क्या करने से ज़िंदगी खराब हो जाती है?...


user

Yogi Prashant Nath

Business Consultant / M D

3:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सर्वप्रथम सराहनीय है आपके द्वारा पूछा कहिए प्रश्न जो जीवन से संबंधित है जीवन के महत्व से संबंधित है उसके उपरांत में अपना परिचय कराना चाहूंगा आपसे मेरा नाम है योगी प्रशांत नाथ चलिए बढ़ते हैं आपके प्रश्न की तरफ आप ने सवाल किया है क्या करने से जिंदगी खराब हो जाती है देखिए समय व्यर्थ करने से जिंदगी खराब हो जाती है समय का अगर आप सदुपयोग नहीं करते तो जिंदगी खराब हो जाती है समय एक ऐसा मूल्यवान चीज है जो जिसकी कोई कीमत नहीं चुकाई जा सकती एक बार जो समय निकल गया वह समय आप कुछ भी करके वापस नहीं ला सकते इसलिए समय के महत्व को समझिए इसे यूं ही व्यर्थ ना जाने दीजिए समय का सदुपयोग करना सीखिए जिस प्रकार से हम श्वास लेते हैं हमारी हर एक सांस के छोड़ने के साथ साथ हमारा एक एक समय बीतता चला जाता है हमारे जीवन का हर एक दिन बीतता चला जाता है हमारी हर एक उम्र बीती चली जाती है उम्र का जो पड़ाव निकल जाता है वह कभी वापस नहीं आता और हमें पता ही नहीं चलता हम कब जीवन के अंतिम क्षणों पर पहुंच जाते हैं तो इसलिए यह याद रखें यह जो हमें अवसर मिला है यह हमें जो जीवन मिला है इसका हमेशा सदुपयोग करें आप में और एक निर्जीव वस्तु में कोई फर्क नहीं है फर्क तो सिर्फ इस बात का है कि आपको समय का अनुभव है आपके ऊपर समय का प्रभाव होता है निर्जीव वस्तुओं पर समय का इतना प्रभाव नहीं होता लेकिन मनुष्य के ऊपर बहुत ज्यादा समय का गहरा प्रभाव होता है और मनुष्य ही समय का सदुपयोग कर सकता है इसलिए हमें किसी भी कार्य को करने में बेस्ट समय नहीं बर्बाद करना चाहिए अगर आप अपने जीवन को सार्थक बनाना चाहते हैं तो अपने जीवन में समय का सदुपयोग करें उन्हीं कार्यों में अपना समय दे जिन कार्यों से आपकी प्रगति होती हो आपकी भलाई होती हो आपके समाज और परिवार का कल्याण होता हो व्यर्थ के कार्यों में समय देना यूं समझ लीजिए कि आप अपने आप को खत्म करते जा रहे हैं अपनी जिंदगी को खराब करते जा रहे हैं इसलिए बहुत महत्वपूर्ण है समय की पारी की को समझना आई होप सो दैट यह पोस्ट आपके लिए काफी हेल्प पोलो मेरा नाम है योग्य प्रशांत नाथ और इस तरह के पोस्ट को सुनने के लिए आप फॉलो कर सकते हैं हमारे वोकल प्रोफाइल पेज को जो है योगी प्रशांत नाथ करके और मैं आप सभी का आभार व्यक्त करता हूं कि आपने इस पोस्ट को सुना धन्यवाद

namaskar sarvapratham sarahniya hai aapke dwara poocha kahiye prashna jo jeevan se sambandhit hai jeevan ke mahatva se sambandhit hai uske uprant me apna parichay krana chahunga aapse mera naam hai yogi prashant nath chaliye badhte hain aapke prashna ki taraf aap ne sawaal kiya hai kya karne se zindagi kharab ho jaati hai dekhiye samay vyarth karne se zindagi kharab ho jaati hai samay ka agar aap sadupyog nahi karte toh zindagi kharab ho jaati hai samay ek aisa mulyavan cheez hai jo jiski koi kimat nahi chukai ja sakti ek baar jo samay nikal gaya vaah samay aap kuch bhi karke wapas nahi la sakte isliye samay ke mahatva ko samjhiye ise yun hi vyarth na jaane dijiye samay ka sadupyog karna sikhiye jis prakar se hum swas lete hain hamari har ek saans ke chodne ke saath saath hamara ek ek samay bitta chala jata hai hamare jeevan ka har ek din bitta chala jata hai hamari har ek umar biti chali jaati hai umar ka jo padav nikal jata hai vaah kabhi wapas nahi aata aur hamein pata hi nahi chalta hum kab jeevan ke antim kshanon par pohch jaate hain toh isliye yah yaad rakhen yah jo hamein avsar mila hai yah hamein jo jeevan mila hai iska hamesha sadupyog kare aap me aur ek nirjeev vastu me koi fark nahi hai fark toh sirf is baat ka hai ki aapko samay ka anubhav hai aapke upar samay ka prabhav hota hai nirjeev vastuon par samay ka itna prabhav nahi hota lekin manushya ke upar bahut zyada samay ka gehra prabhav hota hai aur manushya hi samay ka sadupyog kar sakta hai isliye hamein kisi bhi karya ko karne me best samay nahi barbad karna chahiye agar aap apne jeevan ko sarthak banana chahte hain toh apne jeevan me samay ka sadupyog kare unhi karyo me apna samay de jin karyo se aapki pragati hoti ho aapki bhalai hoti ho aapke samaj aur parivar ka kalyan hota ho vyarth ke karyo me samay dena yun samajh lijiye ki aap apne aap ko khatam karte ja rahe hain apni zindagi ko kharab karte ja rahe hain isliye bahut mahatvapurna hai samay ki paari ki ko samajhna I hope so that yah post aapke liye kaafi help polo mera naam hai yogya prashant nath aur is tarah ke post ko sunne ke liye aap follow kar sakte hain hamare vocal profile page ko jo hai yogi prashant nath karke aur main aap sabhi ka abhar vyakt karta hoon ki aapne is post ko suna dhanyavad

नमस्कार सर्वप्रथम सराहनीय है आपके द्वारा पूछा कहिए प्रश्न जो जीवन से संबंधित है जीवन के मह

Romanized Version
Likes  139  Dislikes    views  1073
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!