कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तब उसके ब्रेन में क्या विचार चल रहा है?...


user

रवि प्रकाश सिंह"रमण"

Industrialist/Businessman/Poet/Writer

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तब उसके ब्रेन में क्या विचार चल रहा है तो देखिए तो निश्चित बात है कि जो इंसान आत्महत्या जैसे घृणित कर्म के बारे में सोच रहा है उसके दिमाग में तो अच्छे विचार चल नहीं रहे होंगे तो उसके दिमाग में सभी नकारात्मक विचार चलते हैं उसे सब जगह अंधेरा अंधेरा दिखाई देता है उसे लगता है कि अब मेरा कुछ नहीं हो पाएगा इस यही सी सोच के कारण वह आत्महत्या के लिए उद्धत होता है जबकि उसको इस संसार में इसकी ट्रेनिंग देकर भेजी गई होती है इस संसार तो कितना फैला हुआ है कितना विस्तृत है जब इंसान घर में आता है मां के तो उसमें तो उसको पैर फैलाने की भी जगह नहीं होती है 9 महीना अंधेरे में काटता है इतना संघर्ष के बाद कोई इंसान पैदा होता है फिर भी क्या इस दुनिया के संघर्षो डर जाता है यह क्या है उसकी मूर्खता है तो आत्महत्या का विचार मूर्खता के अलावा कुछ नहीं है आशा है आप मेरी बातों को समझ गए होंगे धन्यवाद

aapka prashna hai koi insaan jab suicide kar raha hota hai tab uske brain me kya vichar chal raha hai toh dekhiye toh nishchit baat hai ki jo insaan atmahatya jaise ghrinit karm ke bare me soch raha hai uske dimag me toh acche vichar chal nahi rahe honge toh uske dimag me sabhi nakaratmak vichar chalte hain use sab jagah andhera andhera dikhai deta hai use lagta hai ki ab mera kuch nahi ho payega is yahi si soch ke karan vaah atmahatya ke liye uddhat hota hai jabki usko is sansar me iski training dekar bheji gayi hoti hai is sansar toh kitna faila hua hai kitna vistrit hai jab insaan ghar me aata hai maa ke toh usme toh usko pair felane ki bhi jagah nahi hoti hai 9 mahina andhere me katata hai itna sangharsh ke baad koi insaan paida hota hai phir bhi kya is duniya ke sangharsho dar jata hai yah kya hai uski murkhta hai toh atmahatya ka vichar murkhta ke alava kuch nahi hai asha hai aap meri baaton ko samajh gaye honge dhanyavad

आपका प्रश्न है कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तब उसके ब्रेन में क्या विचार चल रहा है त

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  377
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Kavita Choudhary

Principal Psychologist Educationist Counselor

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका कुछ नहीं कि कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तो उसके प्रेम में क्या विचार चलता है लेकर जब सुसाइड करने वाला व्यक्ति होता है तो उसके दिमाग में केवल नेगेटिविटी भरी होती है और वह केवल उस नेगेटिविटी की वजह से ही उस वक्त अपने आप को सुसाइडल या सुसाइड की ओर ले कर जा रहा होता है तो उस वक्त उसके दिमाग में केवल और केवल यही विचार हो रहे हैं कि वह जो करने जा रहा है उससे उसको हर कष्ट से हर दुख से हर कनेक्टिविटी है उसको छुटकारा मिल जाएगा इसके अलावा उसके दिमाग में और कुछ

aapka kuch nahi ki koi insaan jab suicide kar raha hota hai toh uske prem me kya vichar chalta hai lekar jab suicide karne vala vyakti hota hai toh uske dimag me keval negativity bhari hoti hai aur vaah keval us negativity ki wajah se hi us waqt apne aap ko susaidal ya suicide ki aur le kar ja raha hota hai toh us waqt uske dimag me keval aur keval yahi vichar ho rahe hain ki vaah jo karne ja raha hai usse usko har kasht se har dukh se har connectivity hai usko chhutkara mil jaega iske alava uske dimag me aur kuch

आपका कुछ नहीं कि कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तो उसके प्रेम में क्या विचार चलता है ल

