एक व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे आप को उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चल सकता है?...


user
1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दो जैसा कि आपने कहा व्यक्तित्व जानने के लिए किसी भी अनजान व्यक्ति से ऐसा क्या सवाल पूछा जा देखे सबसे पहले तो मैं आपको यह बताना चाहूंगा अनजान व्यक्ति कोई भी हो उसका व्यक्तित्व का प्रमाण अगर आपको चाहिए तो सिंपल या अगर आप उससे नमस्कार करते हैं जो कि कुल किसी भी भाषा परिभाषा में आप उससे कर सकते हैं जैसे ही वह वृद्ध हो या आपके समांतर हो या जैसा भी हो या आपका कल ही गुस्से नाम पूछते हैं तो हर एक व्यक्ति का अपने व्यक्तित्व के हिसाब से अपना नाम बताने का तरीका अलग अलग अलग होता है आप उससे समझ सकते हैं कि उस बंदे का व्यक्तित्व कैसा है जैसे आप अगर किसी से नाम पूछते हैं अगर वह अपने सरनेम पर ज्यादा जोर देता इसके मतलब कि वह थोड़ा सा गंभीर है अपने अपने आप को ले करके अगर वह अपने प्रथम नाम पर ज्यादा ध्यान देता है अपना सरनेम नहीं आपको बताता तो सबसे अच्छे व्यक्तित्व का प्रसन्न हो सकता है क्योंकि जो अच्छे व्यक्तित्व के लोग होते हैं वह शायद आपको जाति धर्म या किसी चीजें से नहीं वह सिर्फ अपने नाम से आपको या उसके जो बोलने का तरीका होता भाव वह आप देख सकते हैं कि उसके फेस का ऑपरेशन कैसा अच्छा है या बुरा है पैसे स्माइलिंग के साथ आपको रिप्लाई दे रहा हूं आपके परम से खुश है या नहीं खुश अब आप बिल्कुल देख सकते हो आप उसके चेहरे पर उसके आंखों पर उसके बोलने के तरीके पर आपको तुरंत गैस कर सकते हैं साफ-साफ दिखाई देता है तो आपसे प्रसन्न है नहीं है अगर प्रसन्नता इसका मतलब क्यों उसका व्यक्तित्व काफी अच्छा और आप उससे आगे वार्तालाप कर सकते हैं अगर थोड़ा सा भी वह व्यथित होता है आपके प्रशंसक तो आप उससे थोड़ा सा उचित दूरी बनाकर रखें यह नहीं कि बहुत ज्यादा आप उससे वार्तालाप करें

hello do jaisa ki aapne kaha vyaktitva jaanne ke liye kisi bhi anjaan vyakti se aisa kya sawaal poocha ja dekhe sabse pehle toh main aapko yah batana chahunga anjaan vyakti koi bhi ho uska vyaktitva ka pramaan agar aapko chahiye toh simple ya agar aap usse namaskar karte hain jo ki kul kisi bhi bhasha paribhasha me aap usse kar sakte hain jaise hi vaah vriddh ho ya aapke samantar ho ya jaisa bhi ho ya aapka kal hi gusse naam poochhte hain toh har ek vyakti ka apne vyaktitva ke hisab se apna naam batane ka tarika alag alag alag hota hai aap usse samajh sakte hain ki us bande ka vyaktitva kaisa hai jaise aap agar kisi se naam poochhte hain agar vaah apne surname par zyada jor deta iske matlab ki vaah thoda sa gambhir hai apne apne aap ko le karke agar vaah apne pratham naam par zyada dhyan deta hai apna surname nahi aapko batata toh sabse acche vyaktitva ka prasann ho sakta hai kyonki jo acche vyaktitva ke log hote hain vaah shayad aapko jati dharm ya kisi cheezen se nahi vaah sirf apne naam se aapko ya uske jo bolne ka tarika hota bhav vaah aap dekh sakte hain ki uske face ka operation kaisa accha hai ya bura hai paise smiling ke saath aapko reply de raha hoon aapke param se khush hai ya nahi khush ab aap bilkul dekh sakte ho aap uske chehre par uske aakhon par uske bolne ke tarike par aapko turant gas kar sakte hain saaf saaf dikhai deta hai toh aapse prasann hai nahi hai agar prasannata iska matlab kyon uska vyaktitva kaafi accha aur aap usse aage vartalaap kar sakte hain agar thoda sa bhi vaah vyathit hota hai aapke prasanshak toh aap usse thoda sa uchit doori banakar rakhen yah nahi ki bahut zyada aap usse vartalaap kare

हेलो दो जैसा कि आपने कहा व्यक्तित्व जानने के लिए किसी भी अनजान व्यक्ति से ऐसा क्या सवाल पू

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  293
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक नमस्कार आप ऐसा क्या सोच सकते हैं जिससे आपको उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चल सकता है निश्चित रूप से नाम काम मुकाम तीन चीजें अगर किसी व्यक्ति पूछे जाए तो उसके बताने के अंदाज से हम उसके व्यक्तित्व के बारे में जान सकते हैं उसके इन सवालों का जवाब देने के लिए कैसे हुई विवेचन करता है कैसे वह उपस्थित करता है उसके व्यक्तित्व के बारे में पता चल जाएगा धन्यवाद

ek namaskar aap aisa kya soch sakte hain jisse aapko unke vyaktitva ke bare me bahut kuch pata chal sakta hai nishchit roop se naam kaam mukam teen cheezen agar kisi vyakti pooche jaaye toh uske batane ke andaaz se hum uske vyaktitva ke bare me jaan sakte hain uske in sawalon ka jawab dene ke liye kaise hui vivechan karta hai kaise vaah upasthit karta hai uske vyaktitva ke bare me pata chal jaega dhanyavad

एक नमस्कार आप ऐसा क्या सोच सकते हैं जिससे आपको उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चल

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Pawan

Financial Planer

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको गलत हरकत मुझको गलत चीजों के बारे में बात कीजिए अगर वह हां में हां मिलाते तो मुझे उसका व्यक्ति ठीक नहीं है और अगर वह कहता है कि नहीं निमेष सब चीज नहीं करता हूं और यह सब तीन-चार दिन तक कर दे रही हो कभी ना कभी तो टूटेगा तो टूट गए सब ठीक नहीं है

aapko galat harkat mujhko galat chijon ke bare me baat kijiye agar vaah haan me haan milaate toh mujhe uska vyakti theek nahi hai aur agar vaah kahata hai ki nahi nimesh sab cheez nahi karta hoon aur yah sab teen char din tak kar de rahi ho kabhi na kabhi toh tootega toh toot gaye sab theek nahi hai

आपको गलत हरकत मुझको गलत चीजों के बारे में बात कीजिए अगर वह हां में हां मिलाते तो मुझे उसका

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user

Dr. J.Singh

Financial Expert || Ayurvedic Doctor

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी जानकारी और अनुभव के अनुसार आप किसी व्यक्ति से उनके द्वारा किए जा रहे कार्य और उनके लक्ष्य के बारे में पूछ सकते हैं और अपने उस लक्ष्य को हासिल करने के लिए क्या-क्या राष्ट्रीय बनाते हैं अपना सकते हैं कहां कहां तक जा किस किस रास्ते तक जा सकते हैं इसकी राशि को प्राप्त करते हैं कि कि कि कि तरीकों पर आ सकते हैं उसमें सफल होने के लिए चाहिए आपको द्वारा उसके द्वारा दिया गया उत्तर ही उसकी अपने चरित्र को उसकी अपनी आदतों की परिभाषा को परिभाषित कर देगा धन्यवाद

meri jaankari aur anubhav ke anusaar aap kisi vyakti se unke dwara kiye ja rahe karya aur unke lakshya ke bare me puch sakte hain aur apne us lakshya ko hasil karne ke liye kya kya rashtriya banate hain apna sakte hain kaha kaha tak ja kis kis raste tak ja sakte hain iski rashi ko prapt karte hain ki ki ki ki trikon par aa sakte hain usme safal hone ke liye chahiye aapko dwara uske dwara diya gaya uttar hi uski apne charitra ko uski apni aadaton ki paribhasha ko paribhashit kar dega dhanyavad

मेरी जानकारी और अनुभव के अनुसार आप किसी व्यक्ति से उनके द्वारा किए जा रहे कार्य और उनके लक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

आचार्य प्रशांत

IIT-IIM Alumnus, Ex Civil Services Officer, Mystic

5:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वयं को जाने बिना दूसरे को नहीं जाना जा सकता जो दूसरे को जान रहा है बाद में क्या नहीं होगा दूसरे को जान पाने देखता न समझ पाने में हमसे इसीलिए भूल हो जाती है ना क्योंकि हमें खुद का ही कुछ पता नहीं दूसरे को देख पाने की अगर हमने योग्यता होती तो उसी योग्यता का उपयोग करके सबसे पहले हमने खुद को देख लिया होता हमारी हालत ऐसी है कि हम करें कि मुझे समय नहीं दिख रहा आंखें खराब है जल्दी कर देना तुम्हारी घड़ी में समय देख लूंगा उसकी कलाई में समय देख सकते हैं तो पहले अपनी घड़ी में ना देख लिया होता पर हमारी बड़ी रुचि रहती है दूसरे की सच्चाई जानने पर प्रश्न भी हम यही करते हैं कि दूसरे की पर्सनालिटी दूसरे के व्यक्तित्व के पीछे क्या है कैसे पता करें जासूसी और सनसनीखेज टीवी धारावाहिकों का काम है क्या चल रहा है पता करना है कुछ अपने घर में क्या चल रहा है यह पता है लगाकर बैठ के पड़ोसी के घर पर कांड सब अपने घर में हो गए हमार अपना मन नहीं पढ़ते टीवी देख रहे हैं कमली मनप्रीत दूसरे को जानना है तो खुद को जान लो अपने क्रोध को अपने सुख को दुख हुआ को निराशा को अगर तुम जान पाए तो दूसरे को जानने में बिल्कुल तुम्हारे ऊपर ऊपर कुछ बातें होती है शरीर अलग-अलग जितना गहरे जाओगे भेद कम होते जा रहे हैं और साझा पर बढ़ता जा रहा है किसी के घर में कुछ नहीं चल रहा है जो किसी और के घर की घटनाओं से फिल्म कितनी पीड़ा दूसरे की पीड़ा से दिन नहीं है मनुष्य तो मनुष्य पशुओं की भी पीड़ा वही है जो ऊंचे से ऊंचे मनुष्य की है जब भी तुम समझते हो तो ऐसे ही बोलते हैं इसी का फल करो ना है इसी का फल मिलता है

