaye mere future mein kya hone vala ya phir mere paas mein kya hua tha main hamesha present mein jeeti hoon aur mujhe lagta hai ki hum sabko present mein hi jeena chahiye kyonki hum jo faltu ki tension lete hain jisse na toh jis naam kabhi sudhaar sakte hain na hum use kabhi theek kar sakte hain toh jo paas ki tension le raha hai wah toh bekar hai jo bhi ho chuka hai aur jo future hai wah hone vala hai toh humein un dono ke bare mein soch kar koi tension nahi lijiye aur hum present mein toh humein khul kar jeena chahiye aur har movement ko enjoy karna chahiye kyonki yeh hamari zindagi thodi si ladki jo ki humein bhi nahi pata ki kitna time hai hamare paas itna time nahi hai toh isliye humein kanha ji aur full pagalpanti karni chahiye isliye main toh hum har ek pal ko enjoy karke jeeti hai aur yeh sawal mujhe bahut accha laga

यह सवाल तो मेरे जीवन से जीवन का मेरे हर दिन से जुड़ा हुआ है आपके जीवन में अब तक का सबसे रो

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  567
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने जीवन में अभी तक मैंने रोमांटिक की बातें कुछ अपने ऊपर खास नहीं सूची बट मैं एक बात बताता हूं मैं भैया के साली का शादी होगा मैं वहां पर गया वहां पर जितने भी पहली लोग थे भैया की साली की सहेली में मुझे डांस करने की करने में मजबूर कर दिया और मैं नहीं चाहता कि इन सबका दिल तोड़े मैंने कुछ ठुमके लगाए मुझे तो लगता है कि सबसे रोमांचक और पागलपन वाली बात यही हो सकती है और वैसा कोई वजह नहीं है और नहीं मेरा साथ कभी हुआ है

apne jeevan mein abhi tak maine romantic ki batein kuch apne upar khaas nahi suchi but main ek baat batata hoon main bhaiya ke saali ka shadi hoga main wahan par gaya wahan par jitne bhi pehli log the bhaiya ki saali ki saheli mein mujhe dance karne ki karne mein majboor kar diya aur main nahi chahta ki in sabka dil tode maine kuch thumke lagaye mujhe toh lagta hai ki sabse romanchak aur paagalpani wali baat yahi ho sakti hai aur waisa koi wajah nahi hai aur nahi mera saath kabhi hua hai

अपने जीवन में अभी तक मैंने रोमांटिक की बातें कुछ अपने ऊपर खास नहीं सूची बट मैं एक बात बता

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  23
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन का अब तक सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव अपने अपने फ्रेंड सब के साथ में थोड़ा बहुत मस्ती करना और खुद को खुद को अन्ना के सामने सामने रख कर और अपने आप से बात करना यही मेरे देश का रोमांचक और पागलपन वाली बातें और खूब हंसना

mere jeevan ka ab tak sabse romanchak aur paagalpani vala anubhav apne apne friend sab ke saath mein thoda bahut masti karna aur khud ko khud ko anna ke saamne saamne rakh kar aur apne aap se baat karna yahi mere desh ka romanchak aur paagalpani wali batein aur khoob hansana

मेरे जीवन का अब तक सबसे रोमांचक और पागलपन वाला अनुभव अपने अपने फ्रेंड सब के साथ में थोड़ा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
user

Pinki Kumari

Mai Ek Student Hu

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे जीवन में सबसे रोमांचक पार्टी में हस्बैंड के साथ मेरी यादें और वही मेरा पागलपन भी है

hamare jeevan mein sabse romanchak party mein husband ke saath meri yaadain aur wahi mera paagalpani bhi hai

हमारे जीवन में सबसे रोमांचक पार्टी में हस्बैंड के साथ मेरी यादें और वही मेरा पागलपन भी है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user