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  417
WhatsApp_icon
user

Rahuldx Paswan

Physical Fitness Trainer

1:23
Play

Likes  48  Dislikes    views  947
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब कोई इंसान सुसाइड कर रहा होता तो उसके मन में बस यही होता है कि हां सब कुछ खत्म हो गया बस मुझे मिलने का कोई कारण नहीं है मुझे बस यहां से जल्द से जल्द जाना चाहिए क्योंकि मैं घर आ रहा हूं इसलिए यह सब खराब तुझे हो रही मैं इन सब चीजों को बर्दाश्त नहीं करना चाहता हूं उनके विचारों का होता है और किसी का भी क्षेत्र के बारे में कुछ नहीं सकते हैं

jab koi insaan suicide kar raha hota toh uske man me bus yahi hota hai ki haan sab kuch khatam ho gaya bus mujhe milne ka koi karan nahi hai mujhe bus yahan se jald se jald jana chahiye kyonki main ghar aa raha hoon isliye yah sab kharab tujhe ho rahi main in sab chijon ko bardaasht nahi karna chahta hoon unke vicharon ka hota hai aur kisi ka bhi kshetra ke bare me kuch nahi sakte hain

जब कोई इंसान सुसाइड कर रहा होता तो उसके मन में बस यही होता है कि हां सब कुछ खत्म हो गया बस

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रस ने कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तब उसके ब्रेन में क्या विचार चल रहा है उसके मस्तिष्क जो विचार चल रहे होते हैं कि वह समय भी विचार चल रहे होते हैं कि अगर मैं मर जाऊं तो मेरे माता-पिता की पत्नी क्या होगा समाज क्या सोचेगा चल रहे हो कि उसकी स्थिति है ज्योति उसके हाथ से निकल जाती है इसीलिए

ras ne koi insaan jab suicide kar raha hota hai tab uske brain me kya vichar chal raha hai uske mastishk jo vichar chal rahe hote hain ki vaah samay bhi vichar chal rahe hote hain ki agar main mar jaaun toh mere mata pita ki patni kya hoga samaj kya sochega chal rahe ho ki uski sthiti hai jyoti uske hath se nikal jaati hai isliye

रस ने कोई इंसान जब सुसाइड कर रहा होता है तब उसके ब्रेन में क्या विचार चल रहा है उसके मस्ति

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  264
WhatsApp_icon
user

Stephen hade

Psychiatrist

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वह अपनी जिंदगी से तंग आकर सारे नेगेटिव कुस्ती याद कर लेता है और यह सोचता है कि मेरे साथ ही क्यों ऐसा बुरा हो रहा है और मैंने ऐसा किसी का क्या किया मैं तो अच्छा ही हूं लेकिन दुनिया मेरे साथ बुरा सलूक क्यों करती है और अगर सुसाइड करने वालों को तकरीबन 1 घंटे तक रोक कर रखा तो शायद हो 1 घंटे के बाद सुसाइड नहीं करेगा सिर्फ आपको उसी कंडीशन थी उसे रोककर रखना होगा

vaah apni zindagi se tang aakar saare Negative kushti yaad kar leta hai aur yah sochta hai ki mere saath hi kyon aisa bura ho raha hai aur maine aisa kisi ka kya kiya main toh accha hi hoon lekin duniya mere saath bura saluk kyon karti hai aur agar suicide karne walon ko takareeban 1 ghante tak rok kar rakha toh shayad ho 1 ghante ke baad suicide nahi karega sirf aapko usi condition thi use rokakar rakhna hoga

वह अपनी जिंदगी से तंग आकर सारे नेगेटिव कुस्ती याद कर लेता है और यह सोचता है कि मेरे साथ ही

