मैं मंच यानी स्टेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूँ?...


user

Sri Dhiru G

Spiritual Guru, Engineer

7:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मंच यानी स्टेज के डर को दूर कैसे कर सकते हैं इसका बहुत ही सरल और सुगम रास्ता है सबसे पहले हम बता देते हैं आपको कि मंच पर जाने सबको डर क्यों लगता है इस चीज को आप गौर कीजिएगा दो-तीन करने होती है पहली कारण मुख्य रूप से यह होती है कि आप की तैयारी जो बोलने की तैयारी है वह पर शक नहीं है या पूरी तरह आप बोल नहीं पा रहे हैं दूसरी बात या पहले कभी आपने बोला नहीं है तीसरी बात यह थी कि हम शुरू कैसे करें स्टेज पर जाएंगे तो कैसे शुरू करेंगे लोग कैसे देखेंगे लो कहीं कुछ गड़बड़ हो गया तो क्या होगा ऐसे सवाल जो हमारे मन में और विचार उत्पन्न जो हो जाते हैं ना वह हमारे डर को और बढ़ा देता है इसे दूर करने का अब हम आपको सरल उत्तम और सटीक रास्ता बता रहे हैं कृपया गौर कीजिएगा सबसे पहले स्टेज पर आपको क्या बोलना है किस चीज उस चीज की जानकारी आप पूरी तरह रखें इकट्ठा करें जैसे राजनेताओं को देखिएगा फ्लूइडली बोला जाता है सब फेक ना जिसको कहते हैं ना कि सीधे बोल दो सुनने वाले को क्या फर्क पड़ेगा उससे आंख फड़कना रखो अपने ऊपर ऐसी भावना लाओ कि सुनने वाले है ना बेवकूफ बैठे हुए हैं ठीक है और आप तेज हो बस यह भावना इससे आपका हौसला बढ़ जाएगा वाकई में वह बेवकूफ नहीं है बट आप ऐसा मानकर चलना है कि वह लोग बैठे हैं जो हम बोलेंगे उनको सुनना है भाई सुनेंगे दूसरी तैयारियों को पूरी तरह अच्छी तरह करें तैयारियां होने के बाद जो लाइंस आपको बोलनी है बेशक आप भूल जाएंगे यह मान कर चलिए तो आप ऐसा करें जब आप तैयारी कर ली है तो आए नहीं के पास खुद को खरे रखें और खुद की आंखों में आंखें डाल कर बोले जब आप खुद को सामने में आईने के प्रस्तुत करके सारे स्टेज पर जो बोलने वाले डायलॉग से या वक्तव्य हैं उन्हें अब बोल देंगे तो आपको लगेगा कि हां हम बोल सकते हैं वंश टाइम टू टाइम 3 टाइम्स फॉर 10 फाइव टाइम्स मैक्स टू मैक्स थॉट इन टाइम जैसे ही आप आईने के सामने बोलते हैं या अगर मनीष छोटी कोटेशन है तो आप 14 से 15 बार ट्राई कर सकते हैं स्टार्टिंग के लिए अगर भरी लाइनें बोलनी है फिल्म एंट्री तो आप इतनी प्रैक्टिस नहीं कर पाएंगे तो बेहिचक दो से तीन बार पढ़ने के सामने अपने आप को खरे रखें और बेइज्जत क्या-क्या बोलना है वह बोल दे फिर सोचे कि हम कहां कहां जा रहे हैं वहां को कैसे मैनेज किया जाए के सामने बोले सेकंड स्टेप में यह करें कि जो आपको बोलना है उसे मोबाइल में रिकॉर्ड करें और पुनः उसको सुने जो बोलना है उसे बोले समझे कि माइक है लगा हुआ जो आपका मोबाइल है और आप बेहिचक बोलते जाए भाषण देते जाए याद करें मोदी को याद करें योगी को याद करें बीजेपी या कांग्रेस या किसी भी पार्टी के वक्ता को जो बेहिचक बोलते हैं याद करें मीडिया को बोलते समय की मीडिया कैसे बोलती है बिल्ली चौक बोल रही है जब वह बोल सकती है तो आप क्यों नहीं आप नहीं करेंगे कोई और कर लेगा तो क्यों दूसरा करें आप ही ऐसा भावना लाए कि दूसरा जो करे उससे पहले आप कर लो उसको बेहिचक बोलने का तरीका है टीवी देखते हैं वह भेज दो बोलते रहती है तो क्या उन्हें डर नहीं लगता कि लोग सुनने वाले क्या कहेंगे डर बिल्कुल निकालिए सुनने वाले आप अच्छा भी बोलेंगे बुरा भी बोलेंगे ना भी बोलेंगे कोई फर्क किसी को नहीं पड़ता फर्क सिर्फ और सिर्फ आपको पता है कि आप बोल पा रहे हैं नहीं बोल पा रहे हैं बेहतर आपके लिए हमने 2 टिप्स दिया है एक आईने के सामने अपने आप को प्रस्तुत करें और बोले तैयारी अच्छा रखें जहां एजुकेशन हो इसके चाहा तो बात भूल जा रहे हैं वहां पर कुछ भी बोले और बात को सोच सोच कर स्थिरता से भोले हड़बड़ाहट बिल्कुल ना रखें सुनने वाले उठकर भागने नहीं जा रहे हैं वह आपको सुनने के लिए ही बैठे हैं या सभा में उपस्थित हुए हैं बात को बिल्कुल ध्यान रखें जितने आराम से बोलेंगे आपकी बातों को वह उतनी ही गंभीरता से सुनेंगे ठीक है दूसरी बात हमने आपको बताया कि आप मोबाइल में रिकॉर्ड करके अपनी बातों को स्वयं पहले सुने जब आपकी रिकॉर्डिंग आपको सुनने में अच्छी लगेगी तो यह निश्चित है दूसरों को भी अच्छी लगेगी ठीक है अगर आपको बुरी लगती है आवाज के पीछे ना जाए थोड़ा घबराहट होगी वह धीरे-धीरे स्वता खत्म होने लगेगी बेहिचक समझे कि समाज क्या प्रवक्ता बनने वाले हैं कल होकर आपको नेता बनना है समाज की बुरी स्थितियों का विरोध करना है अपने अंदर ऐसी भावना लाए ऐसी मीडिया लाती है नेता लाते हैं भाषण बाजी करते हैं वह जैसे बोलते हैं अपने आप को ऐसा तैयार करें कुछ भी बोल देंगे जाएंगे जो तैयार यह बोलेंगे कुछ टॉपिक मेला सीधा बोलना है भैया सुनने वाले को जो सुनना है सुनो नहीं सुनना है कान बंद करो मुझे फर्क नहीं पड़ता ऐसी भावना रखें डर होता है को शो को शो तक आपसे दूर हो जाएगी और आपका बोलने का शक्ति और स्मरण शक्ति और आपके अंदर की क्षमता बढ़ेगी तो आप हम समझ सकते हैं कि अब आप हमारी बातों को गहराई से समझें हैं आपको करना यूं है कि तैयारी कर ले दूसरी बात आईने के सामने तीसरी बात रिकॉर्ड करें और सुने अगर एजुकेशन हो तो भी कोई बात नहीं स्टेज पर जाएं यह समझे कि आप को आप किसी को नहीं देख रहे हैं किसी इंडिविजुअल पर्सन को नहीं देख रहे आप माइक को देख रहे हैं और आप अपने आप को देख रहे हैं आपको बोलना है लोगों का नेतृत्व करना है इस उद्देश्य से आप बोल रहे हैं आज पहला कदम बढ़ाएंगे तभी आने वाला कदम आपका स्वता मजबूत बन जाएगा धन्यवाद हौसला रखें बिल्कुल आप सही तरीके से बोल सकते हैं ऐसी कोई शक्ति नहीं है जो आपको बोलने से रोक सकती है आपने भी ईश्वरीय गुण है ईश्वरीय तत्व अभी जो जब दूसरा कोई बोल सकता है भाषण दे सकता तो आप भी बेहिचक बोल सकते हैं इस बात को आप गांठ बांध ले और अभी तैयारी करें किसी टॉपिक पर और देखिए रिकॉर्ड करके सुनिए आप बोल रहे हैं बोल रहे हैं आपको महसूस होगा धन्यवाद

manch yani stage ke dar ko dur kaise kar sakte hain iska bahut hi saral aur sugam rasta hai sabse pehle hum bata dete hain aapko ki manch par jaane sabko dar kyon lagta hai is cheez ko aap gaur kijiega do teen karne hoti hai pehli karan mukhya roop se yah hoti hai ki aap ki taiyari jo bolne ki taiyari hai vaah par shak nahi hai ya puri tarah aap bol nahi paa rahe hain dusri baat ya pehle kabhi aapne bola nahi hai teesri baat yah thi ki hum shuru kaise kare stage par jaenge toh kaise shuru karenge log kaise dekhenge lo kahin kuch gadbad ho gaya toh kya hoga aise sawaal jo hamare man me aur vichar utpann jo ho jaate hain na vaah hamare dar ko aur badha deta hai ise dur karne ka ab hum aapko saral uttam aur sateek rasta bata rahe hain kripya gaur kijiega sabse pehle stage par aapko kya bolna hai kis cheez us cheez ki jaankari aap puri tarah rakhen ikattha kare jaise rajnetao ko dekhiega fluidali bola jata hai sab fake na jisko kehte hain na ki sidhe bol do sunne waale ko kya fark padega usse aankh fadakana rakho apne upar aisi bhavna laao ki sunne waale hai na bewakoof baithe hue hain theek hai aur aap tez ho bus yah bhavna isse aapka hausla badh jaega vaakai me vaah bewakoof nahi hai but aap aisa maankar chalna hai ki vaah log baithe hain jo hum bolenge unko sunana hai bhai sunenge dusri taiyariyon ko puri tarah achi tarah kare taiyariya hone ke baad jo lines aapko bolani hai beshak aap bhool jaenge yah maan kar chaliye toh aap aisa kare jab aap taiyari kar li hai toh aaye nahi ke paas khud ko khare rakhen aur khud ki aakhon me aankhen daal kar bole jab aap khud ko saamne me aaine ke prastut karke saare stage par jo bolne waale dialogue se ya vaktavya hain unhe ab bol denge toh aapko lagega ki haan hum bol sakte hain vansh time to time 3 times for 10 five times max to max thought in time jaise hi aap aaine ke saamne bolte hain ya agar manish choti quotation hai toh aap 14 se 15 baar try kar sakte hain starting ke liye agar bhari linen bolani hai film entry toh aap itni practice nahi kar payenge toh behichak do se teen baar padhne ke saamne apne aap ko khare rakhen aur beijjat kya kya bolna hai vaah bol de phir soche ki hum kaha kaha ja rahe hain wahan ko kaise manage kiya jaaye ke saamne bole second step me yah kare ki jo aapko bolna hai use mobile me record kare aur punh usko sune jo bolna hai use bole samjhe ki mike hai laga hua jo aapka mobile hai aur aap behichak bolte jaaye bhashan dete jaaye yaad kare modi ko yaad kare yogi ko yaad kare bjp ya congress ya kisi bhi party ke vakta ko jo behichak bolte hain yaad kare media ko bolte samay ki media kaise bolti hai billi chauk bol rahi hai jab vaah bol sakti hai toh aap kyon nahi aap nahi karenge koi aur kar lega toh kyon doosra kare aap hi aisa bhavna laye ki doosra jo kare usse pehle aap kar lo usko behichak bolne ka tarika hai TV dekhte hain vaah bhej do bolte rehti hai toh kya unhe dar nahi lagta ki log sunne waale kya kahenge dar bilkul nikaliye sunne waale aap accha bhi bolenge bura bhi bolenge na bhi bolenge koi fark kisi ko nahi padta fark sirf aur sirf aapko pata hai ki aap bol paa rahe hain nahi bol paa rahe hain behtar aapke liye humne 2 tips diya hai ek aaine ke saamne apne aap ko prastut kare aur bole taiyari accha rakhen jaha education ho iske chaha toh baat bhool ja rahe hain wahan par kuch bhi bole aur baat ko soch soch kar sthirta se bhole hadabadahat bilkul na rakhen sunne waale uthakar bhagne nahi ja rahe hain vaah aapko sunne ke liye hi baithe hain ya sabha me upasthit hue hain baat ko bilkul dhyan rakhen jitne aaram se bolenge aapki baaton ko vaah utani hi gambhirta se sunenge theek hai dusri baat humne aapko bataya ki aap mobile me record karke apni baaton ko swayam pehle sune jab aapki recording aapko sunne me achi lagegi toh yah nishchit hai dusro ko bhi achi lagegi theek hai agar aapko buri lagti hai awaaz ke peeche na jaaye thoda ghabarahat hogi vaah dhire dhire swata khatam hone lagegi behichak samjhe ki samaj kya pravakta banne waale hain kal hokar aapko neta banna hai samaj ki buri sthitiyo ka virodh karna hai apne andar aisi bhavna laye aisi media lati hai neta laate hain bhashan baazi karte hain vaah jaise bolte hain apne aap ko aisa taiyar kare kuch bhi bol denge jaenge jo taiyar yah bolenge kuch topic mela seedha bolna hai bhaiya sunne waale ko jo sunana hai suno nahi sunana hai kaan band karo mujhe fark nahi padta aisi bhavna rakhen dar hota hai ko show ko show tak aapse dur ho jayegi aur aapka bolne ka shakti aur smaran shakti aur aapke andar ki kshamta badhegi toh aap hum samajh sakte hain ki ab aap hamari baaton ko gehrai se samajhe hain aapko karna yun hai ki taiyari kar le dusri baat aaine ke saamne teesri baat record kare aur sune agar education ho toh bhi koi baat nahi stage par jayen yah samjhe ki aap ko aap kisi ko nahi dekh rahe hain kisi individual person ko nahi dekh rahe aap mike ko dekh rahe hain aur aap apne aap ko dekh rahe hain aapko bolna hai logo ka netritva karna hai is uddeshya se aap bol rahe hain aaj pehla kadam badhaenge tabhi aane vala kadam aapka swata majboot ban jaega dhanyavad hausla rakhen bilkul aap sahi tarike se bol sakte hain aisi koi shakti nahi hai jo aapko bolne se rok sakti hai aapne bhi ishwariya gun hai ishwariya tatva abhi jo jab doosra koi bol sakta hai bhashan de sakta toh aap bhi behichak bol sakte hain is baat ko aap ganth bandh le aur abhi taiyari kare kisi topic par aur dekhiye record karke suniye aap bol rahe hain bol rahe hain aapko mehsus hoga dhanyavad

मंच यानी स्टेज के डर को दूर कैसे कर सकते हैं इसका बहुत ही सरल और सुगम रास्ता है सबसे पहले

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mahesh Kumar

Govt Employee.

