ज़िंदगी में कौन बड़ा है पैसा या परिवार?...


user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में कौन बड़ा है पैसा या परिवार अगर किसी क्षण यह चुनना पड़े कि पैसा चाहिए या परिवार चाहिए तो मेरे ख्याल से हैं हां परिवार चुनना चाहिए परिवार का मतलब ही है एक दूसरे का साथ एक दूसरे से शक्ति मिलती है परिवार से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है काम करने की प्रेरणा मिलती है जो बड़े हैं उनका आशीर्वाद है बशर्ते परिवार बहुत प्यार वाला हो समझदारी वाला प्रेम करने वाला अगर इस तरह का परिवार है तो परिवार को चुनना चाहिए क्योंकि पैसा तो आज है कल नहीं है पैसे का क्या है लेकिन पैसा से परिवार नहीं खरीद सकते हैं तो परिवार है वह आपके सुख-दुख में साथ है अगर दुखी हैं तो आपका साथ देगा वह आपकी हिम्मत बढ़ाएगा काम करने की उस एनर्जी मिलेगी उसे फिर पैसा कमाया जा सकता है लेकिन अगर परिवार ही नहीं है सिर्फ पैसा है तो पैसे से क्या है पैसे से सुख नहीं खरीद सकते हैं सुख के साधन खरीद सकते हैं पैसे से परिवार ने खरीद सकते हैं पैसे से परिवार के लिए एक इमैजिनेशन कर सकते हैं या ऐसे ही खुश हो सकते हैं लेकिन वह परिवार वाली बात नहीं है पैसे से तो बेस्ट है कि अगर जिंदगी में बड़ा कभी चुनना पड़ेगा अगर कोई पूछे कि बड़ा क्या है तो मैं यह बताना चाहूंगी कि परिवार पड़ा है ऐसा नहीं परिवार ही हम को शक्ति देता है वह न्यू है इस बिल्डिंग को खड़ी करने की शरीर को आगे अच्छा कुछ करने की प्रेरणा देने की जिससे कि आगे बढ़ने में हिम्मत मिलती है

zindagi mein kaun bada hai paisa ya parivar agar kisi kshan yah chunana pade ki paisa chahiye ya parivar chahiye toh mere khayal se hain haan parivar chunana chahiye parivar ka matlab hi hai ek dusre ka saath ek dusre se shakti milti hai parivar se positive energy milti hai kaam karne ki prerna milti hai jo bade hain unka ashirvaad hai basharte parivar bahut pyar vala ho samajhdari vala prem karne vala agar is tarah ka parivar hai toh parivar ko chunana chahiye kyonki paisa toh aaj hai kal nahi hai paise ka kya hai lekin paisa se parivar nahi kharid sakte hain toh parivar hai vaah aapke sukh dukh mein saath hai agar dukhi hain toh aapka saath dega vaah aapki himmat badhayega kaam karne ki us energy milegi use phir paisa kamaya ja sakta hai lekin agar parivar hi nahi hai sirf paisa hai toh paise se kya hai paise se sukh nahi kharid sakte hain sukh ke sadhan kharid sakte hain paise se parivar ne kharid sakte hain paise se parivar ke liye ek imaijineshan kar sakte hain ya aise hi khush ho sakte hain lekin vaah parivar wali baat nahi hai paise se toh best hai ki agar zindagi mein bada kabhi chunana padega agar koi pooche ki bada kya hai toh main yah bataana chahungi ki parivar pada hai aisa nahi parivar hi hum ko shakti deta hai vaah new hai is building ko khadi karne ki sharir ko aage accha kuch karne ki prerna dene ki jisse ki aage badhne mein himmat milti hai

जिंदगी में कौन बड़ा है पैसा या परिवार अगर किसी क्षण यह चुनना पड़े कि पैसा चाहिए या परिवार

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  316
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!