मास्टर माइंड हाफ़ीज सईद जो 26/11 के हमले के लिए एक कारण था,सुनने में आया है की सईद को पाकिस्तान जेल से रिहा किया जा रहा है ! क्या फिर से हमला होने की चान्सेस है?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां उम्मीद तो है क्या द्वारा टाइप करेंगे वह पर इस पर इस चीज की भी उम्मीद है कि इंडियन आर्मी ज़्यादा सतर्क होंगे उधर अच्छे से प्रीपेड होंगे क्योंकि ऐसे अटैक के बारे में उनको पता है कि जैसे ही रुठ भी यूज़ कर सकते टेररिस्ट अटैक करने के लिए WhatsApp ईसाई जैसे लोग सुधर नहीं होते तो वह छूटने के बाद वह दुबारा गुंजाइश है कि वह तुम्हारा हटा करेंगे

ji haan ummid toh hai kya dwara type karenge vaah par is par is cheez ki bhi ummid hai ki indian army jyada satark honge udhar acche se prepaid honge kyonki aise attack ke bare mein unko pata hai ki jaise hi ruth bhi use kar sakte terrorist attack karne ke liye WhatsApp isai jaise log sudhar nahi hote toh vaah chutney ke baad vaah dubara gunjaiesh hai ki vaah tumhara hata karenge

जी हां उम्मीद तो है क्या द्वारा टाइप करेंगे वह पर इस पर इस चीज की भी उम्मीद है कि इंडियन आ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं सिर्फ इसलिए कि हाफिज सईद को रिहा कर दिया गया है इसका मतलब यह नहीं है कि आतंकवादी हमले होने के चांसेस हैं 2611 के समय हम तैयार नहीं थे लेकिन तब से हमने अपनी गलतियों से सीख लिया है अगर किसी ने हमारे देश पर हमले का प्रयास किया भी तो हम इसे चलने से पहले ही निपटने के लिए तैयार हैं

nahi sirf isliye ki haafiz saeed ko riha kar diya gaya hai iska matlab yah nahi hai ki aatankwadi hamle hone ke chances hain 2611 ke samay hum taiyar nahi the lekin tab se humne apni galatiyon se seekh liya hai agar kisi ne hamare desh par hamle ka prayas kiya bhi toh hum ise chalne se pehle hi nipatane ke liye taiyar hain

नहीं सिर्फ इसलिए कि हाफिज सईद को रिहा कर दिया गया है इसका मतलब यह नहीं है कि आतंकवादी हमले

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!