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं स्टेज शो स्टेज के दर्द को दूर करने के लिए आत्मबल को बढ़ाना होगा आसमान बढ़ाने से ही स्टेज या मंच के दर्द को दूर किया जा सकता है

main stage show stage ke dard ko dur karne ke liye atmabal ko badhana hoga aasman badhane se hi stage ya manch ke dard ko dur kiya ja sakta hai

मैं स्टेज शो स्टेज के दर्द को दूर करने के लिए आत्मबल को बढ़ाना होगा आसमान बढ़ाने से ही स्

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  43
WhatsApp_icon
user

Emam Idrisi

Business Owner

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस समस्या का सबसे छोटा हाल है कसम से हल है आप पहले मंच पर चढ़ने से पहले अपनी बातों को अपने दोस्तों के बीच में प्रॉपर कॉन्फिडेंस के साथ रखना स्टार्ट करिए जब तक आप अपनी एक दोस्त को अपनी बातों को सही तरीके से एक्सप्लेन नहीं कर पाते हैं एक को एक्सप्लेन करिए दो को करिया चारकोप करिए ठीक करिए अब ग्रुप में जा करके अपनी बातों को रखा स्टार्ट करिए इस तरीके से आपका कॉन्फिडेंस बढ़ता जाएगा क्योंकि जब आप ग्रुप में बोलना स्टार्ट करेंगे ग्रुप इंदर सिंह साहब के साथ में कम से कम आठ 10 लोगों के बीच में आपने अपनी बातों का रखा उसके बाद आपने 15 लोगों के बीच में अपनी बातें रखा आपने सौ लोगों के बीच में फिर आसानी से अपनी बातों को रख सकते हैं मंच कोई बड़ी चीज नहीं होता मंच पर बोलने के लिए हॉस्टल करना पड़ता है आपके पास टॉपिक प्रिपेयर होनी चाहिए आप क्या बोलने वाले हो सोच करके बोलेंगे तो कभी भी नहीं बोल पाएंगे प्रिपरेशन शैलेश होना चाहिए जिस टॉपिक पर आपको बोलना है उसकी पर पूरी अच्छे तरीके से तैयारी करिए प्लीज प्रॉपर प्लानिंग करके प्रीत पहले से तैयारी करके आएंगे तो आप कुछ बोल पाएंगे घर के दरवाजे से आप फेस पब्लिक के सामने जाएंगे और पब्लिक एफएसएफएस आपका होगा घर के फ्रंट ऑफिस होंगे तो आप अपनी बातों को नहीं रख पाएंगे और आपको लगेगा कि मैं गोल गोल सा घूम रहा हूं और बस हो जाएंगे और अपनी बातों को नहीं रख पाएंगे इसके लिए आप इसकी प्रैक्टिस करने के लिए आप ग्रुप पर किस करिए अपने दोस्तों के बीच में अपनी बातें रखना स्टार्ट करिए कॉन्फिडेंस के साथ में रखना स्टार्ट करिए इस तरीके से आप मंच पर बड़े आसानी से अपनी बातों को रख पाएंगे

is samasya ka sabse chota haal hai kasam se hal hai aap pehle manch par chadhne se pehle apni baaton ko apne doston ke beech me proper confidence ke saath rakhna start kariye jab tak aap apni ek dost ko apni baaton ko sahi tarike se explain nahi kar paate hain ek ko explain kariye do ko Caria charkop kariye theek kariye ab group me ja karke apni baaton ko rakha start kariye is tarike se aapka confidence badhta jaega kyonki jab aap group me bolna start karenge group indar Singh saheb ke saath me kam se kam aath 10 logo ke beech me aapne apni baaton ka rakha uske baad aapne 15 logo ke beech me apni batein rakha aapne sau logo ke beech me phir aasani se apni baaton ko rakh sakte hain manch koi badi cheez nahi hota manch par bolne ke liye hostel karna padta hai aapke paas topic prepare honi chahiye aap kya bolne waale ho soch karke bolenge toh kabhi bhi nahi bol payenge preparation shailesh hona chahiye jis topic par aapko bolna hai uski par puri acche tarike se taiyari kariye please proper planning karke prateet pehle se taiyari karke aayenge toh aap kuch bol payenge ghar ke darwaze se aap face public ke saamne jaenge aur public FSFS aapka hoga ghar ke front office honge toh aap apni baaton ko nahi rakh payenge aur aapko lagega ki main gol gol sa ghum raha hoon aur bus ho jaenge aur apni baaton ko nahi rakh payenge iske liye aap iski practice karne ke liye aap group par kis kariye apne doston ke beech me apni batein rakhna start kariye confidence ke saath me rakhna start kariye is tarike se aap manch par bade aasani se apni baaton ko rakh payenge

इस समस्या का सबसे छोटा हाल है कसम से हल है आप पहले मंच पर चढ़ने से पहले अपनी बातों को अपने

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके मंच का डर कभी खत्म नहीं होगा जब आप मंच पर चढ़ते हैं कुछ क्षण आपको डर होता है और उसके बाद आप अपने काम में लग जाते हैं तो वह जो एक कुछ क्षण होते हैं 30 सेकंड 40 सेकंड 50 सेकंड वही डर होता है इंसान का बार-बार आप पीठ पर जाएंगे तो आपको स्टेज पर कभी नहीं होगा आप उससे कभी डर नहीं लगेगा और इसके लिए आप तो या तो कोई ड्रामा ग्रुप ज्वाइन कर लीजिए थिएटर ग्रुप ज्वाइन कर लीजिए जिसमें रोज रोज इस तरह की एक्सरसाइज हो एक्टिविटीज हो कि आपको 10 लोगों के सामने 25 लोगों के सामने कुछ न कुछ वक्त भी देना है कुछ-कुछ अभिनय करना है कुछ एक्सरसाइज करना है जो ड्रामा से संबंधित हो तो आपका आत्मविश्वास बढ़ जाएगा और आप करेंगे डर कभी निकलता नहीं है क्योंकि मुझे 20 साल हो गए ड्रामा करते करते मैं जब थिएटर रन करता हूं ड्रामा करता हूं तो शुरुआत के 40 सेकंड मुझे खिला देता है वह मुझे अंदर से लेकिन उसके बाद वह हो जाता है वह कर्मभूमि हो जाती और वहां पर ऐसी भी हेल्प करने लगता हूं जैसे अपने घर में करता हूं और यह बात वैसी ही है जब आप नहीं जगह जाते हैं किसी नई जगह और कुछ नए लोग आपके सामने मिलते तो आप थोड़े असहज हो जाते हो और वही मोमेंट तो वहां भी होता है स्टेज पर कि आप थोड़ी देर उन लोगों को देखते हैं असहज हो जाते हैं तो या तो आप यह भी कर सकते हैं कि आप किसी की नजर से नजर ही ना मिलाएं आप अपना काम ही करते रहें किसी को देखो हिम्मत थोड़ी देर जब वह मोमेंट निकल जाएगा आपको यह सेल्फी नहीं होगा कि आपको डर लगा

BK manch ka dar kabhi khatam nahi hoga jab aap manch par chadhte hain kuch kshan aapko dar hota hai aur uske baad aap apne kaam me lag jaate hain toh vaah jo ek kuch kshan hote hain 30 second 40 second 50 second wahi dar hota hai insaan ka baar baar aap peeth par jaenge toh aapko stage par kabhi nahi hoga aap usse kabhi dar nahi lagega aur iske liye aap toh ya toh koi drama group join kar lijiye theater group join kar lijiye jisme roj roj is tarah ki exercise ho activities ho ki aapko 10 logo ke saamne 25 logo ke saamne kuch na kuch waqt bhi dena hai kuch kuch abhinay karna hai kuch exercise karna hai jo drama se sambandhit ho toh aapka aatmvishvaas badh jaega aur aap karenge dar kabhi nikalta nahi hai kyonki mujhe 20 saal ho gaye drama karte karte main jab theater run karta hoon drama karta hoon toh shuruat ke 40 second mujhe khila deta hai vaah mujhe andar se lekin uske baad vaah ho jata hai vaah karmabhumi ho jaati aur wahan par aisi bhi help karne lagta hoon jaise apne ghar me karta hoon aur yah baat vaisi hi hai jab aap nahi jagah jaate hain kisi nayi jagah aur kuch naye log aapke saamne milte toh aap thode asahaj ho jaate ho aur wahi moment toh wahan bhi hota hai stage par ki aap thodi der un logo ko dekhte hain asahaj ho jaate hain toh ya toh aap yah bhi kar sakte hain ki aap kisi ki nazar se nazar hi na milaen aap apna kaam hi karte rahein kisi ko dekho himmat thodi der jab vaah moment nikal jaega aapko yah selfie nahi hoga ki aapko dar laga

बीके मंच का डर कभी खत्म नहीं होगा जब आप मंच पर चढ़ते हैं कुछ क्षण आपको डर होता है और उसके

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

Dr Manish Singh Rajvanshi

Assistant Professor B.Ed.College

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनचला स्टेज पर अगर आप शुरुआत से ही नहीं जा रहे हैं या कोई जॉब भजन टेशन अपना नहीं दे रहा है तो स्वाभाविक बात है कि लोगों को देखकर आपको डर लगता है जब भी आप मंच पर स्टेज पर जाएं तो वह सामने बैठे लोगों से आई कांटेक्ट करें यानी उनकी आंख में आंख मिलाकर जोर को देखने का प्रयास न करें जो ऐसे ही दूर से अगर स्टेज पर आप खड़े हैं तो दूर से ही लोगों के ऊपर एक देश ट्राले मैक्सिमम पर जैसे करें कि जो स्टेज के बाहर बैठे हुए लोग हैं उनके ऊपर आपकी दृष्टि जो है कम से कम जो दूसरी चीज है कि आप धीरे धीरे धीरे कहीं न कहीं बोलने का प्रयास करेगा इनके परफॉर्मेंस देने का प्रयास करें छोटे-छोटे मंच पर जो परफारमेंस देने का प्रयास करें और एक ही जो ध्यान रखिएगा कि अपने जो परिचित है उनसे इधर उसमें कुछ जुहा बाहरी लोगों कुछ क्लासरूम के बच्चे हो उनके सामने अगर आप प्रेजेंटेशन करते हैं अपने-अपने जो है वह छोटे-छोटे स्टेज प्रोग्राम करते हैं तो आपको जो है ऐसी समस्या धीरे-धीरे आपके अंदर से दूर होती चली जाएगी

manchala stage par agar aap shuruat se hi nahi ja rahe hain ya koi job bhajan teshan apna nahi de raha hai toh swabhavik baat hai ki logo ko dekhkar aapko dar lagta hai jab bhi aap manch par stage par jayen toh vaah saamne baithe logo se I Contact kare yani unki aankh me aankh milakar jor ko dekhne ka prayas na kare jo aise hi dur se agar stage par aap khade hain toh dur se hi logo ke upar ek desh trale maximum par jaise kare ki jo stage ke bahar baithe hue log hain unke upar aapki drishti jo hai kam se kam jo dusri cheez hai ki aap dhire dhire dhire kahin na kahin bolne ka prayas karega inke performance dene ka prayas kare chote chote manch par jo parafaramens dene ka prayas kare aur ek hi jo dhyan rakhiega ki apne jo parichit hai unse idhar usme kuch juha bahri logo kuch classroom ke bacche ho unke saamne agar aap presentation karte hain apne apne jo hai vaah chote chote stage program karte hain toh aapko jo hai aisi samasya dhire dhire aapke andar se dur hoti chali jayegi

मनचला स्टेज पर अगर आप शुरुआत से ही नहीं जा रहे हैं या कोई जॉब भजन टेशन अपना नहीं दे रहा है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Pawan

Financial Planer

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मंच वेस्टीज की के डर को दूर करने के लिए आपको पहले इसे के आगे बात करनी पड़ेगी अपने पीछे का गेट चिल्ला चिल्ला कर बात कीजिए फिर दो-चार लोगों के आगे बात कीजिए ऐसी धीरे-धीरे बात बाप के अंदर से क्यों डरती हो जाएगा और एक पर्सनल डिटेल कोर्स कीजिए इससे आप लोगों से लोगों से कैसे बात करना है यह सब आप सिखाओ गे

manch vestige ki ke dar ko dur karne ke liye aapko pehle ise ke aage baat karni padegi apne peeche ka gate chilla chilla kar baat kijiye phir do char logo ke aage baat kijiye aisi dhire dhire baat baap ke andar se kyon darti ho jaega aur ek personal detail course kijiye isse aap logo se logo se kaise baat karna hai yah sab aap sikhao gay

मंच वेस्टीज की के डर को दूर करने के लिए आपको पहले इसे के आगे बात करनी पड़ेगी अपने पीछे का