swayam ko jaane bina dusre ko nahi jana ja sakta jo dusre ko jaan raha hai baad mein kya nahi hoga dusre ko jaan paane dekhta na samajh paane mein humse isliye bhool ho jaati hai na kyonki hamein khud ka hi kuch pata nahi dusre ko dekh paane ki agar humne yogyata hoti toh usi yogyata ka upyog karke sabse pehle humne khud ko dekh liya hota hamari halat aisi hai ki hum karen ki mujhe samay nahi dikh raha aankhen kharaab hai jaldi kar dena tumhari ghadi mein samay dekh lunga uski kalaai mein samay dekh sakte hain toh pehle apni ghadi mein na dekh liya hota par hamari badi ruchi rehti hai dusre ki sacchai jaanne par prashna bhi hum yahi karte hain ki dusre ki personality dusre ke vyaktitva ke peeche kya hai kaise pata karen jasoosi aur sanasaneekhej TV dharawahikon ka kaam hai kya chal raha hai pata karna hai kuch apne ghar mein kya chal raha hai yah pata hai lagakar baith ke padosi ke ghar par kaand sab apne ghar mein ho gaye hamar apna man nahi padhte TV dekh rahe hain kamli manprit dusre ko janana hai toh khud ko jaan lo apne krodh ko apne sukh ko dukh hua ko nirasha ko agar tum jaan paye toh dusre ko jaanne mein bilkul tumhare upar upar kuch batein hoti hai sharir alag alag jitna gehre jaoge bhed kam hote ja rahe hain aur sajha par badhta ja raha hai kisi ke ghar mein kuch nahi chal raha hai jo kisi aur ke ghar ki ghatnaon se film kitni peeda dusre ki peeda se din nahi hai manushya toh manushya pashuo ki bhi peeda wahi hai jo unche se unche manushya ki hai jab bhi tum samajhte ho toh aise hi bolte hain isi ka fal karo na hai isi ka fal milta hai

स्वयं को जाने बिना दूसरे को नहीं जाना जा सकता जो दूसरे को जान रहा है बाद में क्या नहीं होग

Romanized Version
Likes  349  Dislikes    views  3901
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे आप उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चल जाए एक बार साधारण सा प्रशन है सिर्फ हम उसको सम्मान और अभिनंदन करेंगे और उसका जो उसका जो उसे जवाब प्राप्त होगा सब कुछ पता चल जाएगा अक्षरधाम चीज है कि आपका हाल-चाल कैसा है उसका जो जवाब मिलेगा वह हमें उसके व्यक्तित्व के बारे में बता दिया जाएगा इस प्रश्न का प्रश्न ही हाल है ध्यान रखना

ek vyakti se aap aisa kya sawal poochh sakte hain jisse aap unke vyaktitva ke bare mein bahut kuch pata chal jaye ek baar sadhaaran sa prashan hai sirf hum usko sammaan aur abhinandan karenge aur uska jo uska jo use jawab prapt hoga sab kuch pata chal jayega akshardham cheez hai ki aapka haal chaal kaisa hai uska jo jawab milega wah humein uske vyaktitva ke bare mein bata diya jayega is prashna ka prashna hi haal hai dhyan rakhna

एक व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे आप उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  1296
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने प्रश्न किया कि व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे कि आपको उनके व्यक्ति के बारे में बहुत कुछ पता चल सकता देखें हर इंसान का अपना व्यक्तित्व है पटना ड्यूटी है सोच होती है उसकी अपनी समझ होती है उसका अपना एक स्वाभिमान होता है उसका एक अपना ज्ञान होता है एक उसकी पहचान होती तुम्हें मानकी चलता हूं कि एक ऐसा प्रश्न जो किसी के विषय में सब कुछ जानना चाहते हैं तुम्हें मानकर चलता हूं आदरणीय सत्यप्रकाश जी आप निसंदेह बहुत अच्छे इंसान हैं आदर्शवादी इंसान आप दुनिया के लिए समर्पित हैं लेकिन मुझे सिर्फ आप यह बताइए कि ऐसी कौन हारा ने जिन कारणों से मैं आपकी सागर जी या आपके जीवन के अस्तित्व से अपने जीवन को जोड़ना बताइए कौन से कारण है कि मैं आपको अपने आप को आपके समर्पित कर दो डकैत प्रश्न किसी के चमक जाता है तो इंसान कितने को आतुर हो जाता बेचैन हो जाता है वाकई कोई व्यक्ति क्यों निर्भर होगा क्यों मुझे क्यों अपने आप को मेरे लिए समर्पित कर देगा और मुझ में कुछ माना जाएगा उसके उत्तर से उस इंसान की संपूर्ण व्यक्तित्व आपके सामने आ जाएगी अगर आप वाकई में एक मनोवैज्ञानिक और एक दार्शनिक होंगे तो

aap ne prashna kiya ki vyakti se aap aisa kya sawaal poochh sakte hain jisse ki aapko unke vyakti ke bare mein bahut kuch pata chal sakta dekhen har insaan ka apna vyaktitva hai patna duty hai soch hoti hai uski apni samajh hoti hai uska apna ek swabhiman hota hai uska ek apna gyaan hota hai ek uski pehchaan hoti tumhe manki chalta hoon ki ek aisa prashna jo kisi ke vishay mein sab kuch janana chahte hain tumhe manakar chalta hoon adaraniya sathyaprakash ji aap nisandeh bahut acche insaan hain aadarshvaadi insaan aap duniya ke liye samarpit hain lekin mujhe sirf aap yah bataiye ki aisi kaun haara ne jin karanon se main aapki sagar ji ya aapke jeevan ke astitva se apne jeevan ko jodna bataiye kaun se karan hai ki main aapko apne aap ko aapke samarpit kar do dacoit prashna kisi ke chamak jata hai toh insaan kitne ko aatur ho jata bechain ho jata hai vaakai koi vyakti kyon nirbhar hoga kyon mujhe kyon apne aap ko mere liye samarpit kar dega aur mujhse mein kuch mana jaega uske uttar se us insaan ki sampurna vyaktitva aapke saamne aa jayegi agar aap vaakai mein ek manovaigyanik aur ek darshnik honge toh

आप ने प्रश्न किया कि व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे कि आपको उनके व्यक्ति क

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1088
WhatsApp_icon
user

महेश सेठ

रेकी ग्रैंडमास्टर,लाइफ कोच

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूसरे से क्या सवाल पूछना यह आगरा पूछते कि मैं अपने से क्या सवाल पूछ सकता हूं कि मुझे अपने रक्त के बारे में पता चल जाए तो तो कुछ बात भी होती आप अपनी गलती को कितना जानते हो भाई आप रोज सुबह से शाम तक पूछे मैं कौन हूं तो कम से कम 5 साल में आपको पता लगेगा कि आप कौन हो आप एक सवाल दूसरे से पूछना चाहते हो उसके पूरा भक्तों के बारे में जानना चाह जाते हो क्या क्या करोगे जान के अपना तो जा नहीं रहे हो और जब भी आप किसी से मिलते हो तो मिलते ही आप उसके बारे में कोई न कोई अनुमान लगा लेते और आप अगर उसके बारे में कुछ और बता लगाओगे की तो उसी अनुमान के आधार पर होता है इससे कोई आपको फायदा नहीं होने वाला होता अच्छा हो क्या वह अपने आप से सवाल पूछे मैं कौन हूं और अपने घर को जाने धन्यवाद नमस्कार

dusre se kya sawaal poochna yah agra poochhte ki main apne se kya sawaal poochh sakta hoon ki mujhe apne rakt ke bare mein pata chal jaaye toh toh kuch baat bhi hoti aap apni galti ko kitna jante ho bhai aap roj subah se shaam tak pooche main kaun hoon toh kam se kam 5 saal mein aapko pata lagega ki aap kaun ho aap ek sawaal dusre se poochna chahte ho uske pura bhakton ke bare mein janana chah jaate ho kya kya karoge jaan ke apna toh ja nahi rahe ho aur jab bhi aap kisi se milte ho toh milte hi aap uske bare mein koi na koi anumaan laga lete aur aap agar uske bare mein kuch aur bata lagaoge ki toh usi anumaan ke aadhaar par hota hai isse koi aapko fayda nahi hone vala hota accha ho kya vaah apne aap se sawaal pooche main kaun hoon aur apne ghar ko jaane dhanyavad namaskar

दूसरे से क्या सवाल पूछना यह आगरा पूछते कि मैं अपने से क्या सवाल पूछ सकता हूं कि मुझे अपने

