वह एक चीज़ क्या है जिसे किसी को जीवन में कभी नहीं करना चाहिए?...


user

Kavita

Writer

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इसमें जो मेरी न्यूज़ है मुझे मेरी बड़ी स्ट्रांग प्वाइंट्स में किसी भी इंसान के बिलीव को हमें नहीं निकालना चाहिए बिल्कुल जो हमें सबको रिस्पेक्ट करना है सबके अपने-अपने ओपिनियन है सबके अपने-अपने व्यूप्वाइंट से तो हमें कोशिश नहीं करनी चाहिए कभी भी मुझे लगता है कि हम अपनी डिसिशन या अपनी व्यूप्वाइंट है उनके ऊपर थूक दे ऐसे फॉर एग्जांपल अगर मैं आपको थोड़ा एक्सप्लेन करके बताऊं तो मैं जो हूं मैं नास्तिक हूं मुझे भगवान आप इतना ज्यादा विश्वास बिल्कुल नहीं है और यह सब ज्यादा नहीं पसंद और मेरे पिता श्री लाइफ में कोशिश नहीं की है कि उनको मैं एक्सप्लेन करके बताऊं या उनको यह समझाऊं कि क्या आप भी जो है मेरी तरह सोच रखिए और उन्होंने कभी लाइफ में मेरे साथ ऐसा नहीं किया कि उनकी डिसिशन उनका बिलीव जो है मुझ पर थोप दे तो यह ज्यादा बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट हो जाता है कि किसी के बिलीव को फर्क न करें चाहे वह बिल्ली जो है उनके मुताबिक सही हो या आपके मुताबिक गलत हो लेकिन उसके बिलीव को कोई किसी के डिसिशन को किसी का ऑपिनियन को रिस्पेक्ट करना बिल्कुल भी कुछ बनता है ठीक है ऑपिनियन डिफरेंट हो सकता है कि बिल्कुल हर इंसान का अपना अपना जो पॉइंट होता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम अपनी जो है अपनी सोच पर थोप दिए कतई नहीं करना चाहिए

dekhiye isme jo meri news hai mujhe meri baadi strong pwaints mein kisi bhi insaan ke believe ko hamein nahi nikalna chahiye bilkul jo hamein sabko respect karna hai sabke apne apne opinion hai sabke apne apne vyupwaint se toh hamein koshish nahi karni chahiye kabhi bhi mujhe lagta hai ki hum apni decision ya apni vyupwaint hai unke upar thuk de aise for example agar main aapko thoda explain karke bataun toh main jo hoon main nastik hoon mujhe bhagwan aap itna zyada vishwas bilkul nahi hai aur yah sab zyada nahi pasand aur mere pita shri life mein koshish nahi ki hai ki unko main explain karke bataun ya unko yah samjhau ki kya aap bhi jo hai meri tarah soch rakhiye aur unhone kabhi life mein mere saath aisa nahi kiya ki unki decision unka believe jo hai mujhse par thop de toh yah zyada bahut zyada important ho jata hai ki kisi ke believe ko fark na kare chahen vaah billi jo hai unke mutabik sahi ho ya aapke mutabik galat ho lekin uske believe ko koi kisi ke decision ko kisi ka opinion ko respect karna bilkul bhi kuch banta hai theek hai opinion different ho sakta hai ki bilkul har insaan ka apna apna jo point hota hai lekin iska matlab yah nahi hai ki hum apni jo hai apni soch par thop diye katai nahi karna chahiye

देखिए इसमें जो मेरी न्यूज़ है मुझे मेरी बड़ी स्ट्रांग प्वाइंट्स में किसी भी इंसान के बिलीव

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  136
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!