क्या रामायण और महाभारत रियल इंसिडेंट है या एक काल्पनिक कहानी है?...


user

Nirbhay kumar

Programmer

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी बिल्कुल रियल है और रामायण और महाभारत एक बहुत यह रियल घटनाएं हैं और इसका साक्ष्य आदमी मिलता है कुरुक्षेत्र के मैदान में देख ले या फिर मैं सेतुबंध रामेश्वरम के पास में जो सेटेलाइट से जो ईमेल आया है जो बांदरी सेना ने जो ब्रिज बनाया था उस ब्रिज का पूरा रियल इमेज आ चुका है और यही नहीं बहुत सारे साक्ष्य मिले हैं उस समय के जो जो घटनाएं हैं उस समय के जो जो शहर की वह सारे शहर आज भी मौजूद है इसलिए रामायण और महाभारत को और हम क्या हमारे सुप्रीम कोर्ट में सम्मान दिया कि राम थे तो हम तो नहीं मानेंगे

haan ji bilkul real hai aur ramayana aur mahabharat ek bahut yah real ghatnaye hain aur iska sakshya aadmi milta hai kurukshetra ke maidan me dekh le ya phir main setubandh rameshwaram ke paas me jo satellite se jo email aaya hai jo bandari sena ne jo bridge banaya tha us bridge ka pura real image aa chuka hai aur yahi nahi bahut saare sakshya mile hain us samay ke jo jo ghatnaye hain us samay ke jo jo shehar ki vaah saare shehar aaj bhi maujud hai isliye ramayana aur mahabharat ko aur hum kya hamare supreme court me sammaan diya ki ram the toh hum toh nahi manenge

हां जी बिल्कुल रियल है और रामायण और महाभारत एक बहुत यह रियल घटनाएं हैं और इसका साक्ष्य आदम

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

S K Srivastava

Accountant Retired

0:17
Play

Likes  9  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड गुड इवनिंग कैसे हैं आप सब आशा करती हूं सभी अच्छे होंगे स्वस्थ होंगे घर के परिवार के लोग भी नाते रिश्तेदार भी आपके अच्छे होंगे और आपसे निवेदन है कि आप रोजाना सुबह या कभी भी 5 मिनट का टाइम निकाल कर के अपने अपने देश के लोगों के लिए जो अस्वस्थ हैं जिनको भोजन नहीं मिल रहा है उन सभी के लिए प्रार्थना करें कि वह जल्द से जल्द स्वस्थ हो जाएं और जितने भी एक गरीब मजदूर असहाय लोग हैं उनके भटक रहे हैं उनमें से कोई भी भूखा ना सोए यदि आपके आसपास कोई भूखा गरीब है तो उसको आप भोजन में ठीक है और इस विपत्ति के समय आपका एक अच्छा किया गया कार्य आपके जीवन में कहीं भी आपके काम आ सकता है ठीक है देखें आपके आसपास क्या हो रहा है और कहां आपकी जरूरत है मैं यह नहीं कह रहा फिलहाल योगदान है पूरे देश में मैंने यह नहीं कहा कि आप घर से निकल जाइए ठीक है घर से मत निकालिए लेकिन यदि आप सक्षम है ऐसी संभावनाएं आपके आसपास हैं तब उस कंडीशन में आप कर सकते हैं मान लीजिए आप घर मतलब मोहल्ले पड़ोस में आ गई आप आ जा सकते हैं आपके मोहल्ले पड़ोस में कोई गरीब है वह भोजन भोजन जुटाने में असमर्थ है तो आप उसकी हेल्प कर सकते हैं ठीक है यदि आप उसको एक टाइम का भोजन भी देते हैं तो भोजन से बड़ा किसी की हेल्प करना इससे तो बड़ा में कुछ समझती नहीं ठीक है और प्रार्थना कीजिए कि जो भी आरोप है कि वह जल्द से जल्द स्वस्थ हो कोई भी भूखा ना सोए और यह जो महामारी है यह जल्द से जल्द पूरी धरती से चली जाए ऐसी कामना प्रभु से कीजिए क्योंकि धन्यवाद और आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट या काल्पनिक दिखे शर्मा बताते हैं आपको वैसे तो बहुत सारी बातें करने के लिए रामायण और महाभारत सत्य घटनाएं हैं हमारे देश के महाकाव्य रामायण और महाभारत यह कोई काल्पनिक कहानी नहीं है बहुत युगों पहले हमारी धरती पर स्वयं प्रभु ने मनुष्य के रूप में अवतार लिया था कि क्या और धरती पर धर्म की स्थापना दुष्टों का संहार करने के लिए ही रामायण और महाभारत जैसे महाकाव्य की रचना के लिए क्या स्वयं भगवान ने मनुष्य के रूप में जन्म लिया दैत्यों का असुरों का अधर्म का नाश किया धर्म की स्थापना की जिनका पालन हम आज तक कर रहे हैं उनको भगवान मानते हैं तो यह कोई काल्पनिक कहानी नहीं है पूरी तरह सत्य है हमारे महाकाव्य हैं ठीक है वेद उपनिषद देवताओं की वाणिया है देवताओं की भाषाएं भगवान की भाषा है इसमें आप टेंशन आ गई जी की रामायण महाभारत कोई काल्पनिक कहानी को यदि आपसे बोलता भी है ठीक है तो उसका बहिष्कार कीजिए ठीक है और रामायण महाभारत में अपनी आस्था बनाइए और अपने बच्चों को भी रामायण महाभारत जैसे सीरियल्स में उनकी रुचि बनाई है ताकि अगर आज आप अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देंगे तो आगे आने वाली आपके बच्चों की संताने भी अपनी संतानों को अच्छी शिक्षा दे पाएंगे तो क्या मतलब है यार सुधर गया तो कल आपको अपने आप ही सुधर्मा मिलेगा लेकिन मुझे इस बात का बहुत दुख है कि आज के टाइम में बहुत कम लोग जानते हैं कि रामायण महाभारत क्या है हमारे वेद कितने हैं हमारे पुराण शास्त्र कितने हैं आजकल तुम मोबाइल है इंटरनेट हर चीज हमारे पास है तो 4 अवर्स तो हम अपने बच्चों को मोबाइल लेते देते भी हैं समय से पहले तो उनके संस्कार को ध्यान दीजिए अपने बच्चों को बड़ों बड़ों से किस तरीके से बात की जाती है उनके संस्कारों को लाइए ठीक है तो रामायण क्या है एक संस्कार है रामायण हमारे जीवन का संस्कार है ठीक है रामायण क्या है जीवन को मर्यादा से खाती है जीवन में संस्कारों को जीवन को कि हमारे जो शास्त्र हैं और हमारे जीवन का सार है ठीक है धन्यवाद अगर मेरी बात आपको पसंद आई होगी ठीक है थैंक यू

