भारत में जब धर्म की बात आती है, तो इसमें सबसे बड़ा पाखंड क्या है?...


user

Vimal Srivastav

Journalist

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज संडे को रामनवमी का त्योहार और रामनवमी करने के बाद आप सुबह काम करने का मैं चर्च में था बैठा थी कि थोड़ी देर बाद में कितने साल के बाद कॉल करुंगी का समापन था तो वहां पर भंडारे के मंदिर जाना पूरी तरीके से अपने आप भी आज नहीं आया तुझको लेने याद करते हैं उनका मन करता है संजय की बात होनी चाहिए एकता अखंडता किया जाता है तो मुझे लगता है कि उस घर में हो रहा है जिसको पाखंड की पंजाबी जा सकती हो

aaj sunday ko ramnavami ka tyohar aur ramnavami karne ke baad aap subah kaam karne ka main church mein tha baitha thi ki thodi der baad mein kitne saal ke baad call karungi ka samapan tha toh wahan par bhandare ke mandir jana puri tarike se apne aap bhi aaj nahi aaya sujhab lene yaad karte hain unka man karta hai sanjay ki baat honi chahiye ekta akhandata kiya jata hai toh mujhe lagta hai ki us ghar mein ho raha hai jisko pakhand ki punjabi ja sakti ho

आज संडे को रामनवमी का त्योहार और रामनवमी करने के बाद आप सुबह काम करने का मैं चर्च में था ब

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  681
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kinnari Raval

Singer-Artist

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धर्मों में पाखंड यही लगता है कि जो धर्म गुरु है ना वह धर्म को सही मार्ग पर व्यक्ति को ले जाने की वजह से वह अपना उल्लू सीधा करना चाहते हैं कि मेरे इतने अनु हाय अनु आई है यहां मेरे इतने फलाने लोग हैं सबको सबको स्वामीनारायण संप्रदाय नतालिया कोई भी होने चाहिए पाखंड और कुछ नहीं

dharmon mein pakhand yahi lagta hai ki jo dharam guru hai na vaah dharam ko sahi marg par vyakti ko le jaane ki wajah se vaah apna ullu seedha karna chahte hain ki mere itne anu hi anu I hai yahan mere itne falane log hain sabko sabko swaminarayan sampraday natalia koi bhi hone chahiye pakhand aur kuch nahi

धर्मों में पाखंड यही लगता है कि जो धर्म गुरु है ना वह धर्म को सही मार्ग पर व्यक्ति को ले ज

Romanized Version
Likes  199  Dislikes    views  2958
WhatsApp_icon
user

Shimla Bawri

Indian Politician

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धर्म की बात आती है तो इसके अंदर तो देखा सब लोग अपने अपने धर्मों से जुड़े हुए हैं

dharam ki baat aati hai toh iske andar toh dekha sab log apne apne dharmon se jude hue hain

धर्म की बात आती है तो इसके अंदर तो देखा सब लोग अपने अपने धर्मों से जुड़े हुए हैं

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  495
WhatsApp_icon
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:59

Likes  74  Dislikes    views  1250
WhatsApp_icon
user

Aamir Saleem Khan

Chief Reporter/News editor

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा देश जो है वह सेक्टर 20 है और इसकी मदद को लेकर की तुलना हो सकती हो यह चींटी और खास तौर से जातक नफरत की आंधी तूफान होता है चित्र दीजिए सीधे सामने आते हैं वह हमें लगता है कि का बैकग्राउंड मॉडल साड़ी सजाती मिलता है और शायद उनको मिलेगा हमें तो लगता है कि हमारा देश है वह पूरी दुनिया में इस बात के लिए माना जाता है कि यहां जी के साथ रहते हैं

hamara desh jo hai wah sector 20 hai aur iski madad ko lekar ki tulna ho sakti ho yeh chinti aur khas taur se jatak nafrat ki andhi toofan hota hai chitra dijiye seedhe saamne aate hain wah humein lagta hai ki ka background model saree sajati milta hai aur shayad unko milega humein toh lagta hai ki hamara desh hai wah puri duniya mein is baat ke liye mana jata hai ki yahan ji ke saath rehte hain

हमारा देश जो है वह सेक्टर 20 है और इसकी मदद को लेकर की तुलना हो सकती हो यह चींटी और खास तौ

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  414
WhatsApp_icon
user
1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बड़ा पाखंड क्या कई बार जो भी धर्म के नाम की हार्दिक जरूरत है कि धर्म के नाम पर बुधवार को बिना रिपब्लिक बात को जान लेते अकेले नेताओं की क्रांति संभव नहीं हो पाया

bada pakhand kya kai baar jo bhi dharam ke naam ki hardik zaroorat hai ki dharam ke naam par budhavar ko bina Republic baat ko jaan lete akele netaon ki kranti sambhav nahi ho paya

बड़ा पाखंड क्या कई बार जो भी धर्म के नाम की हार्दिक जरूरत है कि धर्म के नाम पर बुधवार को ब

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1109
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!