वर्ण की परिभाषा लिखो तथा उदाहरण दो?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न वर्ग की परिभाषा लिखो तथा उदाहरण दो तो वर्ग की परिभाषा मूल ध्वनि का लिपिबद्ध प्रति वर्ल्ड और अगर पानी की चर्चा करें तो पानी ने अपनी शिक्षा में वर्ण का प्रयोग मूलधन के अर्थ में किया है और वे लिखते हैं कि मूलधन का कारण आत्मा है यानी आत्मा अपने भाव प्रकट करने के लिए बुध से संयुक्त होकर मन को नियोजित करती है मन शरीर फटने पर आघात करता है बाय को प्रेरित करती है प्रेरित वायु छाती में संचरण करके मंदसौर उत्पन्न करता है ऊपर की ओर जा कर यह वायु मूर्धा में अमित होकर विभिन्न तत्वों द्वारा कंठ तालु आदि स्थानों को प्राप्त कर वर्ण रूप से प्रादुर्भाव होता है तो लेकिन आधुनिक व्याकरण जो है और आत्मा में संबंध स्थापित नहीं करता है वह सीधे जो है कहता है कंठ जी विवाद के सहयोग से उत्पन्न अखंड मूल को कहा जाता है मूलधन दो प्रकार के हैं वह लिखा हुआ रूप है स्वर और व्यंजन और उदाहरण की बात तो आप जानते हैं आई होगी यह वाला गाना चला दे देना पापा बाबा मायलावास आकाश छात्रा आदि वर्ल्ड के उदाहरण हैं धन्यवाद

namaskar aapka prashna varg ki paribhasha likho tatha udaharan do toh varg ki paribhasha mul dhwani ka lipibddh prati world aur agar paani ki charcha kare toh paani ne apni shiksha me varn ka prayog muldhan ke arth me kiya hai aur ve likhte hain ki muldhan ka karan aatma hai yani aatma apne bhav prakat karne ke liye buddha se sanyukt hokar man ko niyojit karti hai man sharir fatne par aaghat karta hai bye ko prerit karti hai prerit vayu chhati me sancharan karke mandsaur utpann karta hai upar ki aur ja kar yah vayu murdha me amit hokar vibhinn tatvon dwara kanth talu aadi sthano ko prapt kar varn roop se pradurbhav hota hai toh lekin aadhunik vyakaran jo hai aur aatma me sambandh sthapit nahi karta hai vaah sidhe jo hai kahata hai kanth ji vivaad ke sahyog se utpann akhand mul ko kaha jata hai muldhan do prakar ke hain vaah likha hua roop hai swar aur vyanjan aur udaharan ki baat toh aap jante hain I hogi yah vala gaana chala de dena papa baba maylavas akash chatra aadi world ke udaharan hain dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न वर्ग की परिभाषा लिखो तथा उदाहरण दो तो वर्ग की परिभाषा मूल ध्वनि का लिप

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  84
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!