अगर वर्तमान में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होते तो क्या होता?...


play
user

kamlesh Chouhan

मिशन यूपीएससी

0:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर वर्तमान में नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री नहीं होते तो जनता जिसे प्रधानमंत्री चुनती वह वर्तमान में प्रधानमंत्री होते हैं क्योंकि देश को चलाने के लिए कोई तो प्रधानमंत्री की आवश्यकता होती है ना

dekhie agar vartaman mein narendra modi ji Pradhanmantri nahi hote toh janta jise Pradhanmantri chunati wah vartaman mein Pradhanmantri hote hain kyonki desh ko chalane ke liye koi toh Pradhanmantri ki avashyakta hoti hai na

देखिए अगर वर्तमान में नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री नहीं होते तो जनता जिसे प्रधानमंत्री चुन

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  31
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pradumn

Student

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर वर्तमान समय में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने तो कोई और होता चलाना है उसके लिए प्रधान उचित होना जरूरी है ना वह नहीं होते तो कोई और होता तो होता है

agar vartaman samay mein narendra modi pradhanmantri ne toh koi aur hota chalana hai uske liye pradhan uchit hona zaroori hai na vaah nahi hote toh koi aur hota toh hota hai

अगर वर्तमान समय में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने तो कोई और होता चलाना है उसके लिए प्रधान उ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी अगर मगर किंतु परंतु लेकिन यह सारे शब्द में संशय की स्थिति में डाल देते हैं इन शब्दों को यूज करके हम हमेशा आने की स्थिति में रहते हैं अगर हम इन शब्दों को यूज कर लेते हैं अपने वाक्य के साथ तो हम इसी निर्णय पर नहीं पहुंच पाते हैं और हमेशा इस संख्या में रहते हैं कि अगर ऐसा होता तो क्या होता और अगर ऐसा नहीं होता तो क्या होता तो वही वाली बात है कि अगर वर्तमान समय में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होते तो जाहिर सी बात है कि उनकी जगह कोई और प्रधानमंत्री होते और जैसी परिस्थितियां आज है हो सकता है वैसी नहीं होती कुछ अलग होती क्योंकि जो कोई और प्रधानमंत्री होते वह अपनी तरह से नीतियों का निर्धारण करते अपनी तरह से निर्णय लेते और अपने हिसाब से देश के बारे में सोचते नहीं है कि कोई व्यक्ति अगर नहीं होता तो दुनिया रूठ जाती है दुनिया के काम रुक जाते हैं यह हमारे देश का विकास रुक जाता हमारा देश खत्म हो जाता ऐसा कुछ भी नहीं होता है और यह हम अपनी जिंदगी में हमेशा देखते रहते हैं कि हम शाश्वत तो है नहीं स्थाई कोई भी नहीं है जो भी व्यक्ति आया है उसे एक दिन जाना ही है यह सच सभी को पता है जब हम मौत को इतनी आसानी से मान लेते हैं और किसी व्यक्ति के जाने के बाद उसकी शून्यता को धीरे-धीरे किसी ना किसी तरह से भर लेते हैं अपने मन को समझा लेते हैं तो फिर यह तो एक पद है जो हमारे देश का सर्वोच्च पद है तो जरूर प्रधानमंत्री मोदी की जगह कोई और व्यक्ति जो काबिल होता वह प्रधानमंत्री बनता और उसकी नीतियों के अनुसार हमारा देश चल रहा होता है इसलिए हम यह नहीं कह सकते कि अगर प्रधानमंत्री मोदी नहीं होते तो कुछ भी नहीं होता हां उनके होने से दे सकती कि मैं पहुंच

vicky agar magar kintu parantu lekin yah saare shabd mein sanshay ki sthiti mein daal dete hain in shabdon ko use karke hum hamesha aane ki sthiti mein rehte hain agar hum in shabdon ko use kar lete hain apne vakya ke saath toh hum isi nirnay par nahi pohch paate hain aur hamesha is sankhya mein rehte hain ki agar aisa hota toh kya hota aur agar aisa nahi hota toh kya hota toh wahi wali baat hai ki agar vartaman samay mein narendra modi pradhanmantri nahi hote toh jaahir si baat hai ki unki jagah koi aur pradhanmantri hote aur jaisi paristhiyaann aaj hai ho sakta hai vaisi nahi hoti kuch alag hoti kyonki jo koi aur pradhanmantri hote vaah apni tarah se nitiyon ka nirdharan karte apni tarah se nirnay lete aur apne hisab se desh ke bare mein sochte nahi hai ki koi vyakti agar nahi hota toh duniya rooth jaati hai duniya ke kaam ruk jaate hain yah hamare desh ka vikas ruk jata hamara desh khatam ho jata aisa kuch bhi nahi hota hai aur yah hum apni zindagi mein hamesha dekhte rehte hain ki hum shashvat toh hai nahi sthai koi bhi nahi hai jo bhi vyakti aaya hai use ek din jana hi hai yah sach sabhi ko pata hai jab hum maut ko itni aasani se maan lete hain aur kisi vyakti ke jaane ke baad uski shunyata ko dhire dhire kisi na kisi tarah se bhar lete hain apne man ko samjha lete hain toh phir yah toh ek pad hai jo hamare desh ka sarvoch pad hai toh zaroor pradhanmantri modi ki jagah koi aur vyakti jo kaabil hota vaah pradhanmantri baata aur uski nitiyon ke anusaar hamara desh chal raha hota hai isliye hum yah nahi keh sakte ki agar pradhanmantri modi nahi hote toh kuch bhi nahi hota haan unke hone se de sakti ki main pahunch

विकी अगर मगर किंतु परंतु लेकिन यह सारे शब्द में संशय की स्थिति में डाल देते हैं इन शब्दों

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आज नरेंद्र मोदी में तो प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारत की स्थिति में है और भेजो और नींद पूरी अटैक का बेहतर काम करें तो ऐसा व्यक्ति नहीं होती तो कोई प्रॉब्लम होता इसलिए कुछ और सीधी होती है प्रधानमंत्री जी से इतने समय से चलता है वैसे ही कुछ अलग नहीं है जिससे डेवलपमेंट कोई और भी कर सकते हैं ऐसा तो नहीं कि से वही है जो कि देश पर कर पा रहे हैं और कोई और नहीं कर पाता

agar aaj narendra modi mein toh pradhanmantri pradhanmantri narendra modi ki aguvaii mein bharat ki sthiti mein hai aur bhejo aur neend puri attack ka behtar kaam kare toh aisa vyakti nahi hoti toh koi problem hota isliye kuch aur seedhi hoti hai pradhanmantri ji se itne samay se chalta hai waise hi kuch alag nahi hai jisse development koi aur bhi kar sakte hain aisa toh nahi ki se wahi hai jo ki desh par kar paa rahe hain aur koi aur nahi kar pata

अगर आज नरेंद्र मोदी में तो प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारत की स्

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  204
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!