GST कम होने के बाद CBEC के चेरपर्सन वनजा ने FMCG को लिखा है की सारे प्रोडक्ट्स के दाम को कम करने के लिए ! क्या आपको लगता है की प्रायोरिटी से किया जाए गा?...


user

Awdhesh Singh

Director AwdheshAcademy.com

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

DJ जीएसटी या पहले जब सेंट्रल एक्साइज कस्टम ड्यूटी है सर्विस टैक्स की रेड जब भी कम होते थे तो ज्यादातर जो है यह बेनिफिट जो है यह टेक्स्ट केयर को पास नहीं किया जाता था कस्टमर के पास नहीं किया जाता है और होता यह है कि जो कंस्यूमर्स होते हैं वह उसी रेट पर सामान अक्सर खनिजों की चोटी कटने से पहले जो रेट था लेकिन कुछ जगह पर बेनिफिट्स एकदम डायरेक्ट होंगे जैसे होटल में है होटल में जैसे ही रेट कम हुए हैं वह नेचुरल को 5 परसेंट के सबसे तेज़ चैनल शुरू किया है लेकिन जहां तक काम का सवाल है उस में अक्सर ये होता है कि जो प्रदूषण होते हैं वह तुरंत पेट कम कर देते हैं लेकिन थोड़ी देर बाद में रेट बढ़ाकर के और टेक्स्ट ट्राय कर के फिर जो है कस्टमर को उसी रेट पर मिलता है तो यह जो है वह बहुत बेनिफिट मिलेगा इसमें मुझे बहुत समस्या है

DJ gst ya pehle jab central excise custom duty hai service tax ki red jab bhi kum hote the to jyadatar jo hai yeh benefit jo hai yeh text care ko paas nahi kiya jata tha customer ke paas nahi kiya jata hai aur hota yeh hai ki jo consumers hote hain wah ussi rate par saamaan aksar khanijo ki choti katane se pehle jo rate tha lekin kuch jagah par benefits chahiye ekdam direct honge jaise hotel mein hai hotel mein jaise hi rate kum hue hain wah natural ko 5 percent ke sabse tez channel shuru kiya hai lekin jaha tak kaam ka sawal hai us mein aksar ye hota hai ki jo pradushan hote hain wah turant pet kum kar dete hain lekin thodi der baad mein rate badhakar ke aur text try kar ke phir jo hai customer ko ussi rate par milta hai to yeh jo hai wah bahut benefit milega isme mujhe bahut samasya hai

DJ जीएसटी या पहले जब सेंट्रल एक्साइज कस्टम ड्यूटी है सर्विस टैक्स की रेड जब भी कम होते थे

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

0:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार का यह लिखना सारे एफएमसीजी कंपनी स्कोर कि वह जो कटा हुआ जीएसटी रेट है वह अपने सारे प्रोडक्ट पर जल्दी से इंप्लीमेंट कर दें अभी कुछ सही कदम है लेकिन बहुत सारी चीजों में एजुकेशन चैलेंज होते हैं यानी कि उन्हें कारवान भी करना मुश्किल होता है तो इसमें वही बहुत बड़ा चैलेंज है क्योंकि जो प्रोडक्ट कंपनी से निकल चुका है और वह डिस्ट्रीब्यूटर के पास हे डीलर के पास है या रिटेलर के पास किराने वाले के पास स्टोर में पड़ा हुआ है तू कंपनी के एंप्लोई किस तरीके से आंसर कर पाएंगे कि वह नया स्टिकर भेज भी देते हैं अगर सपोर्ट करने वाले को पड़ोस में तू सिखाएगा कि नहीं और इस देश में लाखों किराना स्टोर रहे हो कल तो यह कैंसर करना बड़ा मुश्किल है किसी भी कंपनी के लिए