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  2625
WhatsApp_icon
user

Jyoti Bhardwaj

Psychologist, Counsellor

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी व्यक्ति से एक सवाल पूछ कर आप उसके व्यक्तित्व के बारे में धारणा नहीं बना सकते उस वक्त उसका जवाब उसकी सिचुएशंस के कोडिंग लिपि हो सकता है इसलिए हम एक सवाल पूछ कर किसी भी व्यक्ति व्यक्ति का व्यक्तित्व के बारे में एक धारणा यह जानकारी सही रूप में नहीं ले सकते

kisi bhi vyakti se ek sawal poochh kar aap uske vyaktitva ke bare mein dharana nahi bana sakte us waqt uska jawab uski sichueshans ke coding lipi ho sakta hai isliye hum ek sawal poochh kar kisi bhi vyakti vyakti ka vyaktitva ke bare mein ek dharana yeh jankari sahi roop mein nahi le sakte

किसी भी व्यक्ति से एक सवाल पूछ कर आप उसके व्यक्तित्व के बारे में धारणा नहीं बना सकते उस वक

Romanized Version
Likes  165  Dislikes    views  2283
WhatsApp_icon
user

Anuraadha Uboweja

Empowerment Coach & Healer

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप किसी से किसी भी व्यक्ति से आप तो यह पूछे कि वह अपने मां बाप के बारे में क्या सोचते हैं और जहां उन्होंने जन्म लिया है उसके बारे में क्या सोचते हैं तो आपको बहुत गहराइयों तक पता चल जाएगा कि यह व्यक्ति का व्यक्तित्व कैसा है क्योंकि हमारे मां-बाप जो है और जहां हमने जन्म लिया है वह हमारा स्तोत्र है वह हमारा 100 वर्ष है और हम उनके बारे में कैसा फील करते हैं कैसा महसूस करते हैं उनके साथ हमारा संबंध कैसा है यह हमार को बहुत कुछ बताता है हमारे खुद के बारे में

aap kisi se kisi bhi vyakti se aap to yeh puche ki wah apne maa baap ke bare mein kya sochte hain aur jahan unhone janm liya hai uske bare mein kya sochte hain to aapko bahut gehraiyon tak pata chal jayega ki yeh vyakti ka vyaktitva kaisa hai kyonki hamare maa baap jo hai aur jahan humne janm liya hai wah hamara stotra hai wah hamara 100 varsh hai aur hum unke bare mein kaisa feel karte hain kaisa mahsus karte hain unke saath hamara sambandh kaisa hai yeh humaar ko bahut kuch batata hai hamare khud ke bare mein

आप किसी से किसी भी व्यक्ति से आप तो यह पूछे कि वह अपने मां बाप के बारे में क्या सोचते हैं

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  579
WhatsApp_icon
user

Neha Makhija

Clinical Psychologist

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

छोटे खास तौर पर वह जो अपने कपड़े निकले थे होते हैं चाय आर्थिक स्तर पर एप्लीकेशन कपड़े पहनने का अर्थ आम के अचार विकास बोलने का तरीका

chhote khas taur par vaah jo apne kapde nikle the hote hain chai aarthik sthar par application kapde pahanne ka arth aam ke achaar vikas bolne ka tarika

छोटे खास तौर पर वह जो अपने कपड़े निकले थे होते हैं चाय आर्थिक स्तर पर एप्लीकेशन कपड़े पहनन

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  790
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यस बच्चों को संवाद ही आदमी के व्यक्त नहीं करते अपितु एक व्यक्ति की भाषा उसके परिवार के संस्कारों को बता देती है उसकी कॉल किशन को बता देती है उसके चल बता देती है यहां तक कि साइकोलॉजी से यह कहती है कि आदमी की पसंद को उसके रंगों से जाना जा सकता है उसके व्यक्तित्व को उसके द्वारा लिखी हुई राइटिंग से पहचाना जा सकता है साइकोलॉजी बहुत कुछ सहायता करती है मालूम को समझने में आप यदि राइटिंग लिखते समय एक कोरा कागज दे दीजिए क्विक और उसको लिखने एक तेज लिखने को कह दीजिए तो जिस व्यक्ति जो व्यक्ति मल्टीकंपलेक्स से पीड़ित होगा उसकी राइटिंग ऑटोमेटिक रूप से नीचे डाउन हो जाएगी रिलायंस जी नहीं आएगी नीचे पूरी हो जाएगी दूसरी बात जो व्यक्ति ज्यादा महत्वाकांक्षी है कुछ महत्वाकांक्षी है कोई व्यक्ति की राइटिंग लिखते लिखते लाइन ऊपर की ओर हो जाएगी जिस व्यक्ति की लाइन बिल्कुल एकदम सीधी चल रही है 16 अक्षर बन रहे हैं इसका मतलब सुंदर अक्षर बन रहे हैं इसका मतलब उसकी पर्सनल कि मैं सभी को समुचित मात्रा में भर्ती है और भी बिल्कुल जनों से नहीं चाहती है वह पॉजिटिव माइंड का बिकती है सकारात्मक सोच वाला व्यक्ति आशावादी है और मानवता के लिए हितकारी है मानवता की कल्याणकारी विचारों में रखने वाला है मानवता के लिए आदर्श है इस प्रकार से आदमी के व्यवहार आचरण सभी कुछ उसकी भाषा से सो जाते हैं उसकी एक्टिविटी से सो जाते हैं एक व्यक्ति जिस वातावरण में पलता है या रहता है उसकी संस्कार पुत्र जन्म जन्म के लिए अंकित हो जाते हैं पूरे जम्मू और रहते हैं तुम देखते हो जैसी कुमार एक गाना बनाता है और उसका चिकड़ी परदेसी जो फूल पत्तियां डिजाइंस बना देता है उस घड़ी का जब तक जाता है तो तब उस पर खड़ा हो सकता है लेकिन उसकी डिजाइन फूल पत्ती आदि जो कुमार ने कच्चे घड़ी पर बनाई थी उनको हटाया नहीं जा सकता है इसी प्रकार से बचपन में जो संस्कार जो गंदी आदतें अच्छी आदतें अच्छे विचार गंदे विचार जैसी भी उसकी कंपनी रही है संगत रही है उसका परिवारिक आचरण रहे परिवारी जनों की आशंका है वह सब बच्चे के मन पर उनकी सुपर हो जाते हैं और वह जीवन भर बनते रहते हैं उनमें कमी हो सकती है या बढ़ोतरी हो सकती है लेकिन उनको समूह रूप से मिटाया नहीं जा सकता है इसलिए मेरे मित्र संयमित भाषा बोलनी चाहिए सब की भाषा का प्रयोग करना चाहिए जितना हो सके अपने पति को विकसित किया जाए उसको गुणों से भरा जाए देखते तो दो ही होता है जिसको दूसरे लोग देखें और उसका अनुसरण करें और बड़े सम्मान के साथ बड़ी कौरव के साथ तुम्हारे नाम को स्मरण किया जाए समाज में तुम्हें आदत दिया जाए तुम्हारे परिवार को आदर दिया जाए जीवन तो कहीं सार्थक है जिसके जन्म लेने से या जिस के कार्यों से उसका स्थान उसका देश और समाज का नाम प्रभार का नाम हो

Yes bacchon ko sanvaad hi aadmi ke vyakt nahi karte apitu ek vyakti ki bhasha uske parivar ke sanskaron ko bata deti hai uski call kishan ko bata deti hai uske chal bata deti hai yahan tak ki psychology se yeh kehti hai ki aadmi ki pasand ko uske rangon se jana ja sakta hai uske vyaktitva ko uske dwara likhi hui writing se pehchana ja sakta hai psychology bahut kuch sahaayata karti hai maloom ko samjhne mein aap yadi writing likhte samay ek quora kagaz de dijiye quick aur usko likhne ek tez likhne ko keh dijiye toh jis vyakti jo vyakti maltikampaleks se peedit hoga uski writing Automatic roop se neeche down ho jayegi reliance ji nahi aayegi neeche puri ho jayegi dusri baat jo vyakti zyada mahatwakanshi hai kuch mahatwakanshi hai koi vyakti ki writing likhte likhte line upar ki aur ho jayegi jis vyakti ki line bilkul ekdam sidhi chal rahi hai 16 akshar ban rahe hain iska matlab sundar akshar ban rahe hain iska matlab uski personal ki main sabhi ko samuchit matra mein bharti hai aur bhi bilkul jano se nahi chahti hai wah positive mind ka bikti hai sakaratmak soch vala vyakti aashavadi hai aur manavta ke liye hitkari hai manavta ki kalyankari vicharon mein rakhne vala hai manavta ke liye adarsh hai is prakar se aadmi ke vyavahar aacharan sabhi kuch uski bhasha se so jaate hain uski activity se so jaate hain ek vyakti jis vatavaran mein palotaa hai ya rehta hai uski sanskar putra janam janam ke liye ankit ho jaate hain poore jammu aur rehte hain tum dekhte ho jaisi kumar ek gaana banata hai aur uska chikdi pardesi jo fool pattiyan dijains bana deta hai us ghadi ka jab tak jata hai toh tab us par khada ho sakta hai lekin uski design fool patti aadi jo kumar ne kacche ghadi par banai thi unko hataya nahi ja sakta hai isi prakar se bachpan mein jo sanskar jo gandi aadatein acchi aadatein acche vichar gande vichar jaisi bhi uski company rahi hai sangat rahi hai uska pariwarik aacharan rahe pariwarik jano ki ashanka hai wah sab bacche ke man par unki super ho jaate hain aur wah jeevan bhar bante rehte hain unmen kami ho sakti hai ya badhotari ho sakti hai lekin unko samuh roop se mitaya nahi ja sakta hai isliye mere mitra sanyamit bhasha bolani chahiye sab ki bhasha ka prayog karna chahiye jitna ho sake apne pati ko viksit kiya jaye usko gunon se bhara jaye dekhte toh do hi hota hai jisko dusre log dekhen aur uska anusaran karein aur bade sammaan ke saath badi kaurav ke saath tumhare naam ko smarn kiya jaye samaaj mein tumhe aadat diya jaye tumhare parivar ko aadar diya jaye jeevan toh kahin sarthak hai jiske janam lene se ya jis ke kaaryon se uska sthan uska desh aur samaaj ka naam parbhar ka naam ho

