जो जीवन आप अभी जी रहे हैं, क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे?...


user

Sachin Sinha

Journalist

2:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल बिल्कुल बिल्कुल अगर आपको जो जीवन जी रहे हैं उससे आप हंड्रेड परसेंट में अगर आप पसंद है वो बापू जीवन से खुश हैं 90% मैंने आपको यह लगता है कि कुछ नहीं सब कुछ हो गया अब यहां शाम को सिर्फ आगे बढ़ना है और भगवान का दिया सब कुछ है और जो हम तनिक काम कर रहे हैं जो लोगों को या मंदिरों में जो बांधकाम हम पर रहे हैं जो हम कमाते हैं सरकार को टैक्स ग्रुप में भेज रहे हैं अपने बच्चों को हम धनसंपदा ले रहे हैं और घर में बीवी खुश है बच्चे खुश हैं बुजुर्ग मां पिताजी खुश दवा दारू जिंदाबाद बोला जाता है दवा दारू चल रही है बढ़िया से इसके बाद आपको यहां से और कुछ भी नहीं लगता और यह जीवन जो अब जी रहे हैं फिर जहां पर हंड्रेड में 90 परसेंट तक आपको यह लगता है सर्टिफाइड है आप बिल्कुल वह जीवन आपके लिए बिल्कुल सही है और उतना ही आप जिए और वहीं अब तो जीने का तरीका होना चाहिए और वसई जी बिल्कुल हंड्रेड परसेंट मैं अपनी पसंद कर रहे हैं तो कोई दिक्कत नहीं है बिल्कुल को कम मत समझना और जनक प्रति आप उत्तर दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं और थोड़ा वक्त आप अपने आप को ही दे रहे हैं अब तो दे रहे हैं दान धर्म करता है वह काम भी कर रहे हैं आप उनकी मदद भी कर रहे हैं टाइम निकालकर तो यह बहुत अच्छी बात है आप कुछ ना कुछ खाली टाइम मिले तो सोचना बिल्कुल अनपढ़ ले रहे हैं थोड़ा वक्त घर के हर सदस्य को शांत गुजार ले रहे हैं बस यह जीवन आपके लिए बहुत बेहतर है और इससे कीजिए

bilkul bilkul bilkul agar aapko jo jeevan ji rahe hain usse aap hundred percent me agar aap pasand hai vo bapu jeevan se khush hain 90 maine aapko yah lagta hai ki kuch nahi sab kuch ho gaya ab yahan shaam ko sirf aage badhana hai aur bhagwan ka diya sab kuch hai aur jo hum tanik kaam kar rahe hain jo logo ko ya mandiro me jo bandhakam hum par rahe hain jo hum kamate hain sarkar ko tax group me bhej rahe hain apne baccho ko hum dhanasampada le rahe hain aur ghar me biwi khush hai bacche khush hain bujurg maa pitaji khush dawa daaru zindabad bola jata hai dawa daaru chal rahi hai badhiya se iske baad aapko yahan se aur kuch bhi nahi lagta aur yah jeevan jo ab ji rahe hain phir jaha par hundred me 90 percent tak aapko yah lagta hai Certified hai aap bilkul vaah jeevan aapke liye bilkul sahi hai aur utana hi aap jiye aur wahi ab toh jeene ka tarika hona chahiye aur vasai ji bilkul hundred percent main apni pasand kar rahe hain toh koi dikkat nahi hai bilkul ko kam mat samajhna aur janak prati aap uttar dayitva ka nirvahan kar rahe hain aur thoda waqt aap apne aap ko hi de rahe hain ab toh de rahe hain daan dharm karta hai vaah kaam bhi kar rahe hain aap unki madad bhi kar rahe hain time nikalakar toh yah bahut achi baat hai aap kuch na kuch khaali time mile toh sochna bilkul anpad le rahe hain thoda waqt ghar ke har sadasya ko shaant gujar le rahe hain bus yah jeevan aapke liye bahut behtar hai aur isse kijiye

बिल्कुल बिल्कुल बिल्कुल अगर आपको जो जीवन जी रहे हैं उससे आप हंड्रेड परसेंट में अगर आप पसंद

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  561
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी हां जो जीवन जी रहा हूं वही जीवन है जो मैंने चुना है और जो मैं चाहता था जो मैं करना चाहता था मेरी लाइफ में मैं अभी नहीं करना चाहता था जो मैं अभी ऐड ड्रामा नाटक डायरेक्शन यही सब करना चाहता था वही सब कर रहा हूं और मैं चाहता था कि मैं लोगों को शिक्षित कर लूंगा लोगों को शिक्षित कर रहा हूं मैं चाहता था कि लोग मेरा नाम पहचाने तो आज आप गूगल करेंगे कास्टिंग डायरेक्टर संजय चौहान तो आप मेरा नाम भी पहचान पाएंगे कि मैंने किस हद तक काम किया है यह मैं किस हद तक का चाहता हूं और भी मैं चाहता चाहता हूं कि मैं और भी बड़ा करूं तो मैं कर रहा हूं मेरे खुद के एक्टिंग क्लासेस ए मेरी खुद की बॉक्स ऑफिस होती है मेरे ड्रामा सोते हैं तो यही जीवन में ने चुना था और मैं यही कर रहा हूं और मैं मुझे बहुत खुशी होती है मैं अपने जीवन के 16 17 घंटे नाटक एक्टिव मोरिनी में देता हूं 2 घंटे मेरे खाने पीने में जाते हैं और 6 घंटे में रह जाते हैं तू ही मेरा जीवन है

han G han jo jeevan G raha hoon wahi jeevan hai jo maine chuna hai aur jo main chahta tha jo main karna chahta tha meri life mein main abhi nahin karna chahta tha jo main abhi aed DRAMA natak dayrekshan yhy sub karna chahta tha wahi sub kar raha hoon aur main chahta tha ki main logon ko shikshit kar lunga logon ko shikshit kar raha hoon main chahta tha ki log mera naam pehechane to aj aap google karenge casting director sanjay chauhan to aap mera naam bhi pehchan paenge ki maine kis hada tak kaam kiya hai yeh main kis hada tak ka chahta hoon aur bhi main chahta chahta hoon ki main aur bhi bara karoon to main kar raha hoon mere khud k ekting classes a meri khud ki box office hoti hai mere DRAMA sote hain to yhy jeevan mein ne chuna tha aur main yhy kar raha hoon aur main mujhe bahut khushi hoti hai main apne jeevan k 16 17 ghante natak actv morini mein deta hoon 2 ghante mere khane peene mein jaate hain aur 6 ghante mein rah jaate hain tu hee mera jeevan hai

हां जी हां जो जीवन जी रहा हूं वही जीवन है जो मैंने चुना है और जो मैं चाहता था जो मैं करना

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या हुआ ही जीवन है जो आप चाहते हैं जी हां मैं तो वही जीवन जी रहा हूं जो मैं चाहता था और आगे भी उसी तरह पढ़ रहा हूं जो मैच आ रहा हूं क्योंकि मेरे गोल के लिए आ रहे हैं मेरे विचार के लिए अब हैं और मेरे स्किल्स बिल्डिंग अपने डेवलप कर रहा हूं तो इसमें कोई दो राय नहीं है आप भी यदि ऐसा चाहते हैं तो आप हमारे वेबसाइट पर जाकर क्या अपने आप को रजिस्टर करें केकेआईए guru.com इसमें हम लाइव सेमिनार वर्कशॉप करते रहते हैं काफी फ्री सशंस भी अभी हम लोग डाउनरेगुलेशन में करने तो आप हमारे सोशल हैंड है उस पर भी जाकर अपने आप को हमारे पास मैसेज भेज सकते हैं हमारी टीम आप को गाइड कर देगी आईडी पासवर्ड दे देगी ऑनलाइन की टाइमिंग शो हो रही है उनकी जिससे कि आप अपने घर पर बैठकर से कैसे अपने सपनों को पूरा करें कैसे अपनी जिंदगी को बेहतर बनाएं जय हिंद जय भारत आपका

namaskar aapka sawaal hai jo jeevan aap abhi ji rahe hain kya hua hi jeevan hai jo aap chahte hain ji haan main toh wahi jeevan ji raha hoon jo main chahta tha aur aage bhi usi tarah padh raha hoon jo match aa raha hoon kyonki mere gol ke liye aa rahe hain mere vichar ke liye ab hain aur mere skills building apne develop kar raha hoon toh isme koi do rai nahi hai aap bhi yadi aisa chahte hain toh aap hamare website par jaakar kya apne aap ko register kare KKIA guru com isme hum live seminar workshop karte rehte hain kaafi free sashans bhi abhi hum log daunareguleshan me karne toh aap hamare social hand hai us par bhi jaakar apne aap ko hamare paas massage bhej sakte hain hamari team aap ko guide kar degi id password de degi online ki timing show ho rahi hai unki jisse ki aap apne ghar par baithkar se kaise apne sapno ko pura kare kaise apni zindagi ko behtar banaye jai hind jai bharat aapka

नमस्कार आपका सवाल है जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या हुआ ही जीवन है जो आप चाहते हैं जी हां

Romanized Version
Likes  106  Dislikes    views  1490
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं यह जीवन नहीं है जो हम चाहते थे यह तो परिस्थितियों के द्वारा उत्पन्न किया गया मेरा समय परिस्थितियां मुझे उस जीवन को जीने में मजबूर कर देती है जो हालात नहीं होते हैं उस हालात में जीने के लिए मजबूर कर देती हैं

nahi yah jeevan nahi hai jo hum chahte the yah toh paristhitiyon ke dwara utpann kiya gaya mera samay paristhiyaann mujhe us jeevan ko jeene me majboor kar deti hai jo haalaat nahi hote hain us haalaat me jeene ke liye majboor kar deti hain

नहीं यह जीवन नहीं है जो हम चाहते थे यह तो परिस्थितियों के द्वारा उत्पन्न किया गया मेरा समय