hello friend good evening kaise hain aap sab asha karti hoon sabhi acche honge swasth honge ghar ke parivar ke log bhi naate rishtedar bhi aapke acche honge aur aapse nivedan hai ki aap rojana subah ya kabhi bhi 5 minute ka time nikaal kar ke apne apne desh ke logo ke liye jo aswasth hain jinako bhojan nahi mil raha hai un sabhi ke liye prarthna kare ki vaah jald se jald swasth ho jayen aur jitne bhi ek garib majdur asahay log hain unke bhatak rahe hain unmen se koi bhi bhukha na soye yadi aapke aaspass koi bhukha garib hai toh usko aap bhojan me theek hai aur is vipatti ke samay aapka ek accha kiya gaya karya aapke jeevan me kahin bhi aapke kaam aa sakta hai theek hai dekhen aapke aaspass kya ho raha hai aur kaha aapki zarurat hai main yah nahi keh raha filhal yogdan hai poore desh me maine yah nahi kaha ki aap ghar se nikal jaiye theek hai ghar se mat nikaliye lekin yadi aap saksham hai aisi sambhavnayen aapke aaspass hain tab us condition me aap kar sakte hain maan lijiye aap ghar matlab mohalle pados me aa gayi aap aa ja sakte hain aapke mohalle pados me koi garib hai vaah bhojan bhojan jutane me asamarth hai toh aap uski help kar sakte hain theek hai yadi aap usko ek time ka bhojan bhi dete hain toh bhojan se bada kisi ki help karna isse toh bada me kuch samajhti nahi theek hai aur prarthna kijiye ki jo bhi aarop hai ki vaah jald se jald swasth ho koi bhi bhukha na soye aur yah jo mahamari hai yah jald se jald puri dharti se chali jaaye aisi kamna prabhu se kijiye kyonki dhanyavad aur aapka prashna hai kya ramayana aur mahabharat real insident ya kalpnik dikhe sharma batatey hain aapko waise toh bahut saari batein karne ke liye ramayana aur mahabharat satya ghatnaye hain hamare desh ke mahakavya ramayana aur mahabharat yah koi kalpnik kahani nahi hai bahut yugon pehle hamari dharti par swayam prabhu ne manushya ke roop me avatar liya tha ki kya aur dharti par dharm ki sthapna dushton ka sanhar karne ke liye hi ramayana aur mahabharat jaise mahakavya ki rachna ke liye kya swayam bhagwan ne manushya ke roop me janam liya daityon ka asuron ka adharma ka naash kiya dharm ki sthapna ki jinka palan hum aaj tak kar rahe hain unko bhagwan maante hain toh yah koi kalpnik kahani nahi hai puri tarah satya hai hamare mahakavya hain theek hai ved upanishad devatao ki vaniya hai devatao ki bhashayen bhagwan ki bhasha hai isme aap tension aa gayi ji ki ramayana mahabharat koi kalpnik kahani ko yadi aapse bolta bhi hai theek hai toh uska bahishkar kijiye theek hai aur ramayana mahabharat me apni astha banaiye aur apne baccho ko bhi ramayana mahabharat jaise siriyals me unki ruchi banai hai taki agar aaj aap apne baccho ko achi shiksha denge toh aage aane wali aapke baccho ki santane bhi apni santano ko achi shiksha de payenge toh kya matlab hai yaar sudhar gaya toh kal aapko apne aap hi sudharma milega lekin mujhe is baat ka bahut dukh hai ki aaj ke time me bahut kam log jante hain ki ramayana mahabharat kya hai hamare ved kitne hain hamare puran shastra kitne hain aajkal tum mobile hai internet har cheez hamare paas hai toh 4 hours toh hum apne baccho ko mobile lete dete bhi hain samay se pehle toh unke sanskar ko dhyan dijiye apne baccho ko badon badon se kis tarike se baat ki jaati hai unke sanskaron ko laiye theek hai toh ramayana kya hai ek sanskar hai ramayana hamare jeevan ka sanskar hai theek hai ramayana kya hai jeevan ko maryada se khati hai jeevan me sanskaron ko jeevan ko ki hamare jo shastra hain aur hamare jeevan ka saar hai theek hai dhanyavad agar meri baat aapko pasand I hogi theek hai thank you

हेलो फ्रेंड गुड इवनिंग कैसे हैं आप सब आशा करती हूं सभी अच्छे होंगे स्वस्थ होंगे घर के परिव

Romanized Version
Likes  114  Dislikes    views  1125
WhatsApp_icon
user

Balram prajapati

Poet And Self Employee

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण महाभारत धर्म ग्रंथ है जिसमें पौराणिक कथाओं के आधार पर अलग-अलग कवियों ने जूते की वाल्मीकि रामायण तुलसीदास रामायण ऐसी बहुत सारे कवियों ने अपनी अपनी भाषा में अपने में वृतांत के अनुसार ग्रंथों को लिखा है तो जिस प्रकार से यह रामायण जो सीरियल बनी है ओरिजिनल किरदार बनाए गए हैं या फिर किताबों में इनके बारे में जो बताना लिखे गए हैं सभी ऐसा कह सकता है कि सभी सत्य है क्योंकि सभी ने अपने अपने हिसाब से इनमें कुछ चीजें काल्पनिक और कुछ चीजें जो वास्तविकता में प्रदर्शित की गई हनुमान जी महाराज की हनुमान जी महाराज का स्वरूप कैसा था यह कोई नहीं जानता किस प्रकार से उनका स्वरूप कैसा दिखता था यह बात अभी तक कहीं पर भी क्लियर नहीं हो पाई है धार्मिक स्वरूप में अगर इसको देखा जाए तो मेरे ख्याल से सारी चीजें जो है वह कहीं ना कहीं सत्य है और कुछ चीजें जो मन में है वह काल्पनिक स्वरूप में दर्शाई गई है जो कि हमें समझने की आवश्यकता होती है

ramayana mahabharat dharm granth hai jisme pouranik kathao ke aadhar par alag alag kaviyon ne joote ki valmiki ramayana tulsidas ramayana aisi bahut saare kaviyon ne apni apni bhasha me apne me vritant ke anusaar granthon ko likha hai toh jis prakar se yah ramayana jo serial bani hai original kirdaar banaye gaye hain ya phir kitabon me inke bare me jo batana likhe gaye hain sabhi aisa keh sakta hai ki sabhi satya hai kyonki sabhi ne apne apne hisab se inmein kuch cheezen kalpnik aur kuch cheezen jo vastavikta me pradarshit ki gayi hanuman ji maharaj ki hanuman ji maharaj ka swaroop kaisa tha yah koi nahi jaanta kis prakar se unka swaroop kaisa dikhta tha yah baat abhi tak kahin par bhi clear nahi ho payi hai dharmik swaroop me agar isko dekha jaaye toh mere khayal se saari cheezen jo hai vaah kahin na kahin satya hai aur kuch cheezen jo man me hai vaah kalpnik swaroop me darshaii gayi hai jo ki hamein samjhne ki avashyakta hoti hai

रामायण महाभारत धर्म ग्रंथ है जिसमें पौराणिक कथाओं के आधार पर अलग-अलग कवियों ने जूते की वाल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
1:35
Play

Likes  9  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Ved

Nutritionist

4:24
Play

Likes  50  Dislikes    views  853
WhatsApp_icon
user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भैया आपने पूछा है कि रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है काल्पनिक कहानी देखें

bhaiya aapne poocha hai ki ramayana aur mahabharat real insident hai kalpnik kahani dekhen

भैया आपने पूछा है कि रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है काल्पनिक कहानी देखें

Romanized Version
Likes  148  Dislikes    views  1271
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सच्ची घटना है दोनों भारतवर्ष का एक बार भ्रमण कीजिए पता चलेगा कि उनका गांव का चार्ट कहां कहां और कैसे कैसे हैं उनके रूट पर घूम कर के देखिए धन्यवाद

bilkul sachi ghatna hai dono bharatvarsh ka ek baar bhraman kijiye pata chalega ki unka gaon ka chart kahaan kahaan aur kaise kaise hain unke root par ghum kar ke dekhiye dhanyavad

बिल्कुल सच्ची घटना है दोनों भारतवर्ष का एक बार भ्रमण कीजिए पता चलेगा कि उनका गांव का चार्ट

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  582
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम माने की रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट नहीं है सत्य नहीं है तो फिर बताइए कि पृथ्वी पर ऐसी जगह कि ऐसे हैं जहां जैसे कुरुक्षेत्र है नासिक के बाद पंचवटी है और रामेश्वरम हैं सेतु है जो मैंने बनाया था यह कैसे मौजूद हैं अगर यह किसी स्थान विशेष में कही जाने वाली लोककथा है यदि यह लोक कथाएं हैं तो सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि सुदूर दक्षिण भारत में लोगों को कैसे पता कि उत्तर भारत में किस तरह की चीजें हैं कैसे जंगल है वहां क्या घटनाएं हूं अगर यह लोक कथाएं हैं तो उत्तर भारत के लोगों को कैसे ताकि दक्षिण भारत में क्या है श्रीलंका कितनी दूर है तो इनको पूरी तरह से हम खाली नहीं कर सकते यह कहते हुए कि यह तो सिर्फ काल्पनिक काल्पनिक कथाएं नहीं है इनका अस्तित्व रहा है इसके प्रमाण मिलते हैं राम और सीता हम बहुत उन्हें ईश्वरी शक्ति चाहे ना माने लेकिन उनमें कुछ तो ईश्वरीय अंश था और वह एक का चमत्कार की तरह भी था उनके होने के प्रमाण मिलते हैं उन स्थानों के प्रमाण मिलते हैं उनके द्वारा किए गए क्रियाकलापों के प्रमाण मिलते हैं और इसलिए रामायण और महाभारत किसी भी तरह से किसी भी रूप से काल्पनिक नहीं है यह इसी पृथ्वी पर इसी धरती पर भारत के इसी भूभाग पर हुए हैं और यह सच है

agar hum maane ki ramayana aur mahabharat real insident nahi hai satya nahi hai toh phir bataye ki prithvi par aisi jagah ki aise hain jaha jaise kurukshetra hai nashik ke baad panchawati hai aur rameshwaram hain setu hai jo maine banaya tha yah kaise maujud hain agar yah kisi sthan vishesh mein kahi jaane wali lokakatha hai yadi yah lok kathaen hain toh sabse bada prashna yah hai ki sudoor dakshin bharat mein logo ko kaise pata ki uttar bharat mein kis tarah ki cheezen hain kaise jungle hai wahan kya ghatnaye hoon agar yah lok kathaen hain toh uttar bharat ke logo ko kaise taki dakshin bharat mein kya hai sri lanka kitni dur hai toh inko puri tarah se hum khaali nahi kar sakte yah kehte hue ki yah toh sirf kalpnik kalpnik kathaen nahi hai inka astitva raha hai iske pramaan milte hain ram aur sita hum bahut unhe ISHWARI shakti chahen na maane lekin unmen kuch toh ishwariya ansh tha aur vaah ek ka chamatkar ki tarah bhi tha unke hone ke pramaan milte hain un sthano ke pramaan milte hain unke dwara kiye gaye kriyaklapon ke pramaan milte hain aur isliye ramayana aur mahabharat kisi bhi tarah se kisi bhi roop se kalpnik nahi hai yah isi prithvi par isi dharti par bharat ke isi bhubhag par hue hain aur yah sach hai

