अशोक ने कलिंग युद्ध के पश्चात शास्त्र त्याग की घोषणा क्यों की?...


user

Bc Dhavan

Mlm & Teaching W.no 9024341370

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कलिंग युद्ध में हुए नरसंहार को देखकर सम्राट अशोक में शस्त्र त्याग की घोषणा की और भगवान बुद्ध की संपर्क में आकर कि उन्होंने बौद्ध धर्म की स्थापना की शांति सौहार्द से ही एक दूसरे पर विजय प्राप्त की जा सकती है ना कि हिंसा करके उन्होंने अहिंसा का पाठ ग्रहण किया और अहिंसा ने करने का आजीवन फैसला लिया

kalinga yudh me hue narasanhar ko dekhkar samrat ashok me shastra tyag ki ghoshana ki aur bhagwan buddha ki sampark me aakar ki unhone Baudh dharm ki sthapna ki shanti sauhaard se hi ek dusre par vijay prapt ki ja sakti hai na ki hinsa karke unhone ahinsa ka path grahan kiya aur ahinsa ne karne ka aajivan faisla liya

कलिंग युद्ध में हुए नरसंहार को देखकर सम्राट अशोक में शस्त्र त्याग की घोषणा की और भगवान बुद

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  398
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

TASMEENA MIRZA

Senior Secondary Teacher/ Admin Advisor

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अशोक गाने का लिंगा के युद्ध के बाद शासन हिसाब अलग हत्यारों को उन्होंने यह घोषणा की थी कि जितना कि अब वह आगे किसी भी टेरिटरी को कैप्चर करने के लिए किसी भी राजा पर अटैक नहीं करेंगे और वह पीसफुल लाइफ अपनी स्टैंड करेंगे आने वाली अशोका लिंगा के युद्ध में जो ब्लड्षेद हुआ था उसने अशोका को बहुत ज्यादा प्रभावित किया वह बहुत ज्यादा बैटरी के साथ कहनी दुखी हो गए थे उसके लिए बहुत सारे सोल्जर्स की बहुत सारे लोगों की जिंदगियों को इसकी वजह से उनके अंदर की मौत की वजह से उन्होंने आने वाले सालों में जहां तक हो सकेगा अपने आप को युद्ध से और लड़ाई से दूर रखेंगे यही नहीं उन्होंने बुद्धिस्म को स्ट्रेट करने के लिए यानी फैलाने के लिए अपने बच्चों को अपनी बेटी और अपने बेटे महेंद्रा को दूसरे कंट्रीज में भेजा उसमें चाइना और श्रीलंका दो इंपॉर्टेंट ले इसके अलावा भी दुनिया में अशोका के भेजे में मैसेंजर गया जिसके द्वारा उन्होंने बुद्धिस्म कुछ

ashok gaane ka linga ke yudh ke baad shasan hisab alag hatyaron ko unhone yah ghoshana ki thi ki jitna ki ab vaah aage kisi bhi Territory ko capture karne ke liye kisi bhi raja par attack nahi karenge aur vaah peaceful life apni stand karenge aane wali ashoka linga ke yudh me jo bladshed hua tha usne ashoka ko bahut zyada prabhavit kiya vaah bahut zyada battery ke saath kahani dukhi ho gaye the uske liye bahut saare soldiers ki bahut saare logo ki jindagiyon ko iski wajah se unke andar ki maut ki wajah se unhone aane waale salon me jaha tak ho sakega apne aap ko yudh se aur ladai se dur rakhenge yahi nahi unhone buddhism ko straight karne ke liye yani felane ke liye apne baccho ko apni beti aur apne bete mahendra ko dusre countries me bheja usme china aur sri lanka do important le iske alava bhi duniya me ashoka ke bheje me messenger gaya jiske dwara unhone buddhism kuch

अशोक गाने का लिंगा के युद्ध के बाद शासन हिसाब अलग हत्यारों को उन्होंने यह घोषणा की थी कि ज

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:30

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अशोक ने कलिंग युद्ध के बाद जो है वह उसका जो त्याग की घोषणा इसलिए कि उन्होंने एक लड़की की वजह से किया था कि एक लड़की चाहिए थी और उसकी वजह से अपने पूरे के पूरे कल को ही खत्म कर दिया था लेकिन जब युद्ध खत्म होने के बाद उन्होंने इतनी लाशें देखी तो उनका मन जो है वह पर डगमगाने लगा और उन्होंने इस कारण से ही बौद्ध धर्म अपनाने के लिए आप नेता की घोषणा कर दी और अपने बेटे और अपनी बेटियों को दोनों चाइना जापान और श्रीलंका में पूरे दुनिया भर में बौद्ध धर्म फैलाने के लिए भेज दिया

ashok ne kalinga yudh ke BA ad jo hai vaah uska jo tyag ki ghoshana isliye ki unhone ek ladki ki wajah se kiya tha ki ek ladki chahiye thi aur uski wajah se apne poore ke poore kal ko hi khatam kar diya tha lekin jab yudh khatam hone ke BA ad unhone itni lashen dekhi toh unka man jo hai vaah par dagamagane laga aur unhone is karan se hi Baudh dharm apnane ke liye aap neta ki ghoshana kar di aur apne bete aur apni betiyon ko dono china japan aur sri lanka mein poore duniya bhar mein Baudh dharm felane ke liye bhej diya

अशोक ने कलिंग युद्ध के बाद जो है वह उसका जो त्याग की घोषणा इसलिए कि उन्होंने एक लड़की की व

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  332
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
ashok ka shastra tyag ; ashok ka shastra tyag natak ; ashok ka shastra tyag question answer ; अशोक का शस्त्र त्याग ; ashok ka shastra ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!