दुर्गा पूजा किस तरह से मनाया जाता है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुर्गा पूजा किस तरह से मनाया जाता है यह मत पूछो यह आप सवाल पूछो कि दुर्गा पूजा करो ऐसा कौन से शास्त्र में लिख आया है कौन सा वेदों में कौन सा पुराना मिली खाया है अध्याय सहित श्लोक सहित और स्कंध सहित लिस्ट सहित बताइए ताकि हम भी शास्त्र विधि अनुसार पूजा कर सकें और कौन सा ऋषि-मुनियों ने इस पूजा को दुर्गा पूजा को शुरू किया और क्यों किया और कौन सा वेदों को देखकर पढ़कर शुरू किया या अपनी मनमानी आचरण किया अपने अपने हिसाब से सबको बता दिया और उनको समझ कर सही समझ कर आज पूजा कर रहे हैं उन महा ऋषि यों ने जैसे अपने मन में आया विचार वैसे करवा दिया लेकिन शास्त्र को देखना चाहिए कि वाकई में सत्य है कि गलत है ताकि पूजा करना चाहिए या नहीं करना चाहिए इनको पहले शास्त्र को देखो उनके बाद पूजा करो हुए कान को ले गए तो कौवे के पीछे नहीं तोड़ना चाहिए अपने कानों को तमर कर देखना चाहिए अपने कानों को खुद देखना चाहिए कि है कि नहीं मेरे कान ऐसे पहले अपनी आंखों से देखना चाहिए अपने हाथों हाथों से तमर कर देखना चाहिए अपने हाथों में पकड़ कर देखना चाहिए कि वकील में कम हुए हमारे कान खुले गए है कि नहीं

durga puja kis tarah se manaya jata hai yah mat pucho yah aap sawaal pucho ki durga puja karo aisa kaun se shastra me likh aaya hai kaun sa vedo me kaun sa purana mili khaya hai adhyay sahit shlok sahit aur skandha sahit list sahit bataiye taki hum bhi shastra vidhi anusaar puja kar sake aur kaun sa rishi muniyon ne is puja ko durga puja ko shuru kiya aur kyon kiya aur kaun sa vedo ko dekhkar padhakar shuru kiya ya apni manmani aacharan kiya apne apne hisab se sabko bata diya aur unko samajh kar sahi samajh kar aaj puja kar rahe hain un maha rishi yo ne jaise apne man me aaya vichar waise karva diya lekin shastra ko dekhna chahiye ki vaakai me satya hai ki galat hai taki puja karna chahiye ya nahi karna chahiye inko pehle shastra ko dekho unke baad puja karo hue kaan ko le gaye toh kauve ke peeche nahi todna chahiye apne kanon ko tamar kar dekhna chahiye apne kanon ko khud dekhna chahiye ki hai ki nahi mere kaan aise pehle apni aakhon se dekhna chahiye apne hathon hathon se tamar kar dekhna chahiye apne hathon me pakad kar dekhna chahiye ki vakil me kam hue hamare kaan khule gaye hai ki nahi

दुर्गा पूजा किस तरह से मनाया जाता है यह मत पूछो यह आप सवाल पूछो कि दुर्गा पूजा करो ऐसा कौन

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  244
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!