जब इंडिया और पाकिस्तान बटवारा हुआ तो पाकिस्तान मुस्लिम राष्ट्र बना जबकि भारत एक सेक्युलर राष्ट्र। अगर धर्म के नाम पर बटवारा करना था तो भारत को हिन्दू राष्ट्र क्यों नहीं बनाया गया?...


user

Govind Saraf

Entrepreneur

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सही सवाल है यार मैं बहुत खुश हूं इस सवाल से कि जो सवाल जिसे जुनून अब यह सवाल पूछा है कि 1 से किलो राष्ट्र भारत से बन गया कि भारत में हिंदुस्तान जो है बताओ पाकिस्तान था यह हिंदुस्तान बन गया था तो हिंदुस्तान में भारत हिंदुस्तान के लोग इतने बड़े दिलवाले हैं कि उन्होंने अलग-अलग जगह से कुछ मुस्लिम मुस्लिम सिन्हा भी रह गए तो ने एक्सेप्ट किया आज पाकिस्तान में किसी हिंदू को हिंदू इंडिया से गए हैं नॉन इस्लामिक है उन्हें आज भी पॉलिटिक्स में जगह नहीं मिली है हिंदुस्तान जब बना था तब यह कहा गया था कि राजनीति में कोई भी लोन हिंदू कोई हिंदू नहीं है उन्हें पॉलिटिक्स में जगह नहीं मिलेगी लेकिन हां आज ने जगा दिया गया आज में स्थान दिया गया वही सम्मान दिया गया जिसके कारण से केवल राष्ट्र बन के रह गया है घर से हमें कर बेसिस पर कैसे करें राष्ट्र बन कर रह गया है लेकिन आज भी कुछ लोग हैं जो दो धर्मों के बीच लड़ाई कराना चाहते जो दर्द उधर में बटवारा कराना चाहते हैं वह बहुत ही गलत है लेकिन धर्म के नाम पर राजनीति और राजनीति नहीं वह दरिंदगी है तो लोग कराते हैं अगर आज हम एक्सेप्ट नहीं करते तो आज हिंदुस्तानी ने तो पाकिस्तानी की राज हमने एक्सेप्ट किया कि हम अपने भाइयों को कभी नीचे नहीं दिखाना चाहते हो अपने भाइयों को साथ बैठकर साथ वही सम्मान हुई प्रतिष्ठा देना चाहते हैं कि हमारे विचार है

bilkul sahi sawaal hai yaar main bahut khush hoon is sawaal se ki jo sawaal jise junun ab yah sawaal poocha hai ki 1 se kilo rashtra bharat se ban gaya ki bharat mein Hindustan jo hai batao pakistan tha yah Hindustan ban gaya tha toh Hindustan mein bharat Hindustan ke log itne bade dilwale hain ki unhone alag alag jagah se kuch muslim muslim sinha bhi reh gaye toh ne except kiya aaj pakistan mein kisi hindu ko hindu india se gaye hain non islamic hai unhe aaj bhi politics mein jagah nahi mili hai Hindustan jab bana tha tab yah kaha gaya tha ki raajneeti mein koi bhi loan hindu koi hindu nahi hai unhe politics mein jagah nahi milegi lekin haan aaj ne jagah diya gaya aaj mein sthan diya gaya wahi sammaan diya gaya jiske karan se keval rashtra ban ke reh gaya hai ghar se hamein kar basis par kaise kare rashtra ban kar reh gaya hai lekin aaj bhi kuch log hain jo do dharmon ke beech ladai krana chahte jo dard udhar mein batwara krana chahte hain vaah bahut hi galat hai lekin dharm ke naam par raajneeti aur raajneeti nahi vaah darindagi hai toh log karate hain agar aaj hum except nahi karte toh aaj hindustani ne toh pakistani ki raj humne except kiya ki hum apne bhaiyo ko kabhi niche nahi dikhana chahte ho apne bhaiyo ko saath baithkar saath wahi sammaan hui prathishtha dena chahte hain ki hamare vichar hai