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user
Play

Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की जी की आपका प्रश्न है जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या वह वही भुवनेश्वर भाई मैं तो अपने जीवन से पूर्ण संतुष्ट हूं और मैंने जो कुछ पाना चाहा वह मैंने सब पाया है मैंने कड़ी मेहनत की का संघर्ष किया और ईद की प्रशासनिक नौकरी प्राप्त की उसका आनंद लिया उसकी जिम्मेदारियां संभाली बच्चों को पढ़ाया लिखाया युग बनाया और अब परोपकार की राह में दूसरों की सहायता करने की इच्छा रखते हुए आगे बढ़ रहा हूं आज आपने मेरा गहरा विश्वास है हनुमान जी को मैं अपना गुरु आराध्य मानता हूं और हनुमान जी की भक्ति में राम की भक्ति में डूबा रहता हूं तू 12 साल से में भारतीय साल हो गए मुझे एडीएम की नौकरी करते हुए समय निकालकर में राम राम करता रहता था नौकरी करते हुए भी मैंने राम राम की अलख जगाई और मेरे पास आज 10 करोड़ के लगभग राम राम जी की मूर्ति पूजा हो गई है हनुमान जी की मर्जी पर बहुत कृपा है और मैं जिस जीवन को 4 मिनट बाद जी रहा हूं मैं उसे पूर्ण संतुष्ट हूं को प्रसन्न मैंने जीवन में जो चाहा मैंने पाया मैं इस जीवन से बहुत संतुष्ट हूं मैं बार-बार कहता हूं मेरा जीवन इसी तरह का मेरा जीवन की उन्नति फिर अपने परिवार की उन्नति फिर समाज की उन्नति के लिए प्रयास करना यही मेरे जीवन का मंत्र है और इस जीवन में बहुत संतुष्ट हूं

ram ram ji ki ji ki aapka prashna hai jo jeevan aap abhi ji rahe hain kya vaah wahi bhubaneswar bhai main toh apne jeevan se purn santusht hoon aur maine jo kuch paana chaha vaah maine sab paya hai maine kadi mehnat ki ka sangharsh kiya aur eid ki prashaasnik naukri prapt ki uska anand liya uski zimmedariyan sambhali baccho ko padhaya likhaya yug banaya aur ab paropkaar ki raah me dusro ki sahayta karne ki iccha rakhte hue aage badh raha hoon aaj aapne mera gehra vishwas hai hanuman ji ko main apna guru aradhya maanta hoon aur hanuman ji ki bhakti me ram ki bhakti me dooba rehta hoon tu 12 saal se me bharatiya saal ho gaye mujhe ADM ki naukri karte hue samay nikalakar me ram ram karta rehta tha naukri karte hue bhi maine ram ram ki alakh jagai aur mere paas aaj 10 crore ke lagbhag ram ram ji ki murti puja ho gayi hai hanuman ji ki marji par bahut kripa hai aur main jis jeevan ko 4 minute baad ji raha hoon main use purn santusht hoon ko prasann maine jeevan me jo chaha maine paya main is jeevan se bahut santusht hoon main baar baar kahata hoon mera jeevan isi tarah ka mera jeevan ki unnati phir apne parivar ki unnati phir samaj ki unnati ke liye prayas karna yahi mere jeevan ka mantra hai aur is jeevan me bahut santusht hoon

राम राम जी की जी की आपका प्रश्न है जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या वह वही भुवनेश्वर भाई मै

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  871
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  122  Dislikes    views  2038
WhatsApp_icon
user

Anshu Saxena

Business Manager

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो जीवन हम अभी जी रहे हैं यह वही जीवन है जो आप चाहते हैं सवाल अच्छा है इसके लिए आपको समझना पड़ेगा कि हमारे जीवन की रचना हमारे जीवन में आने से पहले ही हो चुकी है यह तय शुदा है कि हम कहां जन्म लेंगे इस परिवार में हम पैदा होंगे गरीब होगा अमीर होगा कैसे खुलता होगा यह सब कुछ पहले से तय होता है यह चीज हमारे हाथ में नहीं होता अगर होती तो कोई भी गरीब घर में पैदा नहीं होता कोई निम्न कुल में पैदा नहीं होता जो चीज आपको मिल गया उसको बनाना आपके हाथ में है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता आप किस कुल के हैं और आपका क्या कार्य है इस जीवन में सबको चांस मिलता है वह अच्छा से अच्छा करके दुनिया में नाम कमा सकता है इसलिए आप यह रोना छोड़ दीजिए हमें जीवन में कुछ नहीं मिला कुछ नहीं मिला मतलब क्या चाहते हैं जो भी चाहते हैं सब आपके हाथ में है आप कुछ करिए कोशिश बहुत ऊपर तक जाएंगे आपने उम्मीद ही छोड़ दी अशराफुल का रोना रो दिया यह हमें तो जीवन में कुछ मिला ही नहीं अगर आपने यह कुछ सोच लिया तो आप जो कर रहे हैं वह भी ढंग से नहीं कर पाएंगे मेरा यही कहना है जीवन जो मिला है सलाम करिए भगवान को कि उसने जो दिया नीचे वालों को देखिए आप बेहतर नजर आएंगे कि पैसा नहीं उससे अच्छा दिया

jo jeevan hum abhi ji rahe hain yah wahi jeevan hai jo aap chahte hain sawaal accha hai iske liye aapko samajhna padega ki hamare jeevan ki rachna hamare jeevan me aane se pehle hi ho chuki hai yah tay shuda hai ki hum kaha janam lenge is parivar me hum paida honge garib hoga amir hoga kaise khulta hoga yah sab kuch pehle se tay hota hai yah cheez hamare hath me nahi hota agar hoti toh koi bhi garib ghar me paida nahi hota koi nimn kul me paida nahi hota jo cheez aapko mil gaya usko banana aapke hath me hai isse koi fark nahi padta aap kis kul ke hain aur aapka kya karya hai is jeevan me sabko chance milta hai vaah accha se accha karke duniya me naam kama sakta hai isliye aap yah rona chhod dijiye hamein jeevan me kuch nahi mila kuch nahi mila matlab kya chahte hain jo bhi chahte hain sab aapke hath me hai aap kuch kariye koshish bahut upar tak jaenge aapne ummid hi chhod di asharaful ka rona ro diya yah hamein toh jeevan me kuch mila hi nahi agar aapne yah kuch soch liya toh aap jo kar rahe hain vaah bhi dhang se nahi kar payenge mera yahi kehna hai jeevan jo mila hai salaam kariye bhagwan ko ki usne jo diya niche walon ko dekhiye aap behtar nazar aayenge ki paisa nahi usse accha diya

जो जीवन हम अभी जी रहे हैं यह वही जीवन है जो आप चाहते हैं सवाल अच्छा है इसके लिए आपको समझन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user

Dr. J.Singh

Financial Expert || Ayurvedic Doctor

0:51
Play

Likes  10  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि जो जीवन आपका बिजी रहे हैं क्या वही जीवन है जो आप चाहते थे तो देखी फुल लाइफ में इंसान की कोई भी आपकी जी रहे हो कोई कितनी भी फसल की क्यों ना हो कोई भी व्यक्ति आज की तारीख में कुछ नहीं है सब स्पीड नहीं है अपनी लाइफ स्टाइल से अपनी चीजों से तरीके से मैं भी यह कह सकती हूं कि हां मैं यह जीवन नहीं चाहती थी जो मैं बिजी नहीं हूं लेकिन यह भी साथ में जरूर कहोगे कि आज की तारीख में मां जीवन जी रहे हो उससे मैं टाटा स्काई हूं आपका दिन शुभ रहे थे बात

aapka sawaal hai ki jo jeevan aapka busy rahe hain kya wahi jeevan hai jo aap chahte the toh dekhi full life me insaan ki koi bhi aapki ji rahe ho koi kitni bhi fasal ki kyon na ho koi bhi vyakti aaj ki tarikh me kuch nahi hai sab speed nahi hai apni life style se apni chijon se tarike se main bhi yah keh sakti hoon ki haan main yah jeevan nahi chahti thi jo main busy nahi hoon lekin yah bhi saath me zaroor kahoge ki aaj ki tarikh me maa jeevan ji rahe ho usse main tata sky hoon aapka din shubha rahe the baat

आपका सवाल है कि जो जीवन आपका बिजी रहे हैं क्या वही जीवन है जो आप चाहते थे तो देखी फुल लाइफ

Romanized Version
Likes  562  Dislikes    views  5067
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो जीवन आप बिजी रहे हैं क्या वह यह वही जीवन है जो आप चाहते थे जी हां मैं खुशी खुशी खुशी अच्छा जीवनसाथी और मुझे खुशी खुशी अच्छा संतोष संतोष

jo jeevan aap busy rahe kya vaah yah wahi jeevan hai jo aap chahte the ji haan main khushi khushi khushi accha jeevansathi aur mujhe khushi khushi accha santosh santosh

जो जीवन आप बिजी रहे हैं क्या वह यह वही जीवन है जो आप चाहते थे जी हां मैं खुशी खुशी खुशी अच

Romanized Version
Likes  231  Dislikes    views  6268
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे इस पर हावी है और इसका उत्तर ना भी इसलिए है कि लगभग जीवन के 50 वर्षों में हमें इस बात की समझ आई कि वास्तव में हमें अच्छा क्या लगता है हमारी अभियां किस दिशा की और किस ओर लेकिन जीवन का विद्यार्थी जीवन के कालखंड के बाद जो व्यक्ति का जो कालखंड था उसमें अपनी धमकियों को दरकिनार करते हुए जो भी काम सामने आया उस काम को किया लेकिन इस समय काम करने के बाद उस काम के प्रति घृणा खत्म हो जाती थी 2 साल 3 साल 4 साल के अंदर तो हमने इस चीज की तलाश शुरू की और तलाश शुरू करने के बाद हमने पाया कि लोगों से बात करना विद्यार्थियों से बात करना मनुष्य के लोगों से बात करना करना इनको बार समझाना हमें अच्छा लगता है यह मैरिज कन्याकुमारी विषय में मैंने कब मना सकता हूं कि लगभग 50 वर्षों के बाद जीवन है कि मैं जैसा जीवन चाहता था वैसा जीवन जी रहा

jo jeevan aap abhi ji rahe kya yah wahi jeevan hai jo aap chahte the is par haavi hai aur iska uttar na bhi isliye hai ki lagbhag jeevan ke 50 varshon mein hamein is baat ki samajh I ki vaastav mein hamein accha kya lagta hai hamari abhiyan kis disha ki aur kis aur lekin jeevan ka vidyarthi jeevan ke kalakhand ke baad jo vyakti ka jo kalakhand tha usme apni dhamkiyo ko darakinar karte hue jo bhi kaam saamne aaya us kaam ko kiya lekin is samay kaam karne ke baad us kaam ke prati ghrina khatam ho jaati thi 2 saal 3 saal 4 saal ke andar toh humne is cheez ki talash shuru ki aur talash shuru karne ke baad humne paya ki logo se baat karna vidyarthiyon se baat karna manushya ke logo se baat karna karna inko baar samajhana hamein accha lagta hai yah marriage kanyakumari vishay mein maine kab mana sakta hoon ki lagbhag 50 varshon ke baad jeevan hai ki main jaisa jeevan chahta tha waisa jeevan ji raha

जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे इस पर हावी है और इसका उत्तर न

