मैं आलस्य से कैसे बच सकता हूँ?...


user

Bhim Singh Kasnia

Acupunctrist,Motivational Speaker

3:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार बहुत ही अच्छा सवाल आपने किया है बहुत सारे लोगों को इस समस्या से जूझना पड़ता है आलस्य से आप कैसे बचे देखिए सबसे पहली बात यह है कि मानव जीवन हमें मिला है तो जानवर भी अपने कामों के लिए वक्त और एक सिस्टम को फॉलो करते हैं तो हम तो मनुष्य हैं हमें हमारे भौतिक स्तर से हर प्रकार से अपने आप को सुव्यवस्थित और मैनेजमेंट के तरीके से चलाना चाहिए अब बात आती है आलस्य से बचने की तो देखिए सबसे पहली बात इस क्रम में आपको यह फॉलो करनी चाहिए कि सुबह अर्ली मॉर्निंग आपको उठने का हर हालत में कैसे भी करके प्रयास करना होगा एक-दो दिन 4 दिन आपको अटपटा लगेगा बाद में सुबह उठ कर फ्रेश होकर आप जब बाहर खुली हवा में थोड़ा घूमेंगे तो आपको महसूस होगा कि चार-पांच दिन बाद आप इसके बिना नहीं रह पाएंगे और यह बड़ा ही आपके लिए पूरे दिन के लिए बहुत अच्छा रहेगा अब बात आती है कि इस चीज को लगातार कैसे बनाएं तो आपको अपने अगले दिन का जो भी काम आपने करने वह शेड्यूल लिख के सिरहाने के नीचे रखकर सोना है सुबह उठे फ्रेश हुए घूमे उसके बाद में आप का रूटीन फिक्स वाला चाहिए भी इतने बजे मैंने यह करना इतने बजे यह करना है और उसमें कोई भी किसी तरह की इस बट नहीं होनी चाहिए पहले दिन शाम को जो चीज आप कागज पर लिखकर सिरहाने के नीचे रखेंगे वह आपके माइंड को आपके द्वारा दिया गया एक आर्डर है और दिमाग आपके ऑर्डर को मारने के लिए बाध्य है एक बार से यह अगर आप का रूटीन बन गया तो फिर आप देखेंगे कि एक नई स्कूटी नई उमंग के साथ आपका अलग से कहीं भी नहीं ठहरेगा नंबर दो बात आपको यह ध्यान रखनी है कि जब भी आप खाली हो आपके पास करने के लिए कोई काम नहीं हो उस समय आप अपने जो सिर से गर्दन तक का यह हिस्सा है यह नहीं कि जिसमें हमारा दिमाग रहता है इसको आपने खुराक देनी है अब दोस्तों अचरज होगा आपको जानकर कि 95% लोग गर्दन से नीचे यानी कि जो हमारी बात में नीचे बॉडी है पटवारी हाथ पैर इन सभी को खुराक देने में लगे रहते हैं पेट भरने में लगे रहते हैं जबकि हमारी असली खुराक हमारे सिर में छुपे हुए हमारे मस्तिष्क को मिलने बहुत जरूरी है तो इसके लिए आपको इसकी खुराक है बहुत ही अच्छा सकारात्मक साहित्य आपको पॉजिटिव बातें पढ़नी होगी सुननी होगी देखनी होगी यह सब आप जब अपने खाली समय में करोगे तो अलग से आप में आ ही नहीं सकता क्योंकि आपका माइंड धीरे-धीरे क्रिएटिव होता जाएगा वह कहते हैं ना जैसी संगत वैसी रंगत तो नंबर 3 आपने अंतिम बात यह ध्यान रखनी है कि आप किसी भी निठल्ले आदमी के पास अपना समय नष्ट नहीं करेंगे ऐसा आदमी जो नेगेटिव है जो यह कहता है वह हो मार दिया क्या होगा क्या हो गया यह है वह है उन लोगों के पास भी आप अपना समय बर्बाद नहीं करेंगे जब आपको समय की उपयोगिता मालूम पड़ जाएगी उस दिन से आपका अलग से पूर्णतया खत्म हो जाएगा धन्यवाद दोस्तों नमस्कार

namaskar bahut hi accha sawaal aapne kiya hai bahut saare logo ko is samasya se jujhna padta hai aalasya se aap kaise bache dekhiye sabse pehli baat yah hai ki manav jeevan hamein mila hai toh janwar bhi apne kaamo ke liye waqt aur ek system ko follow karte hain toh hum toh manushya hain hamein hamare bhautik sthar se har prakar se apne aap ko suvyavasthit aur management ke tarike se chalana chahiye ab baat aati hai aalasya se bachne ki toh dekhiye sabse pehli baat is kram me aapko yah follow karni chahiye ki subah early morning aapko uthane ka har halat me kaise bhi karke prayas karna hoga ek do din 4 din aapko atpataa lagega baad me subah uth kar fresh hokar aap jab bahar khuli hawa me thoda ghumenga toh aapko mehsus hoga ki char paanch din baad aap iske bina nahi reh payenge aur yah bada hi aapke liye poore din ke liye bahut accha rahega ab baat aati hai ki is cheez ko lagatar kaise banaye toh aapko apne agle din ka jo bhi kaam aapne karne vaah schedule likh ke sirhane ke niche rakhakar sona hai subah uthe fresh hue ghume uske baad me aap ka routine fix vala chahiye bhi itne baje maine yah karna itne baje yah karna hai aur usme koi bhi kisi tarah ki is but nahi honi chahiye pehle din shaam ko jo cheez aap kagaz par likhkar sirhane ke niche rakhenge vaah aapke mind ko aapke dwara diya gaya ek order hai aur dimag aapke order ko maarne ke liye badhya hai ek baar se yah agar aap ka routine ban gaya toh phir aap dekhenge ki ek nayi scooty nayi umang ke saath aapka alag se kahin bhi nahi thahrega number do baat aapko yah dhyan rakhni hai ki jab bhi aap khaali ho aapke paas karne ke liye koi kaam nahi ho us samay aap apne jo sir se gardan tak ka yah hissa hai yah nahi ki jisme hamara dimag rehta hai isko aapne khurak deni hai ab doston acharaj hoga aapko jaankar ki 95 log gardan se niche yani ki jo hamari baat me niche body hai patvari hath pair in sabhi ko khurak dene me lage rehte hain pet bharne me lage rehte hain jabki hamari asli khurak hamare sir me chhupe hue hamare mastishk ko milne bahut zaroori hai toh iske liye aapko iski khurak hai bahut hi accha sakaratmak sahitya aapko positive batein padhani hogi sunnani hogi dekhni hogi yah sab aap jab apne khaali samay me karoge toh alag se aap me aa hi nahi sakta kyonki aapka mind dhire dhire creative hota jaega vaah kehte hain na jaisi sangat vaisi rangat toh number 3 aapne antim baat yah dhyan rakhni hai ki aap kisi bhi nithalle aadmi ke paas apna samay nasht nahi karenge aisa aadmi jo Negative hai jo yah kahata hai vaah ho maar diya kya hoga kya ho gaya yah hai vaah hai un logo ke paas bhi aap apna samay barbad nahi karenge jab aapko samay ki upayogita maloom pad jayegi us din se aapka alag se purnataya khatam ho jaega dhanyavad doston namaskar

नमस्कार बहुत ही अच्छा सवाल आपने किया है बहुत सारे लोगों को इस समस्या से जूझना पड़ता है आलस

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  85
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
क्या मैं आपको किस कर सकता हूं ; मैं आपको किस कर सकता हूं ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!