बिल्कुल सही सवाल है यार मैं बहुत खुश हूं इस सवाल से कि जो सवाल जिसे जुनून अब यह सवाल पूछा

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  4225
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखित भारत भूमि सर्वथा एक हिंदू राष्ट्र रही है शासक कौन है यह मायने नहीं रखता मुगलों ने भी आश्वासन कि आप अंग्रेजों ने भी शासन किया विभिन्न पंथ संप्रदाय जाति धर्म और धर्म के लोगों ने इस देश के ऊपर शासन किया है लेकिन जो यहां के जीवन शैली है जो सत्य सनातन संस्कृति जिसे हम हिंदुत्व की संस्कृति भी कहते हैं वह अनवरत अविरल प्रवाह महान है भारत में वह अक्षम्य है दुनिया के 46 सभ्यताओं में से 45 से भी नष्ट हो गई समाप्त हो गई परंतु एकमात्र यदि कोई मानव सभ्यता अनवरत प्रवाह मान है तो वह सिर्फ भारत की हिंदुत्व परंपरा हिंदुत्व की संस्कृति इस कारण नहीं कि देश पर शासन किसने किया उसका संरक्षण मिला या नहीं मिला हिंदुत्व को चाहने वाले मानने वाले सनातन संस्कृति को मानने वालों के ऊपर चल पूर्वक कितना भी कुठाराघात हुआ हुआ क्रम हुआ हुआ प्रांतों का वार हुआ फिर भी इसमें इतना लोच है इतनी क्षमता है की तरफ से कार्य करने की क्षमता है सभी दुनिया के धर्म संप्रदाय पंथ सेट को स्वीकार करने की शक्ति है कि यह व्यवस्था आज तक कायम है और शायद अनंत काल तक रहेगी जब तक मानव सभ्यता है भारत और पाकिस्तान का बंटवारा विश्व धर्म के आधार पर हुआ था और सेक्युलर शब्द किसे कहा गया धर्मनिरपेक्ष भारत तो कभी धर्मनिरपेक्ष रहा ही नहीं भारत तो हमेशा धर्म सापेक्ष रहा है और यही कारण है कि सभी धर्मों के समान मान्यता और सम्मान भारत में यही वजह के इस्लाम धर्म में भी 70 से ज्यादा सेट भारत के उप के अंदर पनप गए

likhit bharat bhoomi sarvatha ek hindu rashtra rahi hai shasak kaun hai yah maayne nahi rakhta mugalon ne bhi ashwasan ki aap angrejo ne bhi shasan kiya vibhinn panth sampraday jati dharm aur dharm ke logo ne is desh ke upar shasan kiya hai lekin jo yahan ke jeevan shaili hai jo satya sanatan sanskriti jise hum hindutv ki sanskriti bhi kehte hain vaah anvarat aviral pravah mahaan hai bharat mein vaah akshamya hai duniya ke 46 sabhyatao mein se 45 se bhi nasht ho gayi samapt ho gayi parantu ekmatra yadi koi manav sabhyata anvarat pravah maan hai toh vaah sirf bharat ki hindutv parampara hindutv ki sanskriti is karan nahi ki desh par shasan kisne kiya uska sanrakshan mila ya nahi mila hindutv ko chahne waale manne waale sanatan sanskriti ko manne walon ke upar chal purvak kitna bhi kutharaghat hua hua kram hua hua praaton ka war hua phir bhi isme itna loch hai itni kshamta hai ki taraf se karya karne ki kshamta hai sabhi duniya ke dharm sampraday panth set ko sweekar karne ki shakti hai ki yah vyavastha aaj tak kayam hai aur shayad anant kaal tak rahegi jab tak manav sabhyata hai bharat aur pakistan ka batwara vishwa dharm ke aadhaar par hua tha aur secular shabd kise kaha gaya dharmanirapeksh bharat toh kabhi dharmanirapeksh raha hi nahi bharat toh hamesha dharm sapeksh raha hai aur yahi karan hai ki sabhi dharmon ke saman manyata aur sammaan bharat mein yahi wajah ke islam dharm mein bhi 70 se zyada set bharat ke up ke andar panap gaye