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  775
WhatsApp_icon
user

Pandit Prem

शायर, पुस्तक संपादक

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार इंसान की फितरत है तो कभी संतुष्ट नहीं होता और संतुष्ट होना भी नहीं चाहिए संतोष ना होने का मतलब यह है कि आप जिस पोजीशन में है या जिस स्थिति में हैं उसे तेजी से बेहतर हो जाएं और बेहतर करें अच्छी स्थितियों में अच्छे से अच्छा करते जाए ताकि और अच्छे हो जाए वैसे संतुष्टि रहनी चाहिए क्या आपको लालच नहीं होना चाहिए लेकिन कर्म के प्रति और लगन शील रहने के प्रति आपकी स्थिति में हमेशा असंतुष्ट ही होनी चाहिए आप बेहतर से बेहतर होते जाएं और यह जरूरी भी है क्योंकि रुक जाने से या एक जगह संतुष्ट हो जाने से आपकी कई तरह की गतियां गतिविधियां रुक जाएंगी जिससे आप व्यर्थ महसूस करने लगेंगे और आप कहीं ना कहीं अपने अंदर चिड़चिड़ापन या अशांति पैदा कर लेंगे जो आपके लिए बहुत घातक सिद्ध हो सकती है धन्यवाद

namaskar insaan ki phitarat hai toh kabhi santusht nahi hota aur santusht hona bhi nahi chahiye santosh na hone ka matlab yah hai ki aap jis position mein hai ya jis sthiti mein hain use teji se behtar ho jaye aur behtar kare achi sthitiyo mein acche se accha karte jaaye taki aur acche ho jaaye waise santushti rehni chahiye kya aapko lalach nahi hona chahiye lekin karm ke prati aur lagan sheela rehne ke prati aapki sthiti mein hamesha asantusht hi honi chahiye aap behtar se behtar hote jaye aur yah zaroori bhi hai kyonki ruk jaane se ya ek jagah santusht ho jaane se aapki kai tarah ki gatiyan gatividhiyan ruk jayegi jisse aap vyarth mehsus karne lagenge aur aap kahin na kahin apne andar chidchidapan ya ashanti paida kar lenge jo aapke liye bahut ghatak siddh ho sakti hai dhanyavad

नमस्कार इंसान की फितरत है तो कभी संतुष्ट नहीं होता और संतुष्ट होना भी नहीं चाहिए संतोष ना

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  505
WhatsApp_icon
user

Bhavin J. Shah

Life Coach

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यस मैं वही जीवन जी रहा हूं जो मैं चाहता था हर एक व्यक्ति को एक जीवन मिलता है और यह जीवन कब कंपलीट होगा उसको पता नहीं है कौन सा दिन आखिरी हो वीडियो 9 मैंने इसलिए इस बिल को चूस किया कि जिस में दूसरों की लाइफ में कंट्रीब्यूट किया जाए दूसरों के चेहरे पर खुशी लाई है जब ऐसा कोई और जब हम ऐसा कोई काम करते हैं जो हमें पसंद है तो पैसा तो खुद ब खुद आएगा जो केवल पैसे के पीछे भागता है उससे बड़ा गरीब आदमी कोई नहीं है सो मैं मेरे अनुभव से यह कहना चाहता हूं कि हर एक व्यक्ति को अपना फैशन बनना चाहिए और उस हिसाब से जीवन जीना चाहिए थैंक यू

yash main wahi jeevan G raha hoon jo main chahta tha har ek vyakti ko ek jeevan milta hai aur yeh jeevan kab complete hoga usko pata nahi hai kaon sa din aakhiri ho video 9 maine isliye is bill ko chus kiya ki jis mein dusro ki life mein kantribyut kiya jaye dusro ke chehare par khushi lai hai jab aisa koi aur jab hum aisa koi kaam karte hain jo hume pasand hai to paisa to khud b khud aaega jo kewal paise ke piche bhagta hai usse bada garib aadmi koi nahi hai so main mere anubhav se yeh kehna chahta hoon ki har ek vyakti ko apna fashion banana chahiye aur us hisab se jeevan jeena chahiye thank you

यस मैं वही जीवन जी रहा हूं जो मैं चाहता था हर एक व्यक्ति को एक जीवन मिलता है और यह जीवन क

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  357
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन तो है ही जी रहे जीवन है शरीर में प्राण हैं जीवित है जीवन है पाकिस्तान से जी रहे हैं कैसे जी रहे हैं अगर यह बात तो है कि आदमी को आलीशान और ईश्वर की और वैभव की ओर एक्साइज इच्छा उत्पन्न होती है और उसमें भी अपना समय स्पेंड करता है जिसको ऊंचाई में जाना है और चाय में जाना है तो हो जीवन अच्छा ही है और आगे कुछ ना कुछ धारा फूड ही रही हैं प्रकाशित हो ही रहा है अरुचि चीज लंबे समय की चीज है करोड़ों सालों की भूगर्भिक रिया से हीरे का जन्म होता है उज्जैन महाकाल की गरिमा रही है और से प्रकट हुए हैं कोई डिमांड है और यह जीवन मेरे लिए बहुत डायमंड जीवन है इस समय

jeevan toh hai hi ji rahe jeevan hai sharir mein praan hain jeevit hai jeevan hai pakistan se ji rahe hain kaise ji rahe hain agar yah baat toh hai ki aadmi ko aalishan aur ishwar ki aur vaibhav ki aur excise iccha utpann hoti hai aur usme bhi apna samay spend karta hai jisko uchai mein jana hai aur chai mein jana hai toh ho jeevan accha hi hai aur aage kuch na kuch dhara food hi rahi hain prakashit ho hi raha hai aruchi cheez lambe samay ki cheez hai karodo salon ki bhugarbhik riya se heere ka janam hota hai ujjain mahakal ki garima rahi hai aur se prakat hue hain koi demand hai aur yah jeevan mere liye bahut diamond jeevan hai is samay

जीवन तो है ही जी रहे जीवन है शरीर में प्राण हैं जीवित है जीवन है पाकिस्तान से जी रहे हैं

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  981
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

6:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां अपने प्रश्न किया है कि जो जीवन आप जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे अरे भाई जीवन डायनेमिक है जीवन स्टैटिक नहीं है जीवन के हजार चरण लाख चरण में हर वक्त बदलता रहता है जीवन सुख दुख जीवन खुशी और समस्या इन सब का एक समन्वयक सागर है कि आपने कैसे सोच लिया कि जो जीवन हम जी रहे हैं क्या हम यही जीवन चाहते थे हमने बचपन का जीवन जिया बड़ा आनंद में आया मैं आपको बताता हूं और आप सोचिए हमारे आदरणीय पिताजी बहुत प्यार करते थे बच्चों को जब वह रात्रि कार्ड काम से हम सब सो जाते तो तुमको वो रबड़ी और पेड़े पड़ा तो हमको भी खाने का और हमें खिलाते और रात्रि में सोते में उठाते हो तो मिटा दे खा लो वह खा लो और हम लोग खा लेते सुबह पूछते हां बेटा कल रात को क्या खाया तो नींद में खाया हमें क्या मालूम क्या खिलाया बाबू आप बाबू जी आपने तो कुछ नहीं करा MP3 को बाबूजी बोलते थे आपने खिलाया सुसरे तू कितना झूठ बोलता है बाबूजी मैंने झूठ नहीं बोला आपने हमें कब खिलाया हमें नहीं पता और नींद में खिलाएंगे तो क्या बोलेंगे हमेशा जाएगा क्या अगर हम होश में खाते चेतना में खाते तो में स्वाद आता आपने खिला दिया हमने खा लिया अब हमें क्या मालूम क्या आपने क्या खिलाया और क्या खाया यह जीवन की बचपन था तो हम पिताजी के साथ हमने जीवन जिया क्या यह जीवन आज हमें मिल सकता है चलिए आगे बताता हूं रात्रि को कभी नींद खुल जाती तो पिताजी से गिफ्ट करने लगता बाबूजी मुझे तेरा खाना है कि मुझे पेड़ा बनाकर उनको शौक था मिठाई बनाने का इन सब चीज का जबकि सरकारी नौकरी में बनाते 1 दिन मन में सोचा मैंने मैं कितना बाबूजी को तंग करता हूं ठीक नहीं करता भूल गया भूल गया घर की प्रस्तुति बदली और जहां सब सुख संपन्न थे वहां परिस्थितियां बनी और जीवन यापन बड़ा मुश्किल हो गया पढ़ाई छूटने वाली 10th क्लास में ट्राई छोटे वाले के पिताजी के मुझे नहीं पता मैंने रो रो कर बुरा हाल कर लिया मैंने कर लिया मुझे पढ़ना है चाहे मुझे जिंदगी में कुछ भी करना पड़े मैंने उनसे कहा पिताजी में स्टेशन पर कुली गिरी का काम कर लूंगा लेकिन मुझे पढ़ना है वह के बारे में क्या था जी के साथ व्यापार का काम था खुद नौकरी करते थे उन्होंने कभी ध्यान नहीं दिया धोखा खा गए अब व्यापार में घाटा हो गया और हम कहीं से कहीं पहुंचते ऐसी स्थिति में पढ़ाई शूटिंग की नौबत आ गई मेरी इन्हीं चक्की संघर्ष किया माताजी ने चला दी बेटा ट्यूशन पढ़ा कोशिश करो कितनी पढ़ाई कायम रखो मैं तुम्हें बनाऊंगी कोई बात नहीं है आज बुरा वक्त है कल फिर से अच्छा बताएगा मार्मिक तक संघर्ष किया संघर्ष करने के बाद 12वीं टॉप की दसवीं भी टॉप की 10th क्लास की टॉप की टॉप किया पोस्ट ग्रेशन टॉप किया और नौकरी के लिए प्रयास करते रहे अब यकीन मानना मैंने अपनी जिंदगी में कभी यह नहीं सोचा था कि क्या बनूंगा मैंने रेलवे की नौकरी दी मैंने बैंक की एप्लीकेशन चाहिए मैंने रिजर्व बैंक के लिए दी एसएससी के लिए यूपीएससी के लिए कर्नाटक की कुलमाइंड्स गोल्ड माइंस में भी मैंने अकाउंटेंट के अप्लाई किए और वहां हर जगह मेरा सिलेक्शन उसके बाद जो मैं टीचिंग प्रोफेशन में आया और टीचिंग प्रोफेशन में मैंने बहुत दुख सुख चाहे कभी यहां ट्रांसफर करनी वहां ट्रांसफर इस तरह की स्थितियां बहुत आती नहीं लाइफ में रिटन टेस्ट क्वालीफाई किए इंटरव्यू क्वालीफाई की नौकरी करते हुए गया लेकिन नहीं क्योंकि इस लाइन में टीचिंग प्रोफेशन में मुझे संतुष्टि मिलती थी उसको मैं कहूं कि वह जो जिंदगी मैंने जी वह जिंदगी में यही चाहता था नहीं अभी तो जिंदगी जी रहे हैं इससे पहले अच्छी थी तो उसकी भी चाहत नहीं थी और संघर्ष के दिन आए तो उसकी भी चाहत नहीं थी हां अपना कर्म कर रहे हैं और कर्म के अनुसार जीवन हमेशा डायनामिक जीवन में उतार-चढ़ाव आते हैं और यह उतार-चढ़ाव इंसान की जिंदगी का एक हिस्सा है इसलिए यह मान लेना कि जो हम चाहते थे हम जिस जिंदगी में जी रहे हैं क्या वही जीवन है नई साल जीवन अनंतसागर के समान कह रहा है आकाश के समान विश्व पृथ्वी के समान विस्तृत और सहनशीलता जिसके जीवन में उसका जीवन अनंत है इसलिए जीवन को थोड़े से शब्दों में समेटने की कोशिश ना कीजिए जीवन जितना अपने लिए उतना दूसरों के लिए दूसरों की सेवा करना भी तो इन्हें खुद के लिए जीना जीवन नहीं है कि मनुष्य पशु में फर्क कहां है

