आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है?...


user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके सवाल है कि आमतौर से हिंदुस्तानी आदमी को क्या पसंद है तो देखिए हरेक की अपनी इंडिविजुअल चॉइस होती है अपने हर एक की इंडिविजुअल सोच होती है आप किसके बारे में बातचीत कर रहे हैं उसे क्या पसंद है यह उसी से ही पूछना बेहतर होगा किसी चीज का कोई क्राइटेरिया नहीं होता है कि हिंदुस्तानी आदमी है लेकिन स्पेसिफिक चीज ही पसंद कोई यह हर एक की अपने इंडिविजुअल चॉइस के ऊपर डिपेंड करता है आपका

aapke sawaal hai ki aamtaur se hindustani aadmi ko kya pasand hai toh dekhiye harek ki apni individual choice hoti hai apne har ek ki individual soch hoti hai aap kiske bare me batchit kar rahe hain use kya pasand hai yah usi se hi poochna behtar hoga kisi cheez ka koi criteria nahi hota hai ki hindustani aadmi hai lekin specific cheez hi pasand koi yah har ek ki apne individual choice ke upar depend karta hai aapka

आपके सवाल है कि आमतौर से हिंदुस्तानी आदमी को क्या पसंद है तो देखिए हरेक की अपनी इंडिविजुअल

Romanized Version
Likes  757  Dislikes    views  6914
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker | Career Coach | Business Coach | Marketing & Management Expert's

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटल कोच और कॉरपोरेट ट्रेन आजम जिस क्वेश्चन के बारे में बात करने वाले हमारी डिफरेंस वह है कि आमतौर पर हिंदुस्तानी को क्या पसंद है आमतौर पर हिंदुस्तानियों को जो है शांति और जो है धैर्य के साथ रहना पसंद है और हिंदुस्तानी यही चाहते हैं कि शांति से अपने जीवन को गुजार पाए और जो है जितना हो सकता है उतने में ही अपनी जिंदगी को गुजार पाए ज्यादा बढ़ा कुछ करने का उनका विचार कम होता है और जो करना चाहते हैं बड़ा वह अलग तरीके से सोचते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों का मानना यह है कि अपनी जिंदगी को कैसे भी गुजारे लेकिन शांति के साथ गुजार दें जय हिंद जय भारत

hello friends main yogendra sharma motal coach aur corporate train azam jis question ke bare me baat karne waale hamari difference vaah hai ki aamtaur par hindustani ko kya pasand hai aamtaur par hindustaniyon ko jo hai shanti aur jo hai dhairya ke saath rehna pasand hai aur hindustani yahi chahte hain ki shanti se apne jeevan ko gujar paye aur jo hai jitna ho sakta hai utne me hi apni zindagi ko gujar paye zyada badha kuch karne ka unka vichar kam hota hai aur jo karna chahte hain bada vaah alag tarike se sochte hain isliye jyadatar logo ka manana yah hai ki apni zindagi ko kaise bhi gujare lekin shanti ke saath gujar de jai hind jai bharat

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटल कोच और कॉरपोरेट ट्रेन आजम जिस क्वेश्चन के बारे में ब

Romanized Version
Likes  599  Dislikes    views  2486
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम तो हिंदुस्तानी आदमी को क्या पसंद है हर कोई हर हिंदुस्तानी जहां पर मां की कंचन वहां से सोसायटी नोएडा करते हैं

hum toh hindustani aadmi ko kya pasand hai har koi har hindustani jaha par maa ki kanchan wahan se sociaty noida karte hain

हम तो हिंदुस्तानी आदमी को क्या पसंद है हर कोई हर हिंदुस्तानी जहां पर मां की कंचन वहां से स

Romanized Version
Likes  492  Dislikes    views  4311
WhatsApp_icon
user

Nita Nayyar

Writer ,Motivational Speaker, Social Worker n Counseller.