लिखित भारत भूमि सर्वथा एक हिंदू राष्ट्र रही है शासक कौन है यह मायने नहीं रखता मुगलों ने भी

Romanized Version
Likes  89  Dislikes    views  4251
WhatsApp_icon
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:60

Likes  105  Dislikes    views  3805
WhatsApp_icon
user

Tarun Verma

Clinical Psychologist

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसके जवाब के लिए मैं इस चीज पर ध्यान दिलाना चाहूंगा जो कि मुझे बाकी लोगों के जवाब उत्तर नहीं दिया हिंदुस्तान जब बंटवारा हुआ तो वह हिंदू राष्ट्र के तौर पर ही उस का बंटवारा हुआ था पर यहां यह देखने की जिद है कि 2 पोलिटिकल पार्टीज के बीच में की वजह से यह बंटवारा हुआ था उसे रूलिंग पार्टी थी जो बंटवारे के बाद होती है कांग्रेस और इसी मुस्लिम लीग जिसने पाकिस्तान में सरकार बनाई अब मुस्लिम लीग के अंदर जो मेजॉरिटी थी वह सारा मुस्लिम लोगों की थी जो कि कांग्रेस पार्टी में जो मेजॉरिटी थी और जो हम हिंदुस्तान का जो संविधान था वह सभी धर्मों को और सभी कास्ट सभी जातियों सभी भेदभाव से दूर हट के उसके अंदर लोगों की रिप्रेजेंटेशन होती थी तो हिंदू राष्ट्र होते हुए भी यहां के जो पॉलीटिकल पार्टी थी कांग्रेस उसका स्ट्रक्चर ऐसा था और उसने जो अपना आर्डर कॉन्स्टिट्यूशन जो बन उसकी वजह से यहां पर एक तो बहुत कट्टर और बहुत ही पैक्स फ्री मिस्ड हिंदू के संग का एक समाज और देश की पॉलिटिक्स सीना की फाइट ऐसी नहीं बनता है यह बात तो समझ में आती है कि हिंदुस्तान में जो था जो पहले पाकिस्तान का हिस्सा था बांग्लादेश अगर यहां पर जो था सारे धर्म के लोग होते थे यह तो बाद में समझ जाती है पर बंटवारा हिंदू और मुसलमान के बेसिस पर ही हुआ था पर अब आगे देखें कि कब बटवारा हुआ तो हिंदुस्तान अपने में सिर्फ हिंदुओं का राष्ट्र नहीं था तो यह भी बात है

iske jawab ke liye main is cheez par dhyan dilana chahunga jo ki mujhe baki logo ke jawab uttar nahi diya Hindustan jab batwara hua toh vaah hindu rashtra ke taur par hi us ka batwara hua tha par yahan yah dekhne ki jid hai ki 2 political parties ke beech mein ki wajah se yah batwara hua tha use ruling party thi jo batware ke baad hoti hai congress aur isi muslim league jisne pakistan mein sarkar banai ab muslim league ke andar jo mejariti thi vaah saara muslim logo ki thi jo ki congress party mein jo mejariti thi aur jo hum Hindustan ka jo samvidhan tha vaah sabhi dharmon ko aur sabhi caste sabhi jaatiyo sabhi bhedbhav se dur hut ke uske andar logo ki riprejenteshan hoti thi toh hindu rashtra hote hue bhi yahan ke jo political party thi congress uska structure aisa tha aur usne jo apna order Constitution jo ban uski wajah se yahan par ek toh bahut kattar aur bahut hi packs free missed hindu ke sang ka ek samaj aur desh ki politics seena ki fight aisi nahi banta hai yah baat toh samajh mein aati hai ki Hindustan mein jo tha jo pehle pakistan ka hissa tha bangladesh agar yahan par jo tha saare dharm ke log hote the yah toh baad mein samajh jaati hai par batwara hindu aur muslim ke basis par hi hua tha par ab aage dekhen ki kab batwara hua toh Hindustan apne mein sirf hinduon ka rashtra nahi tha toh yah bhi baat hai