ओम प्रकाश यादव

अध्यापक, काउंसलर

3:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2003 में जब हम एक दूसरे से अलग हुए चाहे कोई भी कारण रहा क्योंकि यह भी सच्चाई है क्या ब्लेम करूं किसी को ना वह बेवफा थे ना हम बेवफा से बेवफा तो निकले ये रस्मो रिवाज इस बिना पर हम अलग हुए और उन 17 सालों में धन दोनों के अलग अलग परिवार हो गए बच्चे हो गए वह कहीं मैं कहीं उन्होंने तो शायद मुझे भुला भी दिया लेकिन एक दिन ऐसा नहीं गया है इन सालों में कि मुझे याद ना कर पाया हूं और उनको मैं तब ऑरकुट चल रहा था शुरू में ऑरकुट पर मैं ढूंढता था गूगल पर मैं ढूंढता था यह ऊपर में ढूंढता था यह नहीं था उस समय फेसबुक का जो है सोशल साइट इस तरह के नहीं थे कभी तुम नहीं थे तो सब जगह उनके नाम को मैं सर्च मारता राम मैंने कम से कम उनके नाम के हजारों लोग ढूंढे क्योंकि नाम से सर्च तो हो जाता था लेकिन वह है कौन यह नहीं पता चल रहा था अब 2015 में 2003 के बाद में 2015 में मैंने इनको फेसबुक पर सर्च किया तो भगवान के ही कृपा हुई कि वह मिल गए मुझे और मैंने उनको रेगुलर 1 महीना 2 महीना 6 महीने पर मैसेज करता रहा 1 दिन अचानक से 22 जून 2018 को मुझे उनका फोन आया उन्होंने मेरे से बात की और सच मानो यह सब बोलते हुए भी मेरे रोंगटे खड़े हो रहे मैं इतना इतना अभिभूत हो गया इतना पागल हो गया कि मेरी खुशी का ठिकाना ना रहा उन्होंने मुझसे बहुत सारी बातें कि उसी क्षण बात होने के बाद में उन्होंने कहा कि चलो ठीक है हम लोगों का बात करना ठीक नहीं है बाकी तुम ठीक रहना इतना कहने पर मैंने उनको ब्लॉक कर दिया क्योंकि मैं सोच रहा था कि मुझे भूल बैठे हैं अब काहे की बातें होनी है लेकिन उनको ब्लॉक करने के बाद उन्होंने फिर मुझे चेक किया ब्लॉक होने की वजह से उन्होंने मुझे मैसेज किया कि तुमने मुझे ब्लॉक किया है ऐसा लग रहा है कि मेरी सांसे रुक गई है बस यह कहना उनका मेरे जीवन की सबसे बड़ा तोहफा था सबसे बड़ी झील लगन थी उसका प्रतिफल था और कहीं ना कहीं उसके बाद में आज 1 साल हो गया है 1 साल से ज्यादा हो गए कुछ दिन हम कंटिन्यू है बीच में बहुत बार मैं उनको छोड़ने की कोशिश करता हूं क्योंकि उनके बगैर मुझे जीना पड़ रहा है मेरे लिए सबसे ज्यादा दुखदाई है तो यह मेरा जो अनुभव है मैं आपके साथ शेयर कर रहा हूं तो दोस्तों किसी भी अपने प्रिय जन को जो आपसे प्रेम करते हैं उनसे दूर लगाइए कुछ समस्या है तो समाधान कीजिए मैं नहीं कर पाया था मुझ में साहस नहीं था

2003 mein jab hum ek dusre se alag hue chahe koi bhi kaaran raha kyonki yeh bhi sacchai hai kya blame karu kisi ko na wah bewafaa the na hum bewafaa se bewafaa toh nikle ye rasmo rivaaj is bina par hum alag hue aur un 17 salon mein dhan dono ke alag alag parivar ho gaye bacche ho gaye wah kahin main kahin unhone toh shayad mujhe bhula bhi diya lekin ek din aisa nahi gaya hai in salon mein ki mujhe yaad na kar paya hoon aur unko main tab orkut chal raha tha shuru mein orkut par main dhundhta tha google par main dhundhta tha yeh upar mein dhundhta tha yeh nahi tha us samay facebook ka jo hai social site is tarah ke nahi the kabhi tum nahi the toh sab jagah unke naam ko main search maarta ram maine kam se kam unke naam ke hazaro log dhundhe kyonki naam se search toh ho jata tha lekin wah hai kaun yeh nahi pata chal raha tha ab 2015 mein 2003 ke baad mein 2015 mein maine inko facebook par search kiya toh bhagwan ke hi kripa hui ki wah mil gaye mujhe aur maine unko regular 1 mahina 2 mahina 6 mahine par massage karta raha 1 din achanak se 22 june 2018 ko mujhe unka phone aaya unhone mere se baat ki aur sach maano yeh sab bolte hue bhi mere rongate khade ho rahe main itna itna abhibhut ho gaya itna Pagal ho gaya ki meri khushi ka thikana na raha unhone mujhse bahut saree batein ki usi kshan baat hone ke baad mein unhone kaha ki chalo theek hai hum logo ka baat karna theek nahi hai baki tum theek rehna itna kehne par maine unko block kar diya kyonki main soch raha tha ki mujhe bhul baithe hain ab kaahe ki batein honi hai lekin unko block karne ke baad unhone phir mujhe check kiya block hone ki wajah se unhone mujhe massage kiya ki tumne mujhe block kiya hai aisa lag raha hai ki meri saase ruk gayi hai bus yeh kehna unka mere jeevan ki sabse bada tohfa tha sabse badi jheel lagan thi uska pratiphal tha aur kahin na kahin uske baad mein aaj 1 saal ho gaya hai 1 saal se zyada ho gaye kuch din hum continue hai beech mein bahut baar main unko chodane ki koshish karta hoon kyonki unke bagair mujhe jeena pad raha hai mere liye sabse zyada dukhdayi hai toh yeh mera jo anubhav hai aapke saath share kar raha hoon toh doston kisi bhi apne priya jan ko jo aapse prem karte hain unse dur lagaaiye kuch samasya hai toh samadhan kijiye main nahi kar paya tha mujhme saahas nahi tha

2003 में जब हम एक दूसरे से अलग हुए चाहे कोई भी कारण रहा क्योंकि यह भी सच्चाई है क्या ब्लेम

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
percentage nikalna sikhayen ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!