लोग मरने से क्यों डरते हैं?...


user

N. K. SINGH 'Nitesh'

Educator, Life Coach, Writer and Expert in British English Language, Author of Book/Fiction Lucky Girl (Love vs Marriage)

4:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक ही आपने पूछा है कि लोग मरने से क्यों डरते हैं जी हां बिल्कुल जीवन की यह एक बहुत बड़ी सच्चाई है कि हर व्यक्ति जानता है उसे एक दिन बता फिर भी वह मरने से डरता है क्या कारण है वह माया मुंह का जाल जिसमें वह अब तक फंसा रहा था मिट्टी के पहले तक उसने न जाने क्या-क्या संघर्ष किया कौन-कौन से तरीके अपनाए झूठ और फरेब को भी अपना हथियार बनाया अपनी संपत्ति बढ़ाने में अपनी संतानों को सुविधा देने में संतान उत्पत्ति कार्यों में उसने अपनी उर्जा की खपत धन संचय नहीं उसने अपनी उर्जा की समाज में उसने अपनी उर्जा की पत्ती और उसने इसके साथ-साथ बड़ी-बड़ी कल्पनाएं अपने मन में कर चुका ले शरीर को ऑन सुविधाओं का आभास कराया जिन सुविधाओं को वह चाहता था मन आत्मा को तो कोई सुविधा और असुविधा होती है बॉडी करती है तो आदमी में मौजूद सबसे छोटा नहीं है और उसी से क्या बड़े-बड़े मक्खियों से मजबूत ज्ञान 1 लोगों से ना छूटे ज्ञान चक्षु डिटेक्टर लेने वाले लोगों से अपील है तो साधारण लोगों साथिया सदन किसे कहते हैं कि तुम मुझे छोड़ के न जाओ जो भी कहता है मैं तुझे छोड़कर नहीं जाऊंगा आदमी के शरीर और माया के सारे बंधन यह एक दूसरे से चिपक नहीं लगता है लगता है कुछ नहीं लगता है क्या उसे बहुत परेशानी होती है इन सब कुछ छोड़ कर के जाने के लिए सोच करते इसलिए वह काफी नहीं जाना था आपने देखा होगा कि जब कोई व्यक्ति अपने ओनर पसीने को लगा कर के कोई मकान बनाता है और उसने अपना पसीना बहाया है पैसा नहीं पसीना उसने भी उसने फावड़े चलाएं उसने भी उसने पानी डाला तो फिर उसकी एक-एक जब कोई तो होता है तो आ जाता है वह नहीं चाहता किसी एक भी थोड़ी है पैसा पैसा लगा उससे एक दीवार को तोड़कर और दूसरे दीवाल को उसकी जगह लगाने में कोई दिक्कत नहीं होती क्योंकि शरीर का मुझसे जुदा नहीं मुंह के ऐसे पास में बस जाता है उसके लिए उससे पीछा छुड़ाना मुश्किल होता है उसका लुक बना नहीं क्या आपने उस माया के जाल निकलना नहीं उसी मूवी जीवन के प्रति बच्चों के प्रति आनंदरा नहीं थी इसीलिए मनुष्य मरने से डरता है धन्यवाद

ek hi aapne poocha hai ki log marne se kyon darte hain ji haan bilkul jeevan ki yah ek bahut badi sacchai hai ki har vyakti jaanta hai use ek din bata phir bhi vaah marne se darta hai kya karan hai vaah maya mooh ka jaal jisme vaah ab tak fansa raha tha mitti ke pehle tak usne na jaane kya kya sangharsh kiya kaun kaun se tarike apnaye jhuth aur fareb ko bhi apna hathiyar banaya apni sampatti badhane me apni santano ko suvidha dene me santan utpatti karyo me usne apni urja ki khapat dhan sanchaya nahi usne apni urja ki samaj me usne apni urja ki patti aur usne iske saath saath badi badi kalpanaen apne man me kar chuka le sharir ko on suvidhaon ka aabhas karaya jin suvidhaon ko vaah chahta tha man aatma ko toh koi suvidha aur asuvidha hoti hai body karti hai toh aadmi me maujud sabse chota nahi hai aur usi se kya bade bade makkhiyon se majboot gyaan 1 logo se na chhoote gyaan chakshu detector lene waale logo se appeal hai toh sadhaaran logo sathiya sadan kise kehte hain ki tum mujhe chhod ke na jao jo bhi kahata hai main tujhe chhodkar nahi jaunga aadmi ke sharir aur maya ke saare bandhan yah ek dusre se chipak nahi lagta hai lagta hai kuch nahi lagta hai kya use bahut pareshani hoti hai in sab kuch chhod kar ke jaane ke liye soch karte isliye vaah kaafi nahi jana tha aapne dekha hoga ki jab koi vyakti apne owner pasine ko laga kar ke koi makan banata hai aur usne apna paseena bahaya hai paisa nahi paseena usne bhi usne favade chalaye usne bhi usne paani dala toh phir uski ek ek jab koi toh hota hai toh aa jata hai vaah nahi chahta kisi ek bhi thodi hai paisa paisa laga usse ek deewaar ko todkar aur dusre diwal ko uski jagah lagane me koi dikkat nahi hoti kyonki sharir ka mujhse juda nahi mooh ke aise paas me bus jata hai uske liye usse picha chhudana mushkil hota hai uska look bana nahi kya aapne us maya ke jaal nikalna nahi usi movie jeevan ke prati baccho ke prati anandara nahi thi isliye manushya marne se darta hai dhanyavad

एक ही आपने पूछा है कि लोग मरने से क्यों डरते हैं जी हां बिल्कुल जीवन की यह एक बहुत बड़ी सच

Romanized Version
Likes  474  Dislikes    views  8450
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!