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है आपने पता नहीं क्यों हिंदुस्तानी आदमी ही क्यों कहा लेकिन मैं आपको अपना विचार बताती हूं केबिन गर्ल लेडी मुझे मैंने जॉब दर्शन किया है हिंदुस्तानी पुरुषों का आदमियों का वह यह कि वह बहुत आराम परस्त होते हैं और पत्नी भी अपने पूरा रोक जमाना चाहते हैं जब कभी भी ऑफिस से आते हैं तो वह यह शो करते हैं पत्नी को कि मैं तो बहुत थक कर आया हूं और तुम घर पर हो और तुमने जैसे आराम किया है तो बहुत ही आराम परस्ती होने चाहिए बहुत इंपॉर्टेंट चाहिए आते ही लोग उनके जूते उतारकर उन्हें सही समय पर रखे हैं उनको तो लिया दें हाथ पैर बुलवाएं चाय पिलाएं खाने के लाए और उनकी सेवा करें तो ज्यादातर हिंदुस्तानी आदमी जो है वह पत्नियों के रोग मारने वाले और अपने आप को बहुत बिजी हो करने वाले और गुड फॉर नत काम कोई किया ना हो फिर भी अपनी इंपॉर्टेंस बनाने की बात करते हैं ज्यादातर उन्हें यही पसंद होता है और फिर एक और बात पसंद होती है जो मैंने भिंगा लेडी ही नोट की है पता नहीं आप में से सहमत होंगे कि नहीं होंगे कि उन्हें रात को सेक्स जरूर चाहिए कि उससे उनकी टेंशन रिलीज होती है तो हिंदुस्तानी पुरुष जो है वह बहुत ही क्या कहना चाहिए कि ले जी आराम पर और बहुत ही स्वार्थी और केवल अपने लिए जीने वाला होता है बाकी आप जब और लोगों से पूछेंगे मेरी तरह के और लोगों से तो आपको राय हो सकता है बदली हुई मिले पर मेरी राय में यही इमेज मैंने हिंदुस्तानी पुरुष की ली है

aapne poocha hai ki aamtaur se hindustani adamiyo ko kya pasand hai aapne pata nahi kyon hindustani aadmi hi kyon kaha lekin main aapko apna vichar batati hoon cabin girl lady mujhe maine job darshan kiya hai hindustani purushon ka adamiyo ka vaah yah ki vaah bahut aaram parast hote hain aur patni bhi apne pura rok jamana chahte hain jab kabhi bhi office se aate hain toh vaah yah show karte hain patni ko ki main toh bahut thak kar aaya hoon aur tum ghar par ho aur tumne jaise aaram kiya hai toh bahut hi aaram parasti hone chahiye bahut important chahiye aate hi log unke joote utarakar unhe sahi samay par rakhe hain unko toh liya de hath pair bulwaayen chai pilaayen khane ke laye aur unki seva kare toh jyadatar hindustani aadmi jo hai vaah patniyon ke rog maarne waale aur apne aap ko bahut busy ho karne waale aur good for nat kaam koi kiya na ho phir bhi apni importance banane ki baat karte hain jyadatar unhe yahi pasand hota hai aur phir ek aur baat pasand hoti hai jo maine bhinga lady hi note ki hai pata nahi aap me se sahmat honge ki nahi honge ki unhe raat ko sex zaroor chahiye ki usse unki tension release hoti hai toh hindustani purush jo hai vaah bahut hi kya kehna chahiye ki le ji aaram par aur bahut hi swaarthi aur keval apne liye jeene vala hota hai baki aap jab aur logo se puchenge meri tarah ke aur logo se toh aapko rai ho sakta hai badli hui mile par meri rai me yahi image maine hindustani purush ki li hai

आपने पूछा है कि आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है आपने पता नहीं क्यों हिंदुस्ता

Romanized Version
Likes  75  Dislikes    views  886
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी आदमी के लिए नहीं कह सकता कि उसे क्या पसंद है क्या पसंद नहीं है हम तो अभी यह कहना थोड़ा मुश्किल होता है सबकी पसंद ना अलग-अलग होती है परंतु ऐसा क्या सकते हो एक कहावत कही आदमी के दिल तक पहुंचने का रास्ता पेट से होकर जाता है तो हिंदुस्तानी आदमियों के लिए ही कह सकते हैं कि आपको पसंदीदा खाना उन्हें बहुत पसंद होगा तो खाने-पीने की चीजें यह कहावत तो कुछ सोच विचार कहीं कहीं गई होगी इसे कायम में क्या सकता हूं कि स्वादिष्ट खाना जो है आमतौर पर दुस्तानी आदमियों को पसंद होगा

kisi bhi aadmi ke liye nahi keh sakta ki use kya pasand hai kya pasand nahi hai hum toh abhi yah kehna thoda mushkil hota hai sabki pasand na alag alag hoti hai parantu aisa kya sakte ho ek kahaavat kahi aadmi ke dil tak pahuchne ka rasta pet se hokar jata hai toh hindustani adamiyo ke liye hi keh sakte hain ki aapko pasandida khana unhe bahut pasand hoga toh khane peene ki cheezen yah kahaavat toh kuch soch vichar kahin kahin gayi hogi ise kayam me kya sakta hoon ki swaadisht khana jo hai aamtaur par dustani adamiyo ko pasand hoga

