महाभारत में दूसरे नंबर पर कौन मरा था?...


play
user

Varun deshmukh

Business Owner

1:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर इंपॉर्टेंट कैरेक्टर्स की बात की जाएगी कौन सबसे पहले वीरगति को प्राप्त हुआ था हमारा तो मेरे ख्याल से दूसरे नंबर पर अपने विचार दूसरे नंबर पर तुम मेरे हिसाब से वह होना चाहिए क्योंकि सबसे पहले भी अटैक हुआ था वह मरे नहीं पटी तो इस समिति में है और दूध भी इसमें के बाद अभिमन्यु की हत्या हुई थी उसके बाद जयद्रथ की तो अगर उस सिक्वेंस में देखें तो शायद जयद्रथ हो सकते दूसरे नंबर पर यह भी बातें कि जिस दिन जयद्रथ मरे थे उस दिन 21 पांडवों और कौरवों की हत्या हुई थी और उसमें एक बड़े इंपॉर्टेंट कैरेक्टर से बीकानेर वितरण एकमात्र कौरव के जिन्होंने वस्त्र हरण के समय चीरहरण के समय द्रौपदी के विरोध किया था अपने भाइयों का दुर्योधन का और दुशासन का वितरण भी उस दिन मरे थे जिस दिन चाहते थे तो उसके साथ पहले मरे थे उसके बाद आपको भी कांड भी मांग सकते हैं जयद्रथ की मान सकते हैं

agar important characters ki baat ki jayegi kaun sabse pehle viragati ko prapt hua tha hamara toh mere khayal se dusre number par apne vichar dusre number par tum mere hisab se vaah hona chahiye kyonki sabse pehle bhi attack hua tha vaah mare nahi pty toh is samiti me hai aur doodh bhi isme ke baad abhimanyu ki hatya hui thi uske baad jayadrath ki toh agar us sikwens me dekhen toh shayad jayadrath ho sakte dusre number par yah bhi batein ki jis din jayadrath mare the us din 21 pandavon aur kauravon ki hatya hui thi aur usme ek bade important character se bikaner vitaran ekmatra kaurav ke jinhone vastra haran ke samay cheerharan ke samay draupadi ke virodh kiya tha apne bhaiyo ka duryodhan ka aur dushasan ka vitaran bhi us din mare the jis din chahte the toh uske saath pehle mare the uske baad aapko bhi kaand bhi maang sakte hain jayadrath ki maan sakte hain

अगर इंपॉर्टेंट कैरेक्टर्स की बात की जाएगी कौन सबसे पहले वीरगति को प्राप्त हुआ था हमारा तो

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत में पहले नंबर पर दूसरे नंबर पर तीसरे नंबर पर किसकी मृत्यु हुई थी यह कहना कठिन है क्योंकि महर्षि वेदव्यास के द्वारा रचित के रचना की गई महाभारत में हमें इसका वर्णन नहीं मिलता क्योंकि उसमें केवल मुख्य पार मुख्य पात्रों की ही मृत्यु को दर्शाया गया हम इस पर दो प्रकार से विचार कर सकते हैं कि महाभारत युद्ध के पहले दूसरे नंबर पर किस मुख्य पात्र की मृत्यु हुई थी और दूसरा महाभारत युद्ध में दूसरे नंबर पर किसकी मृत्यु हुई थी यदि हम महाभारत युद्ध के पहले की बात करें तो उसमें जैसा कि हम सभी जानते हैं कि माता गंगा ने अपने साथ पुत्रों को मृत्यु दे दिया था तो उन्हीं में से दूसरे पुत्र की मृत्यु हुई थी दूसरे नंबर पर और अगर महाभारत युद्ध के समय की बात करें तो अगर मुख्य पात्रों को छोड़ दिया जाए तो महाभारत युद्ध के समय दूसरे नंबर पर एक सैनिक की मृत्यु हुई होगी यह अनुमान मात्र ही लगाया जा सकता है क्योंकि मुख्य पात्रों की मृत्यु कुछ समय पश्चात ही हुई थी

mahabharat me pehle number par dusre number par teesre number par kiski mrityu hui thi yah kehna kathin hai kyonki maharshi vedvyas ke dwara rachit ke rachna ki gayi mahabharat me hamein iska varnan nahi milta kyonki usme keval mukhya par mukhya patron ki hi mrityu ko darshaya gaya hum is par do prakar se vichar kar sakte hain ki mahabharat yudh ke pehle dusre number par kis mukhya patra ki mrityu hui thi aur doosra mahabharat yudh me dusre number par kiski mrityu hui thi yadi hum mahabharat yudh ke pehle ki baat kare toh usme jaisa ki hum sabhi jante hain ki mata ganga ne apne saath putron ko mrityu de diya tha toh unhi me se dusre putra ki mrityu hui thi dusre number par aur agar mahabharat yudh ke samay ki baat kare toh agar mukhya patron ko chhod diya jaaye toh mahabharat yudh ke samay dusre number par ek sainik ki mrityu hui hogi yah anumaan matra hi lagaya ja sakta hai kyonki mukhya patron ki mrityu kuch samay pashchat hi hui thi

महाभारत में पहले नंबर पर दूसरे नंबर पर तीसरे नंबर पर किसकी मृत्यु हुई थी यह कहना कठिन है क

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!