sarkar ka yeh likhna sare fmcg company score ki wah jo kata hua gst rate hai wah apne sare product par jaldi se implement kar de abhi kuch sahi kadam hai lekin bahut saree chijon mein education challenge chahiye hote hain yani ki unhen chahiye karvan bhi karna mushkil hota hai to isme wahi bahut bada challenge chahiye hai kyonki jo product company se nikal chuka hai aur wah distributer ke paas he dealer ke paas hai ya retailer ke paas kirane wale ke paas store mein pada hua hai tu company ke employee kis tarike se answer kar paenge ki wah naya sticker bhej bhi dete hain agar support karne wale ko pados mein tu sikhaega ki nahi aur is desh mein laakhon kirana store rahe ho kal to yeh cancer karna bada mushkil hai kisi bhi company ke liye

सरकार का यह लिखना सारे एफएमसीजी कंपनी स्कोर कि वह जो कटा हुआ जीएसटी रेट है वह अपने सारे प्

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Neha S

UPSC कोच

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे जीएसटी कम होने के बाद जो रिटायर पर्सन जी ने बोला है कि सारे प्रोडक्ट के दाम कम करने चाहिए तो अभी उन्होंने तो एक नोटिफिकेशन जो मैंने जब काम किया तो एक कमी थी जो बनी हुई नोटिफिकेशन जारी कर देगी अभी देखने वाली बात है कि मुझे नोटिफिकेशन जारी हुआ वह कितने प्रॉपर तरीके से इंप्लीमेंट हो रहा है या नहीं हुआ यह चीज बहुत ज्यादा देखने लायक है कि किस तरीके से हो रहा है तुम मेरे हो पर यह है कि हम से गांव में भी नहीं ब्लेम कर सकते हैं हम किसी कमेटी अच्छे परसेंट को नहीं बोलेंगे कि भाई देखो आपने ढंग से काम नहीं किया एक आम जनता एक आवेदन इंडिया की बात करें तो आशिक में सब के पास स्मार्टफोन है सबके पास मोबाइल से सब के पास जिओ है और वो सब के पास अवेलेबल नेट है वह अपने प्राइस को एक बार कुछ भी खरीदने जा रहे हैं मुझे कंफर्म करना कंफर्म एक दूसरे के साथ उसके बाद गवर्मेंट को भी आसानी होगी आपको भी ऐसा नहीं होगी और कोई चोरी नहीं कर पाएगा कोई बेईमानी भी नहीं कर पाएगा तो यह मुझे ब्राइटनेस हमें खुद डिसाइड करनी पड़ेगी और खुद से करना पड़ेगा

dikhe gst kum hone ke baad jo retire person ji ne bola hai ki sare product ke dam kum karne chahiye to abhi unhone to ek notification jo maine jab kaam kiya to ek kami thi jo bani hui notification jaari kar degi abhi dekhne wali baat hai ki mujhe notification jaari hua wah kitne proper tarike se implement ho raha hai ya nahi hua yeh cheez bahut jyada dekhne layak hai ki kis tarike se ho raha hai tum mere ho par yeh hai ki hum se gav mein bhi nahi blame kar sakte hain hum kisi committee acche percent ko nahi bolenge ki bhai dekho aapne dhang se kaam nahi kiya ek aam janta ek awedan india ki baat kare chahiye to ashik mein sab ke paas smartphone hai sabke paas mobile se sab ke paas jio hai aur vo sab ke paas available net hai wah apne price ko ek baar kuch bhi kharidne ja rahe hain mujhe confirm karna confirm ek dusre chahiye ke saath uske baad goverment ko bhi aasani hogi aapko bhi aisa nahi hogi aur koi chori nahi kar payega koi baimani bhi nahi kar payega to yeh mujhe braitanes hume khud decide karni padegi aur khud se karna padega

दिखे जीएसटी कम होने के बाद जो रिटायर पर्सन जी ने बोला है कि सारे प्रोडक्ट के दाम कम करने च