इसके जवाब के लिए मैं इस चीज पर ध्यान दिलाना चाहूंगा जो कि मुझे बाकी लोगों के जवाब उत्तर नह

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  1549
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मित्र यह भारत और पाकिस्तान का जो बंटवारा हुआ यह एक दो नेताओं की भावनाओं के कारण हुआ उधर जुड़ना चाहते थे वह भी व्यथित एवं पाकिस्तान के रूप में 186 और किधर जवाहरलाल नेहरू यह भी एक महत्वाकांक्षी के इन्होंने इंडिया के रूप में चार जबकि मैं सोच रहा हूं कि यदि उस समय में इन दोनों से भी अभिलेख पसंद थे सरदार वल्लभभाई पटेल लिंग को क्यों कि गांधी जी का पता न था इसलिए देश के पीएम बने तो उस समय की मांग के अनुसार यदि सरदार वल्लभ भाई पटेल को बना दिया जाता तो आज भारत और पाकिस्तान दोनों करके एक ही होते भारत विकसित राष्ट्र था और बहुत मजबूत राष्ट्र का निर्माण किस बात का विचार आया कि हमेशा से ही भारत देश में कुछ मकान लोहा भी अब दे रहे हैं वह अपनी भावनाओं के कारण से या किसी प्रकार से कह सकते हैं आप वह भी हो गए और देश तो बजा दो व्यक्तियों के कारण से यह संगठित जो राष्ट्र था भारत समृद्ध राष्ट्र भारत था पाकिस्तान बना दिया नेहरू जी भारत में मैं यहां पर यह कहना चाहूंगा कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है ना मुस्लिम राष्ट्र की एक प्रमुख धर्मों को समान आदर देने वाला विश्व में एकमात्र देश है ऐसा है जहां सभी धर्मावलंबी श्रद्धा के साथ अपने अपने धर्मों का पालन कर सकते हैं किंतु हम सब नागरिकों का यह कर्तव्य है कि हम सभी धर्म सभी जातियों सुपर हम अपने देश को सम्मान दें देश के भावनाओं का आदर करें देश के प्रति निष्ठावान रहे हैं

mere mitra yah bharat aur pakistan ka jo batwara hua yah ek do netaon ki bhavnao ke karan hua udhar judna chahte the vaah bhi vyathit evam pakistan ke roop mein 186 aur kidhar jawaharlal nehru yah bhi ek mahatwakanshi ke inhone india ke roop mein char jabki main soch raha hoon ki yadi us samay mein in dono se bhi abhilekh pasand the sardar vallabhbhai patel ling ko kyon ki gandhi ji ka pata na tha isliye desh ke pm bane toh us samay ki maang ke anusaar yadi sardar vallabh bhai patel ko bana diya jata toh aaj bharat aur pakistan dono karke ek hi hote bharat viksit rashtra tha aur bahut majboot rashtra ka nirmaan kis baat ka vichar aaya ki hamesha se hi bharat desh mein kuch makan loha bhi ab de rahe hain vaah apni bhavnao ke karan se ya kisi prakar se keh sakte hain aap vaah bhi ho gaye aur desh toh baja do vyaktiyon ke karan se yah sangathit jo rashtra tha bharat samriddh rashtra bharat tha pakistan bana diya nehru ji bharat mein main yahan par yah kehna chahunga ki bharat ek hindu rashtra hai na muslim rashtra ki ek pramukh dharmon ko saman aadar dene vala vishwa mein ekmatra desh hai aisa hai jaha sabhi dharmavalambi shraddha ke saath apne apne dharmon ka palan kar sakte hain kintu hum sab nagriko ka yah kartavya hai ki hum sabhi dharm sabhi jaatiyo super hum apne desh ko sammaan de desh ke bhavnao ka aadar kare desh ke prati nisthawan rahe hain

