ब्रिटिश भारत क्यों आए थे?...


user

Mehmood Alum

Law Student

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ब्रिटिश शुरु शुरु में तो व्यापार के लिए ही आए थे और उनका मुख्य उद्देश्य व्यापार ही था तो यहां से वे अपना मसाला और अन्य सामान ले जाते थे और यूरोप के देशों में रहते थे इससे उनको भारी मुनाफा होता था लेकिन अंग्रेजों ने देखा कि भारत में राजनीतिक उथल-पुथल काफी ज्यादा है आज तथा काफी ज्यादा है और यहां के छोटे बड़े सभी राज्य आपस में एक दूसरे से लड़ नहीं है तो बेटू से को मन में यह बात आई कि क्यों ना हम किसी एक राजा को सपोर्ट करें फिर उस पर दूसरों राजा का हरा दे फिर उसके बदले पहले राजा से हम उसकी कीमत चुकाने के लिए कहें तो अंग्रेजों ने किसी एक राजा को सपोर्ट करना और दूसरे को हराना फिर पहले राजा से उसकी कीमत वसूलने इस तरह से प्रारंभ कर दिया जिसकी वजह से धीरे-धीरे अंग्रेज शक्तिशाली होते गए और जब अंग्रेज शक्तिशाली हो गए तो उन्होंने खुद डायरेक्टली बहुत सारा जहां से युद्ध करके उनको हरा दिया और उनकी रियासतों और उनके राज्यों पर कब्जा कर इस तरह अंग्रेज पूरे भारत के शासक बन गए

british shuru shuru mein toh vyapar ke liye hi aaye the aur unka mukhya uddeshya vyapar hi tha toh yahan se ve apna masala aur anya saamaan le jaate the aur europe ke deshon mein rehte the isse unko bhari munafa hota tha lekin angrejo ne dekha ki bharat mein raajnitik uthal puthal kaafi zyada hai aaj tatha kaafi zyada hai aur yahan ke chote bade sabhi rajya aapas mein ek dusre se lad nahi hai toh betu se ko man mein yeh baat I ki kyon na hum kisi ek raja ko support karein phir us par dusro raja ka hara de phir uske badle pehle raja se hum uski kimat chukaane ke liye kahein toh angrejo ne kisi ek raja ko support karna aur dusre ko harana phir pehle raja se uski kimat vasoolne is tarah se prarambh kar diya jiski wajah se dhire dhire angrej shaktishali hote gaye aur jab angrej shaktishali ho gaye toh unhone khud directly bahut saara jaha se yudh karke unko hara diya aur unki riyasato aur unke rajyo par kabza kar is tarah angrej poore bharat ke shasak ban gaye

ब्रिटिश शुरु शुरु में तो व्यापार के लिए ही आए थे और उनका मुख्य उद्देश्य व्यापार ही था तो य

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  391
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Aahil

Storyteller

0:00

Likes  10  Dislikes    views  326
WhatsApp_icon
play
user

Snehasish Gupta

Journalist / Traveller

0:47

Likes  14  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user

Kavita

Writer

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ब्रिटिशर्स कम एंड जॉइन था भारत में आने का कीबोर्ड ट्रेडिंग का रीडिंग कर पाए पहले तू कुछ कॉलोनियल जाए थे कि देखने की भारत का जो है और कैसा है और यहां जो है इतनी रॉ मैटेरियल्स और इतनी यूनीक मटेरियल इस देश का कल्चर इस देश का जो है हेरिटेज यह सब देखने परखने के लिए आए थे और उसके साथ उनको यह भी मालूम चला कि भारत के लोग जो है उस समय के बड़े बेवकूफ हैं उनको अपने लिए स्टैंड लेना पता नहीं है उनमें से आधे लोग एजुकेटेड नहीं है एजुकेशन का कोई सिस्टम नहीं है इन लड़की भी उस वक्त लोकेटेड इन थे उनको ना अपने ऊपर वही विश्वास था वह हमें शादी में अंग्रेजों को या दूसरे कंट्रीज कोच्चि नजर से देख रहे थे और अपने आप को हमेशा रिमाइंड करते रहते थे चीज थी भारत में मतलब ब्रिटिशर्स के आने के पहले इस सिस्टम तो हमारा वह बड़ा बड़ा सांप तू राजा वाले लोग थे राजा प्रजा यह सब होता था और उसमें इतना डेमोक्रेसी का व्यापार नहीं था कुछ चीजें बहुत ज्यादा आसान को लगा कि नहीं ली मिट्टी जो है इसी में हमको अपना आशीर्वाद ना होगा अब समझ रहे इसका मुहावरे का अर्थ क्या होता दिल्ली मिट्टी में जहां पर मिट्टी जो है जिस चीज की ढीली है वहीं पर आप यह बार करिए तो सब वहां पर अच्छा जो है जम पाएगा अपना तो वही अंग्रेजों ने किया जब भारत के लोग उन्होंने देखा कि अपने खिलाफ आवाज नहीं उठाते एडवोकेटेड दी है चीज है जो है बड़ी आसान है तब वार किया भारत के ऊपर वार किया का अर्थ कि उन्होंने भारत पर अपना कब्जा जमाया और अपना ट्रेडिंग का व्यवसाय शुरू किया मतलब भारत से भारत के कच्चे जो माल है कच्चा जो चीज है वह भी रो मटेरियल से उसको वहां पर ले जाकर बढ़े दाम में बेचने लगे