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

Manoj Sahay

Senior Audit Officer

6:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मन चानिएक्सप्रेस के डर को कैसे दूर कर सकता हूं बिल्कुल सही प्रश्न है और 99.9% लोगों को स्टेज पर जाने से पहले डर लगता है तो सबसे पहली बात यह है कि आप एक बड़े समूह के भाग पॉइंट 1% मैंने इसलिए कह दिया कि अपवाद हर एक जगह हर एक समाज में होता है तो सबसे पहली बात तो यह है आप अपने मन से निकाल दीजिए कि केवल आप ही को डर लगता है जितने लोगों के स्टेज पर जाना होता है उतने लोगों को स्टेज पर जाने से पहले डर लगता है बड़ा से बड़ा टेस्ट बड़ा सा बड़ा वक्ता हर एक लोगों अब यह डर को दूर करने की आवश्यकता है आप जब कभी भी जब स्टेज पर जाएं तो जाने से पहले निश्चित रूप से आप अगर वक्ता हैं आप यदि कभी हैं आप यदि कलाकार हैं अब थिएटर आर्टिस्ट जिस भी तरह के आप मोटिवेशनल स्पीकर है या जो भी है जो जिसके कारण आपको स्टेज पर जाना पड़ता है तो आप की अपनी तैयारी होगी आप उस तैयारी के साथ हो जब स्टेज पर जाएं तो जाने से पहले अपने मन में यह मूल मंत्र डाल करके जाएं कि मैं इस चीज का किंग हूं और मैं बोलूंगा और लोगों को सुनना है कोई दूसरा कोई वहां पर खड़ा हो कर के मेरे बातों को इंटरेस्ट नहीं करेगा यह संदेश आप अपने मन में बार-बार डालें कि मैं अभी के वक्त में जिस समय में स्टेज पर जाऊंगा मैं स्टेज का किंग हूं मैं बोलूंगा लोगों को सुनना है और शुरुआती दौर में निश्चित रूप से जब आप जाएंगे तो आपको घबराहट ज्यादा होगी आपके पैर भी छत पर आ रहे होंगे आपको घबरा पसीना भी आ सकता है लेकिन यह आपके व्यक्तित्व के विकास का एक के चरण मात्र है अगर यह सब चीजें हो रही हैं इससे घबराना नहीं है आपको स्टेज पर जाना है और जो समझ में आता है सही गलत उस समय में जो आपका दिमाग आपको संदेश देता है उसके हिसाब से आपको अपना काम करके वापस आ जाना है और यह काम को आपको बार-बार करना है जब आप बार-बार किसी काम को करेंगे तो एक दिमाग का अभ्यास बन जाता है आजम दिमाग का अभ्यास बन जाता है तब उसके बाद फिर वह काम आपके लिए सहज हो जाता है सरल हो जाता है मैं पिछले दिनों अमिताभ बच्चन का इंटरव्यू पढ़ रहा था तो अमिताभ बच्चन जैसे पारखी कलाकार मंजे हुए कलाकार जो कि पिछले 4045 सालों से लगातार विभिन्न तरह की भूमिकाओं से पूरे भारतवर्ष को उद्वेलित कर दिया है वह बता रहे थे कि आज भी जब वह कैमरा के सामने में जब जाते हैं तो उनको नर्वसनेस हावी हो जाता है उनके दिमाग पर घबराहट से उनको होने लगती है और एक बार जब वह काम में मशगूल हो जाते हैं तो फिर वह धीरे धीरे धीरे धीरे घबराहट खत्म हो जाते हैं अब बड़े से बड़े बैट्समैन को भी देख लीजिए जब आप इसको जानते हैं सतीश पर जाने के बाद जब बोलिंग बॉलर जो होता अपने बोलिंग करता है तो कुछ समय तक वह अपने को उस विकेट पर अपने को सेटल होने देना चाहते हैं बॉल को जानते हुए भी कि मैं तो शॉट लगा सकता हूं वह जनरल शॉट नहीं लगाते हैं बॉल को या तो डिफरेंस इस तरीके से रोकते हैं ताकि उनका जो दिल का धड़कन है उस वातावरण के अनुरूप धीरे धीरे धीरे धीरे में सेटल हो जाए मेरे कहने का मतलब यही है कि यह एक सहज प्रक्रिया है होनी चाहिए इसमें घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है आप स्टेज पर जाएं बार-बार जो आप जितनी बार जिएंगे उतनी बार आपको अंदर का घबराहट आपका कम होते जाएगा है मैं यह नहीं कहता कि खत्म हो जाएगा कम होता जाएगा खत्म हो जाना अच्छी बात नहीं होती है खत्म हो जाने का मतलब है कि आपको ऑफर कॉन्फिडेंस हो गया अब बिना किसी तैयारी के हमेशा स्टेज को जाएंगे और जवाब बिना तैयारी के कभी स्टेज पर जाएंगे तब का परफॉर्मेंस कभी भी अच्छा नहीं होगा इसलिए नर्वसनेस का रहना जरुरी होता है उसे घबराने की आवश्यकता नहीं है सुनने के लिए धन्यवाद

main man chanieksapres ke dar ko kaise dur kar sakta hoon bilkul sahi prashna hai aur 99 9 logo ko stage par jaane se pehle dar lagta hai toh sabse pehli baat yah hai ki aap ek bade samuh ke bhag point 1 maine isliye keh diya ki apavad har ek jagah har ek samaj me hota hai toh sabse pehli baat toh yah hai aap apne man se nikaal dijiye ki keval aap hi ko dar lagta hai jitne logo ke stage par jana hota hai utne logo ko stage par jaane se pehle dar lagta hai bada se bada test bada sa bada vakta har ek logo ab yah dar ko dur karne ki avashyakta hai aap jab kabhi bhi jab stage par jayen toh jaane se pehle nishchit roop se aap agar vakta hain aap yadi kabhi hain aap yadi kalakar hain ab theater artist jis bhi tarah ke aap Motivational speaker hai ya jo bhi hai jo jiske karan aapko stage par jana padta hai toh aap ki apni taiyari hogi aap us taiyari ke saath ho jab stage par jayen toh jaane se pehle apne man me yah mul mantra daal karke jayen ki main is cheez ka king hoon aur main boloonga aur logo ko sunana hai koi doosra koi wahan par khada ho kar ke mere baaton ko interest nahi karega yah sandesh aap apne man me baar baar Daalein ki main abhi ke waqt me jis samay me stage par jaunga main stage ka king hoon main boloonga logo ko sunana hai aur shuruati daur me nishchit roop se jab aap jaenge toh aapko ghabarahat zyada hogi aapke pair bhi chhat par aa rahe honge aapko ghabara paseena bhi aa sakta hai lekin yah aapke vyaktitva ke vikas ka ek ke charan matra hai agar yah sab cheezen ho rahi hain isse ghabrana nahi hai aapko stage par jana hai aur jo samajh me aata hai sahi galat us samay me jo aapka dimag aapko sandesh deta hai uske hisab se aapko apna kaam karke wapas aa jana hai aur yah kaam ko aapko baar baar karna hai jab aap baar baar kisi kaam ko karenge toh ek dimag ka abhyas ban jata hai azam dimag ka abhyas ban jata hai tab uske baad phir vaah kaam aapke liye sehaz ho jata hai saral ho jata hai main pichle dino amitabh bachchan ka interview padh raha tha toh amitabh bachchan jaise parkhi kalakar manje hue kalakar jo ki pichle 4045 salon se lagatar vibhinn tarah ki bhoomikaon se poore bharatvarsh ko udwelit kar diya hai vaah bata rahe the ki aaj bhi jab vaah camera ke saamne me jab jaate hain toh unko nervousness haavi ho jata hai unke dimag par ghabarahat se unko hone lagti hai aur ek baar jab vaah kaam me mashagul ho jaate hain toh phir vaah dhire dhire dhire dhire ghabarahat khatam ho jaate hain ab bade se bade batsman ko bhi dekh lijiye jab aap isko jante hain satish par jaane ke baad jab bowling bowler jo hota apne bowling karta hai toh kuch samay tak vaah apne ko us wicket par apne ko settle hone dena chahte hain ball ko jante hue bhi ki main toh shot laga sakta hoon vaah general shot nahi lagate hain ball ko ya toh difference is tarike se rokte hain taki unka jo dil ka dhadkan hai us vatavaran ke anurup dhire dhire dhire dhire me settle ho jaaye mere kehne ka matlab yahi hai ki yah ek sehaz prakriya hai honi chahiye isme ghabrane ki koi avashyakta nahi hai aap stage par jayen baar baar jo aap jitni baar jeeenge utani baar aapko andar ka ghabarahat aapka kam hote jaega hai main yah nahi kahata ki khatam ho jaega kam hota jaega khatam ho jana achi baat nahi hoti hai khatam ho jaane ka matlab hai ki aapko offer confidence ho gaya ab bina kisi taiyari ke hamesha stage ko jaenge aur jawab bina taiyari ke kabhi stage par jaenge tab ka performance kabhi bhi accha nahi hoga isliye nervousness ka rehna zaroori hota hai use ghabrane ki avashyakta nahi hai sunne ke liye dhanyavad

मैं मन चानिएक्सप्रेस के डर को कैसे दूर कर सकता हूं बिल्कुल सही प्रश्न है और 99.9% लोगों को

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  244
WhatsApp_icon
user

Deepak Sahani

स्वच्छंद कलाकार Freelance Artist

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जिस भी विषय की प्रस्तुति के लिए मंच पर जाना चाहते हैं मंच पर जाने से पहले खुद को इतना तैयार कर ले जितना नेपुर कर ले खुद को उस विषय को लेकर आपके मन में जरा सभी संदेह है क्योंकि निरंतर अभ्यास से न सिर्फ विद्या मिलती है आप किसी विद्या कला कौशल में निपुण होते हैं कि आपका आत्मविश्वास भी बढ़ता है और यदि आपका आत्मविश्वास मजबूत हो गया आप देखो प्रदर्शन कर पाएंगे मंच पर एक बात और जब भी आप मंच पर जाते हैं तुम मुझ पर जाने के बाद आप तो वहां के बाय वातावरण को यानी बाहरी वातावरण जो है उसको नजरअंदाज करने की पूरी कोशिश करें और पूरा का पूरा ध्यान स्वयं पर केंद्रित करें और अपने उस विषय वस्तु पर केंद्रित करें जिसके दर्शन के लिए आप कहां पर हैं आप अपने प्रदर्शन में सफल रहेंगे और बेहिचक बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे धन्यवाद

aap jis bhi vishay ki prastuti ke liye manch par jana chahte hain manch par jaane se pehle khud ko itna taiyar kar le jitna nepur kar le khud ko us vishay ko lekar aapke man me zara sabhi sandeh hai kyonki nirantar abhyas se na sirf vidya milti hai aap kisi vidya kala kaushal me nipun hote hain ki aapka aatmvishvaas bhi badhta hai aur yadi aapka aatmvishvaas majboot ho gaya aap dekho pradarshan kar payenge manch par ek baat aur jab bhi aap manch par jaate hain tum mujhse par jaane ke baad aap toh wahan ke bye vatavaran ko yani bahri vatavaran jo hai usko najarandaj karne ki puri koshish kare aur pura ka pura dhyan swayam par kendrit kare aur apne us vishay vastu par kendrit kare jiske darshan ke liye aap kaha par hain aap apne pradarshan me safal rahenge aur behichak behtar pradarshan kar payenge dhanyavad

आप जिस भी विषय की प्रस्तुति के लिए मंच पर जाना चाहते हैं मंच पर जाने से पहले खुद को इतना त

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Smt. Vedricha Upadhyay

Retired child Development Officer

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईने के सामने खड़े हो जाए अपने नए नए तरह से अपने भावों को व्यक्त करें आईने के सामने खड़े होकर के एक कागज ले करके उस पर कुछ वाक्य लिखें और उनको दोहराएं आप का डर हमेशा के लिए दूर हो जाएगा

aaine ke saamne khade ho jaaye apne naye naye tarah se apne bhavon ko vyakt kare aaine ke saamne khade hokar ke ek kagaz le karke us par kuch vakya likhen aur unko dohraen aap ka dar hamesha ke liye dur ho jaega

आईने के सामने खड़े हो जाए अपने नए नए तरह से अपने भावों को व्यक्त करें आईने के सामने खड़े

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मित्रों क्वेश्चन वेरी इंपोर्टेंट है मैं मनचली स्टेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं इसके लिए मैं आपको एक बहुत ही आसान से चुप बताने वाला हूं अगर आप इस को फॉलो करेंगे तो मंच पर आपको जो हिल स्टेशन नियर डर महसूस होता है वह नहीं होने वाला है देखो इस संदर्भ में बहुत सारे लोग अनेक प्राकृतिक आपको बताएंगे आपका डाटा भी थोड़ा स्ट्रांग होना चाहिए यदि चैप्टर प्राप्त डिस्कस करने वाले हैं वह क्लियर होना चाहिए लेकिन यह सारी चीजें होने के बावजूद भी बहुत सारे लोगों को हाथ में माइक आते ही बड़ा डर लगना शुरू हो जाता है उनके पैर कांपने लग जाते हैं अगर आपके साथ ऐसा ना हो तो उसके लिए एक छोटी सी ट्रिक किए हैं कि आप जब भी मंच पर जाएं तो वहां खड़े होते ही आपके माइंड में एक ऐसी सोच लिया एक ऐसी धारणा बन जानी चाहिए कि हां सामने जितने भी लोग बैठे हैं वह आपसे ज्यादा समझदार नहीं और अगर आप ऐसा समझ लेते हैं कि हाथ सामने बैठे हुए लोग मेरे से ज्यादा समझदार नहीं है इसका मतलब है कि आप बहुत कुछ जानते हैं और बहुत कुछ जान जाने वाले हैं तो फिर आप कोई प्रॉब्लम नहीं होगी तो फिर आपको जो हैबिटेशन हो रही है वह भी नहीं होगे जो डर है वह भी नहीं होगा इसलिए आप इस ट्रिक को अप्लाई करें यह ठीक आपको बहुत हेल्प करेगी क्योंकि हमारे मन में सबसे बड़ा डर यही होता है कि मैं सामने वाले लोगों को क्या कहूं और यह तो बहुत कुछ जानते हैं बहुत समझदार हैं और मुझे इतनी नॉलेज नहीं है एक्स्ट्रा यह सब आप तो सोचते रहेंगे लेकिन ऐसा आपको बिल्कुल भी माइंड नहीं करना है केवल आपको इतना ही माइंड करना कि हां सामने बैठे हुए लोग आपसे ज्यादा समझदार नहीं है और अगर आप ऐसा सोच लेते हो तो फिर आपको इसमें मेरी नजर से कोई प्रॉब्लम नहीं होने वाली है इनकी

namaskar mitron question very important hai main manchali stage ke dar ko kaise dur kar sakta hoon iske liye main aapko ek bahut hi aasaan se chup batane vala hoon agar aap is ko follow karenge toh manch par aapko jo hil station near dar mehsus hota hai vaah nahi hone vala hai dekho is sandarbh me bahut saare log anek prakirtik aapko batayenge aapka data bhi thoda strong hona chahiye yadi chapter prapt discs karne waale hain vaah clear hona chahiye lekin yah saari cheezen hone ke bawajud bhi bahut saare logo ko hath me mike aate hi bada dar lagna shuru ho jata hai unke pair kaapne lag jaate hain agar aapke saath aisa na ho toh uske liye ek choti si trick kiye hain ki aap jab bhi manch par jayen toh wahan khade hote hi aapke mind me ek aisi soch liya ek aisi dharana ban jani chahiye ki haan saamne jitne bhi log baithe hain vaah aapse zyada samajhdar nahi aur agar aap aisa samajh lete hain ki hath saamne baithe hue log mere se zyada samajhdar nahi hai iska matlab hai ki aap bahut kuch jante hain aur bahut kuch jaan jaane waale hain toh phir aap koi problem nahi hogi toh phir aapko jo habitation ho rahi hai vaah bhi nahi hoge jo dar hai vaah bhi nahi hoga isliye aap is trick ko apply kare yah theek aapko bahut help karegi kyonki hamare man me sabse bada dar yahi hota hai ki main saamne waale logo ko kya kahun aur yah toh bahut kuch jante hain bahut samajhdar hain aur mujhe itni knowledge nahi hai extra yah sab aap toh sochte rahenge lekin aisa aapko bilkul bhi mind nahi karna hai keval aapko itna hi mind karna ki haan saamne baithe hue log aapse zyada samajhdar nahi hai aur agar aap aisa soch lete ho toh phir aapko isme meri nazar se koi problem nahi hone wali hai inki

