परेशानी की क्या वजह हो सकती है?...


user

Rohit Khanagwal

Social Worker

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए परेशानी की कुछ भी वजह हो सकती है कोई भी वजह हो सकती है सबसे पहले तो मैं कहूंगा जो आप निर्णय लेते हो उसे आपको सोच समझ कर देना चाहिए कि कई बार क्या होता है कि आपने कोई डिसीजन लिया है जल्दबाजी में बिना कुछ सोचे समझे और उसका आगे जो परिणाम होता है वह परेशानियों को बढ़ावा देता है फिर परेशानियों को आप जलते हो आपको उसे टॉप करना पड़ता है मानना पड़ता है ऐसा भी नहीं है कि परेशानियां कोई आपके साथ हमेशा ही रहेगी आप उन परेशानियों को खत्म भी कर सकते हो जब जल्दबाजी में कोई निर्णय निर्णय लेते हैं या आप से जो प्यार करते हैं चाहे कोई भी आपके माता-पिता या आपके भाई बहन आपका कोई भी खास चाहे वफा दोस्ती की उठाओ अगर उसने आपके लिए या खुद अपने लिए कोई ऐसा निर्णय लिया है जो बिना कुछ सोचे समझे बस उसने सोचा कि यह सही होगा तो परेशानी की खुशी वजह हो सकती है और सबसे बड़ी बात मैं यहां से कहना चाहूंगा की परेशानी जो है ज्यादा दिन तक नहीं रह सकती अगर आप उससे गहराई से सोचे समझे और उसका निवारण निकाले

dekhiye pareshani ki kuch bhi wajah ho sakti hai koi bhi wajah ho sakti hai sabse pehle toh main kahunga jo aap nirnay lete ho use aapko soch samajh kar dena chahiye ki kai baar kya hota hai ki aapne koi decision liya hai jaldabaji mein bina kuch soche samjhe aur uska aage jo parinam hota hai vaah pareshaniyo ko badhawa deta hai phir pareshaniyo ko aap jalte ho aapko use top karna padta hai manana padta hai aisa bhi nahi hai ki pareshaniya koi aapke saath hamesha hi rahegi aap un pareshaniyo ko khatam bhi kar sakte ho jab jaldabaji mein koi nirnay nirnay lete hai ya aap se jo pyar karte hai chahen koi bhi aapke mata pita ya aapke bhai behen aapka koi bhi khaas chahen wafa dosti ki uthao agar usne aapke liye ya khud apne liye koi aisa nirnay liya hai jo bina kuch soche samjhe bus usne socha ki yah sahi hoga toh pareshani ki khushi wajah ho sakti hai aur sabse baadi baat main yahan se kehna chahunga ki pareshani jo hai zyada din tak nahi reh sakti agar aap usse gehrai se soche samjhe aur uska nivaran nikale

देखिए परेशानी की कुछ भी वजह हो सकती है कोई भी वजह हो सकती है सबसे पहले तो मैं कहूंगा जो आप

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
pareshani ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!