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उस स्थिति तक जाते-जाते उसका दिमाग बिल्कुल खत्म हो चुका होता है वह कुछ नहीं सोचता बस उसके दिमाग में केवल की भगत के बस में मर जाऊं मैं मर जाऊं क्योंकि उसके अंदर इतनी नकारात्मक ऊर्जा भर गई है कि वह खुद को इस दुनिया का हिस्सा मानने से इंकार कर देती है बस अब दुनिया से हट जाना चाहता है जबकि किसी के मरने से यह के जीवन पर कोई खास प्रभाव नहीं पड़ता 2 दिन 4 दिन में सब चंबल जाते हैं ऐसे बहुत से कह देते हैं कि घर का एक ही पति है वह गलत है उसके घर में सबसे प्यार पति ने सुसाइड कर लिया क्योंकि आप पैसा कहां से लाएं जीने के लिए कैसे जिए लेकिन प्रकृति का यही नियम है कि किसी के बिना भी कभी दुनिया नहीं रुकती है थोड़े समय कष्ट जरूर होता है लेकिन फिर दुनिया फिर जिंदगी अपनी लाइन पर चलने लगती है चाहे घर बिक्री औरत है सुसाइड दुख हुआ उसके बच्चे हैं तो तड़पे दुख हुआ उसके परिवार भाई बहन मां बाप बोतल में दुख हुआ उसका पति अगर ऐसा क्या 15 महीने में जल्दी ही जितना हो सकेगा पति दूसरी शादी कर देगा बच्चों के कारण हो अपनी जिंदगी भर के वीडियो समाधि तो यह जो मैंने आपसे बात की आधार पर नहीं कि जब हमारे क्रांतिकारी बच्चे थे और उनको भेजो सताया करते थे हां सेवर लटका देते तो वह बड़ी खुशी खुशी मोहब्बत हम भारत माता के लिए भारत को बचाने के लिए अपनी जान दे दें कि हम हम जल्दी मर गए और फिर दोबारा किसी धरती पर भारत पर ही जन्म में फिर बड़े हो फिर हम अपने देश को बचाने के लिए यह विश्व शक्तियों का जुनून जुनून आदमी से सब कुछ करवाता है

us sthiti tak jaate jaate uska dimag bilkul khatam ho chuka hota hai vaah kuch nahi sochta bus uske dimag me keval ki bhagat ke bus me mar jaaun main mar jaaun kyonki uske andar itni nakaratmak urja bhar gayi hai ki vaah khud ko is duniya ka hissa manne se inkar kar deti hai bus ab duniya se hut jana chahta hai jabki kisi ke marne se yah ke jeevan par koi khas prabhav nahi padta 2 din 4 din me sab chambal jaate hain aise bahut se keh dete hain ki ghar ka ek hi pati hai vaah galat hai uske ghar me sabse pyar pati ne suicide kar liya kyonki aap paisa kaha se laye jeene ke liye kaise jiye lekin prakriti ka yahi niyam hai ki kisi ke bina bhi kabhi duniya nahi rukti hai thode samay kasht zaroor hota hai lekin phir duniya phir zindagi apni line par chalne lagti hai chahen ghar bikri aurat hai suicide dukh hua uske bacche hain toh tadape dukh hua uske parivar bhai behen maa baap bottle me dukh hua uska pati agar aisa kya 15 mahine me jaldi hi jitna ho sakega pati dusri shaadi kar dega baccho ke karan ho apni zindagi bhar ke video samadhi toh yah jo maine aapse baat ki aadhar par nahi ki jab hamare krantikari bacche the aur unko bhejo sataaya karte the haan sevar Latka dete toh vaah badi khushi khushi mohabbat hum bharat mata ke liye bharat ko bachane ke liye apni jaan de de ki hum hum jaldi mar gaye aur phir dobara kisi dharti par bharat par hi janam me phir bade ho phir hum apne desh ko bachane ke liye yah vishwa shaktiyon ka junun junun aadmi se sab kuch karwata hai

उस स्थिति तक जाते-जाते उसका दिमाग बिल्कुल खत्म हो चुका होता है वह कुछ नहीं सोचता बस उसके द

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  7  Dislikes    views  231
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब कोई आदमी सुसाइड करने वाला था उसके माइंड में एक डिप्रेशन नाम की बीमारी चढ़ी हुई होती और उसको ऐसा फीलिंग होता है कि जिंदगी में जी की क्या करूं यही फीलिंग उसको होता है और इसी वजह से वह अपनी मौत दे देता है और एक बार और जो कि उसके माइंड में चल रहा होता है क्या ओन्ली सुसाइड सुसाइड करना और एक चिंता डिप्रेशन मोड में ऑन होता है सुसाइड सुसाइड करने वाली काम करना नहीं चाहिए गलत होता है

jab koi aadmi suicide karne vala tha uske mind me ek depression naam ki bimari chadhi hui hoti aur usko aisa feeling hota hai ki zindagi me ji ki kya karu yahi feeling usko hota hai aur isi wajah se vaah apni maut de deta hai aur ek baar aur jo ki uske mind me chal raha hota hai kya only suicide suicide karna aur ek chinta depression mode me on hota hai suicide suicide karne wali kaam karna nahi chahiye galat hota hai

जब कोई आदमी सुसाइड करने वाला था उसके माइंड में एक डिप्रेशन नाम की बीमारी चढ़ी हुई होती और

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  657
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!