अगर हम माने की रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट नहीं है सत्य नहीं है तो फिर बताइए कि पृथ्वी

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  965
WhatsApp_icon
user

Dr. Sudha Chauhan

Author / Social Worker/Writer

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण महाभारत एक रियल कथा है आज से 5000 साल पहले महाभारत का युद्ध हुआ था इस बात के भी प्रमाण मिलते हैं जो कुरुक्षेत्र में आज हमारा जो एटम बम है उसके लिए जो उसका छोटा से छोटा है तथा उसके कारण आज की कुरुक्षेत्र के आसपास मौजूद हैं इसके अलावा नासा ने भी कहा है कि समुद्र में द्वारका नगरी आज भी है उससे भी कुछ अवशेष मिले हुए हैं नासा का कहना है कि जो समुद्र के ऊपर पुल बांधा गया था तो वह पुल आज की मौजूद है जो श्रीलंका और भारत को जोड़ता है इन सब बातों में नहीं पड़ना चाहिए कि वह रियल है कि नहीं लेकिन यह सारे ग्रंथ हम एक अच्छी शिक्षा देते हैं और एक संदेश देते हैं और इस बात को प्रमाणित करते हैं कि हमारा इतिहास बहुत समृद्ध था शक्तिशाली था और बहुत अच्छे समाज की संरचना वाला था धन्यवाद

ramayana mahabharat ek real katha hai aaj se 5000 saal pehle mahabharat ka yudh hua tha is baat ke bhi pramaan milte hain jo kurukshetra mein aaj hamara jo atom bomb hai uske liye jo uska chota se chota hai tatha uske karan aaj ki kurukshetra ke aaspass maujud hain iske alava NASA ne bhi kaha hai ki samudra mein dwarka nagari aaj bhi hai usse bhi kuch avshesh mile hue hain NASA ka kehna hai ki jo samudra ke upar pool bandha gaya tha toh vaah pool aaj ki maujud hai jo sri lanka aur bharat ko Jodta hai in sab baaton mein nahi padhna chahiye ki vaah real hai ki nahi lekin yah saare granth hum ek achi shiksha dete hain aur ek sandesh dete hain aur is baat ko pramanit karte hain ki hamara itihas bahut samriddh tha shaktishali tha aur bahut acche samaj ki sanrachna vala tha dhanyavad

रामायण महाभारत एक रियल कथा है आज से 5000 साल पहले महाभारत का युद्ध हुआ था इस बात के भी प्र

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Sandeep Sastri

Motivational Speaker

3:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मित्र सवाल अच्छा भी है रेंस का जवाब थोड़ा गुस्से से दिया जा सकता है क्या रामायण या महाभारत रियल इंसीडेंट है या काल्पनिक कहानी है हमारे यहां दो विचारधाराएं चलती हैं एक वो जो मान ली जाती है ऐसे ही एवं मान ली जाती है एक बूंद उसके कुछ सबूत होते हैं कुछ प्रमाण मिलते हैं और जो है किसी ने कह दिया सुन दिया उसके अकॉर्डिंग मूवी अवधारणाएं मंजा हो सकता है कि जो चोरी जैसी हमें बताई गई हो दिखाई गई हो वह वैसी हो या ना भी हो इसके बारे में मैं पुख्ता कुछ भी नहीं कर पाऊंगा अगर हम अपने बल बुद्धि और विवेक से सोच कर देखें कि क्या वाकई ऐसा संभव है तो बहुत कम रह जाती है एक्सीडेंट हो अगर यह काल्पनिक कहानियां है तो यह कहानियां सिर्फ इसलिए बनाई गई ताकि जो है हमें अच्छा करने की प्रेरणा मिले और हमें इस चक्कर में पढ़ना भी नहीं चाहिए कि यह रियल है या फेक है ऐसा है या वैसा है हमें उनसे अच्छी शिक्षा लेनी चाहिए रही बात कोई भी दुखी हमारा हमारी उम्र वालों की ताल नैनीताल है या 50 साल या 100 साल से तो उस युग में उस काल में ना तो हमसे ना तो हम उस समय जीवित होंगे अगर होंगे भी तो हमें भी याद नहीं है हमारी स्मृतियां जो कह चुकी होंगी तो ऐसे ही धीरे-धीरे करके जो है हम इस निष्कर्ष पर निकलते हैं कि कुछ व्यावहारिक ढूंढिए अगर कोई चीज आपको ज्यादा लगती है तो वह आप अपना जो है उसको तो बहुत सारे रंग कार कहते हैं कि ऐसा नहीं हो सकता मैं ऐसा नहीं हो सकता हो सकता है हम नहीं समझ पा रहे हो ऐसा हो सकता है या नहीं हो सकता जैसा आप ने बुद्धि और विवेक के ऊपर है अपने जीवन में जैसे आप प्रयोग करते जाएंगे वैसे-वैसे आपको जो है अपने आप ही एक अच्छा जवाब अपने लिए खोज पाएंगे और ना ही संसार में कोई इतना बड़ा ज्ञानी है और ना कोई प्रमाण देने वाले आपको बहुत मिल जाएंगे पुरानी किताब में लिखा है देखने में लिखा है उन्होंने बोला है इन्होंने बोला है तो यह प्रमाण देने वाले और अपना दावा ठोकने वाले विभिन्न तरह के लोग आपको मिल जाएंगे कि मेरा मानना पहले अपने आप को जाने और जो आपके जब तुमको पता है कि बिजली के तार को हाथ लगाओगे तो आप को झटका लगेगा ऐसा तो नहीं है कि आपको किसने बता दिया इसलिए जब आप उसको महसूस करेंगे वह महसूस होने की जो होती है वह केवल और केवल आपको ही मिलेगी कोई दूसरा दूसरे को आप उसके बारे में बता नहीं पाओगे इसलिए अपने जीवन में देखिए क्या बीमारी है अपने जीवन के बारे में सोचो कि हम अपना जीवन कैसे अच्छा बना सकते हैं यह कथाएं हैं चलती रही है चलती है और चलती रहेंगी अनेक अनेक धन्यवाद अनेक अनेक आभार मैं आपका अपना संदीप कुमार

