भारत के राष्ट्रपति निर्विरोध चुने गए थे?...


user

Ranjeet Singh Uppal

Retired GM ONGC

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नीलम संजीव रेड्डी इकलौते ऐसे राष्ट्रपति हुए हैं जो निर्विरोध चुने गए 1977 में जब मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री थे उस समय फखरुद्दीन अली अहमद की आकस्मिक मृत्यु होने से राष्ट्रपति का पद खाली हो गया था और तब नीलम संजीव रेड्डी जी निर्विरोध उस पद पर चुने गए थे उसके पहले भी 1969 में वह कांग्रेस के ऑफिशियल कैंडिडेट से राष्ट्रपति पद के लिए जिनको राष्ट्रपति पद के लिए ऑफिशल कैंडिडेट बनवाने में मोरारजी देसाई निजलिंगप्पा और अन्य सदस्यों ने काफी मेहनत की थी जो इंदिरा विरोधी थे पर उस समय सब कांग्रेस के अंदर ही थे इंदिरा गांधी को लगा कि अगर नीलम संजीव रेड्डी राष्ट्रपति बन गए तो सब लोग मिलकर मेरे को ही यह लोग कांग्रेसका निकाल देंगे तो इंदिरा गांधी ने अपने ही ऑफिशल कैंडिडेट के अगेंस्ट में काम किया और अपने सांसद सदस्यों को और विधानसभाओं बोला कि वह अपनी अंतरात्मा की आवाज पर वोट दें जिसकी वजह से कांग्रेस की ऑफिशल कैंडिडेट नीलम संजीव रेड्डी हार गए तो 69 पर किस्मत ने उनका साथ दिया और 77 में निर्विरोध चुने गए वह दो बार लोकसभा के स्पीकर भी रह चुके थे उसके पहले उसके पहले वह कांग्रेस के प्रेग्नेंट हो चुके थे और जब आंध्र प्रदेश 1956 में तेलंगाना को मिलाकर बना था तो उस समय वह आंध्र प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री भी रहे थे धन्यवाद

neelam sanjeev reddy iklaute aise rashtrapati hue hain jo nirvirodh chune gaye 1977 me jab morarji desai pradhanmantri the us samay fakharuddin ali ahmad ki aakasmik mrityu hone se rashtrapati ka pad khaali ho gaya tha aur tab neelam sanjeev reddy ji nirvirodh us pad par chune gaye the uske pehle bhi 1969 me vaah congress ke official candidate se rashtrapati pad ke liye jinako rashtrapati pad ke liye official candidate banwane me morarji desai nijlingappa aur anya sadasyon ne kaafi mehnat ki thi jo indira virodhi the par us samay sab congress ke andar hi the indira gandhi ko laga ki agar neelam sanjeev reddy rashtrapati ban gaye toh sab log milkar mere ko hi yah log kangresaka nikaal denge toh indira gandhi ne apne hi official candidate ke against me kaam kiya aur apne saansad sadasyon ko aur vidhansabhaon bola ki vaah apni antaraatma ki awaaz par vote de jiski wajah se congress ki official candidate neelam sanjeev reddy haar gaye toh 69 par kismat ne unka saath diya aur 77 me nirvirodh chune gaye vaah do baar lok sabha ke speaker bhi reh chuke the uske pehle uske pehle vaah congress ke pregnant ho chuke the aur jab andhra pradesh 1956 me telangana ko milakar bana tha toh us samay vaah andhra pradesh ke pratham mukhyamantri bhi rahe the dhanyavad

नीलम संजीव रेड्डी इकलौते ऐसे राष्ट्रपति हुए हैं जो निर्विरोध चुने गए 1977 में जब मोरारजी

Romanized Version
Likes  134  Dislikes    views  2035
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!