यस बच्चों को संवाद ही आदमी के व्यक्त नहीं करते अपितु एक व्यक्ति की भाषा उसके परिवार के संस

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  820
WhatsApp_icon
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

3:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक वृत्त से कोई एक सवाल पूछ कर उसके व्यक्ति के बारे में जान पाना है बहुत मुश्किल काम है वह इसलिए कि एक कपल साथ साथ रहते हैं और बरसों साथ रहते हैं 30 साल 40 साल 50 साल से फिर भी उसके बारे में कुछ ना कुछ बचा रहेगा जानना समझना और बहुत बार तो ऐसा होता है कि बिल्कुल उनके इरादों और उनके चरित्र के बारे में पता करना मुझे यह सवाल तो बहुत मुश्किल है कि किसी एक सवाल करके किसी आदमी के बारे में सब कुछ जान लिया जाए हां अगर यह सवाल सामने से किया जा रहा है और आगे आदमी है तो उसके बारे में क्या लगता है इस आदमी का उसका बात करने का तरीका उसके रिस्पांस करने का तरीका उसके भाव भंगिमा उसे उसके बारे में उसे ड्रेस ड्रेस कोट ड्रेस से उसके बारे में राज निकालते हैं उसकी बैठने के तरीके से बात करते हैं थोड़ा युवराज निकलती है और जिस विषय पर बात कर रहे हैं उनके स्टेटमेंट डिलीवरी से उसके बारे में उनकी गा रहा है उनका एक्सपीरियंस पता लगता है और चेहरे के कंप्रेशन से भी पता लगता है यह सब होता है लेकिन ऐसा नहीं है कि किसी आदमी के बारे में सारा का सारा पता करने और सब कुछ चला मोटा मोटा आइडिया का है कि वह क्या सोचता है क्या नहीं करता है उसके एक्शन से झलक निकलती है और जब अगर लंबे समय तक उसके साथ समय गुजारने का वक्त मिलता है तब उसके बारे में कंफर्म राय बन्नी शुरू होती है कि आदमी इस नेचर का सपोर्ट इन नेचर का है नेगेटिव नेचर का है ऐसा दूसरों की मदद करने वाला है दूसरे के दुख में दुखी होने वाला है दूसरे के दुख से परेशान हो जाने वाला है किंतु इनका टाइप का आदमी है चिंतक टाइप का आदमी है सामाजिक सरोकारों से वास्ता रखने वाला है यह यह सब पर से बनती है और रेट के व्यक्तित्व के बारे में कंफर्म राय बनती है क्या साहब यह इस तरह का सोच कर समझ का आदमी है और दुखी है या शान है यह तो उसके सामने से आप अगर आप देखेंगे तो और आह निकलती कुछ लोग दौड़ लेते हैं कुछ लोग दुखी होने के बावजूद आपने तो को छुपा लेते हैं और मुस्कुराते तो वाला गलत किस्म के वक्त कितना बीघा होता है जिसके बारे में एक सवाल से आपको हीरा निकाल नहीं सकते

ek vritt se koi ek sawal poochh kar uske vyakti ke bare mein jaan pana hai bahut mushkil kaam hai wah isliye ki ek couple saath saath rehte hain aur barson saath rehte hain 30 saal 40 saal 50 saal se phir bhi uske bare mein kuch na kuch bacha rahega janana samajhna aur bahut baar toh aisa hota hai ki bilkul unke iradon aur unke charitra ke bare mein pata karna mujhe yeh sawal toh bahut mushkil hai ki kisi ek sawal karke kisi aadmi ke bare mein sab kuch jaan liya jaye haan agar yeh sawal saamne se kiya ja raha hai aur aage aadmi hai toh uske bare mein kya lagta hai is aadmi ka uska baat karne ka tarika uske response karne ka tarika uske bhav bhangima use uske bare mein use dress dress coat dress se uske bare mein raaj nikalate hain uski baithne ke tarike se baat karte hain thoda yuvraj nikalti hai aur jis vishay par baat kar rahe hain unke statement delivery se uske bare mein unki ga raha hai unka experience pata lagta hai aur chehre ke compression se bhi pata lagta hai yeh sab hota hai lekin aisa nahi hai ki kisi aadmi ke bare mein saara ka saara pata karne aur sab kuch chala mota mota idea ka hai ki wah kya sochta hai kya nahi karta hai uske action se jhalak nikalti hai aur jab agar lambe samay tak uske saath samay gujarne ka waqt milta hai tab uske bare mein confirm rai bani shuru hoti hai ki aadmi is nature ka support in nature ka hai Negative nature ka hai aisa dusron ki madad karne vala hai dusre ke dukh mein dukhi hone vala hai dusre ke dukh se pareshan ho jaane vala hai kintu inka type ka aadmi hai chintak type ka aadmi hai samajik sarokaron se vasta rakhne vala hai yeh yeh sab par se banti hai aur rate ke vyaktitva ke bare mein confirm rai banti hai kya saheb yeh is tarah ka soch kar samajh ka aadmi hai aur dukhi hai ya shan hai yeh toh uske saamne se aap agar aap dekhenge toh aur aah nikalti kuch log daudh lete hain kuch log dukhi hone ke bawajud aapne toh ko chhupa lete hain aur muskurate toh vala galat kism ke waqt kitna bigha hota hai jiske bare mein ek sawal se aapko heera nikaal nahi sakte

एक वृत्त से कोई एक सवाल पूछ कर उसके व्यक्ति के बारे में जान पाना है बहुत मुश्किल काम है वह

Romanized Version
Likes  207  Dislikes    views  2973
WhatsApp_icon
user

Rishi Mishra

Rehabilitation Psychologist

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी इंसान की पर्सनैलिटी के सवाल क्या हाल है उसे ठीक होता है और कुछ माना जाता है और दूसरी बात यह है उसका बॉडी लैंग्वेज होती है और उसकी आई मूवमेंट चित्र सहित किसी भी क्वेश्चन पर वह आंखों को किस तरह से करता है या को कहां देखते हैं जी आप से बात कर रहे हैं तो आप की तरफ देख रहे हैं या नहीं या कहीं और देख रहे हैं और दूसरा होता है ध्यान देना उत्तर प्रदेश

kisi bhi insaan ki personality ke sawal kya haal hai use theek hota hai aur kuch mana jata hai aur dusri baat yeh hai uska body language hoti hai aur uski I movement chitra sahit kisi bhi question par wah aakhon ko kis tarah se karta hai ya ko kahaan dekhte hain ji aap se baat kar rahe hain toh aap ki taraf dekh rahe hain ya nahi ya kahin aur dekh rahe hain aur doosra hota hai dhyan dena uttar pradesh

किसी भी इंसान की पर्सनैलिटी के सवाल क्या हाल है उसे ठीक होता है और कुछ माना जाता है और दूस

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1750
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न एक व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे आपको उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चल सकता है सिंपल है आप उनका भी पूछ सकते हो अभी क्या है क्या नहीं है ओके पहले कोई असर था या नहीं क्यों पता चलता है कि सामने वाला कैसा था कैसा है अपने बारे में कुछ बताओ गुलपर लाइफ एंजॉय

prashna ek vyakti se aap aisa kya sawaal poochh sakte hain jisse aapko unke vyaktitva ke bare mein bahut kuch pata chal sakta hai simple hai aap unka bhi poochh sakte ho abhi kya hai kya nahi hai ok pehle koi asar tha ya nahi kyon pata chalta hai ki saamne vala kaisa tha kaisa hai apne bare mein kuch batao gulapar life enjoy

प्रश्न एक व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते हैं जिससे आपको उनके व्यक्तित्व के बारे में

Romanized Version
Likes  461  Dislikes    views  5762
WhatsApp_icon
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रम एक-एक सवाल तो इन होंगी लेकिन अगर आप किसी के व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ जानना चाहते हैं तो जो वह कह रहे हैं वह ज्यादा सुनो की बहुत बोलिए अगर आप जब भी उनसे कोई बात शुरू होती है तो आप उन्हें ज्यादा मौका देंगे बोलने का तो आप उनके व्यक्तित्व आर्मी वैसे भी ज्यादा जान पाएंगे जान जाएंगे अगर आप अपनी ही बात कहते रहेंगे तो आप ज्यादा नहीं समझ पाएंगे उस व्यक्ति के बारे में

vikram ek ek sawaal toh in hongi lekin agar aap kisi ke vyaktitva ke bare mein bahut kuch janana chahte hain toh jo vaah keh rahe hain vaah zyada suno ki bahut bolie agar aap jab bhi unse koi baat shuru hoti hai toh aap unhe zyada mauka denge bolne ka toh aap unke vyaktitva army waise bhi zyada jaan payenge jaan jaenge agar aap apni hi baat kehte rahenge toh aap zyada nahi samajh payenge us vyakti ke bare mein

विक्रम एक-एक सवाल तो इन होंगी लेकिन अगर आप किसी के व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ जानना च

