भूमि संरक्षण क्या है?...


play
user

Awadhesh Saxena

Sub Divisional Officer (WRD),Engineer, Trainer, Social Worker, Thinker,Poet,Shayar,Author,Anchor,Motivetional Speaker, Astrologer

6:03

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है आपका भूमि संरक्षण क्या है भूमि संरक्षण सोहेल कंजर्वेशन इसके लिए इंग्लिश शब्द है तो भूमि संरक्षण से आशय हैं जो हमारी भूमि हैं उसका हम संरक्षण करें भूमि के कई उपयोग हैं उनमें से सबसे बड़ा उपयोग हमारे देश में यह हर देश में खेती के लिए होता है खेती के लिए उपजाऊ भूमि होनी आवश्यक है उपजाऊ भूमि अगर संरक्षित नहीं होगी तो हमारी फसलों की उपज भी कम होगी इस कारण भूमि का संरक्षण आवश्यक माना गया है भूमि संरक्षण के कई उपाय हैं हम देखते हैं कि भौगोलिक स्थिति में किसी भी स्थान पर कुछ ऊंची ऊंचाई वाली भूमि होती है पहाड़ हैं पर्वत है पर्वत श्रृंखलाएं हैं यह जो भी पानी बारिश का आता है इन पर्वत पहाड़ों से पानी के साथ मिट्टी भी भव्य कर जाती है पहाड़ों में बताओ पहाड़ों पर जो वनस्पति पैदा होती है उसके लिए जब मिट्टी नहीं होती उस वनस्पति का रहना मुश्किल हो जाता है पहाड़ नंगे दिखाई देने लगते हैं तो इसलिए सबसे पहले भूमि का संरक्षण पहाड़ों पर किया जाना आवश्यक होता है पहाड़ों पर भूमि संरक्षण के लिए छोटी-छोटी ट्रेंस नालियां बनाई जाती हैं इन नालियों को एक कंटूर लाइन पर अगर बनाते हैं तो कंटूर ट्रेंच बोलते हैं और अगर कंटूर पर भी स्टैगर्ड फॉर में बनाते हैं यानी 11 छोड़कर बनाते हैं तो स्टेटस ट्रेन चलाती हैं कंटूर ट्रेंच और अगर कंटीन्यूअस बनती है तो उसे कंटीन्यूअस कंटूर ट्रेंच बोलते हैं कंटूर ट्रेंच और कंटिन्यूज कंटूर ट्रेंस बनाकर पहाड़ों पर्वतों पर भूमि संरक्षण किया जाता है पानी आता है एंट्रेंस में भरता है जो रेंज होते हैं तो मिट्टी निकलती है वह नीचे की साइड में डालते हैं जिससे पानी रुकता है और उसी मिट्टी पर कोई ना कोई बीच धार बनस्पति उगाई जाती है या अपने आप उसको उगने के लिए अच्छी कंडीशन मिलती है इसके बाद जो पानी आता है वह फिर नीचे की ओर जाता है उसमें भी मिट्टी जाती है लेकिन हटाओ रुक जाता है जो पहाड़ों पर हरियाली के लिए बहुत जरूरी है इसके बाद जब पहाड़ों से नीचे की ओर आते हैं समतल क्षेत्र होते हैं इन समतल क्षेत्रों में जो मिट्टी होती है उसमें खेती की जाती है और उस मिट्टी में भी कटाव को रोकना जरूरी है क्योंकि फसल उत्पादन के लिए कृषक उर्वरक का इस्तेमाल करते हैं हाथ डालते हैं और भूमि के मिट्टी के जो खुद के पोषक तत्व मौजूद होते हैं वह भी मिट्टी के साथ ना भेजा है इसलिए मीका संरक्षण समतल क्षेत्रों में भी आवश्यक होता है इन क्षेत्रों में भूमि संरक्षण के लिए सबसे ज्यादा प्रचलित मेड बंधान का काम है खेतों में जहां से पानी निकल जाता है उस साइड में एडवांस आपको पसंद आई

prashna hai aapka bhoomi sanrakshan kya hai bhoomi sanrakshan sohel conservation iske liye english shabd hai toh bhoomi sanrakshan se aashay hain jo hamari bhoomi hain uska hum sanrakshan kare bhoomi ke kai upyog hain unmen se sabse bada upyog hamare desh me yah har desh me kheti ke liye hota hai kheti ke liye upajau bhoomi honi aavashyak hai upajau bhoomi agar sanrakshit nahi hogi toh hamari fasalon ki upaj bhi kam hogi is karan bhoomi ka sanrakshan aavashyak mana gaya hai bhoomi sanrakshan ke kai upay hain hum dekhte hain ki bhaugolik sthiti me kisi bhi sthan par kuch unchi unchai wali bhoomi hoti hai pahad hain parvat hai parvat shrrinkhalaen hain yah jo bhi paani barish ka aata hai in parvat pahadon se paani ke saath mitti bhi bhavya kar jaati hai pahadon me batao pahadon par jo vanaspati paida hoti hai uske liye jab mitti nahi hoti us vanaspati ka rehna mushkil ho jata hai pahad nange dikhai dene lagte hain toh isliye sabse pehle bhoomi ka sanrakshan pahadon par kiya jana aavashyak hota hai pahadon par bhoomi sanrakshan ke liye choti choti trens naliyan banai jaati hain in naliyon ko ek contour line par agar banate hain toh contour Trench bolte hain aur agar contour par bhi staggered for me banate hain yani 11 chhodkar banate hain toh status train chalati hain contour Trench aur agar kantinyuas banti hai toh use kantinyuas contour Trench bolte hain contour Trench aur continues contour trens banakar pahadon parwaton par bhoomi sanrakshan kiya jata hai paani aata hai entrance me bharta hai jo range hote hain toh mitti nikalti hai vaah niche ki side me daalte hain jisse paani rukata hai aur usi mitti par koi na koi beech dhar banaspati ugayi jaati hai ya apne aap usko ugne ke liye achi condition milti hai iske baad jo paani aata hai vaah phir niche ki aur jata hai usme bhi mitti jaati hai lekin hatao ruk jata hai jo pahadon par hariyali ke liye bahut zaroori hai iske baad jab pahadon se niche ki aur aate hain samtal kshetra hote hain in samtal kshetro me jo mitti hoti hai usme kheti ki jaati hai aur us mitti me bhi kataav ko rokna zaroori hai kyonki fasal utpadan ke liye krishak urvarak ka istemal karte hain hath daalte hain aur bhoomi ke mitti ke jo khud ke poshak tatva maujud hote hain vaah bhi mitti ke saath na bheja hai isliye mika sanrakshan samtal kshetro me bhi aavashyak hota hai in kshetro me bhoomi sanrakshan ke liye sabse zyada prachalit made bandhan ka kaam hai kheton me jaha se paani nikal jata hai us side me advance aapko pasand I

प्रश्न है आपका भूमि संरक्षण क्या है भूमि संरक्षण सोहेल कंजर्वेशन इसके लिए इंग्लिश शब्द है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  111
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!