मनमोहन सिंह ने 10 साल के कार्यकाल में भारत के लिए क्या काम किया है?...


user

Abhishek Sharma

Chairman Civil Academy IAS/PCS

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों मनमोहन सिंह भारत के योग्य तम प्रधानमंत्रियों में से एक रहे हैं वह भले ही राजनैतिक चतुराई के रूप में ना जाने जाते हो लेकिन वह कुछ बड़े कामों के लिए भविष्य में अवश्य जाने जाएंगे जैसे कि उन्होंने अपने 10 वर्ष के कार्यकाल में कई बड़े बड़े काम किए जिन्हें नकारा नहीं जा सकता जैसे कि अपने कार्यकाल की शुरुआत के दौर में ही वे सूचना के अधिकार अधिनियम को लेकर आए जिसने भारत में राजनीति और सामाजिक क्षेत्र में एक बड़ी क्रांति ला दे साथ ही साथ उसके बाद प्रशासनिक सुधार आयोग का गठन कर के वर्तमान में प्रशासन ने किए जा रहे सुधारों को उन्होंने एक बल दिया इसके साथ ही साथ शिक्षा का अधिकार ला करके शिक्षा के अधिकार को लागू करके उन्होंने एक बड़ा काम किया मनरेगा को आज भी सरकार बड़े बहुत महत्वपूर्ण ढंग से लागू कर रही है जिसको कि मनमोहन सिंह जी के कार्यकाल में लाया गया था साथी साथ आज आधार को जिस हर क्षेत्र के साथ जोड़ा जा रहा है हर कार्य में उपयोग में लाया जा रहा है इस आधार की व्यवस्था को भी मनमोहन सिंह जैसे ही प्रारंभ किया था वर्तमान में जो जीएसटी की व्यवस्था आई है इसके लिए काम मनमोहन के कार्यक्रम मनमोहन सिंह जी के कार्यकाल में ही प्रारंभ हो गया था साथ-साथ राइट टू फूड भी मनमोहन जी के ही कार्यकाल में आया तो इस तरह से मनमोहन सिंह के 10 कारण 10 साल के कार्यकाल में राजनीतिक भाषण बाजी से भले ही दूर रहे हो प्रमोद कपूर काम किया इस काम को नहीं निकाला जा सकता है

doston manmohan Singh bharat ke yogya tum pradhanmantriyon mein se ek rahe hai vaah bhale hi rajnaitik chaturaai ke roop mein na jaane jaate ho lekin vaah kuch bade kaamo ke liye bhavishya mein avashya jaane jaenge jaise ki unhone apne 10 varsh ke karyakal mein kai bade bade kaam kiye jinhen nakara nahi ja sakta jaise ki apne karyakal ki shuruat ke daur mein hi ve soochna ke adhikaar adhiniyam ko lekar aaye jisne bharat mein raajneeti aur samajik kshetra mein ek baadi kranti la de saath hi saath uske baad prashaasnik sudhaar aayog ka gathan kar ke vartaman mein prashasan ne kiye ja rahe sudharo ko unhone ek bal diya iske saath hi saath shiksha ka adhikaar la karke shiksha ke adhikaar ko laagu karke unhone ek bada kaam kiya mgnrega ko aaj bhi sarkar bade bahut mahatvapurna dhang se laagu kar rahi hai jisko ki manmohan Singh ji ke karyakal mein laya gaya tha sathi saath aaj aadhaar ko jis har kshetra ke saath joda ja raha hai har karya mein upyog mein laya ja raha hai is aadhaar ki vyavastha ko bhi manmohan Singh jaise hi prarambh kiya tha vartaman mein jo gst ki vyavastha I hai iske liye kaam manmohan ke karyakram manmohan Singh ji ke karyakal mein hi prarambh ho gaya tha saath saath right to food bhi manmohan ji ke hi karyakal mein aaya toh is tarah se manmohan Singh ke 10 karan 10 saal ke karyakal mein raajnitik bhashan baazi se bhale hi dur rahe ho pramod kapur kaam kiya is kaam ko nahi nikaala ja sakta hai

दोस्तों मनमोहन सिंह भारत के योग्य तम प्रधानमंत्रियों में से एक रहे हैं वह भले ही राजनैतिक

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कन्हैया साल का नोट का कैरियर का भारत के लिए उसने पूरी संसार में अर्थव्यवस्था की पूरी प्रवृत्ति भूमिका काफी मजबूत हुई थी

kanhaiya saal ka note ka carrier ka bharat ke liye usne puri sansar mein arthavyavastha ki puri pravritti bhumika kaafi majboot hui thi

कन्हैया साल का नोट का कैरियर का भारत के लिए उसने पूरी संसार में अर्थव्यवस्था की पूरी प्रवृ

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1111
WhatsApp_icon
play
user

Amit Chamaria

Journalist/Professor

0:42

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनमोहन सिंह के 10 साल के कार्यकाल को देखा जाए तो इनके को बहुत कम रहा था कि गिना जा सकता है इसका विस्तार बहुत जरूरी है कहा जा सकता है अगर वह पूरे 5 साल में केवल करप्शन

manmohan Singh ke 10 saal ke karyakal ko dekha jaye toh inke ko bahut kam raha tha ki gina ja sakta hai iska vistar bahut zaroori hai kaha ja sakta hai agar wah poore 5 saal mein keval corruption

मनमोहन सिंह के 10 साल के कार्यकाल को देखा जाए तो इनके को बहुत कम रहा था कि गिना जा सकता है

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  512
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!