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार ने एफएमसीजी कंपनी को लिखा कि वह सारे प्रोडक्ट के दाम घटाएं सरकार और जो जीएसटी की कमेटी बनी थी उन्होंने यह जो सेट है वह काफी पहले ही ले चुके हैं और मार्केट में और सिस्टम में यह भी बोला जा चुका है कि सारे रेट अब घटकर आएंगे लेकिन होता क्या है कि जो मैन्युफैक्चरिंग कंपनी है जिन्होंने पहले माल बना चुकी और जो सप्लाई कर चुके हैं मार्केट में छोटी मोटी दुकानों पर तो वह लोग इसको अभी तक पूरी तरह से नहीं कर पाए अभी भी वह जो सामान है वह पुराने रेट पर ही सेल कर रहे हैं और इसमें कहने गलती गलती हमारी भी अगर हम कोई बड़ी चीज है कोसली किस लेने जाते हैं तो हम जीएसटी के रेट देखते हैं अगर हम अभी गाड़ी लेने जाए या अभी अवतार लेने जा तू उत्तम जरूर देखेंगे यहां कितना जीएसटी लगा है कितना प्यारा लगता तक और कितने पैसे स्वर कम हुए जीएसटी के लेने से लेकिन अगर हम कम या छोटी वैल्यू की चीज लेना टूथपेस्ट हो गया और चीनी हो गई यार छोटे-मोटे आइटम से नेता है मार्केट में तुम उसकी वैल्यू प्राइस भी देते तो पहले लगती थी और अब लगती है तो इसीलिए दुकानदार भी इस चीज का फायदा उठा लेते हैं और वह अभी भी आज भी छोटी छोटी चीजों पर वही पुराने रेट के हिसाब से बेच रहे हैं और मुनाफा कमा रहे हैं तो इसमें कहीं ना कहीं गलती हमारी भी है और तो हमको इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए अगर हमको लगता है कि वह सामान अभी भी पुराने रेट पर बिक रहा है क्योंकि गवर्नमेंट ने ऑलरेडी लो पास कर रखा है बोल रखा है कि सारा सामान का जो पढ़ाया जा बुक हट कर दिया जाएगा

sarkar ne fmcg company ko likha ki vaah saare product ke daam ghataye sarkar aur jo gst ki committee bani thi unhone yah jo set hai vaah kaafi pehle hi le chuke hain aur market mein aur system mein yah bhi bola ja chuka hai ki saare rate ab ghatakar aayenge lekin hota kya hai ki jo manufacturing company hai jinhone pehle maal bana chuki aur jo supply kar chuke hain market mein choti moti dukaano par toh vaah log isko abhi tak puri tarah se nahi kar paye abhi bhi vaah jo saamaan hai vaah purane rate par hi cell kar rahe hain aur isme kehne galti galti hamari bhi agar hum koi badi cheez hai kosli kis lene jaate hain toh hum gst ke rate dekhte hain agar hum abhi gaadi lene jaaye ya abhi avatar lene ja tu uttam zaroor dekhenge yahan kitna gst laga hai kitna pyara lagta tak aur kitne paise swar kam hue gst ke lene se lekin agar hum kam ya choti value ki cheez lena toothpaste ho gaya aur chini ho gayi yaar chote mote item se neta hai market mein tum uski value price bhi dete toh pehle lagti thi aur ab lagti hai toh isliye dukaandar bhi is cheez ka fayda utha lete hain aur vaah abhi bhi aaj bhi choti choti chijon par wahi purane rate ke hisab se bech rahe hain aur munafa kama rahe hain toh isme kahin na kahin galti hamari bhi hai aur toh hamko iske khilaf awaaz uthani chahiye agar hamko lagta hai ki vaah saamaan abhi bhi purane rate par bik raha hai kyonki government ne already lo paas kar rakha hai bol rakha hai ki saara saamaan ka jo padhaya ja book hut kar diya jaega

सरकार ने एफएमसीजी कंपनी को लिखा कि वह सारे प्रोडक्ट के दाम घटाएं सरकार और जो जीएसटी की कमे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!