नमस्कार मित्रों क्वेश्चन वेरी इंपोर्टेंट है मैं मनचली स्टेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user

Kumud Ranjan

Motivational speaker And Educator

3:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्टेज का जो प्रॉब्लम है वह बच्चा से स्टार्ट हो जाता है आपको एजीटेशन रहता होगा आपके बैंक में बच्चे से भी अपील करते हैं बच्चा में भी क्लास में आप पीछे बैठे होंगे 90% चांस है कि जो लोग स्टेशन डरते हैं वह क्लास में पीछे नहीं बैठता लेकिन डर हटाने का सबसे की कोई चीज काम शुरू से करते जाएगा ना तो उसमें आपको डर नहीं लगेगा और फिर जो है वेयर इज नॉट गुड फॉर आवर हेल्थ एंड फॉर आवर डेवलपमेंट इन लाइफ तो सबसे पहले क्या है एक्सेस आपको करना है फ्रूट अपीयर फॉर मोर माइंड हे ज्वेलर्स हाथ हमेशा याद रखेगा इससे मान लीजिए आपके घर में पांच छह आदमी है या फिर फ्रेंड सर्किल के साथ हैं आप क्या कीजे एक्स टेंपो किसको बोलते हैं कि कोई भी टॉपिक आपको अचानक से दे दिया जाए और बोला कि यार बोल तो आप देखिएगा आप अपने दोस्त के बीच में भी नहीं बोल पाएगा मेरे साथ भी होता था हम अपना एक्सप्लेन सब से शेयर करता हूं आपसे कोई भी पूछे ना तो आप मन में रखेगी यार हमको ना पब्लिक से आसपास में नहीं देखना सब लोग देख रहे हैं हमको सब लोग क्या सोचेंगे क्या बोलेंगे हम आज तक भूले नहीं हैं हम भूल पाएंगे कि नहीं बोल पाएंगे एक अंदर कॉन्फिडेंस आ जाता है के पास नॉलेज ओं न एवरेज एक ही है कोई आपसे ज्यादा है कोई आप से कम है लेकिन 130 करोड़ आबादी में आप भी कहीं ना कहीं अच्छी पोजीशन पर होल्ड करते हो इस बात को मांगे मानना पड़ेगा आपको इस बात से इस से अच्छा है कि आप अपने आप को जब भी बोले तो यह सोचे कि हम सबसे ज्यादा जानकारी स्पीड में रखते हैं और आप अपने सामने वाले को मत देखिए और देखिए तो समझेंगे अच्छा बच्चा है जैसे किसी बच्चा को आपको मान लीजिए आप जो भी काम करते हैं वह पढ़ते हैं तो आप अपनी जब नीचे वाले को देखने का से कम पढ़ा जाता है अच्छा माल की कोई बच्चा टेंस में पड़ता है और उसको बोल देगा चौथा क्लास को पढ़ाने के लिए यही चीज हम लोग को भी अपने अंदर लाना है कहीं पर भी जाइए इसका प्रैक्टिस कीजिए घर में एक इंवॉल्वमेंट बना देते कि आज जो है आज जो है प्रधानमंत्री पर डिबेट होगा देखना है कि कौन को फोन कैसे बोलेगा और बोलो सब खड़ा होकर कोई जरूरी नहीं है कि स्टेज स्टेज अब जब वह X10 को करने लगेंगे तो आपको लगेगा कि यही मेरा स्टेज है ऐसा आपको फील होने लगेगा तो आप यह कीजिए यह कीजिए उसके बाद मेरे को स्पेशली बताइएगा इस मेरे को स्पेशली फॉलो करके मेरे को आप बताइएगा मेरे ईमेल आईडी पर भी आप भी भेजेगा मेरे मेल आईडी हैक मोद मैप्स एंड द रेट ऑफ gmail.com ठीक है भेज कर देखेगा

stage ka jo problem hai vaah baccha se start ho jata hai aapko ejiteshan rehta hoga aapke bank me bacche se bhi appeal karte hain baccha me bhi class me aap peeche baithe honge 90 chance hai ki jo log station darte hain vaah class me peeche nahi baithta lekin dar hatane ka sabse ki koi cheez kaam shuru se karte jaega na toh usme aapko dar nahi lagega aur phir jo hai where is not good for hour health and for hour development in life toh sabse pehle kya hai access aapko karna hai fruit apiyar for mor mind hai jewellers hath hamesha yaad rakhega isse maan lijiye aapke ghar me paanch cheh aadmi hai ya phir friend circle ke saath hain aap kya kije x tempo kisko bolte hain ki koi bhi topic aapko achanak se de diya jaaye aur bola ki yaar bol toh aap dekhiega aap apne dost ke beech me bhi nahi bol payega mere saath bhi hota tha hum apna explain sab se share karta hoon aapse koi bhi pooche na toh aap man me rakhegi yaar hamko na public se aaspass me nahi dekhna sab log dekh rahe hain hamko sab log kya sochenge kya bolenge hum aaj tak bhule nahi hain hum bhool payenge ki nahi bol payenge ek andar confidence aa jata hai ke paas knowledge on na average ek hi hai koi aapse zyada hai koi aap se kam hai lekin 130 crore aabadi me aap bhi kahin na kahin achi position par hold karte ho is baat ko mange manana padega aapko is baat se is se accha hai ki aap apne aap ko jab bhi bole toh yah soche ki hum sabse zyada jaankari speed me rakhte hain aur aap apne saamne waale ko mat dekhiye aur dekhiye toh samjhenge accha baccha hai jaise kisi baccha ko aapko maan lijiye aap jo bhi kaam karte hain vaah padhte hain toh aap apni jab niche waale ko dekhne ka se kam padha jata hai accha maal ki koi baccha tense me padta hai aur usko bol dega chautha class ko padhane ke liye yahi cheez hum log ko bhi apne andar lana hai kahin par bhi jaiye iska practice kijiye ghar me ek invalwament bana dete ki aaj jo hai aaj jo hai pradhanmantri par debate hoga dekhna hai ki kaun ko phone kaise bolega aur bolo sab khada hokar koi zaroori nahi hai ki stage stage ab jab vaah X10 ko karne lagenge toh aapko lagega ki yahi mera stage hai aisa aapko feel hone lagega toh aap yah kijiye yah kijiye uske baad mere ko speshli bataiega is mere ko speshli follow karke mere ko aap bataiega mere email id par bhi aap bhi bhejega mere male id hack mod maps and the rate of gmail com theek hai bhej kar dekhega

स्टेज का जो प्रॉब्लम है वह बच्चा से स्टार्ट हो जाता है आपको एजीटेशन रहता होगा आपके बैंक मे

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user

Pradeep Solanki

Corporate Yoga Consultant

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्टेज का मंच का डर दूर करना थोड़ा सा मुश्किल है लेकिन नामुमकिन नहीं थोड़ी सी प्रैक्टिस करनी पड़ेगी इसका तरीका है कि पहले आप अपने सामने आने जैसे शीशे के सामने खड़े होकर बोलकर देखें फिर मान लो एक एक दोस्त हो गया या दो दो सो गया उनके सामने खड़े होकर देखें या फिर सिर्फ एक बार रिकॉर्ड करके देखें कि मैं कैसा बोल पा रहे लगातार कोई टॉपिक स्कूल समझने के बाद तो यह धीरे-धीरे धीरे-धीरे अपने आप खत्म होगा पर यह नेचुरल है थोड़ा सा शुरू में दिक्कत आती है लेकिन आप छोटे शुरुआत करो और ज्यादातर मार लो छोटी सी छोटी सी कोई xxx2 लेकर उस पर खड़े होकर अपने घर में बोल कर देखो या आपके दोस्त हैं उनके सामने बोल कर देखो ओके और कई बार जब आप को है जरूरत पड़ जाए बोलने की तो यह मत सोचो कि मेरे सामने कोई बाहर के बंदे बैठे हुए यह सोचो कि जैसे मैंने घर पर बोला था इसे मेरे दोस्त या जैसे मेरे दोस्त मेरे सामने बैठे हुए थे उन्हीं को देख कर बोल रहा हूं सबसा थोड़ा सा आपको धीरे-धीरे कंफर्ट लेवल शुरू होगा और धीरे-धीरे आप बोलना शुरू हो गए व्हाट इस का तारी दूर करने का तरीका प्रैक्टिस ही है और कुछ नहीं धन्यवाद

stage ka manch ka dar dur karna thoda sa mushkil hai lekin namumkin nahi thodi si practice karni padegi iska tarika hai ki pehle aap apne saamne aane jaise shishe ke saamne khade hokar bolkar dekhen phir maan lo ek ek dost ho gaya ya do do so gaya unke saamne khade hokar dekhen ya phir sirf ek baar record karke dekhen ki main kaisa bol paa rahe lagatar koi topic school samjhne ke baad toh yah dhire dhire dhire dhire apne aap khatam hoga par yah natural hai thoda sa shuru me dikkat aati hai lekin aap chote shuruat karo aur jyadatar maar lo choti si choti si koi xxx2 lekar us par khade hokar apne ghar me bol kar dekho ya aapke dost hain unke saamne bol kar dekho ok aur kai baar jab aap ko hai zarurat pad jaaye bolne ki toh yah mat socho ki mere saamne koi bahar ke bande baithe hue yah socho ki jaise maine ghar par bola tha ise mere dost ya jaise mere dost mere saamne baithe hue the unhi ko dekh kar bol raha hoon sabasa thoda sa aapko dhire dhire comfort level shuru hoga aur dhire dhire aap bolna shuru ho gaye what is ka tari dur karne ka tarika practice hi hai aur kuch nahi dhanyavad

स्टेज का मंच का डर दूर करना थोड़ा सा मुश्किल है लेकिन नामुमकिन नहीं थोड़ी सी प्रैक्टिस करन

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  201
WhatsApp_icon
user

Priti Jha

Software Developer

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप मन से और कैसे जाने जा कर बोलने से दर्द हो रही है अब बोल नहीं पाते हो तो उसके लिए सबसे अच्छा तरीका है कि वह सब कुछ भी एनीथिंग एप मिरर के सामने आना के सामने खड़े हो जाओ और बार-बार उस चीज को बोलो फिर अगर ऐसे समय 25 सेकंड से बोल पाते हो तो सीधा फोन में भी आप मोबाइल कैमरा ऑन करके को रिकॉर्ड करके रिकॉर्ड मोड में डाल कर के आप उसको बोलो हर एक बात को भूलो अपनी बात तो रखना चाहो तो इसे आप के ऊपर जो है ना वह अच्छी हो जाएगी डिबेट करो अपने फ्रेंड के साथ किसी भी टॉपिक पर तो इससे आपका जो चीज वाले धनघटा मुझे तो क्लियर हो जाएगी वहां बहुत अच्छे लगते हो

agar aap man se aur kaise jaane ja kar bolne se dard ho rahi hai ab bol nahi paate ho toh uske liye sabse accha tarika hai ki vaah sab kuch bhi anything app mirror ke saamne aana ke saamne khade ho jao aur baar baar us cheez ko bolo phir agar aise samay 25 second se bol paate ho toh seedha phone me bhi aap mobile camera on karke ko record karke record mode me daal kar ke aap usko bolo har ek baat ko bhulo apni baat toh rakhna chaho toh ise aap ke upar jo hai na vaah achi ho jayegi debate karo apne friend ke saath kisi bhi topic par toh isse aapka jo cheez waale dhanghata mujhe toh clear ho jayegi wahan bahut acche lagte ho

अगर आप मन से और कैसे जाने जा कर बोलने से दर्द हो रही है अब बोल नहीं पाते हो तो उसके लिए सब

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Manish Dev

Motivational Speaker, Yoga-Meditation Guide, Spiritualist, Psycho-analyst, Astrologer, Spiritual Healer, Life Coach

2:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप दुनिया के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति आपस की चिंता ही न करे निश्चिंत रहें आप जितना सोचते समझते हैं सारी दुनिया उतनी सोचती समझती नहीं है आपके अंदर यह विश्वास होना चाहिए आप दुनिया को बहुत कुछ बता सकते हैं और अच्छाई बताने में कोई बुराई नहीं है आप अच्छी चीजें बताएं चाहे वह सच्चाई को हजारों बार पहले बताया जा चुका इतनी जा सके उतनी अच्छी बात मंच पर चलिए और बोलिए आप अच्छा बोलेंगे बुरा बोलेंगे इसकी चिंता मत कीजिए आपकी सोच अच्छी होनी चाहिए आपकी नियत अच्छी होनी चाहिए आप इतने बुद्धिमान हैं कि आपकी बुद्धि जीविता को समझना सबके बस की बात नहीं है आप ही पूर्ण विश्वास अपने ऊपर रखिए जो मंच पर खड़ा होता है बुद्धिमान मंच के नीचे सुन रहे होते होते हैं चिंता की आंखों के सामने बोलने में इतना डरना के सामने बोलने में इतना भयभीत होने की आवश्यकता है मैंने जो बोला अभी उसको अपनी फिल कर लेती अपने मन के अंदर और इन विचारों को उस दिन कर कर मंच पर जाकर खड़े हो जाइए फिर देखिए पावनी का डर नहीं लगेगा खत्म हो जाएगा एक बात हमेशा जान के रखी आप बोलने के लिए जा रहे हैं और जो मंच के नीचे खड़े हैं उसके लिए खड़ा है आपका काम बोलना है आप बोलिए अपनी तरफ से अच्छा बोलिए चाहे उस अच्छाई को अक्षय मैसेज को प्रधान के लोगों को सकारात्मकता से लाइए खत्म हो जाएगा चिंता का विषय नहीं सब हो जाता है करिए अवश्य करें

aap duniya ke sabse buddhiman vyakti aapas ki chinta hi na kare nishchint rahein aap jitna sochte samajhte hain saari duniya utani sochti samajhti nahi hai aapke andar yah vishwas hona chahiye aap duniya ko bahut kuch bata sakte hain aur acchai batane me koi burayi nahi hai aap achi cheezen bataye chahen vaah sacchai ko hazaro baar pehle bataya ja chuka itni ja sake utani achi baat manch par chaliye aur bolie aap accha bolenge bura bolenge iski chinta mat kijiye aapki soch achi honi chahiye aapki niyat achi honi chahiye aap itne buddhiman hain ki aapki buddhi jivita ko samajhna sabke bus ki baat nahi hai aap hi purn vishwas apne upar rakhiye jo manch par khada hota hai buddhiman manch ke niche sun rahe hote hote hain chinta ki aakhon ke saamne bolne me itna darna ke saamne bolne me itna bhayabhit hone ki avashyakta hai maine jo bola abhi usko apni fill kar leti apne man ke andar aur in vicharon ko us din kar kar manch par jaakar khade ho jaiye phir dekhiye pavani ka dar nahi lagega khatam ho jaega ek baat hamesha jaan ke rakhi aap bolne ke liye ja rahe hain aur jo manch ke niche khade hain uske liye khada hai aapka kaam bolna hai aap bolie apni taraf se accha bolie chahen us acchai ko akshay massage ko pradhan ke logo ko sakaraatmakata se laiye khatam ho jaega chinta ka vishay nahi sab ho jata hai kariye avashya kare

आप दुनिया के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति आपस की चिंता ही न करे निश्चिंत रहें आप जितना सोचते सम

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई मंच अनस्टेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं मनचाली के स्टेट का दर्द होता है कि हमारे शरीर के भीतर मन मतलब माइंड और सबकॉन्शियस माइंड का प्रॉब्लम होता है सबकॉन्शियस माइंड के अंदर अगर हमने ठान लिया क्या चीज पूरी तरह से सक्सेस कर सकते हैं तो भीतर हमारे अंदर कोई डर नहीं रहेगा एक दो बार 5 बार 10 बार अपने को डर लगेगा थोड़ी तकलीफ होंगी पर एक दम बिंदास आप अपना व कृतित्व कला अरे बोलने की कला पहले सीख लीजिएगा बोलने की कला आपके अंदर आऊंगा थे तो तब 8:00 बजे तक अपने को कोई डरने बैठेगा और ऐसा करते करते आप मंच आने के स्टेज की डेरिंग पूरी तरह से आपके अंदर प्राप्त हो जाएंगे तो आप पहले कोई भी विषय पाठ अंतर कर लीजिए अगर वह विषय अपना परफेक्ट तो मंच के ऊपर जाने के बाद में अब वही विषय पर टॉपिक करें तो धीरे-धीरे आपका दर्द खत्म हो जाएगा इसीलिए सबकॉन्शियस माइंड में पूरा कि मैं मेरे विषय में कंप्लीट हूं मुझे डरने की कोई आवश्यकता नहीं ऐसा अगर अंतरात्मा से फोन करते हैं सबकॉन्शियस माइंड से करते हो तो आप निश्चित रूप से स्टेज पर कभी देंगे

bhai manch anastej ke dar ko kaise dur kar sakta hoon manchali ke state ka dard hota hai ki hamare sharir ke bheetar man matlab mind aur subconscious mind ka problem hota hai subconscious mind ke andar agar humne than liya kya cheez puri tarah se success kar sakte hain toh bheetar hamare andar koi dar nahi rahega ek do baar 5 baar 10 baar apne ko dar lagega thodi takleef hongi par ek dum bindas aap apna va krititwa kala are bolne ki kala pehle seekh lijiega bolne ki kala aapke andar aaunga the toh tab 8 00 baje tak apne ko koi darane baithega aur aisa karte karte aap manch aane ke stage ki daring puri tarah se aapke andar prapt ho jaenge toh aap pehle koi bhi vishay path antar kar lijiye agar vaah vishay apna perfect toh manch ke upar jaane ke baad me ab wahi vishay par topic kare toh dhire dhire aapka dard khatam ho jaega isliye subconscious mind me pura ki main mere vishay me complete hoon mujhe darane ki koi avashyakta nahi aisa agar antaraatma se phone karte hain subconscious mind se karte ho toh aap nishchit roop se stage par kabhi denge

भाई मंच अनस्टेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं मनचाली के स्टेट का दर्द होता है कि हमारे शर

Romanized Version
Likes  464  Dislikes    views  4733
WhatsApp_icon
user

Mausam Babbar and, Dr. Rishu Singh

Managing Directors - Risham IAS Academy

4:44
Play

Likes  606  Dislikes    views  7875
WhatsApp_icon
user

Isu Vasava

PASTOR in CHURCH.

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मंच के बारे में जो इंसान की एक्सपीरियंस है वह यह है कि जब मैं स्कूल में था तो मैं भी मंच वगैरह पर बोलता था लेकिन जब रात होती थी उसके बाद मैंने जब मैं जवान हुआ और मैं एक पास्टर बना तो चर्च में जब परमेश्वर के वचन सुनाने का टाइम होता है तो सब लोगों के बीच में चर्च में खड़ा होना चाहता है तो यानी स्टेज पर खड़ा होना पड़ता है फुल पिक पर जब मैं पहली बार बोलने के लिए खड़ा हुआ तो मेरे इतना पसीना छूटे के पूरा जैसे कि किसी ने बाल्टी भर के मेरे ऊपर डाल दो इतना पसीना निकला मेरा क्योंकि मैं घबराता था लेकिन धीरे-धीरे आज खड़ा हुआ कल खड़ा हुआ है ऐसे ऐसे जब मैं बोला तो धीरे-धीरे घबराहट दूर होने लगे और वह घर चला गया कि सबके जीवन में ऐसा ही होता है शुरुआत में जो इंसान खड़ा रहता है उसको डर तो लगता है लेकिन जैसे-जैसे आप अब एक बार 2 बार 3 बार 4 बार खड़े होते जाओगे तो आपका डर ऑटोमेटेकली निकल जाएगा इसलिए आपको दादा से बांधना है और खड़ा रहना है स्टेज पर डरने की जरूरत नहीं है थोड़ा पसीना होगा कब रात भी होगी लेकिन इससे आपको स्टेज पर खड़े हो रहे हैं उन्हें सुधारना ने क्योंकि अगर आप डरने लगे तो पूरी जिंदगी तेज पर खड़े नहीं हो पाओगे और इस तरह से आप एक बार अगर 10 15 50 से 500 के बीच में खड़े हुए तो दूसरी बार आप लाखों करोड़ों लोगों के बीच में भी खड़े होके तेज तो बोल सकते हो

dekhiye manch ke bare me jo insaan ki experience hai vaah yah hai ki jab main school me tha toh main bhi manch vagera par bolta tha lekin jab raat hoti thi uske baad maine jab main jawaan hua aur main ek pastor bana toh church me jab parmeshwar ke vachan sunaane ka time hota hai toh sab logo ke beech me church me khada hona chahta hai toh yani stage par khada hona padta hai full pic par jab main pehli baar bolne ke liye khada hua toh mere itna paseena chhoote ke pura jaise ki kisi ne balti bhar ke mere upar daal do itna paseena nikala mera kyonki main ghabrata tha lekin dhire dhire aaj khada hua kal khada hua hai aise aise jab main bola toh dhire dhire ghabarahat dur hone lage aur vaah ghar chala gaya ki sabke jeevan me aisa hi hota hai shuruat me jo insaan khada rehta hai usko dar toh lagta hai lekin jaise jaise aap ab ek baar 2 baar 3 baar 4 baar khade hote jaoge toh aapka dar atometekli nikal jaega isliye aapko dada se bandhana hai aur khada rehna hai stage par darane ki zarurat nahi hai thoda paseena hoga kab raat bhi hogi lekin isse aapko stage par khade ho rahe hain unhe sudharna ne kyonki agar aap darane lage toh puri zindagi tez par khade nahi ho paoge aur is tarah se aap ek baar agar 10 15 50 se 500 ke beech me khade hue toh dusri baar aap laakhon karodo logo ke beech me bhi khade hoke tez toh bol sakte ho

देखिए मंच के बारे में जो इंसान की एक्सपीरियंस है वह यह है कि जब मैं स्कूल में था तो मैं भी

Romanized Version
Likes  190  Dislikes    views  2117
WhatsApp_icon
user

RAHUL BHADOTIYA

Yog Expert /Motivater/Life Coach

2:05
Play

Likes  85  Dislikes    views  1999
WhatsApp_icon
user

Agrim Gupta - Motivational Speaker

Motivational Speaker | Business Coach

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है अकरम गुप्ता स्टेज या मंच के डर को स्टेज फीयर को हम स्टेज पर जाकर ही हरा सकते हैं जिस तरह हम स्विमिंग के डर को पानी में तैर कर हर आते हैं जिस तरह हम ईद के डर को आईने में बोलकर हटाते हैं आते हैं उसी तरह हमें स्टेज के डर को स्टेज पर जाकर कि भगाना पड़ेगा आप चाहे तो खाली स्टेज पर जाकर प्रैक्टिस कर सकते हैं यह का जो लोग अपने दोस्तों या अपने साथियों को बैठाकर में प्रैक्टिस कर सकते हैं जीवन ऑडियंस कब बनना चालू होगा तो आपका डर अपने आप खत्म होने लगेगा जब आप दो एक या दो दो क्या 4448 ओं के सामने परफॉर्म करना चालू करेंगे ऐसे ही आप बार बार बार बार बार बार जब परफॉर्म करेंगे आपकी आदत हो जाएगी और अपने आप आपका स्टेज फीयर चला जाएगा धन्यवाद दोस्तों मेरा नाम है गरम गुप्ता

namaskar doston mera naam hai akram gupta stage ya manch ke dar ko stage fear ko hum stage par jaakar hi hara sakte hain jis tarah hum Swimming ke dar ko paani me tair kar har aate hain jis tarah hum eid ke dar ko aaine me bolkar hatate hain aate hain usi tarah hamein stage ke dar ko stage par jaakar ki bhagana padega aap chahen toh khaali stage par jaakar practice kar sakte hain yah ka jo log apne doston ya apne sathiyo ko baithakar me practice kar sakte hain jeevan adiyans kab banna chaalu hoga toh aapka dar apne aap khatam hone lagega jab aap do ek ya do do kya 4448 on ke saamne perform karna chaalu karenge aise hi aap baar baar baar baar baar baar jab perform karenge aapki aadat ho jayegi aur apne aap aapka stage fear chala jaega dhanyavad doston mera naam hai garam gupta

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है अकरम गुप्ता स्टेज या मंच के डर को स्टेज फीयर को हम स्टेज पर ज

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

RAVI DUBEY

Motivational Speaker | Writer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्टेज फीयर जो है वह सच में हर किसी के अंदर होता है मंच पर कैसे साझा करें दिखे दो लोग होते तो टाइप किए जिनमें इनबिल्ट क्वालिटी होती है और एक जो हम डिवेलप करते हैं अगर यह चीजें इनबिल्ट क्वालिटी है या नहीं आपके अंदर पहले से ही बोला था कि आप खुलकर बात करते थे वह जींसों चाइना जींस में जैसे उतर खुलापन तो उसको मन से डर नहीं लगता लेकिन ऐसे बहुत कम लोग होते हैं अगर आपको मंच से अपना डर हटाना है तो आप को पहले खुल कर बात करना सीखना होगा यानी पहले चार लोगों के सामने बात करो 6 लोगों के सामने बात करो आप गलत हो या सही होगी दूसरों को निर्धारित करने दो आपके अंदर जो बात है वह आप रखो अगर आप सही रहोगे लोग आपको है प्रेषित करेंगे आपको तालियां बजाएंगे आपके लिए अगर आप गलत हो तो लोग आपको फीडबैक देंगे और वह फीडबैक आफ लो और खुद को बदलो कि अगर यह गलत है तो मैं इसको चेंज करूंगा और सही चीजें सीख लूंगा जिस दिन आपकी करना चालू करते हो वैसे ही मंच पर आपका जो कॉन्फिडेंस है बढ़ने लग गया कि आपको अगर मैं ज्यादा ज्यादा गलत बोलूंगा तो यह लोग हैं ना मुझे सुधारने के लिए तो वह लोग आपको अपने दोस्त नजर आएंगे और जब लोग अपने दोस्त देखते हैं सामने तो उनके अंदर कॉन्फिडेंस आता है ना कि डा

stage fear jo hai vaah sach me har kisi ke andar hota hai manch par kaise sajha kare dikhe do log hote toh type kiye jinmein inbuilt quality hoti hai aur ek jo hum develop karte hain agar yah cheezen inbuilt quality hai ya nahi aapke andar pehle se hi bola tha ki aap khulkar baat karte the vaah jinson china jeans me jaise utar khulapan toh usko man se dar nahi lagta lekin aise bahut kam log hote hain agar aapko manch se apna dar hatana hai toh aap ko pehle khul kar baat karna sikhna hoga yani pehle char logo ke saamne baat karo 6 logo ke saamne baat karo aap galat ho ya sahi hogi dusro ko nirdharit karne do aapke andar jo baat hai vaah aap rakho agar aap sahi rahoge log aapko hai preshit karenge aapko taliyan bajaenge aapke liye agar aap galat ho toh log aapko feedback denge aur vaah feedback of lo aur khud ko badlo ki agar yah galat hai toh main isko change karunga aur sahi cheezen seekh lunga jis din aapki karna chaalu karte ho waise hi manch par aapka jo confidence hai badhne lag gaya ki aapko agar main zyada zyada galat boloonga toh yah log hain na mujhe sudhaarne ke liye toh vaah log aapko apne dost nazar aayenge aur jab log apne dost dekhte hain saamne toh unke andar confidence aata hai na ki da