किसी भी आदमी के लिए नहीं कह सकता कि उसे क्या पसंद है क्या पसंद नहीं है हम तो अभी यह कहना थ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आमतौर पर प्रभु का नाम लेना ही हिंदुस्तानियों को पसंद है

aamtaur par prabhu ka naam lena hi hindustaniyon ko pasand hai

आमतौर पर प्रभु का नाम लेना ही हिंदुस्तानियों को पसंद है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user

yog guru (Sunil)

योगा , प्राणायाम & मेडिटेशन & LIFE SCIENCE.

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है आमतौर पर इन हिंदुस्तानियों को जो पसंद है वह जिसको पता नहीं फिर वही बता पाएगा किस को क्या पसंद है आपको जो पसंद है वह किसी दूसरे को पसंद नहीं है यह जो किसी दूसरे को पसंद है और आपको पसंद नहीं है तो पसंद अलग अलग होता है सबका पसंद अलग अलग होता है

aamtaur se hindustani adamiyo ko kya pasand hai aamtaur par in hindustaniyon ko jo pasand hai vaah jisko pata nahi phir wahi bata payega kis ko kya pasand hai aapko jo pasand hai vaah kisi dusre ko pasand nahi hai yah jo kisi dusre ko pasand hai aur aapko pasand nahi hai toh pasand alag alag hota hai sabka pasand alag alag hota hai

आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है आमतौर पर इन हिंदुस्तानियों को जो पसंद है वह ज

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user
2:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सवाल यह है कि आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है बहुत अच्छा सवाल है इस सवाल का जवाब यह है कि हिंदुस्तानी हिंदुस्तानी जो होते हैं वह अपने आप कुछ नहीं करते हो एक दूसरे के किए हुए कार के पीछे चलना चाहते हैं नकल करना चाहते हैं उन्हें एक दूसरे की नकल करना बहुत पसंद है वह खुद मेहनत नहीं करना चाहते तो दूसरों की मेहनत की मेहनत का परिणाम पाना चाहते हैं क्योंकि भारतेंदु हरिश्चंद्र जी ने कहा था एक सूती लिखी थी उस शक्ति में उन्होंने कहा था कि हिंदुस्तानी तु रेलगाड़ी के डिब्बे के समान है तो हिंदुस्तानी को जिस तरीके से उन्होंने इस उक्ति के माध्यम से यह संदेश दिया था पब्लिक के बीच में किस तरीके से रेलगाड़ी के डिब्बे को चलाने के लिए एक इंजन की आवश्यकता होती है उसी प्रकार हिंदुस्तानी को चलाने के लिए एक बुद्धिजीवी इंसान एक लीडर या एक समझदार व्यक्ति की आवश्यकता होती है और उसके बताए हुए रास्ते पर चलना जानते हैं सबसे अच्छा उन्हें ही लगता है यही आम हिंदुस्तानियों की पसंद है

sawaal yah hai ki aamtaur se hindustani adamiyo ko kya pasand hai bahut accha sawaal hai is sawaal ka jawab yah hai ki hindustani hindustani jo hote hain vaah apne aap kuch nahi karte ho ek dusre ke kiye hue car ke peeche chalna chahte hain nakal karna chahte hain unhe ek dusre ki nakal karna bahut pasand hai vaah khud mehnat nahi karna chahte toh dusro ki mehnat ki mehnat ka parinam paana chahte hain kyonki bharatendu harishchandra ji ne kaha tha ek suti likhi thi us shakti me unhone kaha tha ki hindustani tu railgaadi ke dibbe ke saman hai toh hindustani ko jis tarike se unhone is ukti ke madhyam se yah sandesh diya tha public ke beech me kis tarike se railgaadi ke dibbe ko chalane ke liye ek engine ki avashyakta hoti hai usi prakar hindustani ko chalane ke liye ek buddhijeevi insaan ek leader ya ek samajhdar vyakti ki avashyakta hoti hai aur uske bataye hue raste par chalna jante hain sabse accha unhe hi lagta hai yahi aam hindustaniyon ki pasand hai

सवाल यह है कि आमतौर से हिंदुस्तानी आदमियों को क्या पसंद है बहुत अच्छा सवाल है इस सवाल का ज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  88
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!