Romanized Version
Likes  1270  Dislikes    views  12396
WhatsApp_icon
user

Jyotish Daiya

Chairman At Vijyam Classes, Motivator and Life Coach

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो आप जानना चाहते हैं कि किसी व्यक्ति से ऐसा क्या सवाल पूछा जाए कि एक सवाल से ही उनके व्यक्तित्व में बहुत कुछ पता लग पाए तो अगर आप सवाल मुझसे पूछे तो मैं आपको ऐसा कौन गा कि आप किसी व्यक्ति से पूछ सकते हैं कि वह व्यक्ति सुबह उठते ही क्या करता है अगर आप को इस प्रकार का अवसर मिले कि सुबह उठते ही कम किया वो काम किया ऐसा किया तो आपको कुछ देर एनी अदर जल्द नजर आएंगे और अभी कोई व्यक्ति और थे टाइम पास या आलसी फन की बात करता है कि सुबह उठते ही मजा आ जाता है ऐसा करने का मन करता है या टाइमपास करने का मन करता है तो आपको आज तो से बहुत सारी चीजें समझ में आएगी और उसके व्यक्तित्व कॉल करना पड़ेगा

toh aap janana chahte hain ki kisi vyakti se aisa kya sawal puchha jaye ki ek sawal se hi unke vyaktitva mein bahut kuch pata lag paye toh agar aap sawal mujhse poochhe toh main aapko aisa kaun ga ki aap kisi vyakti se poochh sakte hain ki wah vyakti subah uthte hi kya karta hai agar aap ko is prakar ka avsar mile ki subah uthte hi kam kiya vo kaam kiya aisa kiya toh aapko kuch der any other jald nazar aayenge aur abhi koi vyakti aur the time paas ya aalsi phan ki baat karta hai ki subah uthte hi maza aa jata hai aisa karne ka man karta hai ya timepass karne ka man karta hai toh aapko aaj toh se bahut saree cheezen samajh mein aayegi aur uske vyaktitva call karna padega

तो आप जानना चाहते हैं कि किसी व्यक्ति से ऐसा क्या सवाल पूछा जाए कि एक सवाल से ही उनके व्यक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

2:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देख के बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जिनके पास बहुत अनुभव होता है जब वो किसी व्यक्ति से मिलते हैं तो उस व्यक्ति के बारे में वह सब कुछ जान जाते हैं एक बार में ही जान जाते हैं लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं आप किसी आदमी के बारे में तो हो सकता है कि 1 दिन 2 दिन 10 दिन में आप पता लगा लो कि यह किस विचारधारा का है लेकिन किसी औरत के बारे में आप 1 दिन में नहीं चैट कर सकते हो कि वह किस विचारधारा की है आपको हो सकता है कि 1 साल का टाइम लग जाए हो सकता है कि 8 महीने का टाइम लग जाए देखिए लोग ऐसे पेश होते हैं आपके सामने क्या आप उनको समझ नहीं पाएंगे कि यह किस विचारधारा के इतना जल्दी समझना बहुत कठिन है मैं किसी को भी समझ जाता हूं अगर मेरे से कोई बात करें तो मैक्सिमम अस्सी परसेंट लोगों को मैं समझ जाता हूं कि यह इनका विचार ऐसा है यह चापलूस हैं या यह अच्छी सोच वाले हैं या इनका विचार को समाजसेवी समाज सेवा का विचार है यह हेल्पफुल नेचर के हैं तो मैं समझ जाता हूं लेकिन कभी-कभी क्या होता है कि जो 20 परसेंट लोगों को मैं भी नहीं समझ पाता हूं मैं धोखा खा जाता हूं और कोई भी इंसान धोखा खा जाएगा तो आप को किसी भी इंसान को जानना है तो किसी एक सवाल से आप नहीं जान सकते हैं हां अगर आप उससे बात करेंगे लगातार अगर तीन-चार घंटा बात करेंगे तो पक्का है कि आप थोड़ा बहुत उसके बारे में जान जाएंगे क्योंकि 4 घंटा जब बात करेंगे तो बहुत सारे सवाल जवाब होंगे बहुत सारे टॉपिक पर बात होगा तो उसका जो आई कांटेक्ट होता है वह इधर-उधर भागेगा उसको अगर आपकी बात अच्छी नहीं लगती है तू बीच-बीच में आपकी बात को रोकेगा हां हां करके ठोकेगा या इग्नोर करेगा आपको तो आपको समझ जाना चाहिए कि नहीं इनको मेरी बात अच्छी नहीं लग रही है और इनका विचार अलग है अगर आप कुछ अच्छा बात करेंगे किसी के सामने तो आप देखिए उसका कि उसका मन नहीं लग रहा है आपकी बातों को सुनने में तो आप समझ जाइए कि यह अच्छा विचार वाला व्यक्ति नहीं है अगर आप बुरा बुरा बात करेंगे गलत बात करेंगे तो अगले को लगेगा कि अच्छा लगेगा वह इंटरेस्ट से आपकी बात सुनेगा आपकी बात का जवाब देगा तो आप जान जाइए कि यह इंसान बुरा है इसलिए इसको बुरा अच्छी पर खराब बात अच्छी लग रही है तो बस यही होता है किसी को जानने के लिए थोड़ा वक्त लगता है किसी को समझने के लिए थोड़ा कम टाइम की जरूरत पड़ती है लेकिन किसी एक सवाल से किसी को नहीं जाना जा सकता है धन्यवाद

dekh ke bahut saare log aise hote hain jinke paas bahut anubhav hota hai jab vo kisi vyakti se milte hain toh us vyakti ke bare mein wah sab kuch jaan jaate hain ek baar mein hi jaan jaate hain lekin main aapko batana chahta hoon aap kisi aadmi ke bare mein toh ho sakta hai ki 1 din 2 din 10 din mein aap pata laga lo ki yeh kis vichardhara ka hai lekin kisi aurat ke bare mein aap 1 din mein nahi chat kar sakte ho ki wah kis vichardhara ki hai aapko ho sakta hai ki 1 saal ka time lag jaye ho sakta hai ki 8 mahine ka time lag jaye dekhie log aise pesh hote hain aapke saamne kya aap unko samajh nahi payenge ki yeh kis vichardhara ke itna jaldi samajhna bahut kathin hai main kisi ko bhi samajh jata hoon agar mere se koi baat karein toh maximum assi percent logon ko main samajh jata hoon ki yeh inka vichar aisa hai yeh chaplus hain ya yeh acchi soch wale hain ya inka vichar ko samajsevi samaaj seva ka vichar hai yeh helpful nature ke hain toh main samajh jata hoon lekin kabhi kabhi kya hota hai ki jo 20 percent logon ko main bhi nahi samajh pata hoon main dhokha kha jata hoon aur koi bhi insaan dhokha kha jayega toh aap ko kisi bhi insaan ko janana hai toh kisi ek sawal se aap nahi jaan sakte hain haan agar aap usse baat karenge lagatar agar teen char ghanta baat karenge toh pakka hai ki aap thoda bahut uske bare mein jaan jaenge kyonki 4 ghanta jab baat karenge toh bahut saare sawal jawab honge bahut saare topic par baat hoga toh uska jo I Contact hota hai wah idhar udhar bhagega usko agar aapki baat acchi nahi lagti hai tu beech beech mein aapki baat ko rokega haan haan karke thokega ya ignore karega aapko toh aapko samajh jana chahiye ki nahi inko meri baat acchi nahi lag rahi hai aur inka vichar alag hai agar aap kuch accha baat karenge kisi ke saamne toh aap dekhie uska ki uska man nahi lag raha hai aapki baaton ko sunane mein toh aap samajh jaiye ki yeh accha vichar vala vyakti nahi hai agar aap bura bura baat karenge galat baat karenge toh agle ko lagega ki accha lagega wah interest se aapki baat sunegaa aapki baat ka jawab dega toh aap jaan jaiye ki yeh insaan bura hai isliye isko bura acchi par kharaab baat acchi lag rahi hai toh bus yahi hota hai kisi ko jaanne ke liye thoda waqt lagta hai kisi ko samjhne ke liye thoda kam time ki zaroorat padti hai lekin kisi ek sawal se kisi ko nahi jana ja sakta hai dhanyavad

देख के बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जिनके पास बहुत अनुभव होता है जब वो किसी व्यक्ति से मिलते

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  914
WhatsApp_icon
user

Vivek Shukla

Life coach

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक किसी एक मात्र सवाल से किसी भी के चरित्र का आकलन किया ना बहुत गलत हो सकता है हो सकता है वह आपके जवाब को यह फिर आपके सवाल को इतना सीरियसली ना लेकर बोले क्यों किसी की भाषा या फिर बहुत ज्यादा होती है मन बहुत बोलने वाले होते हैं या फिर कुछ खुद को कमेंट दिमाग पूरी तरह से इतने गंदे नहीं होती यह फिल्म के गंदे होते उसके साथ जाना जरूरी होता है कि कोई भी करके उसे गलत साबित कर देना मुझे अच्छा नहीं लगता यह मुझे नहीं लगता कि यह सही है अच्छा यह होगा अगर पूछे तो आप समझना चाहते हैं तो थोड़ा उसके समझने के लिए उसके साथ थोड़ा टाइम टाइम या फिर से मिलना चाहते हैं उसके बारे में जानकारी हासिल करें तो आपको पता चल जाएगा लेकिन 1 शब्दों में अगर आप उसके चरित्र का नाम क्योंकि हर समय किसी का मूर्ति

ek kisi ek matra sawal se kisi bhi ke charitra ka aakalan kiya na bahut galat ho sakta hai ho sakta hai wah aapke jawab ko yeh phir aapke sawal ko itna seriously na lekar bole kyon kisi ki bhasha ya phir bahut zyada hoti hai man bahut bolne wale hote hain ya phir kuch khud ko comment dimag puri tarah se itne gande nahi hoti yeh film ke gande hote uske saath jana zaroori hota hai ki koi bhi karke use galat saabit kar dena mujhe accha nahi lagta yeh mujhe nahi lagta ki yeh sahi hai accha yeh hoga agar poochhe toh aap samajhna chahte hain toh thoda uske samjhne ke liye uske saath thoda time time ya phir se milna chahte hain uske bare mein jankari hasil karein toh aapko pata chal jayega lekin 1 shabdo mein agar aap uske charitra ka naam kyonki har samay kisi ka murti

