दिल्ली में क्या हो रहा है?...


user

Pradeep Solanki

Corporate Yoga Consultant

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली में समझ में नहीं आ रहा है क्या हो रहा है पहले जहां इतनी सख्त आई थी कोई कहीं नहीं जा सकता कुछ नहीं कर सकता और काशी सकता है कि शराब की दुकान और यह और वह सब कुछ था और अब पता नहीं क्या एकदम से क्या हुआ कि आज तो शराब की दुकान में रेड जो है सारा दिल्ली शराब की दुकान नहीं खुलती गई बाकी इलेक्ट्रिशियन दुकान में यह दुकान में वह दुकान में भी खोल दी गई ठीक है घर में काम करने वाले दिखा जा सकती है लोग भी 7:00 बजे 7:00 बजे कहीं भी जा सकती है जबकि रेड जो है जो कर रहे हैं बहुत ही ज्यादा गलत कर रहा है ठीक है क्योंकि करो ना बहुत खतरा दिल्ली टुडे ठीक है थोड़े और 1520 दिन का कष्ट लोग आराम से जा सकते थे लेकिन पता नहीं किस प्रेशर में आकर उसने यह काम किया है एकदम से ओके और जो नई दिल्ली में इतनी फैसिलिटी कोई भी मरीजों और उसको पूरा दिन भटकना पड़ता है सिर्फ पैसों के लिए दिल्ली के अंदर योग काम हो रहा है फिलहाल यह बहुत गलत है और उसको भी 5 दिन में इसका खामियाजा जो है भुगतना पड़ेगा

delhi me samajh me nahi aa raha hai kya ho raha hai pehle jaha itni sakht I thi koi kahin nahi ja sakta kuch nahi kar sakta aur kashi sakta hai ki sharab ki dukaan aur yah aur vaah sab kuch tha aur ab pata nahi kya ekdam se kya hua ki aaj toh sharab ki dukaan me red jo hai saara delhi sharab ki dukaan nahi khulti gayi baki Electrician dukaan me yah dukaan me vaah dukaan me bhi khol di gayi theek hai ghar me kaam karne waale dikha ja sakti hai log bhi 7 00 baje 7 00 baje kahin bhi ja sakti hai jabki red jo hai jo kar rahe hain bahut hi zyada galat kar raha hai theek hai kyonki karo na bahut khatra delhi today theek hai thode aur 1520 din ka kasht log aaram se ja sakte the lekin pata nahi kis pressure me aakar usne yah kaam kiya hai ekdam se ok aur jo nayi delhi me itni facility koi bhi marizon aur usko pura din bhatakana padta hai sirf paison ke liye delhi ke andar yog kaam ho raha hai filhal yah bahut galat hai aur usko bhi 5 din me iska khamiyaja jo hai bhugatna padega

दिल्ली में समझ में नहीं आ रहा है क्या हो रहा है पहले जहां इतनी सख्त आई थी कोई कहीं नहीं जा

Romanized Version
Likes  184  Dislikes    views  1354
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!