dekhiye mitra sawaal accha bhi hai reigns ka jawab thoda gusse se diya ja sakta hai kya ramayana ya mahabharat real insident hai ya kalpnik kahani hai hamare yahan do vichardharaen chalti hain ek vo jo maan li jaati hai aise hi evam maan li jaati hai ek boond uske kuch sabut hote hain kuch pramaan milte hain aur jo hai kisi ne keh diya sun diya uske according movie avdharnaen manja ho sakta hai ki jo chori jaisi hamein batai gayi ho dikhai gayi ho vaah vaisi ho ya na bhi ho iske bare mein main pukhta kuch bhi nahi kar paunga agar hum apne bal buddhi aur vivek se soch kar dekhen ki kya vaakai aisa sambhav hai toh bahut kam reh jaati hai accident ho agar yah kalpnik kahaniya hai toh yah kahaniya sirf isliye banai gayi taki jo hai hamein accha karne ki prerna mile aur hamein is chakkar mein padhna bhi nahi chahiye ki yah real hai ya fake hai aisa hai ya waisa hai hamein unse achi shiksha leni chahiye rahi baat koi bhi dukhi hamara hamari umr walon ki taal nainital hai ya 50 saal ya 100 saal se toh us yug mein us kaal mein na toh humse na toh hum us samay jeevit honge agar honge bhi toh hamein bhi yaad nahi hai hamari smritiyan jo keh chuki hongi toh aise hi dhire dhire karke jo hai hum is nishkarsh par nikalte hain ki kuch vyavaharik dhundhiye agar koi cheez aapko zyada lagti hai toh vaah aap apna jo hai usko toh bahut saare rang car kehte hain ki aisa nahi ho sakta main aisa nahi ho sakta ho sakta hai hum nahi samajh paa rahe ho aisa ho sakta hai ya nahi ho sakta jaisa aap ne buddhi aur vivek ke upar hai apne jeevan mein jaise aap prayog karte jaenge waise waise aapko jo hai apne aap hi ek accha jawab apne liye khoj payenge aur na hi sansar mein koi itna bada gyani hai aur na koi pramaan dene waale aapko bahut mil jaenge purani kitab mein likha hai dekhne mein likha hai unhone bola hai inhone bola hai toh yah pramaan dene waale aur apna daawa thokne waale vibhinn tarah ke log aapko mil jaenge ki mera manana pehle apne aap ko jaane aur jo aapke jab tumko pata hai ki bijli ke taar ko hath lagaoge toh aap ko jhatka lagega aisa toh nahi hai ki aapko kisne bata diya isliye jab aap usko mehsus karenge vaah mehsus hone ki jo hoti hai vaah keval aur keval aapko hi milegi koi doosra dusre ko aap uske bare mein bata nahi paoge isliye apne jeevan mein dekhiye kya bimari hai apne jeevan ke bare mein socho ki hum apna jeevan kaise accha bana sakte hain yah kathaen hain chalti rahi hai chalti hai aur chalti rahegi anek anek dhanyavad anek anek abhar main aapka apna sandeep kumar

देखिए मित्र सवाल अच्छा भी है रेंस का जवाब थोड़ा गुस्से से दिया जा सकता है क्या रामायण या म

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

धर्मदेव सिंह भाटी

कुश्ती प्रशिक्षक

4:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रसन्न किया है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है या एक काल्पनिक कहानी है वर्तमान समय में बहुत से ऐसे साक्ष्य मौजूद हैं जिनको देखकर हमें पता लगता है कि रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है वास्तविक हैं इसमें कहीं पर भी कोई झूठ नहीं है जैसे रामायण काल को ही ले लीजिए रामायण के कुछ जीता जागता उदाहरण आज भी मौजूद हैं जैसे राम सेतु का होना जब रामचंद्र जी ने श्री लंका पर चढ़ाई की थी सीता माता को लाने के लिए तो रामचंद्र जी की सेना ने वानर सेना ने मिलकर राम सेतु का निर्माण किया था वे रामसेतु आज भी मौजूद है जिसे कांग्रेस सरकार ने तोड़ने की कोशिश भी की थी कि निकाल किंतु किन्ही कारणवश उस रामसेतु को नहीं तोड़ा गया और रामेश्वरम एक ऐसा जीता जागता उदाहरण है जिससे राम के होने का शौक से मिलता है अयोध्या नगरी का नाम आपने सुना ही होगा जहां पर भविष्य में भव्य राम मंदिर का निर्माण होने वाला है अयोध्या राम की जन्मभूमि थी और जब रावण सीता माता को अपहरण करके श्री लंका ले जाता है यानी लंका ले जाता है वह पंचवटी स्थान आज भी सुरक्षित है ऐसे बहुत से उदाहरण है जिनसे हमें पता लगता है कि महाभारत रियल है वास्तविक है और अब हम बात करते हैं महाभारत की महाभारत के भी ऐसे अनगिनत उदाहरण अनगिनत साक्ष्य हैं जिनको देखकर हम अंदाजा लगा सकते हैं पता लगा सकते हैं कि महाभारत वास्तविकता में थी महाभारत वास्तव में हुआ जैसे सबसे बड़ा स्थान कुरुक्षेत्र जो आज भी हरियाणा में स्थित है यहां पर महाभारत का दुआ जो युद्ध 18 दिनों तक चला था इसी युद्ध भूमि में भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था और हम बिजनौर के रहने वाले हैं बिजनौर में महात्मा विदुर की कुटी है जहां पर विदुर जी निवास करते थे वह स्थान आज भी सुरक्षित है उस स्थान पर 12 मास यानी 12 महीने बथुआ पैदा होता है यानी बथुए का साग वहां पर 12 महीना बनाया जा सकता है वहां से बथुआ तोड़कर कहा जाता है कि यह घटना है कि श्री कृष्ण जी आए थे विदुर जी के पास था वह ने विदुर जी ने कथित रूप पैसा का भोजन करवाया था और बिजनौर ही के पास हस्तिनापुर सुरक्षित है जहां पर पांडव और कौरवों की राज रानी थी वह पीला उत्तल पुथल खोज हो गया है किंतु आज भी सुरक्षित है उसकी ईटों को और उसके मलबे को देखकर हम अंदाजा लगा सकते हैं कि महाभारत था और महाभारत हुआ था हस्तिनापुर में ही दानवीर कर्ण का मंदिर बना हुआ है और शिव जी का वह मंदिर भी स्थित है जहां पर पांचो पांडव पूजा किया करते थे बहुत प्राचीन मंदिर है तो हस्तिनापुर में भी बहुत से साक्ष्य आते हैं जिन्हें देखकर हम पता लगा सकते हैं कि महाभारत हुआ था और बागपत जिले में एक थाने बरनावा जहां पर पांच व पांडवों को माता कुंती के साथ मारने का प्रयास किया गया था कौरवों द्वारा वह स्थान भी आज सुरक्षित है जिस रंग से पांचो पांडव निकल कर आए थे वह सुरंग भी आज है किंतु जर्जर हालात में है उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह घटना भी सत्य थी और जिस स्थान पर जिस स्थान पर बरनावा कांड हुआ था वह थाना सुरक्षित है वहां पर आर्य पद्धति से एक गुरुकुल बनाया हुआ है और गुरुकुल बहुत अच्छी तरह संचालित है बड़े ऊंचे से टीले पर यह विद्यमान है महाभारत के और बहुत से उदाहरण हैं जिन्हें देखकर हम अंदाजा लगा सकते हैं कि महाभारत रियल है

aapne prasann kiya hai kya ramayana aur mahabharat real insident hai ya ek kalpnik kahani hai vartaman samay mein bahut se aise sakshya maujud hain jinako dekhkar hamein pata lagta hai ki ramayana aur mahabharat real insident hai vastavik hain isme kahin par bhi koi jhuth nahi hai jaise ramayana kaal ko hi le lijiye ramayana ke kuch jita jaagta udaharan aaj bhi maujud hain jaise ram setu ka hona jab ramachandra ji ne shri lanka par chadhai ki thi sita mata ko lane ke liye toh ramachandra ji ki sena ne vanar sena ne milkar ram setu ka nirmaan kiya tha ve ramsetu aaj bhi maujud hai jise congress sarkar ne todne ki koshish bhi ki thi ki nikaal kintu kinhi karanvash us ramsetu ko nahi toda gaya aur rameshwaram ek aisa jita jaagta udaharan hai jisse ram ke hone ka shauk se milta hai ayodhya nagari ka naam aapne suna hi hoga jaha par bhavishya mein bhavya ram mandir ka nirmaan hone vala hai ayodhya ram ki janmbhoomi thi aur jab ravan sita mata ko apahran karke shri lanka le jata hai yani lanka le jata hai vaah panchawati sthan aaj bhi surakshit hai aise bahut se udaharan hai jinse hamein pata lagta hai ki mahabharat real hai vastavik hai aur ab hum baat karte hain mahabharat ki mahabharat ke bhi aise anaginat udaharan anaginat sakshya hain jinako dekhkar hum andaja laga sakte hain pata laga sakte hain ki mahabharat vastavikta mein thi mahabharat vaastav mein hua jaise sabse bada sthan kurukshetra jo aaj bhi haryana mein sthit hai yahan par mahabharat ka dua jo yudh 18 dino tak chala tha isi yudh bhoomi mein bhagwan shri krishna ne arjun ko geeta ka updesh diya tha aur hum bijnor ke rehne waale hain bijnor mein mahatma vidur ki kuti hai jaha par vidur ji niwas karte the vaah sthan aaj bhi surakshit hai us sthan par 12 mass yani 12 mahine bathuaa paida hota hai yani bathuye ka saag wahan par 12 mahina banaya ja sakta hai wahan se bathuaa todkar kaha jata hai ki yah ghatna hai ki shri krishna ji aaye the vidur ji ke paas tha vaah ne vidur ji ne kathit roop paisa ka bhojan karvaya tha aur bijnor hi ke paas hastinapur surakshit hai jaha par pandav aur kauravon ki raj rani thi vaah peela uttal puthal khoj ho gaya hai kintu aaj bhi surakshit hai uski iton ko aur uske malabe ko dekhkar hum andaja laga sakte hain ki mahabharat tha aur mahabharat hua tha hastinapur mein hi daanveer karn ka mandir bana hua hai aur shiv ji ka vaah mandir bhi sthit hai jaha par paancho pandav puja kiya karte the bahut prachin mandir hai toh hastinapur mein bhi bahut se sakshya aate hain jinhen dekhkar hum pata laga sakte hain ki mahabharat hua tha aur bagpat jile mein ek thane barnava jaha par paanch va pandavon ko mata kuntee ke saath maarne ka prayas kiya gaya tha kauravon dwara vaah sthan bhi aaj surakshit hai jis rang se paancho pandav nikal kar aaye the vaah surang bhi aaj hai kintu jarjar haalaat mein hai use dekhkar andaja lagaya ja sakta hai ki yah ghatna bhi satya thi aur jis sthan par jis sthan par barnava kaand hua tha vaah thana surakshit hai wahan par arya paddhatee se ek gurukul banaya hua hai aur gurukul bahut achi tarah sanchalit hai bade unche se teele par yah vidyaman hai mahabharat ke aur bahut se udaharan hain jinhen dekhkar hum andaja laga sakte hain ki mahabharat real hai