haan apne prashna kiya hai ki jo jeevan aap ji rahe kya yah wahi jeevan hai jo aap chahte the are bhai jeevan daynemik hai jeevan Static nahi hai jeevan ke hazaar charan lakh charan mein har waqt badalta rehta hai jeevan sukh dukh jeevan khushi aur samasya in sab ka ek samanwayak sagar hai ki aapne kaise soch liya ki jo jeevan hum ji rahe kya hum yahi jeevan chahte the humne bachpan ka jeevan jiya bada anand mein aaya main aapko batata hoon aur aap sochiye hamare adaraniya pitaji bahut pyar karte the baccho ko jab vaah ratri card kaam se hum sab so jaate toh tumko vo rabdi aur pede pada toh hamko bhi khane ka aur hamein khilaate aur ratri mein sote mein uthate ho toh mita de kha lo vaah kha lo aur hum log kha lete subah poochhte haan beta kal raat ko kya khaya toh neend mein khaya hamein kya maloom kya khilaya babu aap babu ji aapne toh kuch nahi kara MP3 ko babu ji bolte the aapne khilaya susre tu kitna jhuth bolta hai babu ji maine jhuth nahi bola aapne hamein kab khilaya hamein nahi pata aur neend mein khilaenge toh kya bolenge hamesha jaega kya agar hum hosh mein khate chetna mein khate toh mein swaad aata aapne khila diya humne kha liya ab hamein kya maloom kya aapne kya khilaya aur kya khaya yah jeevan ki bachpan tha toh hum pitaji ke saath humne jeevan jiya kya yah jeevan aaj hamein mil sakta hai chaliye aage batata hoon ratri ko kabhi neend khul jaati toh pitaji se gift karne lagta babu ji mujhe tera khana hai ki mujhe peda banakar unko shauk tha mithai banane ka in sab cheez ka jabki sarkari naukri mein banate 1 din man mein socha maine main kitna babu ji ko tang karta hoon theek nahi karta bhool gaya bhool gaya ghar ki prastuti badli aur jaha sab sukh sampann the wahan paristhiyaann bani aur jeevan yaapan bada mushkil ho gaya padhai chutney wali 10th class mein try chote waale ke pitaji ke mujhe nahi pata maine ro ro kar bura haal kar liya maine kar liya mujhe padhna hai chahen mujhe zindagi mein kuch bhi karna pade maine unse kaha pitaji mein station par kuli giri ka kaam kar lunga lekin mujhe padhna hai vaah ke bare mein kya tha ji ke saath vyapar ka kaam tha khud naukri karte the unhone kabhi dhyan nahi diya dhokha kha gaye ab vyapar mein ghata ho gaya aur hum kahin se kahin pahunchate aisi sthiti mein padhai shooting ki naubat aa gayi meri inhin chakki sangharsh kiya mataji ne chala di beta tuition padha koshish karo kitni padhai kayam rakho main tumhe banaungi koi baat nahi hai aaj bura waqt hai kal phir se accha batayega marmik tak sangharsh kiya sangharsh karne ke baad vi top ki dasavi bhi top ki 10th class ki top ki top kiya post greshan top kiya aur naukri ke liye prayas karte rahe ab yakin manana maine apni zindagi mein kabhi yah nahi socha tha ki kya banunga maine railway ki naukri di maine bank ki application chahiye maine reserve bank ke liye di ssc ke liye upsc ke liye karnataka ki kulmainds gold mines mein bhi maine accountant ke apply kiye aur wahan har jagah mera selection uske baad jo main teaching profession mein aaya aur teaching profession mein maine bahut dukh sukh chahen kabhi yahan transfer karni wahan transfer is tarah ki sthitiyan bahut aati nahi life mein written test qualify kiye interview qualify ki naukri karte hue gaya lekin nahi kyonki is line mein teaching profession mein mujhe santushti milti thi usko main kahun ki vaah jo zindagi maine ji vaah zindagi mein yahi chahta tha nahi abhi toh zindagi ji rahe hain isse pehle achi thi toh uski bhi chahat nahi thi aur sangharsh ke din aaye toh uski bhi chahat nahi thi haan apna karm kar rahe hain aur karm ke anusaar jeevan hamesha dynamic jeevan mein utar chadhav aate hain aur yah utar chadhav insaan ki zindagi ka ek hissa hai isliye yah maan lena ki jo hum chahte the hum jis zindagi mein ji rahe kya wahi jeevan hai nayi saal jeevan anantasagar ke saman keh raha hai akash ke saman vishwa prithvi ke saman vistrit aur sahansheelta jiske jeevan mein uska jeevan anant hai isliye jeevan ko thode se shabdon mein sametane ki koshish na kijiye jeevan jitna apne liye utana dusro ke liye dusro ki seva karna bhi toh inhen khud ke liye jeena jeevan nahi hai ki manushya pashu mein fark kahaan hai

हां अपने प्रश्न किया है कि जो जीवन आप जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे अरे भा

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  1047
WhatsApp_icon
user
1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन इतना आसान नहीं है जितना लगता है जीवन में कई तथ्य जुड़े हुए मनुष्य जीवन मिला है आपको आपकी इच्छा के अनुसार जीना चाहिए लेकिन यह इच्छा ऐसी नहीं होनी चाहिए जिससे दूसरों को तकलीफ हो यदि आप जीवन के सदुपयोग करना चाहते हैं तो आप ऐसा कार्य करिए जिससे आपके जाने के बाद भी लोग याद रखें मैं एक छोटा सुधार दूंगा कि यदि आप समाज में किसी की मदद करते हैं जरूर आप जितना है वह आपकी जरूरत से अधिक है तो आप लोगों में बैठते हैं तो निश्चित रूप से ही आपके कार्य अच्छे होंगे लेकिन आप रूट करते हैं लोगों को परेशान करते हैं लोगों को दुख देते हैं तो आपके जाने के बाद भी आपको भला-बुरा कहा जाएगा यह आपके लिए बहुत गलत होगा जीवन जीने की तो यह संभव नहीं कि व्यक्ति जो चाहे वह हर चीज मिल जाए जो हमारे लिए आवश्यक होता है अब तक जाती है आप को सुधार लूंगा यदि आपका बच्चा आपसे चॉकलेट मांगता है तो आप चॉकलेट उसको दोगे लेकिन आपके बच्चे सिगरेट मांग नहीं दोगे यही हमारी भी है जब हम वहां से कुछ मांगते हैं हमारे जरूरत की चीजें होती है वह भगवान हमें देता है लेकिन जो हम गैर जरूरी चीजें भगवान से घूमते हैं हमें नहीं मिल पाती है

jeevan itna aasaan nahi hai jitna lagta hai jeevan mein kai tathya jude hue manushya jeevan mila hai aapko aapki iccha ke anusaar jeena chahiye lekin yah iccha aisi nahi honi chahiye jisse dusro ko takleef ho yadi aap jeevan ke sadupyog karna chahte hain toh aap aisa karya kariye jisse aapke jaane ke baad bhi log yaad rakhen main ek chota sudhaar dunga ki yadi aap samaj mein kisi ki madad karte hain zaroor aap jitna hai vaah aapki zarurat se adhik hai toh aap logo mein baithate hain toh nishchit roop se hi aapke karya acche honge lekin aap root karte hain logo ko pareshan karte hain logo ko dukh dete hain toh aapke jaane ke baad bhi aapko bhala bura kaha jaega yah aapke liye bahut galat hoga jeevan jeene ki toh yah sambhav nahi ki vyakti jo chahen vaah har cheez mil jaaye jo hamare liye aavashyak hota hai ab tak jaati hai aap ko sudhaar lunga yadi aapka baccha aapse chocolate mangta hai toh aap chocolate usko doge lekin aapke bacche cigarette maang nahi doge yahi hamari bhi hai jab hum wahan se kuch mangate hain hamare zarurat ki cheezen hoti hai vaah bhagwan hamein deta hai lekin jo hum gair zaroori cheezen bhagwan se ghumte hain hamein nahi mil pati hai

जीवन इतना आसान नहीं है जितना लगता है जीवन में कई तथ्य जुड़े हुए मनुष्य जीवन मिला है आपको आ

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  670
WhatsApp_icon
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:59

Likes  2  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य जो जीवन जीता है वही उसका वास्तविक जीवन होता है मनुष्य का मन था पर कुछ आता है और काफी कुछ उसे अपना रहता है लेकिन जो से मिलता है उसको उसमें सब खुश रहना चाहिए उसे अपना आदर्श जीवन समझना चाहिए

manushya jo jeevan jita hai wahi uska vastavik jeevan hota hai manushya ka man tha par kuch aata hai aur kaafi kuch use apna rehta hai lekin jo se milta hai usko usme sab khush rehna chahiye use apna adarsh jeevan samajhna chahiye

मनुष्य जो जीवन जीता है वही उसका वास्तविक जीवन होता है मनुष्य का मन था पर कुछ आता है और काफ

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  1654
WhatsApp_icon
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है क्या आपको ही जीवन जी रहे हैं जो आप चाहते थे तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि मैंने जीवन में कभी कुछ नहीं चाहा जो भी मिलता गया उसे स्वीकार करते जाइए जो भी नहीं मिल सका उसके बारे में सोचना छोड़ दीजिए हमेशा कृतज्ञ भाव से रहिए जो आपको मिला है वही बहुत कुछ है इतना बढ़िया जीवन आपको ईश्वर ने दिया देखने सुनने समझने के लिए इतनी शानदार दुनिया दी उसके अलावा और आप क्या चाहते हैं जो कि मनुष्य की लालसा ओं का कभी अंत नहीं होता अगर मैं एक चीज चाहने लोगों तो तुरंत मुझे वह मिलने के बाद दूसरी चीज की इच्छा उत्पन्न होगी वही व्यक्ति है जो मिल गया उसी को मुकद्दर समझ लिया आनंद कीजिए

aapne poocha hai kya aapko hi jeevan ji rahe hain jo aap chahte the toh main aapko bataana chahunga ki maine jeevan mein kabhi kuch nahi chaha jo bhi milta gaya use sweekar karte jaiye jo bhi nahi mil saka uske bare mein sochna chod dijiye hamesha kritagya bhav se rahiye jo aapko mila hai wahi bahut kuch hai itna badhiya jeevan aapko ishwar ne diya dekhne sunne samjhne ke liye itni shandar duniya di uske alava aur aap kya chahte hain jo ki manushya ki lalasa on ka kabhi ant nahi hota agar main ek cheez chahne logo toh turant mujhe vaah milne ke baad dusri cheez ki iccha utpann hogi wahi vyakti hai jo mil gaya usi ko muqaddar samajh liya anand kijiye

आपने पूछा है क्या आपको ही जीवन जी रहे हैं जो आप चाहते थे तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि मैंन

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1304
WhatsApp_icon
user

Greeshma Nataraj

Psychology Counseling, Life Coach, NLP, Cognitive Behavioral Therapist, Motivational Speaker, Handwriting Signature Analyst.