मेरे मित्र यह भारत और पाकिस्तान का जो बंटवारा हुआ यह एक दो नेताओं की भावनाओं के कारण हुआ उ

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  398
WhatsApp_icon
user

sneha soni

राजनीतिज्ञ,Writer(Antrdhwani)

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जब सन् 1947 के अंदर इंडिया और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ था उस टाइम इंडिया एक बहुत ही बड़े बनकर अपने आप में पूरा संपूर्ण था कि पाकिस्तान को समाप्त किया गया था कि उसकी बदतमीजी उसका उसका उसका कुर्सी की चाहे पाकिस्तान बनाया उसमें पूरी मोमडन को जो है एक तरफ एक तरफ कर दिया जबकि इंडिया के अंदर सभी तरीके के धर्म वाले लोग जो है संबंधित है इसलिए जो है वह हिंदुत्व को प्रेरित किया मतलब कहने का मतलब यह है कि इंडिया में तारे लैंग्वेज के घर वाले लोग समाज सब इनटू थे और जिन्ना की सपोर्टर ने जो मंदिर बनाया वह पाकिस्तान के रूप में हमारे सामने है आज बस यही एक रीजन है हम लोगों को हम हम आज की डेट में जो है धर्म के नाम पर बंटवारा करते हुए देखते हैं लोगों को लड़ते हुए देखते हैं झगड़ते हुए देखते हैं जबकि भारत में हिंदू राष्ट्र हिंदू राष्ट्र है मनोनीत क्या क्या कहने का मतलब यह है कि हिंदू शब्द यहां हिंदी बोलने वालों से हिंदी हिंदू शब्द सिंधु नदी का जो पानी आता है पाकिस्तान और हिंदू इंडिया के अंदर तू पहले अंग्रेजों थे वह हिंदू हिंदू बोल बोलने की बजाय उनकी लैंग्वेज थोड़ा डिफरेंट है इसलिए वह हिंदू हिंदू करने के नाम पर हमारे हिंदू रखा गया है या हिंदुस्तान के जो हिंदू लोग हैं वही रहेंगे यहां पर भारत में राष्ट्रीय हां पर सभी रह सकते हैं सभी का

dekhiye jab san 1947 ke andar india aur pakistan ka batwara hua tha us time india ek bahut hi bade bankar apne aap mein pura sampurna tha ki pakistan ko samapt kiya gaya tha ki uski badatamiji uska uska uska kursi ki chahen pakistan banaya usme puri momadan ko jo hai ek taraf ek taraf kar diya jabki india ke andar sabhi tarike ke dharm waale log jo hai sambandhit hai isliye jo hai vaah hindutv ko prerit kiya matlab kehne ka matlab yah hai ki india mein taare language ke ghar waale log samaj sab into the aur jinnah ki supporter ne jo mandir banaya vaah pakistan ke roop mein hamare saamne hai aaj bus yahi ek reason hai hum logo ko hum hum aaj ki date mein jo hai dharm ke naam par batwara karte hue dekhte hai logo ko ladte hue dekhte hai jhagadate hue dekhte hai jabki bharat mein hindu rashtra hindu rashtra hai manonit kya kya kehne ka matlab yah hai ki hindu shabd yahan hindi bolne walon se hindi hindu shabd sindhu nadi ka jo paani aata hai pakistan aur hindu india ke andar tu pehle angrejo the vaah hindu hindu bol bolne ki bajay unki language thoda different hai isliye vaah hindu hindu karne ke naam par hamare hindu rakha gaya hai ya Hindustan ke jo hindu log hai wahi rahenge yahan par bharat mein rashtriya haan par sabhi reh sakte hai sabhi ka