आपने प्रसन्न किया है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है या एक काल्पनिक कहानी है वर्त

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  543
WhatsApp_icon
user

Sumita Pal

Pharmacist

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या रामायण और महाभारत हंस एजेंट है या एक काल्पनिक कहानी रामायण महाभारत सीरियल से डेट है यह कोई काल्पनिक कहानी नहीं है

kya ramayana aur mahabharat hans agent hai ya ek kalpnik kahani ramayana mahabharat serial se date hai yah koi kalpnik kahani nahi hai

क्या रामायण और महाभारत हंस एजेंट है या एक काल्पनिक कहानी रामायण महाभारत सीरियल से डेट है य

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user

Deep Chugh

Writer & Relation Consultant

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन महाभारत और रामायण के वैसे तो बहुत ज्यादा साक्ष्य मिले भी है लेकिन किसी भी चीज को इतिहास में क्या हुआ था हां यह हो सकता है कि एक महाभारत का युद्ध हुआ होगा लेकिन उसमें बहुत सी चीजों को हो सकता है आपने मैसेज भी जोड़ दिया गया हो युद्ध महाभारत का हुआ था महाभारत के युद्ध के बहुत ज्यादा साक्ष्य हैं कुरुक्षेत्र के अंदर अगर आप आते हैं तो वहां से ही आपको बहुत ज्यादा साक्ष्य देखने को मिल जाते हैं कि कोई महाभारत का युद्ध हुआ था रामायण के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता क्योंकि एक सिर्फ ग्रंथ लिखा गया था एक कहानी लिख दी गई थी तो उसके आधार पर रमायण को ही माना जाता है लेकिन जिस तरह से श्रीलंका का जो दर्शाया गया है उसमें और जिस तरह के भी यह सारी चीजों को दिखाया गया है रामायण के अंदर तो उससे लगता है कि शायद कभी ना कभी ऐसी कुछ हुआ भी होगा क्योंकि कहानी दिमाग में तभी आई होगी कुछ ना कुछ पहले रियल इंसीडेंट सामने होगा उनके तो इस बारे में वैसे परफेक्टली कुछ कहा नहीं जा सकता कुछ मानते हैं कि असम बिल्कुल कुछ नहीं हुआ और कुछ मानते हैं कि डेफिनेटली आशाओं को बिल्कुल करेक्ट महाभारत और रामायण बिल्कुल करेक्ट है ऐसा सब कुछ हुआ है तो इसके लिए आपको बहुत ज्यादा रिसर्च करने वाले इतिहासकारों से बात करनी पड़ेगी और बहुत सी चीजों को आपको देखना पड़ेगा इस तरह इस ऐप पर आप को सिर्फ कुछ ही देर में यह आपकी इस सवाल का आंसर कभी नहीं मिल पाएगा

lekin mahabharat aur ramayana ke waise toh bahut zyada sakshya mile bhi hai lekin kisi bhi cheez ko itihas mein kya hua tha haan yah ho sakta hai ki ek mahabharat ka yudh hua hoga lekin usme bahut si chijon ko ho sakta hai aapne massage bhi jod diya gaya ho yudh mahabharat ka hua tha mahabharat ke yudh ke bahut zyada sakshya hain kurukshetra ke andar agar aap aate hain toh wahan se hi aapko bahut zyada sakshya dekhne ko mil jaate hain ki koi mahabharat ka yudh hua tha ramayana ke bare mein kuch kaha nahi ja sakta kyonki ek sirf granth likha gaya tha ek kahani likh di gayi thi toh uske aadhar par ramayan ko hi mana jata hai lekin jis tarah se sri lanka ka jo darshaya gaya hai usme aur jis tarah ke bhi yah saree chijon ko dikhaya gaya hai ramayana ke andar toh usse lagta hai ki shayad kabhi na kabhi aisi kuch hua bhi hoga kyonki kahani dimag mein tabhi I hogi kuch na kuch pehle real insident saamne hoga unke toh is bare mein waise perfectly kuch kaha nahi ja sakta kuch maante hain ki assam bilkul kuch nahi hua aur kuch maante hain ki definetli ashaon ko bilkul correct mahabharat aur ramayana bilkul correct hai aisa sab kuch hua hai toh iske liye aapko bahut zyada research karne waale itihasakaron se baat karni padegi aur bahut si chijon ko aapko dekhna padega is tarah is app par aap ko sirf kuch hi der mein yah aapki is sawaal ka answer kabhi nahi mil payega

लेकिन महाभारत और रामायण के वैसे तो बहुत ज्यादा साक्ष्य मिले भी है लेकिन किसी भी चीज को इति

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  193
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मेरे मित्र रामायण और महाभारत की नई वाकदा घटी है आप भी आप उचित में चले जाएं जो हरियाणा प्रदेश में है वहां पर आपको महाभारत के जो स्थान है वह तो मैं आप आज भी देखे जा सकते हैं वहां की भूमि आज भी इतनी लाल है कहते हैं लोग कि यहीं पर युद्ध हुआ था कौरव और पांडवों का बाकी मिट्टी आज भी लाल बनी हुई है वहां पर आप देख सकते हैं और भेज आप सब देखना चाहते हैं तो आज भी रामायण और महाभारत के पात्र आज भी जिंदा है जो लोग किडनैपिंग करते हैं मर्डर करते हैं रेप करते हैं स्मगलिंग करते हैं चोरी करते हैं बेईमानी करते हैं लूटते चल फरेब कपट पूर्ण जो जल्दी कीजिए आज भी दुर्योधन के रोल को दुशासन के रोल को जरासंध के रोल को रावण के रोल को किए जा रहे हैं जो लोग सनमार्गम सदाचार पूर्ण सत्य बोलते हैं ईमानदारी के साथ रहते हैं सच्चरित्र जीवन जिए जा रहे हैं वे श्री राम के रोल को 16 को पांडवों के लोन को आज भी जिए जा रहे हैं उनके पात्र आज भी तुमको दिखाई दे सकते हैं अब यह दीगर बात है कि कुछ लोग राम और कृष्ण की भूमि में रह कर के भी राम और कृष्ण के चरित्र से शिक्षा नहीं लेते हैं अभी तो रावण कंश दुर्योधन दुशासन जरासंध शीशपाल रावण के रोल को जी रहे हैं यह बड़ा दुर्भाग्य का विषय है बड़ी शर्म का

nahi mere mitra ramayana aur mahabharat ki nayi vakda ghati hai aap bhi aap uchit mein chale jayen jo haryana pradesh mein hai wahan par aapko mahabharat ke jo sthan hai vaah toh main aap aaj bhi dekhe ja sakte hain wahan ki bhoomi aaj bhi itni laal hai kehte hain log ki yahin par yudh hua tha kaurav aur pandavon ka baki mitti aaj bhi laal bani hui hai wahan par aap dekh sakte hain aur bhej aap sab dekhna chahte hain toh aaj bhi ramayana aur mahabharat ke patra aaj bhi zinda hai jo log kidnaiping karte hain murder karte hain rape karte hain smuggling karte hain chori karte hain baimani karte hain lootate chal fareb kapat purn jo jaldi kijiye aaj bhi duryodhan ke roll ko dushasan ke roll ko jarasandh ke roll ko ravan ke roll ko kiye ja rahe hain jo log sanamargam sadachar purn satya bolte hain imaandaari ke saath rehte hain sachcharitra jeevan jiye ja rahe hain ve shri ram ke roll ko 16 ko pandavon ke loan ko aaj bhi jiye ja rahe hain unke patra aaj bhi tumko dikhai de sakte hain ab yah digar baat hai ki kuch log ram aur krishna ki bhoomi mein reh kar ke bhi ram aur krishna ke charitra se shiksha nahi lete hain abhi toh ravan kansh duryodhan dushasan jarasandh shishpal ravan ke roll ko ji rahe hain yah bada durbhagya ka vishay hai badi sharm ka