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेरी गुड मॉर्निंग टू यू आई एम वेरी हैप्पी के जो जीवन में जीना चाहती थी वही में जी रही हूं एंड अगर दोबारा जन्म होता है तो मैं यही कहूंगी कि मुझे इसी रूप में मिले और इसी तरीके से मिले बट अच्छे स्पीकिंग आई डोंट वरी बोर्न अगेन आई एम डन विद माय लाइफ आई एम वेरी सेटिस्फाइड एंड हैप्पी pwdwb.in माय लाइफ एंड अचीवमेंट द बेस्ट इन माय लाइफ माय लाइफ पॉजिटिव

very good morning to you I M very happy ke jo jeevan mein jeena chahti thi wahi mein ji rahi hoon and agar dobara janam hota hai toh main yahi kahungi ki mujhe isi roop mein mile aur isi tarike se mile but acche speaking I dont worry born again I M done with my life I M very setisfaid and happy pwdwb in my life and achievement the best in my life my life positive

वेरी गुड मॉर्निंग टू यू आई एम वेरी हैप्पी के जो जीवन में जीना चाहती थी वही में जी रही हूं

Romanized Version
Likes  259  Dislikes    views  3592
WhatsApp_icon
user

Vivek Shukla

Life coach

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मित्र हा ला दो पिया कोई जानबूझकर नहीं जाता यह आदमी की जिंदगी में खुद ही आते हैं और खुद ही तरह तरह की प्रॉब्लम खड़े होते हैं कोई भी संतुष्ट नहीं हो सकता यह बात सच है कि पहले के लोग जो ज्ञानी हुआ करते थे जिनके मन में शांति व कृतित्व ही श्रेष्ठ थी आज के समय में हर कोई अपने जीवन से बेहतरीन चाहता है मजा जैसी स्थिति पर हूं कोई इस जिंदगी को जीना चाह रहा है कि मेरी तरह बन जाए काश ऐसी जिंदगी होती उसकी और मैं चाह रहा हूं कि मुझ से अच्छी जिंदगी माने जो भी जी रहे उनके जैसी मेरी हिंदी हो यह बात सच है कि कोई अपनी जिंदगी से संतुष्ट नहीं है लेकिन इसे बदला जा सकता है या फिर से पाया जा सकता है लेकिन संतुष्टि नहीं मिल सकती आप जो जिंदगी चाह रहे हैं जीने को आप उसे अपने दम पर पा सकते हैं लेकिन आप उसके बाद आप दूसरों की जिंदगी आपसे जो ऊंचे हैं आपको ही उनकी चाहत की है ऐसे में किसी को संतुष्टि नहीं मिल सकती अच्छा होगा कि यह जिंदगी जीने के लिए संतुष्टि आप ढूंढिए अपने मन की शांति दे अपने मन का विचार अच्छे बनाइए जितना हो सके प्रभु के ज्ञान में अपनी भक्ति या फिर जॉब श्री राम धर्म क्यों अपने ऊपर वाले को माने जो कि आपके लगता है जमाने सेवक जो ऊपर भगवान ने जिस बालाकृष्णन को शांत करके उस भगवान में परमात्मा में अपने विचारों को लगाएं तो ज्यादा बेहतर है

ek mitra ha la do piya koi janbujhkar nahi jata yah aadmi ki zindagi mein khud hi aate hain aur khud hi tarah tarah ki problem khade hote hain koi bhi santusht nahi ho sakta yah baat sach hai ki pehle ke log jo gyani hua karte the jinke man mein shanti va krititwa hi shreshtha thi aaj ke samay mein har koi apne jeevan se behtareen chahta hai maza jaisi sthiti par hoon koi is zindagi ko jeena chah raha hai ki meri tarah ban jaaye kash aisi zindagi hoti uski aur main chah raha hoon ki mujhse se achi zindagi maane jo bhi ji rahe unke jaisi meri hindi ho yah baat sach hai ki koi apni zindagi se santusht nahi hai lekin ise badla ja sakta hai ya phir se paya ja sakta hai lekin santushti nahi mil sakti aap jo zindagi chah rahe hain jeene ko aap use apne dum par paa sakte hain lekin aap uske baad aap dusro ki zindagi aapse jo unche hain aapko hi unki chahat ki hai aise mein kisi ko santushti nahi mil sakti accha hoga ki yah zindagi jeene ke liye santushti aap dhundhiye apne man ki shanti de apne man ka vichar acche banaiye jitna ho sake prabhu ke gyaan mein apni bhakti ya phir job shri ram dharm kyon apne upar waale ko maane jo ki aapke lagta hai jamane sevak jo upar bhagwan ne jis balakrishnan ko shaant karke us bhagwan mein paramatma mein apne vicharon ko lagaye toh zyada behtar hai

एक मित्र हा ला दो पिया कोई जानबूझकर नहीं जाता यह आदमी की जिंदगी में खुद ही आते हैं और खुद

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  831
WhatsApp_icon
user

Chander mohan

Business & Life Coach

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल जो आज की डेट में हम जीवन जी रहे हैं वही जीवन है जो हम चाहते हैं कि क्या आज की डेट में हम चाहते हैं कि हर घर से लार घर में लोग स्वस्थ रहें और हर घर में लोग बोल रहे थे आज की डेट में बीमारी और बेरोजगारी बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है और मैं जिस कांसेप्ट में हूं मैं जिस काम को कर रहा हूं जी सफल सिटी में हूं इसमें हम दोनों लोगों का इलाज करते हैं तो कोई बीमार है यह तो कोई बेरोजगार है कि जाहिर सी बात है जो जीवन आज की डेट में मैं जी रहा हूं वही है जो हम चाह रहे हैं और आने वाले 5 साल में कुछ अलग होगा जो हम चाहते हैं क्योंकि बहुत जरूरी है कि आप अपना फ्यूचर ब्राइट करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपना प्रजेंट को ब्राइट करना पड़ेगा जवाब का प्रजेंट अच्छा होगा तब का फ्यूचर भी अच्छा हो सकता है आपको विश्वास करना पड़ेगा सो थैंक यू सो मच

ji bilkul jo aaj ki date mein hum jeevan ji rahe hain wahi jeevan hai jo hum chahte hain ki kya aaj ki date mein hum chahte hain ki har ghar se laar ghar mein log swasthya rahen aur har ghar mein log bol rahe the aaj ki date mein bimari aur berojgari bahut teji se badhti ja rahi hai aur main jis concept mein hoon main jis kaam ko kar raha hoon ji safal city mein hoon ismein hum dono logo ka ilaj karte hain toh koi bimar hai yeh toh koi berozgaar hai ki jaahir si baat hai jo jeevan aaj ki date mein main ji raha hoon wahi hai jo hum chah rahe hain aur aane wale 5 saal mein kuch alag hoga jo hum chahte hain kyonki bahut zaroori hai ki aap apna future bright karna chahte hain toh aapko sabse pehle apna present ko bright karna padega jawab ka present accha hoga tab ka future bhi accha ho sakta hai aapko vishwas karna padega so thank you so mach

जी बिल्कुल जो आज की डेट में हम जीवन जी रहे हैं वही जीवन है जो हम चाहते हैं कि क्या आज की ड

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  30
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मनुष्य का जीवन बहुत ही सौभाग्य से प्राप्त होता है और इस जीवन को हम लोग सभी लोग अच्छे से नहीं जी पाते हैं कुछ अच्छा नहीं कर पाते हैं इस जीवन को हमें एकदम अच्छे से जीना चाहिए समय के एक-एक सेकंड का कीमत करना चाहिए और कोशिश करना चाहिए कि अट्ठारह उन्नीस 20 घंटा कुछ कार्य किया जाए कुछ समाज के लिए मेहनत किया जाए समाज से गरीबी को दूर हटाने के लिए कुछ कार्य किया जाए अपने समाज को अपने देश को एजुकेटेड बनाने के लिए कुछ कार्य किया जाए लेकिन हम लोग नहीं करते हैं हम लोग अपना ज्यादा से ज्यादा टाइम गलत चीजों में समाप्त करते हैं देखिए एक एक दिन बीतता जा रहा है एक-एक मिनट बता जा रहा है और आप मौत के करीब जाते रहे जा रहे हैं तो आप अपने समय का महत्व उपयोग करिए और अच्छे से उपयोग करिए कुछ ना कुछ अच्छा कार्य करते रहिए और कोशिश करिए कि दिन-रात अपने काम में आप बिजी रहे हैं जब आप बिजी रहेंगे काम में और सिर्फ अपने काम के बारे में मस्त कि आप समाज के बारे में भी सोचिए समाज के लोगों का लॉक कैसे आगे बढ़ेंगे आपके आसपास से गरीबी कैसे हटेगी सपूत करिए आप किसी गांव से बिलॉन्ग करते हैं और आपका कारभार अच्छा है आपको कोई फाइनेंसियल प्रॉब्लम नहीं है आपके फैमिली में तो आप अपने आसपास के गरीब लोगों के लिए कार्य करिए उनके बच्चों का एजुकेटेड करने के लिए काम करिए पेड़ पौधे लगाने के ऊपर ध्यान दीजिए स्वच्छ भारत अभियान के लिए लोगों को जागरूक करिए जब आप ऐसा करेंगे तो कम से कम आप के क्षेत्र में आपका सामाजिक दायरा बढ़ेगा और आपको बहुत खुशी प्राप्त होगी तो यह होता है जीवन को जीने का मतलब असल में जीवन यह है लेकिन हम लोग जो जीवन जी रहे हैं अपना टाइम बर्बाद कर रहे हैं अपना सब कुछ कर रहे हैं गलत चीजों में अपने पास्ट की गलत जो पास्ट में जो हमारे साथ गलत हुआ उसको हम लोग ज्यादा सोचते हैं तो हमें कभी पास्ट के बारे में नहीं सोचना चाहिए पास्ड के अच्छे चीजों के बारे में सोचना चाहिए और हमें कोशिश करना चाहिए कि वर्तमान में हम जो कार्य कर रहे हैं वह करते रहे हमें पास्ट फ्यूचर के बारे में ज्यादा चिंता नहीं करना चाहिए हमें अपना कर्म लगातार करते रहना चाहिए बस कर्म करिए आपको फल अच्छा मिलेगा आपका फ्यूचर अच्छा होगा असल में जीवन का मतलब यह होता है तो कोशिश करिए ज्यादा से ज्यादा टाइम आप अपने काम में बिजी रहिए और समाज के लिए कुछ अच्छा करने के लिए अपना टाइम लगाइए ताकि आपका जीवन बेहतर हो सके धन्यवाद