एक किसी एक मात्र सवाल से किसी भी के चरित्र का आकलन किया ना बहुत गलत हो सकता है हो सकता है

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  816
WhatsApp_icon
user

Neeraj Bhardwaj

Career Counsellor

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य दूसरे मनुष्य के बारे में उनके घर से उनके स्वभाव से या उनके शारीरिक चिन्ह और प्रतीकों से कोई समझने का प्रयास करता है कि सामने वाला उनसे किस प्रवृत्ति का है उसका व्यवहार कैसा है तो अगर हमको किसी भी मनुष्य का व्यवहार पता करना है तो देखिए मनुष्य सामान्य तौर पर देखेंगे तो दिखाओ बाजी ज्यादा करता है तो आप किसी को थोड़े समय के वार से उसको समझ पाना बहुत कठिन है जो उसको किसी दूसरे व्यक्ति के साथ लंबे समय तक साथ रहते हैं तब हम उसके अच्छाई और बुराई को समझ पाते हैं क्योंकि बाहर से ऊपरी स्तर पर हर व्यक्ति दिखाने के लिए अच्छा दिखाने का प्रयास करता है खुद को समाज के अंदर लेकिन कुछ बातें हैं जिनको हम समझ कर जिनको हम जानकर उस व्यक्ति के बारे में उसके जो चरित्र है उसके बारे में बहुत अब तक समझ सकते हैं जान सकते हैं कि वह व्यक्ति कैसा है तो हमको किसी दूसरे व्यक्ति के बारे में समझ रहा है तुम को यह समझना चाहिए कि उस व्यक्ति को किन चीजों में काम को कर कर किन चीजों को करके किन विषयों पर बात करके उसको मजा आ रहा है उसको आनंद मिलता है आपने अगर यह पता कर लिया कि किस मनुष्य को किस चीज में आनंद आता है किस काम को करने में आनंद आता तो आप समझ जाएंगे हुआ क्या है यह हम सभी पर लागू होता है देर सबेर हम वही काम करते हैं हम वही चीजों के बारे में बात करते हैं वही चीजें सोचते हैं जो हमारे अंदर होती हैं जय जिनकुन पसंद करते हैं जो शाम बनना चाहते हैं खुद होते हैं पिछले अगर आपको किसी व्यक्ति के बारे में जानना है तो उसके उसकी रूचि यों के बारे में आप बात करें उससे पता करें कि रुचियां क्या है उसको किस काम को करने में आनंद मिलता है तब उस व्यक्ति के चरित्र और उसके परिवार के बारे में अच्छे से समझ पाएंगे धन्यवाद

manushya dusre manushya ke bare mein unke ghar se unke swabhav se ya unke sharirik chinh aur pratiko se koi samjhne ka prayas karta hai ki saamne vala unse kis pravritti ka hai uska vyavahar kaisa hai toh agar hamko kisi bhi manushya ka vyavahar pata karna hai toh dekhie manushya samanya taur par dekhenge toh dikhaao busy zyada karta hai toh aap kisi ko thode samay ke war se usko samajh pana bahut kathin hai jo usko kisi dusre vyakti ke saath lambe samay tak saath rehte hain tab hum uske acchai aur burayi ko samajh paate hain kyonki bahar se upari sthar par har vyakti dikhane ke liye accha dikhane ka prayas karta hai khud ko samaaj ke andar lekin kuch batein hain jinako hum samajh kar jinako hum jaankar us vyakti ke bare mein uske jo charitra hai uske bare mein bahut ab tak samajh sakte hain jaan sakte hain ki wah vyakti kaisa hai toh hamko kisi dusre vyakti ke bare mein samajh raha hai tum ko yeh samajhna chahiye ki us vyakti ko kin chijon mein kaam ko kar kar kin chijon ko karke kin vishyon par baat karke usko maza aa raha hai usko anand milta hai aapne agar yeh pata kar liya ki kis manushya ko kis cheez mein anand aata hai kis kaam ko karne mein anand aata toh aap samajh jaenge hua kya hai yeh hum sabhi par laagu hota hai der saber hum wahi kaam karte hain hum wahi chijon ke bare mein baat karte hain wahi cheezen sochte hain jo hamare andar hoti hain jai jinkun pasand karte hain jo shaam banana chahte hain khud hote hain pichhle agar aapko kisi vyakti ke bare mein janana hai toh uske uski ruchi yo ke bare mein aap baat karein usse pata karein ki ruchiyan kya hai usko kis kaam ko karne mein anand milta hai tab us vyakti ke charitra aur uske parivar ke bare mein acche se samajh payenge dhanyavad

मनुष्य दूसरे मनुष्य के बारे में उनके घर से उनके स्वभाव से या उनके शारीरिक चिन्ह और प्रतीको

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  562
WhatsApp_icon
user

Norang sharma

Social Worker

2:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों को कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है कि एक व्यक्ति से आप ऐसा क्या सवाल पूछ सकते आपको उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता चल सकता वह तो देखी मुझे लगता है हर वह सवाल अपने आप में बहुत ही महत्वपूर्ण होता है लेकिन सवाल से कहीं ज्यादा जो चीज मायने रखती है तो मुझे लगता है उसका रिस्पॉन्स मायने रखता है कि उस सवाल का जवाब कोई किस तरीके से देता है पर किसी सवाल पर किसी का अपना दृष्टिकोण कैसा है क्या वह व्यक्तिगत स्वार्थ से प्रेरित उसका व्यू है या फिर उन स्वार्थों से ऊपर उठा हुआ किसी का भी है जो सब के बारे में सोचता हूं जिसके दिल में सबके लिए जगह हो मुझे लगता है वह इंसान अपने आप में एक बड़प्पन रखने वाला इंसान समझा जाता है परिचित की दुनिया कुत्ते शुरू होकर कब तक खत्म हो जाए ऐसी प्लान का उसकी बातों से बहुत ही दिन पता लगाया जा सकता है उसकी हर बात अपने आप से शुरू होगी वह बार-बार अपने आप को ही रिस्पेक्ट देगा या अपनी फोटो बाकी लोगों से ज्यादा दिखाने की कोशिश करेगा तो मुझे लगता है हर वह सवाल इंसान के दिल का आईना तो मायने नहीं रखता कि आपके बाल क्या पूछते हैं भाई ने अगर कोई चीज लगती है तो वह रिएक्शन मायने रखता तो आप जब कभी भी रिएक्शन दे तो हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आप जो भी रिएक्शन दे रहे हैं उससे लोग आपकी पर्सनैलिटी को चर्च करती मत मानिए कि आपको नंबर सिर्फ इंटरव्यू बोर्ड वाले आपके एग्जामिनर ही देते हैं बल्कि असल जिंदगी में किस दुनिया में भी लोग आपको मार्किंग देते हैं क्वालिटी होती है जी आपकी तकलीफ होती है उस हिसाब से लोग आप को सपोर्ट करते हैं या नहीं करते यह दोनों ही अपने आप में उतनी ही अच्छी तो यह चीजें हैं जिनसे आप किसी की पर्सनैलिटी के बारे में बहुत ही इजी पता लगा सकते हैं धन्यवाद

namaskar doston ko kal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawal hai ki ek vyakti se aap aisa kya sawal poochh sakte aapko unke vyaktitva ke bare mein bahut kuch pata chal sakta wah toh dekhi mujhe lagta hai har wah sawal apne aap mein bahut hi mahatvapurna hota hai lekin sawal se kahin zyada jo cheez maayne rakhti hai toh mujhe lagta hai uska response maayne rakhta hai ki us sawal ka jawab koi kis tarike se deta hai par kisi sawal par kisi ka apna drishtikon kaisa hai kya wah vyaktigat swartha se prerit uska view hai ya phir un swarthon se upar utha hua kisi ka bhi hai jo sab ke bare mein sochta hoon jiske dil mein sabke liye jagah ho mujhe lagta hai wah insaan apne aap mein ek badappan rakhne vala insaan samjha jata hai parichit ki duniya kutte shuru hokar kab tak khatam ho jaye aisi plan ka uski baaton se bahut hi din pata lagaya ja sakta hai uski har baat apne aap se shuru hogi wah baar baar apne aap ko hi respect dega ya apni photo baki logon se zyada dikhane ki koshish karega toh mujhe lagta hai har wah sawal insaan ke dil ka aaina toh maayne nahi rakhta ki aapke baal kya poochhte hain bhai ne agar koi cheez lagti hai toh wah reaction maayne rakhta toh aap jab kabhi bhi reaction de toh hamesha is baat ka dhyan rakhen ki aap jo bhi reaction de rahe hain usse log aapki personality ko church karti mat maniye ki aapko number sirf interview board wale aapke examiner hi dete hain balki asal zindagi mein kis duniya mein bhi log aapko marking dete hain quality hoti hai ji aapki takleef hoti hai us hisab se log aap ko support karte hain ya nahi karte yeh dono hi apne aap mein utani hi acchi toh yeh cheezen hain jinse aap kisi ki personality ke bare mein bahut hi easy pata laga sakte hain dhanyavad