नहीं मेरे मित्र रामायण और महाभारत की नई वाकदा घटी है आप भी आप उचित में चले जाएं जो हरियाणा

Romanized Version
Likes  177  Dislikes    views  2798
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत रियल इंस्टिट्यूट सैया एक काल्पनिक कहानी है आध्यात्मिक क्षेत्र में देखेंगे बिल्कुल सही आप श्रीमद भगवत गीता पढ़ कर देख सकते हैं रामायण पढ़ कर देख सकते हैं आपको ऐसा लगेगा कि यह बात एक आपको कोई और नहीं मिल सकती या तो आप गूगल में सर्च करके देख सकते हैं आप कोई की न्यूज़ में दिखाया था कि जो द्वारिका नगरी है वह एक समुद्र के नीचे में ऐसे करके दिखा रहे थे वह तो नगर अध्यक्ष सौ पर्सेंट सही है विज्ञान की दृष्टि से देखें तो कुछ और हो सकता है लेकिन समान मिलते हैं वह ऐसे कर के प्रमाण मिलते हैं कि रामायण और महाभारत में गूगल के सर्च करके और अच्छे से जान सकते हैं धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai kya ramayana aur mahabharat real institute saiya ek kalpnik kahani hai aadhyatmik kshetra me dekhenge bilkul sahi aap srimad bhagwat geeta padh kar dekh sakte hain ramayana padh kar dekh sakte hain aapko aisa lagega ki yah baat ek aapko koi aur nahi mil sakti ya toh aap google me search karke dekh sakte hain aap koi ki news me dikhaya tha ki jo dwarika nagari hai vaah ek samudra ke niche me aise karke dikha rahe the vaah toh nagar adhyaksh sau percent sahi hai vigyan ki drishti se dekhen toh kuch aur ho sakta hai lekin saman milte hain vaah aise kar ke pramaan milte hain ki ramayana aur mahabharat me google ke search karke aur acche se jaan sakte hain dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत रियल इंस्टिट्यूट सैया एक काल्पनिक कहानी है आ

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user
1:10
Play

Likes  10  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है या काल्पनिक कहानी है तुम मैं बताता हूं कि यह काल्पनिक कहानी तो बिल्कुल नहीं हो सकती लेकिन इसको एक सीरियल के तौर पर टेलीविजन पर जरूर दिखाया गया है और उसी तरह बिल्कुल रियल में इनकी अवशेष हमारे देश में मिलते हैं जैसे अयोध्या का राम मंदिर और समुद्र में सोने की लंका के कुछ अवशेष मिले हैं तो मैं समझता हूं कि एक रियल इंसीडेंट है थैंक यू धन्यवाद

hello aapka prashna hai kya ramayana aur mahabharat real insident hai ya kalpnik kahani hai tum main batata hoon ki yah kalpnik kahani toh bilkul nahi ho sakti lekin isko ek serial ke taur par television par zaroor dikhaya gaya hai aur usi tarah bilkul real me inki avshesh hamare desh me milte hain jaise ayodhya ka ram mandir aur samudra me sone ki lanka ke kuch avshesh mile hain toh main samajhata hoon ki ek real insident hai thank you dhanyavad

हेलो आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है या काल्पनिक कहानी है तुम मैं ब

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
user

Ayush kumar dubey

Actor, Singer, Artist and C E O of (A S S G) Motiviational Speker Lover Of Nation INDIA

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो आई एम आयुष कुमार दुबे आपका प्रश्न है कि क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट हैं या एक काल्पनिक का दायित्व है कि एक सच्ची कहानी है या काल्पनिक मैं आपको बता दूं यह बिल्कुल सत्य कहानी है यह आजकल की फिल्मों जैसी नहीं है कि अचानक कभी मन जाता है सभी फिल्म देना हो जाते हैं और मैं आपको बता दूं कि तुलना किसी बीपी हाथ से नहीं की जा सकती महाभारत और रामायण की फिल्म जो होती है अधिकतर देख लो वह हमें नेगेटिविटी की ओर ले जाना चाहती है तो देखोगे जरूर जाओगे लेकिन रामायण और महाभारत की एक ऐसा भी अर्जेंट है जो हमें पॉजिटिव सिंह की ओर ले जाता है जो हमें यह हमेशा याद दिलाता है रामायण में औरतों का सम्मान करना चाहिए महाभारत हमें भी यही सिखाता है कि हमें औरतों का सम्मान करना चाहिए इसमें बहुत बड़ी बात है दोनों में जो कॉमन थिंग है मेरे द कॉमन थीम बिटवीन द रामायण महाभारत वूमेन औरतों का सम्मान थैंक्यू जय हिंद

hello I M ayush kumar dubey aapka prashna hai ki kya ramayana aur mahabharat real insident hai ya ek kalpnik ka dayitva hai ki ek sachi kahani hai ya kalpnik main aapko bata doon yah bilkul satya kahani hai yah aajkal ki filmo jaisi nahi hai ki achanak kabhi man jata hai sabhi film dena ho jaate hai aur main aapko bata doon ki tulna kisi BP hath se nahi ki ja sakti mahabharat aur ramayana ki film jo hoti hai adhiktar dekh lo vaah hamein negativity ki aur le jana chahti hai toh dekhoge zaroor jaoge lekin ramayana aur mahabharat ki ek aisa bhi urgent hai jo hamein positive Singh ki aur le jata hai jo hamein yah hamesha yaad dilata hai ramayana mein auraton ka sammaan karna chahiye mahabharat hamein bhi yahi sikhata hai ki hamein auraton ka sammaan karna chahiye isme bahut baadi baat hai dono mein jo common thing hai mere the common theme between the ramayana mahabharat women auraton ka sammaan thainkyu jai hind

हेलो आई एम आयुष कुमार दुबे आपका प्रश्न है कि क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट हैं या ए

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
user
1:12
Play

Likes  53  Dislikes    views  1048
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण और महाभारत दोनों 70 के ऊपर आधारित है इसमें कोई काल्पनिक आता ही नहीं है संपूर्ण सत्य पर आधारित है

ramayana aur mahabharat dono 70 ke upar aadharit hai isme koi kalpnik aata hi nahi hai sampurna satya par aadharit hai

रामायण और महाभारत दोनों 70 के ऊपर आधारित है इसमें कोई काल्पनिक आता ही नहीं है संपूर्ण सत्य

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  10  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user
0:47
Play