dekhie manushya ka jeevan bahut hi saubhagya se prapt hota hai aur is jeevan ko hum log sabhi log acche se nahi ji paate hain kuch accha nahi kar paate hain is jeevan ko humein ekdam acche se jeena chahiye samay ke ek ek second ka kimat karna chahiye aur koshish karna chahiye ki attharah unnis 20 ghanta kuch karya kiya jaye kuch samaj ke liye mehnat kiya jaye samaj se garibi ko dur hatane ke liye kuch karya kiya jaye apne samaj ko apne desh ko educated banne liye kuch karya kiya jaye lekin hum log nahi karte hain hum log apna zyada se zyada time galat chijon mein samapt karte hain dekhie ek ek din bitta ja raha hai ek ek minute bata ja raha hai aur aap maut ke kareeb jaate rahe ja rahe hain toh aap apne samay ka mahatva upyog kariye aur acche se upyog kariye kuch na kuch accha karya karte rahiye aur koshish kariye ki din raat apne kaam mein aap busy rahe hain jab aap busy rahenge kaam mein aur sirf apne kaam ke bare mein mast ki aap samaj ke bare mein bhi sochie samaj ke logo ka lock kaise aage badhenge aapke aaspass se garibi kaise hategi sapoot kariye aap kisi gaon se Bilong karte hain aur aapka karbhar accha hai aapko koi financial problem nahi hai aapke family mein toh aap apne aaspass ke garib logo ke liye karya kariye unke baccho ka educated karne ke liye kaam kariye pedh paudhe lagane ke upar dhyan dijiye swacch bharat abhiyan ke liye logo ko jagruk kariye jab aap aisa karenge toh kam se kam aap ke kshetra mein aapka samajik dayara badhega aur aapko bahut khushi prapt hogi toh yeh hota hai jeevan ko jeene ka matlab asal mein jeevan yeh hai lekin hum log jo jeevan ji rahe hain apna time barbad kar rahe hain apna sab kuch kar rahe hain galat chijon mein apne past ki galat jo past mein jo hamare saath galat hua usko hum log zyada sochte hain toh humein kabhi past ke bare mein nahi sochna chahiye passed ke acche chijon ke bare mein sochna chahiye aur humein koshish karna chahiye ki vartaman mein hum jo karya kar rahe hain wah karte rahe humein past future ke bare mein zyada chinta nahi karna chahiye humein apna karm lagatar karte rehna chahiye bus karm kariye aapko fal accha milega aapka future accha hoga asal mein jeevan ka matlab yeh hota hai toh koshish kariye zyada se zyada time aap apne kaam mein busy rahiye aur samaj ke liye kuch accha karne ke liye apna time lagaaiye taki aapka jeevan behtar ho sake dhanyavad

देखिए मनुष्य का जीवन बहुत ही सौभाग्य से प्राप्त होता है और इस जीवन को हम लोग सभी लोग अच्छे

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  886
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यशवंत सही बात है क्योंकि जो मैं शुरू शुरू में पढ़ता था तो मैं मेरे गुरुजी से बढ़ा सकते था उनको उनको मैं जो देखता था उनकी जैसा जीवन बचा था था वह मेरे गुरुजी बड़े आवश्यक चीजें और बड़े विद्वान थे बहुत योग्य है 10 विषयों से जिन्होंने एनी किया था इतने विद्वान थे और फिल्म जब थक जाते तब्बू हमको प्लीज सही बताते थे फलानी पुस्तक में इतनी पेज संख्या पर इस लाइन में मिलेगा तो मैं उससे हमें बस आप एक आदर्श अध्यापक बनने की इच्छा जाग्रत हुई और यही कारण था कि हम लोगों ने उनके बीच अनुसरण करते रहे चलते रहे तीन सब्जेक्ट से m.a. कर सकें और उन जैसा आदर्श अध्यापक अध्यापक का जीवन प्राप्त किया परिणामस्वरूप आज मेरे विद्यार्थी भी यही मानते हैं कि गुरु जी आपने जिस तरह मेहनत किया मैंने मैंने भी यही कहा कि मेरे विद्यार्थी भी यदि टीचर बनते हैं तो उनको टीचर बंद करके वही रोल अदा करना है जिससे कि जीवन में उनके विद्यार्थी भी उनको स्मरण करें हमेशा याद रखें कि हमारे फला गुरुजी जो थे वह हमारे डीजे हार्ड वर्किंग करते थे और तैयारी कर आते थे

yashvant sahi baat hai kyonki jo main shuru shuru mein padhata tha toh main mere guruji se badha sakte tha unko unko main jo dekhta tha unki jaisa jeevan bacha tha tha vaah mere guruji bade aavashyak cheezen aur bade vidhwaan the bahut yogya hai 10 vishyon se jinhone any kiya tha itne vidhwaan the aur film jab thak jaate tabu hamko please sahi batatey the falani pustak mein itni page sankhya par is line mein milega toh main usse hamein bus aap ek adarsh adhyapak banne ki iccha jagrat hui aur yahi karan tha ki hum logo ne unke beech anusaran karte rahe chalte rahe teen subject se m a kar sake aur un jaisa adarsh adhyapak adhyapak ka jeevan prapt kiya parinaamasvaroop aaj mere vidyarthi bhi yahi maante hain ki guru ji aapne jis tarah mehnat kiya maine maine bhi yahi kaha ki mere vidyarthi bhi yadi teacher bante hain toh unko teacher band karke wahi roll ada karna hai jisse ki jeevan mein unke vidyarthi bhi unko smaran kare hamesha yaad rakhen ki hamare phala guruji jo the vaah hamare DJ hard working karte the aur taiyari kar aate the

यशवंत सही बात है क्योंकि जो मैं शुरू शुरू में पढ़ता था तो मैं मेरे गुरुजी से बढ़ा सकते था

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  808
WhatsApp_icon
user

Kishan Kumar

Motivational speaker

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आप का क्वेश्चन है जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे दोस्तों या डिपेंड करता है व्यक्ति के ऊपर जो जीवन चाहता था उसको ही जीवन मिला है या नहीं अगर उसको नहीं मिलता है तो वह अच्छे जीवन को जीने के लिए प्रयास करता है मेहनत करता है अपने गोल को चिप करता है तो जरूर बता देना आता है उसके लिए उसको जीता है उसको बहुत संभाल कर चलता है हर एक इंसान को अपने जीवन के मूल हम भूमिका निभाना चाहिए और उसका रिस्पेक्ट करना चाहिए जो परिश्रम ही सफलता की कुंजी है

hello doston aap ka question hai jo jeevan aap abhi ji rahe kya yah wahi jeevan hai jo aap chahte the doston ya depend karta hai vyakti ke upar jo jeevan chahta tha usko hi jeevan mila hai ya nahi agar usko nahi milta hai toh vaah acche jeevan ko jeene ke liye prayas karta hai mehnat karta hai apne gol ko chip karta hai toh zaroor bata dena aata hai uske liye usko jita hai usko bahut sambhaal kar chalta hai har ek insaan ko apne jeevan ke mul hum bhumika nibhana chahiye aur uska respect karna chahiye jo parishram hi safalta ki kunji hai

हेलो दोस्तों आप का क्वेश्चन है जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थ

