अपना देश सँवारे हम कविता का भावार्थ?...


user

Faiz

Software Tester at Cognizant Technology Solutions.

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपना देश सवारे तो देश के लिए इसका मीनिंग क्या होता है कि हमें हमेशा अपने तन मन और अपने पूरे शक्ति के साथ अपने देश को संभालना चाहिए कभी देश को डाउन नहीं होने देना चाहिए आप अपनी पूरी फीलिंग के साथ अपने पुराने MP3 आजम के साथ हमेशा अपनी फुले नजदीक साथ देश की तरक्की करनी चाहिए और देश को आगे बढ़ाने की सोच रखनी चाहिए

apna desh savare toh desh ke liye iska meaning kya hota hai ki hamein hamesha apne tan man aur apne poore shakti ke saath apne desh ko sambhaalna chahiye kabhi desh ko down nahi hone dena chahiye aap apni puri feeling ke saath apne purane MP3 azam ke saath hamesha apni phule nazdeek saath desh ki tarakki karni chahiye aur desh ko aage BA dhane ki soch rakhni chahiye

अपना देश सवारे तो देश के लिए इसका मीनिंग क्या होता है कि हमें हमेशा अपने तन मन और अपने पूर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Sharmistha

Ops Answerer

0:26

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन हम सब जो है जहां भी रहते हैं वहां के नागरिक के हिसाब से हमें अपने देश के प्रति हर कर्तव्य और दायित्व का पालन करना चाहिए और हमारे छोटे कदमों से ही जो हमारा देश उन्नति करेगा और तरक्की करेगा यदि कुछ गलत होगा तो हमें रोकना चाहिए हमें हमेशा अपने देश से जुड़े हर गतिविधि से जुड़े रहना चाहिए और एक नागरिक के हिसाब से यह हर देशवासी कछुए कर्तव्य बना रहता है कि हम सजग रहें

lekin hum sab jo hai jaha bhi rehte hai wahan ke nagarik ke hisab se hamein apne desh ke prati har kartavya aur dayitva ka palan karna chahiye aur hamare chote kadmon se hi jo hamara desh unnati karega aur tarakki karega yadi kuch galat hoga toh hamein rokna chahiye hamein hamesha apne desh se jude har gatividhi se jude rehna chahiye aur ek nagarik ke hisab se yah har deshvasi kachhue kartavya BA na rehta hai ki hum sajag rahein

लेकिन हम सब जो है जहां भी रहते हैं वहां के नागरिक के हिसाब से हमें अपने देश के प्रति हर कर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
अपना देश सवारे हम कविता ; apna desh saware hum kavita ka bhavarth ; अपना देश सवारे हम कविता का अर्थ ; apna desh saware hum ; apna desh saware hum poem in hindi ; apna desh saware hum poem questions and answers ; apna desh saware hum poem meaning in hindi ; apna desh saware hum poem summary ; अपना देश सँवारे हम कविता ; apna desh saware hum kavita ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!