Likes  56  Dislikes    views  1016
WhatsApp_icon
user
6:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत बिल्कुल जिस तरह से हम जीवन जी रहे हैं उसी तरह से भगवान राम श्री कृष्ण और पांडव पर अपना जीवन दिए गए हैं उनका सामना उन्होंने पूरे धैर्य और विवेक के साथ किया है और विजय भी हासिल की है और जो दुश्मनों के थे उनका अंत भी उसी में हुआ और इस बात के प्रमाण अगर हम आपको देखने हैं तो आप भारत का भ्रमण कीजिए जिस जिस क्षेत्र में यह घटनाएं हुई है उस एरिया में चाहिए और वहां के लोगों से पूछिए बिल्कुल आपको पूरा प्रमाण मिलेगा हमारे वैज्ञानिकों ने भी भूत शोध किया है और फिर इस बात को एकदम कंफर्म किया है कि हमारी रामायण और महाभारत है वह एक रियल इंसीडेंट ही है कोई काल्पनिक कथा नहीं है दूसरी बात आपको कैसी है क्योंकि आपने तो तभी खुश किया ना कि जब आपको यह लग रहा है कि क्या काल्पनिक भी हो सकता है तो आप इस बात को इस तरीके से समझ सकते हैं आपने कभी गांधीजी को देखा है क्या स्वामी विवेकानंद जी को देखा है यह जो सरस्वती जी थे दयानंद सरस्वती उनको कभी देखा है जो हमारे समाज सुधारक रहे हैं जो न्यूनतम को आप कभी देखे हो और बाकी कितने सारे साइंटिस्ट है उनको आपने कभी देखा है डॉक्टर राधाकृष्णन सर्वपल्ली जी से आप मिले हो कभी नहीं मिले तो उन सबके बारे में जो भी है वह सारी बुक्स में पढ़ते हैं हमारी डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम को थोड़ा ही वक्त हुआ है लेकिन आज से अगर 2 बरस बीत जाएंगे तो उसके बाद आने वाली छुट्टियां होंगी उनको हमें बताना होगा सोबर छोड़ो अभी जो छोटे बच्चे हैं पूजा सिक्स सिक्स सेवन एट में आएंगे तब उनकी चैप्टर चलेगा एपीजे अब्दुल कलाम पाक की उसकी मदद नहीं देखा है तो वैसे बताएगी और उसने भी नहीं पढ़ा है तो वह चीज वैसे बताएगी आगे से आगे भी ऐसे ही चली जाती है आज हमारी स्थिति तो यह है कि अगर हमसे हमारे दादा जी के दादाजी का नाम पूछ लिया जाए तो हमें नहीं पता तो हम इन चीजों में विश्वास कैसे करेंगे नहीं करेंगे इसलिए पहले हमें हमारी वीडियो के बारे में जानना होगा और फिर उनके बारे में जानना होगा कि उनके क्या सिद्धांत थे वह किस चीज को मानते थे कि आज आप हर चीज को पुष्कर के मरने की बात करते हो तो उन्होंने भी तो कुछ ना कुछ सोचकर ही तो किसी भगवान के आगे हाथ जोड़ना शुरु किया होगा जो मनुष्य बड़ा स्वार्थी आदमी सोच विचार करके किसी बात का डिसीजन लेता है आप सोच सकते हैं कई घरों में आप देखते हैं क्यों बालाजी के आगे भी जय हो बालाजी जय श्री राम जय श्री राम जय माता दी जय हो लेकिन ऐसा नहीं है कि कोई देवता नहीं है सब है सबने अपना अपना कर्म किया है वैसे ही जैसे आप अपने घर में 5 सदस्य हर घर में 555 5710 उस हिसाब से अपनी फैमिली के अकॉर्डिंग हर सदस्य हैं जिन्होंने भी अच्छा काम किया उनका नाम हुआ अगर कोई आदमी कहता है कि मैं कंद के पद चिन्हों पर चलता है अगर किसी बच्चे ने इस लाइन को पकड़कर और उसने खूब मेहनत करें और अपने लक्ष्य को प्राप्त किया और जब उसका एंट्री हुआ तो उसने पूछा कि भाई आपने इतनी बड़ी है तो आपका शक्ल बहुत रहा है तुझे मोटिवेशन बात क्या थी किस प्रकार के साथ भी आप आगे बढ़ते रहें तो डायरेक्ट क्या कहेगा स्वामी विवेकानंद जी को फॉलो करता हूं मेरे दिमाग में बैठ गए तो क्या स्वामी विवेकानंद जी ही सब कुछ है और कोई नहीं नहीं ऐसा नहीं है इंसान की भगवान की बात आपके दिमाग में बैठती है आपके जीवन को आगे बढ़ाने के लिए आपके लिए वह महान है इसलिए हम कहते हैं कि जरूरी नहीं है कि आप राम कुमानी आप किसी को मान लीजिए हमारे हिंदू धर्म में तभी तो इतनी छोटी आपको मानना मरने नहीं है आपको इनका जीवन चरित्र पढ़ना है उनके जीवन चरित्र में जो बातें थी उनको अपने जीवन में उतारने की कोशिश करनी है कि इनके जीवन में जब संघर्ष आया तो इन्होंने कैसे सामना किया वैसे ही हमारे जीवन का संघर्ष का सामना भी हमें कोई कहानी अभी सुनाई जाती है जब उसका कोई मोरे हमें लेना होता है इसलिए सारी चीजें रियल है ऐसा कुछ भी नहीं है इनमें कोई काल्पनिक नहीं है रामायण बहुत बड़ा ग्रंथ है और उन्होंने बहुत अच्छी-अच्छी बातें हमें सीखने को मिलती है महाभारत भी बहुत अच्छा ग्रंथ है स्कूल पढ़ने से भी हमें बहुत कुछ सीखने को मिलते हैं हमारा जीवन परिवर्तन का एक रास्ता है वह रामायण महाभारत गीता यह सब हो सकता है आप पढ़िए इनको और फिर इनके बारे में पता कीजिए धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai kya ramayana aur mahabharat bilkul jis tarah se hum jeevan ji rahe hain usi tarah se bhagwan ram shri krishna aur pandav par apna jeevan diye gaye hain unka samana unhone poore dhairya aur vivek ke saath kiya hai aur vijay bhi hasil ki hai aur jo dushmano ke the unka ant bhi usi me hua aur is baat ke pramaan agar hum aapko dekhne hain toh aap bharat ka bhraman kijiye jis jis kshetra me yah ghatnaye hui hai us area me chahiye aur wahan ke logo se puchiye bilkul aapko pura pramaan milega hamare vaigyaniko ne bhi bhoot shodh kiya hai aur phir is baat ko ekdam confirm kiya hai ki hamari ramayana aur mahabharat hai vaah ek real insident hi hai koi kalpnik katha nahi hai dusri baat aapko kaisi hai kyonki aapne toh tabhi khush kiya na ki jab aapko yah lag raha hai ki kya kalpnik bhi ho sakta hai toh aap is baat ko is tarike se samajh sakte hain aapne kabhi gandhiji ko dekha hai kya swami vivekananda ji ko dekha hai yah jo saraswati ji the dayanand saraswati unko kabhi dekha hai jo hamare samaj sudharak rahe hain jo nyuntam ko aap kabhi dekhe ho aur baki kitne saare scientist hai unko aapne kabhi dekha hai doctor radhakrishnan sarvapalli ji se aap mile ho kabhi nahi mile toh un sabke bare me jo bhi hai vaah saari books me padhte hain hamari doctor apj abdul kalam ko thoda hi waqt hua hai lekin aaj se agar 2 baras beet jaenge toh uske baad aane wali chhutiyan hongi unko hamein batana hoga sober chodo abhi jo chote bacche hain puja six six seven ate me aayenge tab unki chapter chalega apj abdul kalam pak ki uski madad nahi dekha hai toh waise batayegi aur usne bhi nahi padha hai toh vaah cheez waise batayegi aage se aage bhi aise hi chali jaati hai aaj hamari sthiti toh yah hai ki agar humse hamare dada ji ke dadaji ka naam puch liya jaaye toh hamein nahi pata toh hum in chijon me vishwas kaise karenge nahi karenge isliye pehle hamein hamari video ke bare me janana hoga aur phir unke bare me janana hoga ki unke kya siddhant the vaah kis cheez ko maante the ki aaj aap har cheez ko pushkar ke marne ki baat karte ho toh unhone bhi toh kuch na kuch sochkar hi toh kisi bhagwan ke aage hath jodna shuru kiya hoga jo manushya bada swaarthi aadmi soch vichar karke kisi baat ka decision leta hai aap soch sakte hain kai gharon me aap dekhte hain kyon balaji ke aage bhi jai ho balaji jai shri ram jai shri ram jai mata di jai ho lekin aisa nahi hai ki koi devta nahi hai sab hai sabane apna apna karm kiya hai waise hi jaise aap apne ghar me 5 sadasya har ghar me 555 5710 us hisab se apni family ke according har sadasya hain jinhone bhi accha kaam kiya unka naam hua agar koi aadmi kahata hai ki main kand ke pad chinho par chalta hai agar kisi bacche ne is line ko pakadakar aur usne khoob mehnat kare aur apne lakshya ko prapt kiya aur jab uska entry hua toh usne poocha ki bhai aapne itni badi hai toh aapka shakl bahut raha hai tujhe motivation baat kya thi kis prakar ke saath bhi aap aage badhte rahein toh direct kya kahega swami vivekananda ji ko follow karta hoon mere dimag me baith gaye toh kya swami vivekananda ji hi sab kuch hai aur koi nahi nahi aisa nahi hai insaan ki bhagwan ki baat aapke dimag me baithati hai aapke jeevan ko aage badhane ke liye aapke liye vaah mahaan hai isliye hum kehte hain ki zaroori nahi hai ki aap ram kumani aap kisi ko maan lijiye hamare hindu dharm me tabhi toh itni choti aapko manana marne nahi hai aapko inka jeevan charitra padhna hai unke jeevan charitra me jo batein thi unko apne jeevan me utarane ki koshish karni hai ki inke jeevan me jab sangharsh aaya toh inhone kaise samana kiya waise hi hamare jeevan ka sangharsh ka samana bhi hamein koi kahani abhi sunayi jaati hai jab uska koi more hamein lena hota hai isliye saari cheezen real hai aisa kuch bhi nahi hai inmein koi kalpnik nahi hai ramayana bahut bada granth hai aur unhone bahut achi achi batein hamein sikhne ko milti hai mahabharat bhi bahut accha granth hai school padhne se bhi hamein bahut kuch sikhne ko milte hain hamara jeevan parivartan ka ek rasta hai vaah ramayana mahabharat geeta yah sab ho sakta hai aap padhiye inko aur phir inke bare me pata kijiye dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या रामायण और महाभारत बिल्कुल जिस तरह से हम जीवन जी रहे हैं उसी तर

