आपके अनुसार ऐसी कौन सी चीज़ ़ें हैं जो हमारे समाज द्वारा स्वीकारित होनी चाहिएँ पर होती नहीं हैं?...


user

Vikas Singh Rajput

Political Analyst

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जिस दिन किसी भी देश के नागरिक अगर अपना अपनी की भावना भूल जाएंगे उस दिन वह देश दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होगा हमारे देश में या किसी भी देश में लोगों के अंदर अपना अपनी की भावना होती है लोग अपने बच्चे को अपना बच्चा मानते हैं लोग जब अपने बेटे बेटी या अपने माता पिता को दर्द होता है तूने बहुत दर्द होता है लेकिन जब दूसरे को दर्द होता है दूसरा गरीब इंसान है उसे दर्द होता है या वह कुछ कठिन परिश्रम करता है उसकी परेशानी को देखकर किसी को दर्द नहीं होता है देखिए जिंदगी जब हम लोग ट्रैवल करते हैं कहीं भी तो बहुत सारी चीजें देखने को मिलती है कभी-कभी कोई लड़का किसी लड़की को कमेंट करता है तो हम लोग चुपचाप अपने रास्ते से निकल जाते हैं हम लोग कुछ नहीं बोलते हैं वहां पर हमें बोलना चाहिए उसकी लड़ाई लड़नी चाहिए हो सकता है उस टाइम अगर हमारे घर का कोई हो तो हम लोग लड़ जाए मरने के लिए तैयार हो जाएंगे मारने के लिए तैयार हो जाएंगे लेकिन समाज में ऐसा नहीं होता है देखिए किसी के साथ गलत हो सकता है ऐसा नहीं है कभी कुछ भी हो सकता है यह समय आता जाता रहता है धूप छांव में सा आता जाता रहता है जीवन में इसलिए समाज को एक दूसरे के लिए भी लड़ना पड़ेगा तभी जाकर समाज का विकास होगा और अपनों से ज्यादा दूसरों से प्यार करना होगा दूसरों की भावनाओं को समझना होगा दूसरों के दुख दर्द को समझना होगा तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा धन्यवाद

dekhiye jis din kisi bhi desh ke nagarik agar apna apni ki bhavna bhool jaenge us din vaah desh duniya ka sabse shaktishali desh hoga hamare desh mein ya kisi bhi desh mein logo ke andar apna apni ki bhavna hoti hai log apne bacche ko apna baccha maante hain log jab apne bete beti ya apne mata pita ko dard hota hai tune bahut dard hota hai lekin jab dusre ko dard hota hai doosra garib insaan hai use dard hota hai ya vaah kuch kathin parishram karta hai uski pareshani ko dekhkar kisi ko dard nahi hota hai dekhiye zindagi jab hum log travel karte hain kahin bhi toh bahut saree cheezen dekhne ko milti hai kabhi kabhi koi ladka kisi ladki ko comment karta hai toh hum log chupchap apne raste se nikal jaate hain hum log kuch nahi bolte hain wahan par hamein bolna chahiye uski ladai ladani chahiye ho sakta hai us time agar hamare ghar ka koi ho toh hum log lad jaaye marne ke liye taiyar ho jaenge maarne ke liye taiyar ho jaenge lekin samaj mein aisa nahi hota hai dekhiye kisi ke saath galat ho sakta hai aisa nahi hai kabhi kuch bhi ho sakta hai yah samay aata jata rehta hai dhoop chanv mein sa aata jata rehta hai jeevan mein isliye samaj ko ek dusre ke liye bhi ladna padega tabhi jaakar samaj ka vikas hoga aur apnon se zyada dusro se pyar karna hoga dusro ki bhavnao ko samajhna hoga dusro ke dukh dard ko samajhna hoga tabhi hamara desh aage badhega dhanyavad

देखिए जिस दिन किसी भी देश के नागरिक अगर अपना अपनी की भावना भूल जाएंगे उस दिन वह देश दुनिया

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  315
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
ऐसी कौन सी चीज है जो बढ़ती है घटती नहीं ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!