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1071
WhatsApp_icon
user

Bhupendra Chugh

Business Owner

10:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल क्योंकि इंसान के जीवन में संतुष्टि बहुत जरूरी है क्योंकि आप चाहो कि भी मैं मेरे पास यह भी हो मेरे पास वह भी हो मेरे पास यह भी हो तो संतुष्ट नहीं हो सकता क्योंकि वह कभी होने का नहीं है एक इच्छा पूरी होगी तो दूसरी जागेगी उसी इच्छा पूरी होगी बीटीसी जाने की जिंदगी खत्म हो जाती है 99% लोगों के साथ ऐसा है 10% जो को बतिया रही है बहुत ज्यादा है 10:00 पर्सेंट मुश्किल से इंडिया में उनको तो वह हर चीज मिल जाती है जी जो वह चाहते हैं सब कुछ लेकिन पैसा जो है संतुष्टि नहीं दे सकता आप फोटो की भी पैसा ही हो सब कुछ तो संतुष्टि भी है संतुष्टि बात वही है आप संतुष्ट हो तो जीवन आपको बढ़िया दिखाओगे आपको अच्छा लगेगा कि कहीं तो रुकोगे यह जीवन भर भागते दौड़ते रहोगे अपने परिवार को भी समय दो अपने बच्चों को भी समय दोगे अगर आप पैसे के पीछे दौड़ते रहोगे और वह आपसे आगे दौड़ रहा है और आप उसके पीछे दौड़ रहे हो क्योंकि आप से सन में कहां रहा कुछ भी नहीं रहा ना आप अपनी फैमिली के लिए रहना आप अपने बच्चों के लिए जिनके लिए आप यह सब कर रहे हो ठीक है ऐसे ही मौज लेने सब्जी ले लिया लेकिन यह जरिया नहीं है आप ने वह चीज हासिल कर ली तो बहुत बढ़िया हो गया यह भी हासिल कर ली वह बहुत बढ़िया हो गया उसमें मन शांत नहीं हो सकता अशांत रहेगा और संतुष्टि तो कभी प्राप्त नहीं हो सकती वह तो जैसे एक उदाहरण के रूप में आपको बताऊं हिरण है हिरण के अंदर कस्तूरी होती है अपने जिसकी खुशबू होती है उसके अंदर और हिरण पूरे जंगल में घूमता रहता है उस चीज को पाने के लिए उसी खुशबू की भी कहां से आ रही है और पूरा जीवन उसमें बता देता है लेकिन वह खुशबू तो उसके अंदर है सही मायने में ऐसे ही हमारा जीवन है हम हर चीज बाहर घूमते हैं कि बाहर मिल जाती है लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि जो कुछ है आपके अंदर है आप अगर अब हैं ऐसी होनी चाहिए क्योंकि मैं संतुष्ट हूं क्योंकि संतुष्टि का कारण यही है क्योंकि ना कोई ऐप ना हवा ना सेक्स जो चीज मोह माया जाल है और हमारा मन जो हमें भट्ट का आता है मन कंट्रोल में हो आदमी का दिमाग तेज हो अगर आपको माइंड उपलब्ध है तो आपके मन को नहीं भटका सकता हूं क्योंकि आप दिमाग से तो सब कुछ समझ चुके हैं हकीकत आपके सामने आ चुकी है - और मन अगर आप कम माइंड इतना तेज नहीं है तो आप मन के बहकावे में आकर सब काम करते हो और वह वैसे भट्ट गाता है आपको कोई जगह आपको नहीं मिलती जहां और संतोष प्राप्त कर सकूं मैं इसलिए संतुष्ट हूं क्योंकि अब बात हुई है कि मुझे ना हवा ऐसे कोई पैसे की चाह ना जो है वही बहुत है करोड़पति अरबपति बन कर भी क्या फायदा होना है कि खाली हाथ आए थे तो खाली हाथ जाना है जो सब यहीं रह जाना जो संतुष्टि है ईश्वर की प्राप्ति में जो भगवान जैसे हमें अपने घर जाना है आप अपने घर जाओगे ना सुबह आप निकलोगे काम पर शाम को तो घर जाओगे आपको संतोष को संतुष्टि आपको घर पर मिलेगी बाहर तो आप घूमते ही रहोगे यह दुनिया भी यही करेंगे कि हम बाहर घूमने जाना तो घर है ना अगर यह बात अगर आप समझ ले इस बात को भी हकीकत क्या है इस जीवन के लिए हम पैदा हुए इस चीज के लिए पैदा नहीं हुए थे हमें तो ईश्वर की प्राप्ति के लिए ईश्वर ने हमें जन्म दिया आप जाओ नीचे अच्छे काम करो अच्छे कर्म करो दूसरों के दुख में काम हो जितना अच्छा कर सकते हो करो कोई बात जो मेरे अंदर सब कुछ है संतुष्टि उसी से मिलती है आप किसी रोते हुए बच्चे को हंसाते देखो जो खुशियां को मिलेगी किसी गरीब की मदद करके देखो जो खुशी आपको मिलेगी अब गाड़ी खरीद लाओगे तो कुछ टाइम के लिए तो आपको लगेगा हां यार मैंने गाड़ी खरीद ली खुशी नहीं है वह असली खुशी तो वह है कि अगर आपने किसी गरीब को उसकी हेल्प कर दी उसकी मदद कर दे किसी भी रूप में तो आपको जो खुशी हासिल होगी वह खुशी कहीं नहीं मिल रही और हर इंसान में ईश्वर है इसी से गलत व्यवहार नहीं हूं आदमी गुस्सा ना हो प्यार से बात करें किसी के प्रति द्वेष भावना लालच लोभ मोह माया कामवासना जिस ना हो तो इंसान ऑटोमेटिक ही खुश होगा यही चीज है इंसान को भटका देती है और इंसान को खुश भी दे रहे हैं इसलिए तो मैं तो संतु अपनी लाइफ में जो आदमी ईश्वर को प्राप्त कर लेता है भगवान को प्राप्त कर ले इस जीवन में जिसके लिए हम इस मकसद से आए और हमने उसे प्राप्त कर लिया तो उसके आगे तो सब कुछ ठीक आई है वह तो मीठा सा एहसास अभी हम जिंदा हैं लेते हैं तो वह एक ऑप्शन है जिसकी वजह से हम जिंदा है कि हम ले रहे हैं जिंदा है तो भगवान को आप ऑक्सीजन समय अगर आपको जल्दी मिलेगी आपके अंदर होगी अब जिंदा ही नहीं रह सकता तो उधार दिए जा सकते हैं इस तरीके से बाकी आपका जो सवाल है उसका मैंने आपको जवाब नहीं दिया इसलिए मैं खुश हूं इसलिए मैं संतुष्ट हूं बाकी कुछ चाहिए भी है या कुछ का है ऐसा कुछ नहीं है अच्छा हुआ कोई अंत नहीं है और आप दूसरों के लिए करोगे किसी के लिए तो ईश्वर तो आप अपने आप ही आपको दे दे ऑफिस नोएडा के देखा सोना आपके पास ऑटोमेटिक ही सब कुछ होगा आपको और क्या चाहिए तेरा हम कोई में हम कुछ नहीं है यह भी मैंने कर लिया अब मैंने वह कर लिया अंत में हम कुछ नहीं कर रहे हैं उसकी इच्छा है अगर वह देता है तो बढ़िया नहीं देता तो बढ़िया क्योंकि बात वही है अगर ईश्वर आपके साथ हैं हम आपके साथ हैं तो आपको इस मोह माया के जाल में फंसने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी क्योंकि आपको सही रास्ता दिखाएगा सही जगह आपको बोले जाएगा गलत जगह आप जाओगे ही अब कोई होंगे नहीं तो सही बात है ईश्वर को पाने के लिए कि अब ना ही कोई भी एक शुरुआत होती है और वह आदत हो जाती है एक छोटा सा ऐप

bilkul kyonki insaan ke jeevan mein santushti bahut zaroori hai kyonki aap chaho ki bhi main mere paas yah bhi ho mere paas vaah bhi ho mere paas yah bhi ho toh santusht nahi ho sakta kyonki vaah kabhi hone ka nahi hai ek iccha puri hogi toh dusri jagegi usi iccha puri hogi BTC jaane ki zindagi khatam ho jaati hai 99 logo ke saath aisa hai 10 jo ko batiya rahi hai bahut zyada hai 10 00 percent mushkil se india mein unko toh vaah har cheez mil jaati hai ji jo vaah chahte hain sab kuch lekin paisa jo hai santushti nahi de sakta aap photo ki bhi paisa hi ho sab kuch toh santushti bhi hai santushti baat wahi hai aap santusht ho toh jeevan aapko badhiya dikhaoge aapko accha lagega ki kahin toh rukoge yah jeevan bhar bhagte daudte rahoge apne parivar ko bhi samay do apne baccho ko bhi samay doge agar aap paise ke peeche daudte rahoge aur vaah aapse aage daudh raha hai aur aap uske peeche daudh rahe ho kyonki aap se san mein kaha raha kuch bhi nahi raha na aap apni family ke liye rehna aap apne baccho ke liye jinke liye aap yah sab kar rahe ho theek hai aise hi mauj lene sabzi le liya lekin yah zariya nahi hai aap ne vaah cheez hasil kar li toh bahut badhiya ho gaya yah bhi hasil kar li vaah bahut badhiya ho gaya usme man shaant nahi ho sakta ashant rahega aur santushti toh kabhi prapt nahi ho sakti vaah toh jaise ek udaharan ke roop mein aapko bataun hiran hai hiran ke andar kasturi hoti hai apne jiski khushboo hoti hai uske andar aur hiran poore jungle mein ghoomta rehta hai us cheez ko paane ke liye usi khushboo ki bhi kaha se aa rahi hai aur pura jeevan usme bata deta hai lekin vaah khushboo toh uske andar hai sahi maayne mein aise hi hamara jeevan hai hum har cheez bahar ghumte hain ki bahar mil jaati hai lekin aisa nahi hai kyonki jo kuch hai aapke andar hai aap agar ab hain aisi honi chahiye kyonki main santusht hoon kyonki santushti ka karan yahi hai kyonki na koi app na hawa na sex jo cheez moh maya jaal hai aur hamara man jo hamein bhatt ka aata hai man control mein ho aadmi ka dimag tez ho agar aapko mind uplabdh hai toh aapke man ko nahi bhataka sakta hoon kyonki aap dimag se toh sab kuch samajh chuke hain haqiqat aapke saamne aa chuki hai aur man agar aap kam mind itna tez nahi hai toh aap man ke bahakaave mein aakar sab kaam karte ho aur vaah waise bhatt gaata hai aapko koi jagah aapko nahi milti jaha aur santosh prapt kar saku main isliye santusht hoon kyonki ab baat hui hai ki mujhe na hawa aise koi paise ki chah na jo hai wahi bahut hai crorepati arabpati ban kar bhi kya fayda hona hai ki khaali hath aaye the toh khaali hath jana hai jo sab yahin reh jana jo santushti hai ishwar ki prapti mein jo bhagwan jaise hamein apne ghar jana hai aap apne ghar jaoge na subah aap nikloge kaam par shaam ko toh ghar jaoge aapko santosh ko santushti aapko ghar par milegi bahar toh aap ghumte hi rahoge yah duniya bhi yahi karenge ki hum bahar ghoomne jana toh ghar hai na agar yah baat agar aap samajh le is baat ko bhi haqiqat kya hai is jeevan ke liye hum paida hue is cheez ke liye paida nahi hue the hamein toh ishwar ki prapti ke liye ishwar ne hamein janam diya aap jao niche acche kaam karo acche karm karo dusro ke dukh mein kaam ho jitna accha kar sakte ho karo koi baat jo mere andar sab kuch hai santushti usi se milti hai aap kisi rote hue bacche ko hansate dekho jo khushiya ko milegi kisi garib ki madad karke dekho jo khushi aapko milegi ab gaadi kharid laouge toh kuch time ke liye toh aapko lagega haan yaar maine gaadi kharid li khushi nahi hai vaah asli khushi toh vaah hai ki agar aapne kisi garib ko uski help kar di uski madad kar de kisi bhi roop mein toh aapko jo khushi hasil hogi vaah khushi kahin nahi mil rahi aur har insaan mein ishwar hai isi se galat vyavhar nahi hoon aadmi gussa na ho pyar se baat kare kisi ke prati dvesh bhavna lalach lobh moh maya kaamvasna jis na ho toh insaan Automatic hi khush hoga yahi cheez hai insaan ko bhataka deti hai aur insaan ko khush bhi de rahe hain isliye toh main toh santu apni life mein jo aadmi ishwar ko prapt kar leta hai bhagwan ko prapt kar le is jeevan mein jiske liye hum is maksad se aaye aur humne use prapt kar liya toh uske aage toh sab kuch theek I hai vaah toh meetha sa ehsaas abhi hum zinda hain lete hain toh vaah ek option hai jiski wajah se hum zinda hai ki hum le rahe hain zinda hai toh bhagwan ko aap oxygen samay agar aapko jaldi milegi aapke andar hogi ab zinda hi nahi reh sakta toh udhaar diye ja sakte hain is tarike se baki aapka jo sawaal hai uska maine aapko jawab nahi diya isliye main khush hoon isliye main santusht hoon baki kuch chahiye bhi hai ya kuch ka hai aisa kuch nahi hai accha hua koi ant nahi hai aur aap dusro ke liye karoge kisi ke liye toh ishwar toh aap apne aap hi aapko de de office noida ke dekha sona aapke paas Automatic hi sab kuch hoga aapko aur kya chahiye tera hum koi mein hum kuch nahi hai yah bhi maine kar liya ab maine vaah kar liya ant mein hum kuch nahi kar rahe hain uski iccha hai agar vaah deta hai toh badhiya nahi deta toh badhiya kyonki baat wahi hai agar ishwar aapke saath hain hum aapke saath hain toh aapko is moh maya ke jaal mein fansane ki zarurat hi nahi padegi kyonki aapko sahi rasta dikhaega sahi jagah aapko bole jaega galat jagah aap jaoge hi ab koi honge nahi toh sahi baat hai ishwar ko paane ke liye ki ab na hi koi bhi ek shuruat hoti hai aur vaah aadat ho jaati hai ek chota sa app