स्टेज फीयर जो है वह सच में हर किसी के अंदर होता है मंच पर कैसे साझा करें दिखे दो लोग होते

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user

Pawan Bawa

Social Worker

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार भाई साहब ने पूछा क्या मदद कर सकते हैं अपनी अंतरात्मा से यह बात निकाल दीजिए कि आपको डर है कहना साला निकालना मुश्किल है लेकिन आप अपने आप से बाथरूम में आए इतना शीशा लगाकर अपने आप से बातें करें और जितना टाइम हो सकता है अपने आप से बातें करें क्योंकि आपका डर कोई और नहीं आप खुद ही निकाल सकते हैं और मुझे विश्वास है अभी 15 मिनट के अंदर आप भैया डर निकल जाएगा धन्यवाद

namaskar bhai saheb ne poocha kya madad kar sakte hain apni antaraatma se yah baat nikaal dijiye ki aapko dar hai kehna sala nikalna mushkil hai lekin aap apne aap se bathroom me aaye itna shisha lagakar apne aap se batein kare aur jitna time ho sakta hai apne aap se batein kare kyonki aapka dar koi aur nahi aap khud hi nikaal sakte hain aur mujhe vishwas hai abhi 15 minute ke andar aap bhaiya dar nikal jaega dhanyavad

नमस्कार भाई साहब ने पूछा क्या मदद कर सकते हैं अपनी अंतरात्मा से यह बात निकाल दीजिए कि आपको

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की आपका प्रश्न है यह आत्मविश्वास की कमी घर पर चाय होता अपने चार दोस्तों दोस्तों में बात करते हैं क्षेत्रों में बात करते हैं तो हमको नहीं लगता लेकिन जैसी किसी स्टेज पर जाते हैं और उनको कुछ बोलने को कहा जाता है तो हमको भारी घबराहट होती है और हमारे विशेषज्ञ करना बंद कर दो यह मंदिर की एक यात्रा की कमी होने के साथ-साथ मंच का अनुभव ना होना स्टेज की दर को उत्पन्न करता है मंडे को आप जो करना चाहते हैं तो आप किसी के सामने बोलने का अभ्यास करें किसी भी विषय पर विभिन्न विषयों पर आप 2 मिनट बोलने लगे ₹3000 की बात कैसे करूं यह तो पता है आप इसमें मंच किसी को भी दूर कर सकते हैं और आपके विचारों में स्तंभ अवस्था जाएगी और क्रम भत्ता के तहत आप अच्छी तरह से

ram ram ji ki aapka prashna hai yah aatmvishvaas ki kami ghar par chai hota apne char doston doston me baat karte hain kshetro me baat karte hain toh hamko nahi lagta lekin jaisi kisi stage par jaate hain aur unko kuch bolne ko kaha jata hai toh hamko bhari ghabarahat hoti hai aur hamare visheshagya karna band kar do yah mandir ki ek yatra ki kami hone ke saath saath manch ka anubhav na hona stage ki dar ko utpann karta hai monday ko aap jo karna chahte hain toh aap kisi ke saamne bolne ka abhyas kare kisi bhi vishay par vibhinn vishyon par aap 2 minute bolne lage Rs ki baat kaise karu yah toh pata hai aap isme manch kisi ko bhi dur kar sakte hain aur aapke vicharon me stambh avastha jayegi aur kram bhatta ke tahat aap achi tarah se

राम राम जी की आपका प्रश्न है यह आत्मविश्वास की कमी घर पर चाय होता अपने चार दोस्तों दोस्तों

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

Anshu Sarkar

Founder & Director, Sarkar Yog Academy

6:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो आप को मेरा नमस्कार और साथ ही मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगा इतना अच्छा सवाल के लिए आपने मुझे जवाब देने के लिए चुने आपका सवाल है मैं मंच यानी चीज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं मैं आपको एक बात बता दूं मैं युग की दुनिया में पिछले 36 वर्षों से एवं जीवन का अंतिम सांस तक योग्य दुनिया में रहने का ही इच्छा है क्योंकि नदी में कितने भी गहराई कितनी भी उतार कितनी बिछड़ क्यों ना हो समुद्र में जाकर तो मिल नहीं पड़ता है आज किस-किस टीम दुनिया में जहां स्वास में प्रदूषण थाना में मिलावट चारों तरफ तनाव ऐसे अवस्था में अगर मनुष्य अपने बंग अपने पूरे परिवार को निरोग एवं चिंता मुक्त रखना चाहते हैं वह भी दवा के बिना विदाउट मेडिसिन तो योग्य विकल्प है योग से बच कर कहां जाए आपका अगर किसी चीज में भी बदलाव लाना चाहते हैं कि योग से संबंध आपका सवाल का जवाब है वह है योग प्रणाम एवं ध्यान के माध्यम से आप तेज फोबिया को दूर कर सकते हैं एवं अपना आत्मविश्वास को बढ़ा सकता है क्योंकि योग के द्वारा एक मनुष्य में सर्वांगीण विकास होता है शारीरिक मानसिक नैतिक आध्यात्मिक संपूर्ण विकास अगर एक चीज के माध्यम से अगर मनुष्य में इतना बदलाव आ सकता है वह भी पॉजिटिव बदलाव तो यूं ही विकल्प है एक इंसान में दो प्रकार का शक्तियां होती है एक शारीरिक शक्ति दूसरा मानसिक शक्ति शारीरिक शक्ति जो होता है केवल 18% 18% अतिरिक्त 2% मानसिक शक्ति विल पावर मन का चोर अगर मन का चोर आपका है विल पावर आपका है तो सफलता कदम चूमेगी हर जगह सफलता का झंडा गाड़ देंगे अगर आपका मन में चोर नहीं है आत्मविश्वास नहीं है केवल नगर trip38 की है गलत सोच है तो हर पल हर पदक से केवल विफलता ही आपका हाथ लगेगा मैं आपसे अनुरोध करेंगे कि आप अपना जीवन में योग प्रणाम एवं ध्यान को अपना लें एवं संपूर्ण सोच को बदलिए यह केवल इसी से ही संभव है मैं केवल इतना कह दूंगा लड़ने से पहले हारना नहीं लगने से पहले हारना नहीं और मरने से पहले मरना नहीं और आज के इस दुनिया जो चल रहा है इसमें क्लब हर एक वर्ड और जोड़ना चाहते हैं कोर्ट से डरना नहीं जो डर गया सो मर गया मैं इतना कहना चाहूंगा एक ही सोचो मंच यंग एज क्या है जब आप देश में चल रहे हैं जब आप तेज में विराजमान है और नीचे जितने भी दस्तक बैठे हैं या निकिता बैठे हैं दोनों क्रिकेटर ठीक है दर्शक हो सोता हूं ठीक है नहीं जानता कि आप क्या बोलेंगे क्या करेंगे कोई कुछ नहीं जानता केवल आप जो बोलेंगे वही सुनेगा जो आप करके दिखाएंगे वही लिखेगा उस जगह में अगर केवल आपके पास आपको विश्वास हो तो चेक अभी आप कोई गाना गा रहे हैं गाना गाते गाते अगर आप वर्ड भूल गए अगर आप उस वर्ड को भूलने के साथ-साथ अगर फेस एक्सप्रेशन ऐसा कर दे दो डरावना जब तक है जान जाएगा आदमी उस जगह से भी अपने आप को भर सकते हैं किसी को इतना पता ही नहीं चलेगा इसीलिए जरिए नहीं सच कहा है कि डर के आगे जीत है आप अपना जीवन में योग प्राणायाम एवं को अपना लें और आने वाले जिंदगी को निरोग सुनहरा चिंतामन आत्मविश्वास वासियों में ताकत जीवन में कुछ कर गुजरने की चाह निरोग शरीर दीर्घायु आप से मेरा विनम्र निवेदन है अपना जीवन में योगदान एवं ध्यान को अपना लेवल एक ऐसा मनुष्य में बदलाव आएगा ऐसे जन्म लेना मनुष्य जन्म लेगा के गाने ही नहीं डरेगा ठाकुर रामकृष्ण प्रबंध भी कहे तुम काटो या ना काटो फोन तो उठा नहीं पड़ेगा नहीं तो दुनिया को कुचल देगा आपका चंदर का सकती है पावर है उसको दिखाना है नहीं तो पूरा दुनिया का पास आप एक कमजोर इंसान बनकर आएंगे योग अपनाएं रोग भगाए साथी आत्मविश्वास बढ़ा है धन्यवाद

sabse pehle toh aap ko mera namaskar aur saath hi main aapko dhanyavad dena chahunga itna accha sawaal ke liye aapne mujhe jawab dene ke liye chune aapka sawaal hai main manch yani cheez ke dar ko kaise dur kar sakta hoon main aapko ek baat bata doon main yug ki duniya me pichle 36 varshon se evam jeevan ka antim saans tak yogya duniya me rehne ka hi iccha hai kyonki nadi me kitne bhi gehrai kitni bhi utar kitni bichhad kyon na ho samudra me jaakar toh mil nahi padta hai aaj kis kis team duniya me jaha swas me pradushan thana me milavat charo taraf tanaav aise avastha me agar manushya apne bang apne poore parivar ko nirog evam chinta mukt rakhna chahte hain vaah bhi dawa ke bina without medicine toh yogya vikalp hai yog se bach kar kaha jaaye aapka agar kisi cheez me bhi badlav lana chahte hain ki yog se sambandh aapka sawaal ka jawab hai vaah hai yog pranam evam dhyan ke madhyam se aap tez phobia ko dur kar sakte hain evam apna aatmvishvaas ko badha sakta hai kyonki yog ke dwara ek manushya me Sarvangiṇa vikas hota hai sharirik mansik naitik aadhyatmik sampurna vikas agar ek cheez ke madhyam se agar manushya me itna badlav aa sakta hai vaah bhi positive badlav toh yun hi vikalp hai ek insaan me do prakar ka shaktiyan hoti hai ek sharirik shakti doosra mansik shakti sharirik shakti jo hota hai keval 18 18 atirikt 2 mansik shakti will power man ka chor agar man ka chor aapka hai will power aapka hai toh safalta kadam choomegi har jagah safalta ka jhanda gad denge agar aapka man me chor nahi hai aatmvishvaas nahi hai keval nagar trip38 ki hai galat soch hai toh har pal har padak se keval vifalta hi aapka hath lagega main aapse anurodh karenge ki aap apna jeevan me yog pranam evam dhyan ko apna le evam sampurna soch ko badaliye yah keval isi se hi sambhav hai main keval itna keh dunga ladane se pehle harana nahi lagne se pehle harana nahi aur marne se pehle marna nahi aur aaj ke is duniya jo chal raha hai isme club har ek word aur jodna chahte hain court se darna nahi jo dar gaya so mar gaya main itna kehna chahunga ek hi socho manch young age kya hai jab aap desh me chal rahe hain jab aap tez me viraajamaan hai aur niche jitne bhi dastak baithe hain ya nikita baithe hain dono cricketer theek hai darshak ho sota hoon theek hai nahi jaanta ki aap kya bolenge kya karenge koi kuch nahi jaanta keval aap jo bolenge wahi sunegaa jo aap karke dikhayenge wahi likhega us jagah me agar keval aapke paas aapko vishwas ho toh check abhi aap koi gaana jaayega rahe hain gaana gaate gaate agar aap word bhool gaye agar aap us word ko bhulne ke saath saath agar face expression aisa kar de do daravna jab tak hai jaan jaega aadmi us jagah se bhi apne aap ko bhar sakte hain kisi ko itna pata hi nahi chalega isliye jariye nahi sach kaha hai ki dar ke aage jeet hai aap apna jeevan me yog pranayaam evam ko apna le aur aane waale zindagi ko nirog sunehra chintaman aatmvishvaas vasiyo me takat jeevan me kuch kar guzarne ki chah nirog sharir dirghayu aap se mera vinamra nivedan hai apna jeevan me yogdan evam dhyan ko apna level ek aisa manushya me badlav aayega aise janam lena manushya janam lega ke gaane hi nahi darega thakur ramakrishna prabandh bhi kahe tum kato ya na kato phone toh utha nahi padega nahi toh duniya ko kuchal dega aapka Chander ka sakti hai power hai usko dikhana hai nahi toh pura duniya ka paas aap ek kamjor insaan bankar aayenge yog apanaen rog bhagaye sathi aatmvishvaas badha hai dhanyavad

सबसे पहले तो आप को मेरा नमस्कार और साथ ही मैं आपको धन्यवाद देना चाहूंगा इतना अच्छा सवाल के