देखिए जब सन् 1947 के अंदर इंडिया और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ था उस टाइम इंडिया एक बहुत ही

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  450
WhatsApp_icon
user

Mehmood Alum

Law Student

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि पाकिस्तान जो बना था वह इंडिया के टुकड़े करके बनाता है ना कि भारत पाकिस्तान का टुकड़ा करके बनाता है तो पाकिस्तान को निर्माण के दो प्रमुख आधार था वह धर्म था इस्लाम के नाम पर पाकिस्तान की मांग की गई थी तो अंग्रेजों ने पाकिस्तान के नाम से मुसलमानों के लिए एक अलग देश बनाया था जबकि भारत जो है यह सभी धर्म हिंदू मुस्लिम सिख इसाई जैन बौद्ध और यहां तक की जनजातियों का भी अपना अपना धर्म होता है तो सभी का प्रतिनिधित्व करता है इसलिए भारत में सभी धर्मों के लोगों के होने के कारण ही भारत को सेकुलर राष्ट्र घोषित किया गया था जबकि पाकिस्तान में मुख्यतः मुसलमान ही थे और वहां की आज भी 97 फीसद पॉपुलेशन मुस्लिम धर्म को बिलॉन्ग करती है इसलिए पाकिस्तान में ऑफिशियल रिलीजन जो है वह इस्लाम है लेकिन भारत में सभी धर्मों के लोग हैं भारत को सेकुलर राठ बनाया गया था

dekhiye yahan yah dhyan dene wali baat hai ki pakistan jo bana tha vaah india ke tukde karke banata hai na ki bharat pakistan ka tukda karke banata hai toh pakistan ko nirmaan ke do pramukh aadhaar tha vaah dharm tha islam ke naam par pakistan ki maang ki gayi thi toh angrejo ne pakistan ke naam se musalmanon ke liye ek alag desh banaya tha jabki bharat jo hai yah sabhi dharm hindu muslim sikh isai jain Baudh aur yahan tak ki janjatiyon ka bhi apna apna dharm hota hai toh sabhi ka pratinidhitva karta hai isliye bharat mein sabhi dharmon ke logo ke hone ke karan hi bharat ko secular rashtra ghoshit kiya gaya tha jabki pakistan mein mukhyata musalman hi the aur wahan ki aaj bhi 97 fisad population muslim dharm ko Belong karti hai isliye pakistan mein official religion jo hai vaah islam hai lekin bharat mein sabhi dharmon ke log hain bharat ko secular rath banaya gaya tha

देखिए यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि पाकिस्तान जो बना था वह इंडिया के टुकड़े करके बनाता

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  374
WhatsApp_icon
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी जैसे कि इंडिया जो है इसमें बहुत सारे धर्म के लोग रहते हैं और पहले से ही रहते हैं तुझसे जब बंटवारा हुआ तो पाकिस्तान को तो मुस्लिम कंट्री बना दे बना दिया गया बट इंडिया क्योंकि वह हर धर्म का रिस्पेक्ट करता है और बहुत सारे लोग इस धर्म के हैं जो कि हर जगह रहते हैं यहां पर तो उनको सबको सम्मान देने के लिए इंडिया को जो है वह सेकुलर कंट्री बनाया गया था

haan ji jaise ki india jo hai isme bahut saare dharm ke log rehte hain aur pehle se hi rehte hain tujhse jab batwara hua toh pakistan ko toh muslim country bana de bana diya gaya but india kyonki vaah har dharm ka respect karta hai aur bahut saare log is dharm ke hain jo ki har jagah rehte hain yahan par toh unko sabko sammaan dene ke liye india ko jo hai vaah secular country banaya gaya tha

हां जी जैसे कि इंडिया जो है इसमें बहुत सारे धर्म के लोग रहते हैं और पहले से ही रहते हैं तु

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  310
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!