बिल्कुल क्योंकि इंसान के जीवन में संतुष्टि बहुत जरूरी है क्योंकि आप चाहो कि भी मैं मेरे पा

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  635
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने प्रश्न किया कि जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे इसके उत्तर में मैं यही कहना चाहूंगा कि यह प्रश्न हर व्यक्ति को अपने आप से जरूर पूछना चाहिए कि क्या वह जो जीवन जी रहा है वह उसी प्रकार का जीवन जीना चाहता था अगर उसकी संतुष्टि होती है या उसका उत्तर हां होता है तो बिल्कुल वह अपने जीवन के सही रास्ते पर है लेकिन अगर कहीं से भी उस व्यक्ति को लगता है कि नहीं वह वह जीवन नहीं जी रहा है जैसा हो जीना चाहता है तो उसको यह सोचना होगा कि कौन सी ऐसी कमी है कौन सा ऐसा पहलू है जो उसके जीवन में नहीं है क्योंकि ध्यान रखना होगा हर व्यक्ति को चाहिए कि जीवन को अपने तरीके से जीना चाहिए और तभी वह अपने जीवन में संतुष्ट हो पाएगा सफल हो पाएगा अगर हमने अपना जीवन दूसरे के हिसाब से जीना शुरु कर दिया तो हम जीवन में चाहे जितनी मेहनत कर ले चाहे जितनी कामयाबी हासिल करें तभी भी संतुष्ट नहीं हो पाएंगे और ज्यादातर लोग कहीं नाक अपने जीवन में गलती करते हैं कि वह अपना जीवन दूसरों के हिसाब से जीने की कोशिश करते हैं दूसरों के लिए जीने की कोशिश करते हैं इससे जो बहुत बड़ा नुकसान होता है वह यह होता है कि बाद में उन्हें बहुत बाद में यह रिलायंस होता है कि उन्होंने अपना जीवन तो दिया ही नहीं जैसा वह जीवन चाहते थे जिससे जिया ही नहीं इससे उनके अंदर एक खालीपन आता है पछतावा आता है और सिर्फ शिकायत की शिकायत रहती है अगर आप अपने जीवन में किसी भी प्रकार से शिकायत है आप अपने जीवन से संतुष्ट नहीं हैं तो वह चीजें हमारे अंदर बहुत ज्यादा दुख देती है परेशानी देती है इनसे बचने के लिए सिर्फ यही तरीका है कि आप अपने आप से यह जरूर प्रश्न पूछे कि क्या आप वही जीवन जी रहे हैं जैसा जीवन जीना चाहते हैं अगर नहीं है उत्तर तो फिर आज से ही उस प्रकार का जीवन जीने की शुरुआत करिए कोशिश करिए कि आप वही जीवन जी है जैसा आप चाहते हैं क्योंकि अगर आप अपना जीवन खुद नहीं जिएंगे तो कौन आएगा आपका जीवन उसी तरीके से जीने के लिए इसीलिए अपने जीवन में संतुष्ट बने कराने के लिए कामयाब बने रहने के लिए बहुत जरूरी है कि जीवन को अपने तरीके से जियो जैसा आप महसूस करते हैं जैसा आप चाहते हैं उस प्रकार का जीवन जिए इसी में आपके जीवन की सफलता भी है और कामयाबी पर मेरी बहुत सारी शुभकामनाएं धन्यवाद

apne prashna kiya ki jo jeevan aap abhi ji rahe kya yah wahi jeevan hai jo aap chahte the iske uttar mein main yahi kehna chahunga ki yah prashna har vyakti ko apne aap se zaroor poochna chahiye ki kya vaah jo jeevan ji raha hai vaah usi prakar ka jeevan jeena chahta tha agar uski santushti hoti hai ya uska uttar haan hota hai toh bilkul vaah apne jeevan ke sahi raste par hai lekin agar kahin se bhi us vyakti ko lagta hai ki nahi vaah vaah jeevan nahi ji raha hai jaisa ho jeena chahta hai toh usko yah sochna hoga ki kaun si aisi kami hai kaun sa aisa pahaloo hai jo uske jeevan mein nahi hai kyonki dhyan rakhna hoga har vyakti ko chahiye ki jeevan ko apne tarike se jeena chahiye aur tabhi vaah apne jeevan mein santusht ho payega safal ho payega agar humne apna jeevan dusre ke hisab se jeena shuru kar diya toh hum jeevan mein chahen jitni mehnat kar le chahen jitni kamyabi hasil kare tabhi bhi santusht nahi ho payenge aur jyadatar log kahin nak apne jeevan mein galti karte hain ki vaah apna jeevan dusro ke hisab se jeene ki koshish karte hain dusro ke liye jeene ki koshish karte hain isse jo bahut bada nuksan hota hai vaah yah hota hai ki baad mein unhe bahut baad mein yah reliance hota hai ki unhone apna jeevan toh diya hi nahi jaisa vaah jeevan chahte the jisse jiya hi nahi isse unke andar ek khalipan aata hai pachtava aata hai aur sirf shikayat ki shikayat rehti hai agar aap apne jeevan mein kisi bhi prakar se shikayat hai aap apne jeevan se santusht nahi hain toh vaah cheezen hamare andar bahut zyada dukh deti hai pareshani deti hai inse bachne ke liye sirf yahi tarika hai ki aap apne aap se yah zaroor prashna pooche ki kya aap wahi jeevan ji rahe hain jaisa jeevan jeena chahte hain agar nahi hai uttar toh phir aaj se hi us prakar ka jeevan jeene ki shuruat kariye koshish kariye ki aap wahi jeevan ji hai jaisa aap chahte hain kyonki agar aap apna jeevan khud nahi jeeenge toh kaun aayega aapka jeevan usi tarike se jeene ke liye isliye apne jeevan mein santusht bane karane ke liye kamyab bane rehne ke liye bahut zaroori hai ki jeevan ko apne tarike se jio jaisa aap mehsus karte hain jaisa aap chahte hain us prakar ka jeevan jiye isi mein aapke jeevan ki safalta bhi hai aur kamyabi par meri bahut saree subhkamnaayain dhanyavad

अपने प्रश्न किया कि जो जीवन आप अभी जी रहे हैं क्या यह वही जीवन है जो आप चाहते थे इसके उत्त

Romanized Version
Likes  244  Dislikes    views  1799
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो जीवन आप अभी धीरे किंग बच्चन एडमिनिस्ट्रेटर की तरह काम करो हमारे अंदर में सैकड़ों लोग रहे आज नहीं कर रहा हूं और हजारों लाखों बच्चों को शिक्षा देता हूं इंस्ट्रक्टर की तरह रहो हमारे अंदर मल्टिप्लाई से ज्यादा एंप्लाइज काम करते हैं तो मैंने किस मंजिल को चाहा वो मिल गई और मैं सिर्फ सेटिस्फाइड भी हूं अगर आप चाहते हैं तो बिल्कुल मिल जाएगी हां हम लोग एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर के रूप में चाहते थे वहां ना जाकर दूसरी पोस्ट गढ़ में चुनावी सर्वोच्च के तौर पर रह जाता है राजस्थानी लड़कियां

jo jeevan aap abhi dhire king bachchan edaministretar ki tarah kaam karo hamare andar mein saikadon log rahe aaj nahi kar raha hoon aur hazaro laakhon baccho ko shiksha deta hoon instructor ki tarah raho hamare andar multiply se zyada emplaij kaam karte hain toh maine kis manjil ko chaha vo mil gayi aur main sirf setisfaid bhi hoon agar aap chahte hain toh bilkul mil jayegi haan hum log administrative officer ke roop mein chahte the wahan na jaakar dusri post garh mein chunavi sarvoch ke taur par reh jata hai rajasthani ladkiya

जो जीवन आप अभी धीरे किंग बच्चन एडमिनिस्ट्रेटर की तरह काम करो हमारे अंदर में सैकड़ों लोग रह

Romanized Version
Likes  230  Dislikes    views  1152
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक भेजो भी जीवन आप जीना चाहते हैं आप हंसमुख रहें प्रसन्न मुद्रा में रहे हैं आपको सफलता मिले हमेशा शांत में बताओ रण में हमें अपने लक्ष्य को निर्धारित करके उस पूर्ति में प्रयास करते हुए जीवन में जो भी लोग महान होते हैं अपने कर्तव्य पथ में ईमानदार होते हैं कर्तव्य जो करते हैं अपनी सफलता से जीते लेकिन जो बैठकर सोचते रहते हैं कुछ भी हासिल नहीं होती इसलिए जो आपकी मर्जी रहे हैं मेहनत करें प्रसन्न करें और अपने जीवन को सुखमय बनाने के लिए बहुत ही रास्ते हैं किसी आज तो किसी एक अस्थाई रास्ते को चुने और उस रास्ते को चुन करके आप आगे बढ़ें मेहनत करें प्रसन्न करें और जीवन में खुशियां ला सकते हैं आपका जीवन में बदलाव आ सकता है इसलिए यदि आपके जीवन में कुछ परेशानी है कुछ कमी है तो उस परेशानी को दूर करने के लिए आप अधिक मेहनत करें अधिक परिश्रम करें और उस समस्या को दूर करने के लिए कारणों को ढूंढने अकारण को लोड करके समस्या को दूर करें कि आपका जीवन सुख में होगा और साथ ही साथ आप समय को सदुपयोग करें समय को उपयोग करने से आप अच्छे कार्य सही समय पर कर सकते हैं

ek bhejo bhi jeevan aap jeena chahte hain aap hansamukh rahein prasann mudra mein rahe hain aapko safalta mile hamesha shaant mein batao ran mein hamein apne lakshya ko nirdharit karke us purti mein prayas karte hue jeevan mein jo bhi log mahaan hote hain apne kartavya path mein imaandaar hote hain kartavya jo karte hain apni safalta se jeete lekin jo baithkar sochte rehte hain kuch bhi hasil nahi hoti isliye jo aapki marji rahe hain mehnat kare prasann kare aur apne jeevan ko sukhmay banane ke liye bahut hi raste hain kisi aaj toh kisi ek asthai raste ko chune aur us raste ko chun karke aap aage badhe mehnat kare prasann kare aur jeevan mein khushiya la sakte hain aapka jeevan mein badlav aa sakta hai isliye yadi aapke jeevan mein kuch pareshani hai kuch kami hai toh us pareshani ko dur karne ke liye aap adhik mehnat kare adhik parishram kare aur us samasya ko dur karne ke liye karanon ko dhundhne akaran ko load karke samasya ko dur kare ki aapka jeevan sukh mein hoga aur saath hi saath aap samay ko sadupyog kare samay ko upyog karne se aap acche karya sahi samay par kar sakte hain

एक भेजो भी जीवन आप जीना चाहते हैं आप हंसमुख रहें प्रसन्न मुद्रा में रहे हैं आपको सफलता मिल

Romanized Version
Likes  204  Dislikes    views  2356
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
sorry ji ; कभी जी रहा हूं ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!