Romanized Version
Likes  229  Dislikes    views  2997
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें मंच पर बोलना एक बड़ी हुई कला नहीं है लेकिन एक अभ्यास की जरूरत होती है जिस सब्जेक्ट पर आप बोलना चाहते हैं उस सब्जेक्ट का चित्र नंबर नोट कर लीजिए उसको याद कर लीजिए बार बार पढ़ते रहिए और छोटी-छोटी जगहों पर भी आप अपना तक से बोलने में रखिए कोई क्वेश्चन आए तो क्वेश्चन को तुरंत उत्तर दीजिए बड़ा करके आप आगे बढ़िए और लेकिन तथ्यपरक अध्ययन का धीरे-धीरे दो चार बार आप बोलेंगे आपकी धारणा समाप्त हो जाएगी खड़े में अकेले में थोड़ा माइक लेकर के बोलिए अपने घर वालों के सामने बोलिए सर से धीरे-धीरे आपकी 4 से वार बोलेंगे तो फिर

dekhen manch par bolna ek badi hui kala nahi hai lekin ek abhyas ki zarurat hoti hai jis subject par aap bolna chahte hain us subject ka chitra number note kar lijiye usko yaad kar lijiye baar baar padhte rahiye aur choti choti jagaho par bhi aap apna tak se bolne me rakhiye koi question aaye toh question ko turant uttar dijiye bada karke aap aage badhiye aur lekin tathyaparak adhyayan ka dhire dhire do char baar aap bolenge aapki dharana samapt ho jayegi khade me akele me thoda mike lekar ke bolie apne ghar walon ke saamne bolie sir se dhire dhire aapki 4 se war bolenge toh phir

देखें मंच पर बोलना एक बड़ी हुई कला नहीं है लेकिन एक अभ्यास की जरूरत होती है जिस सब्जेक्ट प

Romanized Version
Likes  212  Dislikes    views  1356
WhatsApp_icon
user

Arun Mission

Motivational Speaker

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि आप मंत्रालय की स्टील के डर को दूर करना चाहते हैं और ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें लोगों में ज्यादा से ज्यादा यहां पर आप बातचीत करें और ज्यादा गिरावट वाले एरिया पर अपनी स्पीच कुर्ते स्पीच देते वक्त आप जो मिलिट्री बिना घबराए बिल्कुल भी ना जीटीए बेइज्जत आपके अपने शेष दे सकते हैं ऐसा करने से आप करते हैं डर धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगा और आप अपनी आवाज को जनता तक पहुंचा सकते हैं थैंक यू

yadi aap mantralay ki steel ke dar ko dur karna chahte hain aur zyada se zyada practice kare logo me zyada se zyada yahan par aap batchit kare aur zyada giraavat waale area par apni speech kurte speech dete waqt aap jo miltary bina ghabraye bilkul bhi na GTA beijjat aapke apne shesh de sakte hain aisa karne se aap karte hain dar dhire dhire samapt ho jaega aur aap apni awaaz ko janta tak pohcha sakte hain thank you

यदि आप मंत्रालय की स्टील के डर को दूर करना चाहते हैं और ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें लो

Romanized Version
Likes  162  Dislikes    views  1647
WhatsApp_icon
user

Shankar

Yogi By Passion .

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संस्कार मंच स्टेज का डर सिर्फ आप अकेले नहीं हो दुनिया में सबसे मौत से भी ज्यादा डर किसी को है तो मंच क्या डर बहुत आसानी से छुटकारा पा सकता है पहला आप सोचिए क्यों मंच का डर होता है हमारे सामने जो भी है अब खड़े हो मंच में हमारे साथ में आपके सामने से 20 30 लोग 50 लोग हैं पहला डर का कारण क्या है कि मैं उससे अलग हूं वह अलग है मैं अलग हूं ऐसा आपका आपका मन में हो गया वही आपका फ्रेंड से तो आपका फ्रेंड से आपका परिवार का लोग साल में बैठा है नहीं बैठेगा तो डर नहीं होता क्यों अपनापन होता है जब आप नहीं है नहीं है तो डर हो जाता है क्यों डर हो जाता है वह मुझे बारे में क्या बोलेंगे क्या सोचेंगे इसलिए क्यों हो रहा है अपना पनिया तो पहला अपनापन को सब हमारा है सब हमारा यह बातें सुनने के लिए आए हैं उसको मदद करने के लिए मैं बातें कर रहा हूं ऐसा सोची उसको हेल्प करने के लिए मदद करने के लिए मैं बात कर रहा हूं ऐसा सोचेगा तो थोड़ा अपनापन आएगा दूसरा चीज आप क्या कर सकते हो थोड़ा उसका आनंद से आने से पहले थोड़ा प्राणायाम थोड़ा फास्ट कसरत प्राणायाम कुछ करने और फास्ट साउंड पान 10 बार आप ऐसा करके दिया तो थोड़ा एनर्जी बढ़ेगा आपका एनर्जी जब बढ़ता है आत्मविश्वास बढ़ता है जब उठे तनाव और जागृत होती है तो आत्मविश्वास बढ़ता है उसे भी आपके छुटकारा पा सकते सिर्फ से बताता हूं मोस्ट इंपोर्टेंट पहल सबसे पहले क्या अपनापन मैं उसके साथ हूं वह हमारा है मैं हूं ऐसा है तो डर हाय होगा ही नहीं

sanskar manch stage ka dar sirf aap akele nahi ho duniya me sabse maut se bhi zyada dar kisi ko hai toh manch kya dar bahut aasani se chhutkara paa sakta hai pehla aap sochiye kyon manch ka dar hota hai hamare saamne jo bhi hai ab khade ho manch me hamare saath me aapke saamne se 20 30 log 50 log hain pehla dar ka karan kya hai ki main usse alag hoon vaah alag hai main alag hoon aisa aapka aapka man me ho gaya wahi aapka friend se toh aapka friend se aapka parivar ka log saal me baitha hai nahi baithega toh dar nahi hota kyon apnapan hota hai jab aap nahi hai nahi hai toh dar ho jata hai kyon dar ho jata hai vaah mujhe bare me kya bolenge kya sochenge isliye kyon ho raha hai apna paniya toh pehla apnapan ko sab hamara hai sab hamara yah batein sunne ke liye aaye hain usko madad karne ke liye main batein kar raha hoon aisa sochi usko help karne ke liye madad karne ke liye main baat kar raha hoon aisa sochega toh thoda apnapan aayega doosra cheez aap kya kar sakte ho thoda uska anand se aane se pehle thoda pranayaam thoda fast kasrat pranayaam kuch karne aur fast sound pan 10 baar aap aisa karke diya toh thoda energy badhega aapka energy jab badhta hai aatmvishvaas badhta hai jab uthe tanaav aur jagrit hoti hai toh aatmvishvaas badhta hai use bhi aapke chhutkara paa sakte sirf se batata hoon most important pahal sabse pehle kya apnapan main uske saath hoon vaah hamara hai main hoon aisa hai toh dar hi hoga hi nahi

संस्कार मंच स्टेज का डर सिर्फ आप अकेले नहीं हो दुनिया में सबसे मौत से भी ज्यादा डर किसी को

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  835
WhatsApp_icon
user

Asi Ankush

Yoga Trainer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आकाश वाले के मंच से स्टेज पर डर को कैसे दूर किया जाए देखें जब छोटे थे बचपन में अपने साइकिल चलानी जरूर सीखे होगी अपने साइकिल चलानी सीखी थी शुरुआत में डर रहता है मेरे को बैलेंस करना पैटर्न संभालना ब्रेक देखना पुस्तक में काफी डर बने होते हैं लेकिन जैसे-जैसे में सुधार आता है उसी तरह जब मंच के स्टेज के डर को दूर करना तो बार-बार आप स्टेज पर प्रैक्टिस कीजिए शुरुआत में गलतियां होंगी उनको बार-बार सुधारने से आपके अंदर आत्मविश्वास पैदा होगा आपको पता चलेगा कि इस तरह के शब्दों को स्टेज पर यूज करने हैं और श्रोताओं का ध्यान किस तरह से अपनी तरफ खींचना है बार-बार प्रैक्टिस करते रहिए प्रैक्टिस में से परसेंट परफेक्ट धन्यवाद

namaskar akash waale ke manch se stage par dar ko kaise dur kiya jaaye dekhen jab chote the bachpan me apne cycle chalani zaroor sikhe hogi apne cycle chalani sikhi thi shuruat me dar rehta hai mere ko balance karna pattern sambhaalna break dekhna pustak me kaafi dar bane hote hain lekin jaise jaise me sudhaar aata hai usi tarah jab manch ke stage ke dar ko dur karna toh baar baar aap stage par practice kijiye shuruat me galtiya hongi unko baar baar sudhaarne se aapke andar aatmvishvaas paida hoga aapko pata chalega ki is tarah ke shabdon ko stage par use karne hain aur shrotaon ka dhyan kis tarah se apni taraf khinchana hai baar baar practice karte rahiye practice me se percent perfect dhanyavad

नमस्कार आकाश वाले के मंच से स्टेज पर डर को कैसे दूर किया जाए देखें जब छोटे थे बचपन में अप

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  2170
WhatsApp_icon
user

Saloni Sharma

Soft skill trainer and Counsellor

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तेजा मंच पर बोलने के डर को दूर करने के लिए सबसे पहला नियम है तैयारी अगर आप की तैयारी अच्छी है आप अच्छी तरह से बोल पाएंगे आपको अपने अंदर का आत्मविश्वास को बनाए रखना है दूसरा कि आप किस के सामने बोल रहे हैं उसका पता होना चाहिए उस हिसाब से अपना प्रिपरेशन या अपनी तैयारी कीजिए क्योंकि जब आप स्टेज पर बोलते हैं अगर आपका नॉलेज आपका ज्ञान आपकी ऑडियो से आपके सुनने वालों से बेटर है आपका कॉन्फ्रेंस अपने आप पड़ेगा अगर आपका प्रिपरेशन बहुत अच्छी तरह से हुआ हुआ है कॉन्फिडेंस अपने यहां पड़ेगा डर अपने आप दूर होगा अगर आपने यह सब करने के बाद भी आप को डर लगता है तो आप कर सकते हैं कि अपना बोला हुआ स्पीच बोलनी है स्पीच उसे लिखकर तैयारी कीजिए फिर उसे रिकॉर्ड कीजिए मोबाइल पर यहां कैमरा पर रिकॉर्ड कीजिए उसे दो-तीन बार सुनिए उसमें से कमियां खुद ही निकाली और फिर खुद ही रिकॉर्ड कीजिए और फिर जो कमियों को दूर कर कर उसको फिर से तैयार कीजिए बार-बार प्रेक्टिस करने से हमारा कॉन्फिडेंस पड़ता है और हमें हमारा डर दूर हो जाता है और अगर फिर भी कब तो सामने किसी को रखकर प्रैक्टिस कीजिए प्रैक्टिस प्रेजेंट यह चीजें हैं जो आप को स्टेज पर कामयाब बनाएगी

teja manch par bolne ke dar ko dur karne ke liye sabse pehla niyam hai taiyari agar aap ki taiyari achi hai aap achi tarah se bol payenge aapko apne andar ka aatmvishvaas ko banaye rakhna hai doosra ki aap kis ke saamne bol rahe hain uska pata hona chahiye us hisab se apna preparation ya apni taiyari kijiye kyonki jab aap stage par bolte hain agar aapka knowledge aapka gyaan aapki audio se aapke sunne walon se better hai aapka conference apne aap padega agar aapka preparation bahut achi tarah se hua hua hai confidence apne yahan padega dar apne aap dur hoga agar aapne yah sab karne ke baad bhi aap ko dar lagta hai toh aap kar sakte hain ki apna bola hua speech bolani hai speech use likhkar taiyari kijiye phir use record kijiye mobile par yahan camera par record kijiye use do teen baar suniye usme se kamiyan khud hi nikali aur phir khud hi record kijiye aur phir jo kamiyon ko dur kar kar usko phir se taiyar kijiye baar baar practice karne se hamara confidence padta hai aur hamein hamara dar dur ho jata hai aur agar phir bhi kab toh saamne kisi ko rakhakar practice kijiye practice present yah cheezen hain jo aap ko stage par kamyab banayegi

तेजा मंच पर बोलने के डर को दूर करने के लिए सबसे पहला नियम है तैयारी अगर आप की तैयारी अच्छी

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

Mahak Gehani

Yoga Trainer

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है मैं मनचाली तेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं तो मेरा आपको एक बहुत सिंपल सजेशन होगा आपको दर्द को मिटाने के लिए स्लोली स्लोली आपको क्या करना चाहिए आपको कैमरा पे करना चाहिए मतलब आपको कैमरे पर अपने खुद के लिए कुछ वीडियो बनाने चाहिए शॉर्ट वीडियोस बनाएं 1 मिनट के 2 मिनट के 4 अपार्टमेंट के विषय में भी आप बोलना चाहते हैं और उनको अपने फ्रेंड के साथ चैट करें या आप बहुत सारे प्लेटफार्म से वहां पर अपलोड कर सकते हैं तो आपको जब उनसे लोगों से जो प्रेरणा मिलेगी उस टाइम में लोग आपके वीडियो को पसंद करेंगे और धीरे-धीरे आप को डर है वह वीडियो पर जब हट जाएगा तब आपको वह जो आपके मन का जो डर है जो लोगों के सामने आने का है वह फिर बहुत मिट जाएगा तो मेरा यह मानना है कि आप को वीडियो बनाने चाहिए या छोटी गैदरिंग में आपको बोलना चाहिए मिट जाएगा और फिर आपका जो चीज पर जाएंगे तो आप कैसे हो जाएगा तो यह बहुत अच्छा तरीका होता है आपको क्या करना चाहिए क्या आपको अपनी चीजों को रिकॉर्ड करना आपको उनको देखना चाहिए उनकी गलतियों से आपको सीखना चाहिए तो इस तरीके से आपको कैमरा फेयर और स्टेज पर भी मिल सकता है कि कि इस देश का प्यारा पैसा तो है नहीं क्या अप्लाई कर सकते हैं जाकर और फिर आपको प्यार बढ़ सकता है तो इसलिए आप को मिटाने के लिए आपको घर पर अपने आप में थोड़ी प्रैक्टिस करनी चाहिए वीडियो बनाकर आपको उनको देखना चाहिए वैसे प्रैक्टिस करनी चाहिए और फिर आप आपको जब लोग लाइक करने लगेंगे आपके वीडियोस को पसंद करने लगेंगे तो आपको लगेगा कि आपका शिष्य जीते जी रात रात में कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और उसके बाद आप इस चीज के सामने जाएंगे तो आप बहुत अच्छे और कॉन्फिडेंट भी परफॉर्म कर पाएंगे तो आप यह जरूर है कि मुझे बताएं कि आपको याद से कैसा लगा मुस्कुराते रहें थैंक यू सो मच

namaskar doston aapka prashna hai main manchali tez ke dar ko kaise dur kar sakta hoon toh mera aapko ek bahut simple suggestion hoga aapko dard ko mitane ke liye slowly slowly aapko kya karna chahiye aapko camera pe karna chahiye matlab aapko camera par apne khud ke liye kuch video banane chahiye short videos banaye 1 minute ke 2 minute ke 4 apartment ke vishay me bhi aap bolna chahte hain aur unko apne friend ke saath chat kare ya aap bahut saare platform se wahan par upload kar sakte hain toh aapko jab unse logo se jo prerna milegi us time me log aapke video ko pasand karenge aur dhire dhire aap ko dar hai vaah video par jab hut jaega tab aapko vaah jo aapke man ka jo dar hai jo logo ke saamne aane ka hai vaah phir bahut mit jaega toh mera yah manana hai ki aap ko video banane chahiye ya choti gathering me aapko bolna chahiye mit jaega aur phir aapka jo cheez par jaenge toh aap kaise ho jaega toh yah bahut accha tarika hota hai aapko kya karna chahiye kya aapko apni chijon ko record karna aapko unko dekhna chahiye unki galatiyon se aapko sikhna chahiye toh is tarike se aapko camera fair aur stage par bhi mil sakta hai ki ki is desh ka pyara paisa toh hai nahi kya apply kar sakte hain jaakar aur phir aapko pyar badh sakta hai toh isliye aap ko mitane ke liye aapko ghar par apne aap me thodi practice karni chahiye video banakar aapko unko dekhna chahiye waise practice karni chahiye aur phir aap aapko jab log like karne lagenge aapke videos ko pasand karne lagenge toh aapko lagega ki aapka shishya jeete ji raat raat me confidence badhega aur uske baad aap is cheez ke saamne jaenge toh aap bahut acche aur confident bhi perform kar payenge toh aap yah zaroor hai ki mujhe bataye ki aapko yaad se kaisa laga muskurate rahein thank you so match

नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है मैं मनचाली तेज के डर को कैसे दूर कर सकता हूं तो मेरा आपको ए

Romanized Version
Likes  162  Dislikes    views  2591
WhatsApp_icon
user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

7:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार प्रश्न है मैं मंच यानी के के डर को कैसे दूर कर सकता हूं साथियों डर कोई समस्या नहीं है यह हमारी कमजोर नकारात्मक सोच का परिणाम है जिसको हम दर कह देते हैं दुनिया के अंदर जितने भी आज तक वक्ता हुए हैं शुरू में उन सब के साथ ऐसा ही होता है इसमें चिंता की कोई बात नहीं है केवल हमें कुछ बातों का ध्यान रखना होगा सबसे पहले जब आप मंच पर जाने से पहले थोड़ा सा गेम को पूर्ण रूप से मोटिवेट करने अच्छे-अच्छे बातें अपने बारे में अपने भाषण के बारे में जैसा होगा वैसा इसके बाद ऐसा होगा तालियां बजेगी ऐसे ऐसे करके फिर मन केंद्रीय संकलक चलाएं रिचार्ज ना मैं इन सब से विशेष हूं और इन सबसे मुझे ज्यादा नॉलेज है तभी तो यह मेरे सामने सुनने के लिए बैठे हुए हैं आए हैं घर से मुझे सुनने के लिए जैसे भी बड़ा ही अच्छी छोटे बच्चे को कहानी सुनाता है यह बात करता है बताता है उसको डर लगता है बल्कि आराम से उसको सुना देता है तो आप भी अपने आप ऐसे ही समझे मुझे इन सब को कुछ बातें बतानी है भाषण के बारे में मत सोचो मैं भाषण करने जा रहा हूं नहीं केवल मन में यह रखें मुझे कुछ बातें बतानी है जो मुझे मालूम है इनको नहीं मालूम मैंने चिंतन करके तैयार की है मैं उन्हें बताने जा रहा हूं भाषण करने से पहले आप एक गिलास पानी का अवश्य की जाए आपकी टाइम 9:00 से पहले जब आप का भाषण कैसे बुलाया जाए उससे पहले पता लग जाता है कि अब मेरी बारी आएगी तो उससे पहले 5 बार गहरी सांस लें और छोड़े और अपना ध्यान उस समय पूरे अपने समाज पर रखें इससे उस समय पैदा हुआ हुआ तनाव प्रेशर जो है वह रिलैक्सो जाएगा जो हमारे बॉडी रिलैक्स होता है आदमी विजय तो में मिल जाती है शॉर्ट में लिखकर जरूर ले जाए वही लिख कर ले गए क्योंकि यदि आप घबराहट में कुछ भूल भी जाएं तो उसको थोड़ा सा सहारा दे सकते हैं शुरू में ऐसा होता है सभी के साथ होता है इसमें घबराने की कोई बात नहीं होती है अच्छी तरह से चिंतन करें जो आपको विषय मिला है उनको चार पांच पॉइंट के अंदर बांध ले जिसको भूमिका भी कह सकते हैं और मध्य में उसका विस्तार कर सकते हैं इसके अंदर एक कहानी जरूर सुनाएं भाषण से रिलेटेड कहानी हो और छात्र साथ भाषण को और अच्छा और आसान बनाने के लिए अपने जीवन की घटना भी झूठ सुनाएं वापस आने में दिक्कत नहीं होगी कठिनाई नहीं आएगी और उसको भी विषय के परिणाम और उससे होने वाला फायदा और अंत में अपने भाषण के शब्दों को सारे विषय को समावेश करके सुना सकते हैं यदि कोई कविता की पंक्तियां याद हो या कोई शायरी का शेर या दो जो अक्षर बोलते रहते हैं सुना सकते हैं अपने भाषण में उसे अवश्य जोड़ सकते हैं और आप अगर भाषण से संबंधित कोई कविता की लाइनें हो या भाषणों शेर हो तो आप उसको समापन में बोल कर खत्म कर सकते हैं भाषण करते समय आप कोई विशेष ध्यान रखना होगा कि आप अपनी भाषा पर ध्यान दें बड़े धैर्य के साथ मुख से शब्दों का उच्चारण करें जल्दी जल्दी मत बोलो जल्दी-जल्दी में कुछ गलत बोल जाता है बड़े आराम से धीरे धीरे बोले क्या होगा आपकी घबराहट नहीं होगी जल्दी-जल्दी बोलने में अपने भाषण को सुनाने के लिए घबराहट पैदा हो जाती है बीच-बीच में लेकर सुनाते हैं आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए आप अपने घर पर पहले उसकी प्रैक्टिस भी अवश्य करें प्रैक्टिस में आप ऑडियो और वीडियो बना कर दी अवश्य देखें उसमें आप अपनी कमियों को देख सकते हैं जैसे हम औरों के भाषणों में कमियां निकालते हैं तो अपने में भी उसे देखेंगे तो आपको अपने ऊपर विश्वास शुरू हो जाएगा उसका व्यास आप अपने घर वालों के सामने अपने दोस्तों की महफिल खड़े होकर उनको सुनाइए गा तो आपका धीरे-धीरे विश्वास पढ़ने लग जाएगा यदि आपको लगता है कि आपको घबराहट होगी तो आप अपना भाषण जल्दी हो सके डाइस पर खड़े होकर करें अगर डाइस ना होते हैं बीच में खड़ी होकर वह भी खड़े होकर आप वहीं पर कीजिए ताकि टेबल और कुर्सी का आपके शरीर को सहारा मिलता है क्योंकि आपका उसमें ध्यान अपने भाषण पर शरीर पर नहीं होता श्री को थोड़ी छूट मिल जाती है इससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ता है अपनी घबराहट को मिटाने के लिए अपने कुछ दोस्त या साथ ऑफस्टेज के सामने बिठा दें आप भाषण करते समय उनकी तरफ भी देख कर भाषण करें और देखें रात में सिरोही बातें करते हैं तो आप उनको सुनाइए उनकी आंखों में देख कर उनको सुनाइए गा और फिर आप क्या होगा मोटिवेट करते रहेंगे वह आपको वह आंखों आंखों से इशारा करते रहेंगे करते रहेंगे जिससे आपने विश्वास पैदा हो अपने चेहरे पर मुस्कुराहट के साथ बोलना शुरू करें कुछ भी हो क्या बना मुस्कुराहटों मुस्कुरा कर बोलेंगे तो आप में आत्मविश्वास बढ़ने लगे भाषण करते हुए ज्यादा हाथों को मत देना क्योंकि हमारा ध्यान से भाषण से भटक सकता है यह बातें आप का स्टेज का भविष्य खत्म हो जाएगा एक-दो वक्ता के रूप में बन जाएंगे आप एक अच्छे वक्ता बने धन्यवाद

namaskar prashna hai main manch yani ke ke dar ko kaise dur kar sakta hoon sathiyo dar koi samasya nahi hai yah hamari kamjor nakaratmak soch ka parinam hai jisko hum dar keh dete hain duniya ke andar jitne bhi aaj tak vakta hue hain shuru me un sab ke saath aisa hi hota hai isme chinta ki koi baat nahi hai keval hamein kuch baaton ka dhyan rakhna hoga sabse pehle jab aap manch par jaane se pehle thoda sa game ko purn roop se motivate karne acche acche batein apne bare me apne bhashan ke bare me jaisa hoga waisa iske baad aisa hoga taliyan bajegi aise aise karke phir man kendriya sankalak chalaye recharge na main in sab se vishesh hoon aur in sabse mujhe zyada knowledge hai tabhi toh yah mere saamne sunne ke liye baithe hue hain aaye hain ghar se mujhe sunne ke liye jaise bhi bada hi achi chote bacche ko kahani sunata hai yah baat karta hai batata hai usko dar lagta hai balki aaram se usko suna deta hai toh aap bhi apne aap aise hi samjhe mujhe in sab ko kuch batein batani hai bhashan ke bare me mat socho main bhashan karne ja raha hoon nahi keval man me yah rakhen mujhe kuch batein batani hai jo mujhe maloom hai inko nahi maloom maine chintan karke taiyar ki hai main unhe batane ja raha hoon bhashan karne se pehle aap ek gilas paani ka avashya ki jaaye aapki time 9 00 se pehle jab aap ka bhashan kaise bulaya jaaye usse pehle pata lag jata hai ki ab meri baari aayegi toh usse pehle 5 baar gehri saans le aur chode aur apna dhyan us samay poore apne samaj par rakhen isse us samay paida hua hua tanaav pressure jo hai vaah rilaikso jaega jo hamare body relax hota hai aadmi vijay toh me mil jaati hai short me likhkar zaroor le jaaye wahi likh kar le gaye kyonki yadi aap ghabarahat me kuch bhool bhi jayen toh usko thoda sa sahara de sakte hain shuru me aisa hota hai sabhi ke saath hota hai isme ghabrane ki koi baat nahi hoti hai achi tarah se chintan kare jo aapko vishay mila hai unko char paanch point ke andar bandh le jisko bhumika bhi keh sakte hain aur madhya me uska vistaar kar sakte hain iske andar ek kahani zaroor sunaen bhashan se related kahani ho aur chatra saath bhashan ko aur accha aur aasaan banane ke liye apne jeevan ki ghatna bhi jhuth sunaen wapas aane me dikkat nahi hogi kathinai nahi aayegi aur usko bhi vishay ke parinam aur usse hone vala fayda aur ant me apne bhashan ke shabdon ko saare vishay ko samavesh karke suna sakte hain yadi koi kavita ki panktiyan yaad ho ya koi shaayari ka sher ya do jo akshar bolte rehte hain suna sakte hain apne bhashan me use avashya jod sakte hain aur aap agar bhashan se sambandhit koi kavita ki linen ho ya bhashano sher ho toh aap usko samapan me bol kar khatam kar sakte hain bhashan karte samay aap koi vishesh dhyan rakhna hoga ki aap apni bhasha par dhyan de bade dhairya ke saath mukh se shabdon ka ucharan kare jaldi jaldi mat bolo jaldi jaldi me kuch galat bol jata hai bade aaram se dhire dhire bole kya hoga aapki ghabarahat nahi hogi jaldi jaldi bolne me apne bhashan ko sunaane ke liye ghabarahat paida ho jaati hai beech beech me lekar sunaate hain aatmvishvaas badhane ke liye aap apne ghar par pehle uski practice bhi avashya kare practice me aap audio aur video bana kar di avashya dekhen usme aap apni kamiyon ko dekh sakte hain jaise hum auron ke bhashano me kamiyan nikalate hain toh apne me bhi use dekhenge toh aapko apne upar vishwas shuru ho jaega uska vyas aap apne ghar walon ke saamne apne doston ki mehfil khade hokar unko sunaiye jaayega toh aapka dhire dhire vishwas padhne lag jaega yadi aapko lagta hai ki aapko ghabarahat hogi toh aap apna bhashan jaldi ho sake Dice par khade hokar kare agar Dice na hote hain beech me khadi hokar vaah bhi khade hokar aap wahi par kijiye taki table aur kursi ka aapke sharir ko sahara milta hai kyonki aapka usme dhyan apne bhashan par sharir par nahi hota shri ko thodi chhut mil jaati hai isse hamara aatmvishvaas badhta hai apni ghabarahat ko mitane ke liye apne kuch dost ya saath offstage ke saamne bitha de aap bhashan karte samay unki taraf bhi dekh kar bhashan kare aur dekhen raat me sirohi batein karte hain toh aap unko sunaiye unki aakhon me dekh kar unko sunaiye jaayega aur phir aap kya hoga motivate karte rahenge vaah aapko vaah aakhon aakhon se ishara karte rahenge karte rahenge jisse aapne vishwas paida ho apne chehre par muskurahat ke saath bolna shuru kare kuch bhi ho kya bana muskurahaton muskura kar bolenge toh aap me aatmvishvaas badhne lage bhashan karte hue zyada hathon ko mat dena kyonki hamara dhyan se bhashan se bhatak sakta hai yah batein aap ka stage ka bhavishya khatam ho jaega ek do vakta ke roop me ban jaenge aap ek acche vakta bane dhanyavad

नमस्कार प्रश्न है मैं मंच यानी के के डर को कैसे दूर कर सकता हूं साथियों डर कोई समस्या नहीं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
एक्सएक्सेक्स ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!