नमस्कार दोस्तों को कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  454
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर मेरे को किसी व्यक्ति से पूछा जाएगा कि एक प्रश्न जिससे मैं उसके व्यक्तित्व के बारे में जानना होगा तो मैं उसको यह सब कुछ सुबह कि तुम्हारी इस दुनिया में कितने एनीमीज है तुम्हें दर्द देने वाले इंसान तुमको ना समझने वाला इंसान तुम्हारे साथ अन्याय करने वाला इंसान कितने और अगर उसी के उत्तर में वह मिलेगा कि लंबी लिस्ट दे देता है तो मैं उसका नीचे व्यक्तित्व के बारे में समझ सकता हूं कि वह इंसान कैसा है वह असहिष्णुता है वह इंसान जजमेंटल है वह इंसान हमेशा दुखी रहने वाला इंसान है वहीं तन कभी खुद के काम खुद नहीं करने वाले इंसान को इंसान कभी बिलॉन्गिंगनेस नहीं रखता है दूसरों के साथ कनेक्ट होने का विचार तो नहीं अगर वह अपनी एनीमी अपने शत्रुओं के लिए लंबी देता है तो अगर मैं जाकर सिम अगर कोई इंसान बोला कि मेरा कोई सत्र है अभी तुम्हारा मित्र है कोई मेरा तो बुरा करना चाहता नहीं मैं उससे पता चल चला सकता हूं कि वह इंसान दुनिया को अपने परिवार की तरह कैसे सोचता है उसके पास कितने सारे क्वॉलिटी जी धन्यवाद

agar mere ko kisi vyakti se poocha jaega ki ek prashna jisse main uske vyaktitva ke bare mein janana hoga toh main usko yah sab kuch subah ki tumhari is duniya mein kitne enimij hai tumhe dard dene waale insaan tumko na samjhne vala insaan tumhare saath anyay karne vala insaan kitne aur agar usi ke uttar mein vaah milega ki lambi list de deta hai toh main uska neeche vyaktitva ke bare mein samajh sakta hoon ki vaah insaan kaisa hai vaah asahishnuta hai vaah insaan judgmental hai vaah insaan hamesha dukhi rehne vala insaan hai wahin tan kabhi khud ke kaam khud nahi karne waale insaan ko insaan kabhi bilanginganes nahi rakhta hai dusron ke saath connect hone ka vichar toh nahi agar vaah apni enimi apne shatruo ke liye lambi deta hai toh agar main jaakar sim agar koi insaan bola ki mera koi satra hai abhi tumhara mitra hai koi mera toh bura karna chahta nahi main usse pata chal chala sakta hoon ki vaah insaan duniya ko apne parivar ki tarah kaise sochta hai uske paas kitne saare quality ji dhanyavad

अगर मेरे को किसी व्यक्ति से पूछा जाएगा कि एक प्रश्न जिससे मैं उसके व्यक्तित्व के बारे में

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि हमें किसी व्यक्ति व्यक्ति के व्यक्तित्व का बारे में कुछ जानना है तो हम तो 4 पॉइंट पूछ कर बता लगा सकते जैसे चरित्र के बारे में उनको क्या ज्ञान है नैतिक शिक्षा क्या है नैतिक शिक्षा का आचरण से क्या फायदा है क्या नुकसान क्या फायदा है और उनके व्यवहार से आदमी का व्यवहार ही उसे किसी व्यक्ति का आईना होता है देवास से ही हम जान लेते हैं कि मैं अच्छाई है या खराब बोली परिवार से ही सब कुछ जान जाते हैं इसलिए हम कह सकते हैं कि जिस व्यक्ति में अच्छे संस्कार आ गए अच्छे गुण आ गए अच्छा आचरण आ गया वह उस वक्त उस व्यक्ति का व्यक्तित्व अच्छा होता है और वह अपने वह व्यक्ति अपने आपको बहारों से लोगों को प्रभावित करता है और अपने लक्ष्य में सफल होते हैं अपने कर्म में महान बन सकते हैं

yadi hamein kisi vyakti vyakti ke vyaktitva ka bare mein kuch janana hai toh hum toh 4 point poochh kar bata laga sakte jaise charitra ke bare mein unko kya gyaan hai naitik shiksha kya hai naitik shiksha ka aacharan se kya fayda hai kya nuksan kya fayda hai aur unke vyavhar se aadmi ka vyavhar hi use kisi vyakti ka aaina hota hai devas se hi hum jaan lete hain ki main acchai hai ya kharaab boli parivar se hi sab kuch jaan jaate hain isliye hum keh sakte hain ki jis vyakti mein acche sanskar aa gaye acche gun aa gaye accha aacharan aa gaya vaah us waqt us vyakti ka vyaktitva accha hota hai aur vaah apne vaah vyakti apne aapko baharon se logon ko prabhavit karta hai aur apne lakshya mein safal hote hain apne karm mein mahaan ban sakte hain

यदि हमें किसी व्यक्ति व्यक्ति के व्यक्तित्व का बारे में कुछ जानना है तो हम तो 4 पॉइंट पूछ

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  885
WhatsApp_icon
user

Bhupendra Chugh

Business Owner

2:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा कोई एक सवाल जिससे पूछा जा सके और वह उसके व्यक्तित्व के बारे में बता दे ऐसा नहीं हो सकता क्योंकि किसी भी इंसान को समझने के लिए भी वक्त चाहिए होता है और वह व्यक्तित्व के बारे में पता करना एकदम से एक ही बार में बहुत मुश्किल है क्योंकि हकीकत में बात यही है कि काफी टाइम अब जैसे पति-पत्नी की आपस में शादी हुई तो आप एक ही दिन में कैसे पता चल जाएगा कि आप वह कैसी है या आप देखने गए और आपने बात करी तो एक ही बात में कैसे पता चल जाएगा कि भी वह कैसी है जब आदमी रहता है साथ में होता है बात करता है कुछ टाइम निकलता है धीरे-धीरे आदमी एक दूसरे को समझता है यह तो शादी कर एग्जांपल है बाकी एक ही बार में एक ही दिन में कुछ ही देर में किसी के व्यक्तित्व के बारे में पता नहीं चल सकता क्योंकि आपने उससे बात करी और उसने आपसे सही बात करी आपका दोगे तो आधी बहुत बढ़िया है लेकिन यह कोई जरूरी तो नहीं है कि वह बहुत बढ़िया हो क्योंकि वह आगे चलकर उसके और मामलों में उसके अलग ही विचार होंगे कई बातें आपसे ही मेल नहीं खाती होंगी आपको कुछ और सोचना होगा उसका कुछ और सोचना होगा और उसके साथ में भी जाए यह भी कोई जरूरी नहीं तो एक ही बार में किसी के बारे में आप राय नहीं बना सकते उसके लिए तो काफी टाइम लग जाता है और जैसे हम कोई दोस्त बनाते हैं हम उसे दोस्त के बारे में क्या जान सकते हैं एक ही बार में तो हम तो जान ही नहीं सकते उसके लिए उस टाइम पर ही होता है उस वक्त होता है तो हमें उसके बारे में बताता है कि यह कैसा है कई मामलों में एडजस्टमेंट करनी पड़ती है आपस में एक दूसरे को कभी उसकी माननी पड़ती है कभी उसको हमारी माननी पड़ती है तो अगर ऐसा एक 260 जजमेंट होती है वह तो जिंदगी भर चलती रहती है और वह जिंदगी भी नहीं जाती है चलो दोस्त भी हो लेकिन एक ही बार में किसी के व्यक्तित्व के बारे में बताना बहुत मुश्किल होता है

aisa koi ek sawaal jisse poocha ja sake aur vaah uske vyaktitva ke bare mein bata de aisa nahi ho sakta kyonki kisi bhi insaan ko samjhne ke liye bhi waqt chahiye hota hai aur vaah vyaktitva ke bare mein pata karna ekdam se ek hi baar mein bahut mushkil hai kyonki haqiqat mein baat yahi hai ki kafi time ab jaise pati patni ki aapas mein shadi hui toh aap ek hi din mein kaise pata chal jaega ki aap vaah kaisi hai ya aap dekhne gaye aur aapne baat kari toh ek hi baat mein kaise pata chal jaega ki bhi vaah kaisi hai jab aadmi rehta hai saath mein hota hai baat karta hai kuch time nikalta hai dhire dhire aadmi ek dusre ko samajhata hai yah toh shadi kar example hai baki ek hi baar mein ek hi din mein kuch hi der mein kisi ke vyaktitva ke bare mein pata nahi chal sakta kyonki aapne usse baat kari aur usne aapse sahi baat kari aapka doge toh aadhi bahut badhiya hai lekin yah koi zaroori toh nahi hai ki vaah bahut badhiya ho kyonki vaah aage chalkar uske aur mamlon mein uske alag hi vichar honge kai batein aapse hi male nahi khati hongi aapko kuch aur sochna hoga uska kuch aur sochna hoga aur uske saath mein bhi jaaye yah bhi koi zaroori nahi toh ek hi baar mein kisi ke bare mein aap rai nahi bana sakte uske liye toh kafi time lag jata hai aur jaise hum koi dost banate hain hum use dost ke bare mein kya jaan sakte hain ek hi baar mein toh hum toh jaan hi nahi sakte uske liye us time par hi hota hai us waqt hota hai toh hamein uske bare mein batata hai ki yah kaisa hai kai mamlon mein adjustment karni padti hai aapas mein ek dusre ko kabhi uski maanani padti hai kabhi usko hamari maanani padti hai toh agar aisa ek 260 judgement hoti hai vaah toh zindagi bhar chalti rehti hai aur vaah zindagi bhi nahi jaati hai chalo dost bhi ho lekin ek hi baar mein kisi ke vyaktitva ke bare mein bataana bahut mushkil hota hai

ऐसा कोई एक सवाल जिससे पूछा जा सके और वह उसके व्यक्तित्व के बारे में बता दे ऐसा नहीं हो सकत

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  223
WhatsApp_icon
user

Achal srivastava

Playback singer

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व के विषय में जानना है तो उससे सर्वप्रथम यही सवाल पूछना चाहिए कि क्या अब है आस्तिक है क्या वह ईश्वर में विश्वास रखता है यही सवाल सबसे पहले पूछना चाहिए

kisi vyakti ke vyaktitva ke vishay mein janana hai toh usse sarvapratham yahi sawaal poochna chahiye ki kya ab hai astik hai kya vaah ishwar mein vishwas rakhta hai yahi sawaal sabse pehle poochna chahiye

किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व के विषय में जानना है तो उससे सर्वप्रथम यही सवाल पूछना चाहिए कि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

ANIL SINGH

Business Man | Ex-Teacher

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप सवाल किसी टांके पूछो उससे दिक्कत नहीं है लेकिन सबसे पहले आपको अपने दिल की बात है उसे बताना पड़ेगा एक बार ध्यान रखना अपना सब कुछ ना बताए थोड़ा सा दिमाग लगा पड़ेगी कि हम ऐसे हैं वैसे हैं उसी टेस्ट स्कोर दिखाएं और बताएं और फिर की बातें जाने जो आपको अपने व्यक्तित्व के बारे में बताएगा आप बस ऐसा ध्यान रखे कि आप उसके साथ अपनी भावनाएं शेयर करें जो से लगा कि आप अपनी भैंस के साथ शेयर कर रहे हैं तो भी अपनी भावनाएं आपके साथ शेयर करेगा उसे सवाल पूछते रहेंगे उधर ही आपको से व्यक्ति के बारे में पता चल जाएगा धन्यवाद

aap sawal kisi tanken pucho usse dikkat nahi hai lekin sabse pehle aapko apne dil ki baat hai use batana padega ek baar dhyan rakhna apna sab kuch na batayen thoda sa dimag laga padegi ki hum aise hain waise hain usi test score dikhaen aur bataye aur phir ki batein jaane jo aapko apne vyaktitva ke bare mein batayega aap bus aisa dhyan rakhe ki aap uske saath apni bhavanae share karein jo se laga ki aap apni bhains ke saath share kar rahe hain toh bhi apni bhavanae aapke saath share karega use sawal poochhte rahenge udhar hi aapko se vyakti ke bare mein pata chal jayega dhanyavad

आप सवाल किसी टांके पूछो उससे दिक्कत नहीं है लेकिन सबसे पहले आपको अपने दिल की बात है उसे बत

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  57
WhatsApp_icon
user

Mohit Chouksey

Business Coach at MLM

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जहां तक मेरा ख्याल है मेरे हिसाब से ऐसा कोई एक क्वेश्चन नहीं हो सकता जिसकी उंगली एक क्वेश्चन का आंसर परा व्यक्ति का पूरे व्यक्तित्व के बारे में जानना क्योंकि हर एक इंडिविजुअल की किसी टॉपिक पर अलग-अलग तरह की राय होती है तो क्वेश्चंस भी अलग-अलग होते हैं जैसे मगर अगर आपको उनके व्यक्तित्व के बारे व्यक्तित्व के बारे में जानना है तो आप उनसे किसी भी सामाजिक मुद्दे पर या जिस विषय में आप उनके बारे में जानना चाहते हैं उस विषय से रिलेटेड किसी भी सब्जेक्ट पर आप कोई भी क्वेश्चन कर सकते हैं और जिससे आपको इसका आंसर और उसके बारे में जानने के लिए अलग एक मौका रहता है जिससे आप उनके बारे में जान सकते हैं मगर पूर्णता किसी के बारे में आप राय नहीं बना सकते किसी एक आंसर से किसका अगर उसने नगरी का आंसर किया तो आपने क्रिएट कर लिया इतने के लिए सोचता है ऐसा नहीं है वह उस टाइम की कंडीशन और उसकी थिंकिंग पर डिपेंड करेगा तो ऐसे कोई क्वेश्चन नहीं है क्या आप एक ही फैशन में किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व के बारे में पता लगा ले

dekhie jahan tak mera khayal hai mere hisab se aisa koi ek question nahi ho sakta jiski ungli ek question ka answer para vyakti ka poore vyaktitva ke bare mein janana kyonki har ek individual ki kisi topic par alag alag tarah ki rai hoti hai toh questions bhi alag alag hote hain jaise magar agar aapko unke vyaktitva ke bare vyaktitva ke bare mein janana hai toh aap unse kisi bhi samajik mudde par ya jis vishay mein aap unke bare mein janana chahte hain us vishay se related kisi bhi subject par aap koi bhi question kar sakte hain aur jisse aapko iska answer aur uske bare mein jaanne ke liye alag ek mauka rehta hai jisse aap unke bare mein jaan sakte hain magar purnata kisi ke bare mein aap rai nahi bana sakte kisi ek answer se kiska agar usne nagari ka answer kiya toh aapne create kar liya itne ke liye sochta hai aisa nahi hai wah us time ki condition aur uski thinking par depend karega toh aise koi question nahi hai kya aap ek hi fashion mein kisi vyakti ke vyaktitva ke bare mein pata laga le

देखिए जहां तक मेरा ख्याल है मेरे हिसाब से ऐसा कोई एक क्वेश्चन नहीं हो सकता जिसकी उंगली एक

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  776
WhatsApp_icon
user

Sandeep Yadav

Aspiring Journalism

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एक व्यक्ति से हम अगर एक समाना सिर्फ पूछने की बात हो जिससे उनके बारे में बहुत कुछ पता चल सकता है तो उनका परिवार और समाज के प्रति आभार यदि वे सच बताएंगे को अपने व्यवहार के बारे में बताएंगे तो हमें यह पता चल सकता है कि यह व्यक्ति किस पर टिका है या लोगों को किस निगाह से देखता है लोगों के साथ कैसा व्यवहार करता है कैसे पेश आता है और लोग इसके साथ कितना कंफर्टेबल फील करते हैं और आगे चलकर इसके व्यवहार में कितनी नकारात्मकता और कितनी सकारात्मकता देती को मिलेगी मुझे ऐसा लगता है दूसरी चीज अगर मुझे दो सवाल करने हैं तुम्हें व्यवहार के साथ साथ उसका प्रोफेशन पूछ सकता हूं उसका फैमिली बैकग्राउंड भी साथ में पूछ सकता हूं जिससे कहीं ना कहीं उसके अंदर व्याप्त संस्कारों के बारे में भी पता चल सकता है नमस्कार

dekhie ek vyakti se hum agar ek samana sirf poochne ki baat ho jisse unke bare mein bahut kuch pata chal sakta hai toh unka parivar aur samaaj ke prati aabhar yadi ve sach batayenge ko apne vyavahar ke bare mein batayenge toh humein yeh pata chal sakta hai ki yeh vyakti kis par tika hai ya logon ko kis nigah se dekhta hai logon ke saath kaisa vyavahar karta hai kaise pesh aata hai aur log iske saath kitna Comfortable feel karte hain aur aage chalkar iske vyavahar mein kitni nakaratmakta aur kitni sakaraatmakata deti ko milegi mujhe aisa lagta hai dusri cheez agar mujhe do sawal karne hain tumhe vyavahar ke saath saath uska profession poochh sakta hoon uska family background bhi saath mein poochh sakta hoon jisse kahin na kahin uske andar vyapt sanskaron ke bare mein bhi pata chal sakta hai namaskar

देखिए एक व्यक्ति से हम अगर एक समाना सिर्फ पूछने की बात हो जिससे उनके बारे में बहुत कुछ पता

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  804
WhatsApp_icon
user

ktbhadawar

Student

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे सवाल क्या है कि ऐसे ऐसे खर्चे से उसकी चर्चा शुरू करते हैं पता चल जाता है कि किस प्रकार का है कैसा है और धीरे-धीरे जब चर्चा शुरू हो जाती है तो अपने आप को सही हो जाता है यह तो है नहीं किसी देर आप गाली किसी व्यक्ति होते हैं अभद्र टिप्पणी करते हैं तो उसको क्रोध ना है यह मानव मन है उसका पारी खेलकर लेकर उसी होते लेकिन सामान्य वालों के लिए हमें यही चाहिए कि उसे हम सामान्य परिचय से शुरू करेंगे ना तो अपने आप पता चल जाएगा कि कैसा है उसे क्या शुभ है आता है क्या है

aise sawaal kya hai ki aise aise kharche se uski charcha shuru karte hain pata chal jata hai ki kis prakar ka hai kaisa hai aur dhire dhire jab charcha shuru ho jaati hai toh apne aap ko sahi ho jata hai yah toh hai nahi kisi der aap gaali kisi vyakti hote hain abhadra tippani karte hain toh usko krodh na hai yah manav man hai uska paari khelkar lekar usi hote lekin samanya walon ke liye hamein yahi chahiye ki use hum samanya parichay se shuru karenge na toh apne aap pata chal jaega ki kaisa hai use kya shubha hai aata hai kya hai

ऐसे सवाल क्या है कि ऐसे ऐसे खर्चे से उसकी चर्चा शुरू करते हैं पता चल जाता है कि किस प्रकार

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी व्यक्ति से उसकी व्यक्तित्व जानने के लिए उसे एक ही सवाल पूछना काफी नहीं है कम से कम 2468 10 सवाल तो कुछ नहीं होंगे लेकिन सवाल पूछने के साथ-साथ उसके भी कुछ सुने होंगे जवाब भी देनी होगी और प्रीति मिलोगे मिलोगे बैठोगे उठोगे तभी उसका व्यक्तित्व जान पाओगे वरना ऐसी एक सवाल पूछने से आप किसी के व्यक्तित्व को नहीं जान सकते हैं ओके गुड बाय

kisi vyakti se uski vyaktitva jaanne ke liye use ek hi sawaal poochna kaafi nahi hai kam se kam 2468 10 sawaal toh kuch nahi honge lekin sawaal poochne ke saath saath uske bhi kuch sune honge jawab bhi deni hogi aur preeti miloge miloge baithoge uthoge tabhi uska vyaktitva jaan paoge varna aisi ek sawaal poochne se aap kisi ke vyaktitva ko nahi jaan sakte hain ok good bye

किसी व्यक्ति से उसकी व्यक्तित्व जानने के लिए उसे एक ही सवाल पूछना काफी नहीं है कम से कम 2

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
patti ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!