dekhiye britishers kam and join tha bharat mein aane ka keyboard trading ka reading kar paye pehle tu kuch kaloniyal jaaye the ki dekhne ki bharat ka jo hai aur kaisa hai aur yahan jo hai itni raw Materials aur itni unique material is desh ka culture is desh ka jo hai heritage yah sab dekhne parkhane ke liye aaye the aur uske saath unko yah bhi maloom chala ki bharat ke log jo hai us samay ke bade bewakoof hai unko apne liye stand lena pata nahi hai unmen se aadhe log educated nahi hai education ka koi system nahi hai in ladki bhi us waqt located in the unko na apne upar wahi vishwas tha vaah hamein shadi mein angrejo ko ya dusre countries Kochi nazar se dekh rahe the aur apne aap ko hamesha remind karte rehte the cheez thi bharat mein matlab britishers ke aane ke pehle is system toh hamara vaah bada bada saap tu raja waale log the raja praja yah sab hota tha aur usme itna democracy ka vyapar nahi tha kuch cheezen bahut zyada aasaan ko laga ki nahi li mitti jo hai isi mein hamko apna ashirvaad na hoga ab samajh rahe iska muhavare ka arth kya hota delhi mitti mein jaha par mitti jo hai jis cheez ki dhili hai wahi par aap yah baar kariye toh sab wahan par accha jo hai jam payega apna toh wahi angrejo ne kiya jab bharat ke log unhone dekha ki apne khilaf awaaz nahi uthate advocated di hai cheez hai jo hai baadi aasaan hai tab war kiya bharat ke upar war kiya ka arth ki unhone bharat par apna kabza Jamaya aur apna trading ka vyavasaya shuru kiya matlab bharat se bharat ke kacche jo maal hai kaccha jo cheez hai vaah bhi ro material se usko wahan par le jaakar badhe daam mein bechne lage

देखिए ब्रिटिशर्स कम एंड जॉइन था भारत में आने का कीबोर्ड ट्रेडिंग का रीडिंग कर पाए पहले तू

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
play
user

Dilsh Sheikh

Journalist

1:26

Likes  11  Dislikes    views  313
WhatsApp_icon
user

TS Bhanot

Teacher

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ब्रिटिशर्स के भारत आने की एकमात्र जो बचा कि वह था उनका व्यापार अपने बिजनेस का मुंह एक्सटेंशन करना चाहते थे जिसकी वजह से वह भारत में आए थे और ईस्ट इंडिया कंपनी उन्होंने यहां आकर अपनी आइडेंटिटी बनाई थी और अलग-अलग तरह के राजाओं से वह मिलते थे व्यापार करने के लिए उन्होंने यहां पर डालो और राज करो की नीति को फॉलो करते हुए आपस में राजाओं को लड़का आया और धीरे-धीरे करके वह भारत पर राज करने लगे उन्होंने बिजनेस दिखी भारत की तो उन्होंने उस चीज का फायदा उठाया और भारत के लोग जो अक्सर जाने जाते हैं अपने अच्छे व्यवहार के लिए और अतिथि देवो भावा जैसी हमारी मान्यताएं हैं तो ब्रिटिश ने उन चीजों का फायदा उठाते हुए भारतीयों को गुलाम बनाया जो कि बहुत गलत और अब बहुत थैंकफूल है कि आज हम एक अच्छी जिंदगी जी रहे हैं अपने स्वतंत्रता संग्राम यों की वजह से तो हमें अपनी आज़ादी की हमेशा वैल्यू करनी चाहिए

britishers ke bharat aane ki ekmatra jo bacha ki vaah tha unka vyapar apne business ka mooh extension karna chahte the jiski wajah se vaah bharat mein aaye the aur east india company unhone yahan aakar apni identity banai thi aur alag alag tarah ke rajaon se vaah milte the vyapar karne ke liye unhone yahan par dalo aur raj karo ki niti ko follow karte hue aapas mein rajaon ko ladka aaya aur dhire dhire karke vaah bharat par raj karne lage unhone business dikhi bharat ki toh unhone us cheez ka fayda uthaya aur bharat ke log jo aksar jaane jaate hain apne acche vyavhar ke liye aur atithi devo bhava jaisi hamari manyatae hain toh british ne un chijon ka fayda uthate hue bharatiyon ko gulam banaya jo ki bahut galat aur ab bahut thainkaful hai ki aaj hum ek achi zindagi ji rahe hain apne swatantrata sangram yo ki wajah se toh hamein apni aazadi ki hamesha value karni chahiye

ब्रिटिशर्स के भारत आने की एकमात्र जो बचा कि वह था उनका व्यापार अपने बिजनेस का मुंह एक्सटें

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kyon aaye the ; क्यों आए थे ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!