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जितना मालूम है रामायण एक रियल इंसीडेंट है महाभारत एक किताब है जितना कि महाभारत लेकिन महाभारत को भी आप एक रियल इंसीडेंट दिखा सकते हैं कुरुक्षेत्र की लाल मिट्टी पूरी जगह की मिटटी सफेद है पी ली है लेकिन वह मिट्टी लाल है जहां पर करारा युद्ध हुआ था महाभारत की सेना में वह एक आपको दिख सकता है जीवन और रामायण रामायण में हनुमान गुफा लक्ष्मण पहाड़ी लंका और इंडिया के बीच में जो पुल बन चुका है अभी भी पत्थर तैरते हैं जिसका राम लिखा हुआ है और अयोध्या सबसे बड़ा अयोध्या का मंदिर अयोध्या के महल क्या पागलपंती है यह बनवाना लोग इतने सालों से राम को पूज रहे हैं और वह बहुत सारी चीजें बहुत सारी गुफाएं पांडव वनवास में काटी अव्यक्त डंडा कॉलोनी जो वनवास जहां राम ने 11 साल तक रामेश्वरम यह सब किताबें नहीं है यह सब

jitna maloom hai ramayana ek real insident hai mahabharat ek kitab hai jitna ki mahabharat lekin mahabharat ko bhi aap ek real insident dikha sakte hain kurukshetra ki laal mitti puri jagah ki mitti safed hai p li hai lekin vaah mitti laal hai jaha par karara yudh hua tha mahabharat ki sena me vaah ek aapko dikh sakta hai jeevan aur ramayana ramayana me hanuman gufa lakshman pahadi lanka aur india ke beech me jo pool ban chuka hai abhi bhi patthar tairate hain jiska ram likha hua hai aur ayodhya sabse bada ayodhya ka mandir ayodhya ke mahal kya pagalpanti hai yah banwana log itne salon se ram ko puj rahe hain aur vaah bahut saari cheezen bahut saari gufayen pandav vanvas me kaati avyakt danda colony jo vanvas jaha ram ne 11 saal tak rameshwaram yah sab kitaben nahi hai yah sab

जितना मालूम है रामायण एक रियल इंसीडेंट है महाभारत एक किताब है जितना कि महाभारत लेकिन महाभा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा क्या रामायण और महाभारत रियल एक्सीडेंट है या एक काल्पनिक कहानी अगर काल्पनिक कहानी है तो इसके हर एक दिल में आज भी कहीं ना कहीं उसके तत्व मिलते हैं अगर इससे कल्पना माना जाए तो हर एक राज्य और उसके हर एक पीढ़ी को इतने रियल्टी से कोई इतनी सटीक कोई उसमें काफी में नहीं लिख सकता है

aapne poocha kya ramayana aur mahabharat real accident hai ya ek kalpnik kahani agar kalpnik kahani hai toh iske har ek dil me aaj bhi kahin na kahin uske tatva milte hain agar isse kalpana mana jaaye toh har ek rajya aur uske har ek peedhi ko itne realty se koi itni sateek koi usme kaafi me nahi likh sakta hai

आपने पूछा क्या रामायण और महाभारत रियल एक्सीडेंट है या एक काल्पनिक कहानी अगर काल्पनिक कहानी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है या एक काल्पनिक कहानी है तो ऐसा स्रोत के अनुसार माना गया है कि रामायण और महाभारत काल्पनिक कहानी मेक रियल इंसीडेंट बट इस पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि हमने इसे देखा नहीं है

aapka sawaal hai kya ramayana aur mahabharat real insident hai ya ek kalpnik kahani hai toh aisa srot ke anusaar mana gaya hai ki ramayana aur mahabharat kalpnik kahani make real insident but is par yakin karna thoda mushkil hai kyonki humne ise dekha nahi hai

आपका सवाल है क्या रामायण और महाभारत रियल इंसीडेंट है या एक काल्पनिक कहानी है तो ऐसा स्रोत

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  544
WhatsApp_icon
play
user

Charan kumar bro

Data analyst at start up

0:53

या मैं समझूं आप को पता नहीं है मेरे दोस्त मेरे हिसाब से इस पर...

Likes  1  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामायण और महाभारत हमारे देश के दो महान महाकाव्य किसे विश्व में इस बात को मानता है कि रामायण और महाभारत की घटना घटी हुई थी और इतिहासकार इस बात को मानते हैं और कुछ इतिहासकारों का मानना है कि महाभारत लगभग 400 सामान्य संवत पूर्व से लेकर लगभग 400 सामान चम्मच के बीच में लिखा गया होगा वही रामायण पांचवी से चौथी सामान्य संवत पूर्व से लेकर तीसरी शताब्दी के बीच रचा गया हिलते वैलेट जो एक इतिहासकार हैं उन्होंने अभी हाल में ही अपने अध्ययन के आधार पर कहा है कि महाभारत को दूसरी शताब्दी सामान्य सम्मत पूर्व के मध्य से लेकर पहले सामान्य संघ के बीच काफी लिखा गया होगा तू जब किसी चीज का काल निर्धारण किया जाता है तो उसका मतलब है यह घटना पहले घटी होगी इसके अलावा भारत का कुछ पुरातत्व स्रोत से भी कुछ चीजों का पता चला है जैसे महाभारत से जुड़े हस्तिनापुर कुरुक्षेत्र पानीपत तिलपत बागपत मथुरा और वह रात जैसे स्थानों के उत्खनन से चित्रित धूसर मृदभांड संस्कृति के जुड़े प्रमाण मिलते हैं जिसका का लगभग 1000 सामान्य संवत पुरवा का जाता है इसके अलावा हस्तिनापुर के अन्य प्रकार के प्रमाण मिलते हैं जैसे मत्स्य पुराण और वायु पुराण में कहा गया है कि राजा ने साक्ष्यों के राज में ताजा निक चाकसू जो है वह अर्जुन के पुत्र थे और उनके काल में गंगा में आई बाढ़ के कारण राजधानी को हस्तिनापुर से कौशांबी ले जाया गया था और हस्तिनापुर में हुए उत्खनन के आधार पर वहां पर गंगा में आई बाढ़ के प्रमाण मिलते हैं जिसके बाद कई शताब्दियों तक उस स्थान को विराम छोड़ दिया गया था किंतु ऐसा कहना कठिन है कि पुराणों में भी इसी वार की चर्चा की गई है लेकिन अगर हम को रिलेट किए करें तो ऐसा लगता है कि यह उसी वार्ड की चर्चा की गई और इससे एक प्रमाणिकता मिलता है महाभारत का वैसे ही एक पश्चिम दिल्ली में नारायणा गांव से चौदहवीं शताब्दी पब्लिक में भी इंद्रप्रस्थ का उल्लेख है अबुल फजल ने 16वीं शताब्दी में लिखी अपनी पुस्तक आईने अकबरी में लिखा है कि हुमायूं का किला उसी स्थान पर बनाया गया था जहां कभी पांडवों की राजधानी इंद्रप्रस्थ अवस्थित थी तो इस तरह से हम निश्चित को तो अगर इतिहासकारों ने भी अगर पुरातात्विक

ramayana aur mahabharat hamare desh ke do mahaan mahakavya kise vishwa me is baat ko maanta hai ki ramayana aur mahabharat ki ghatna ghati hui thi aur itihaaskar is baat ko maante hain aur kuch itihasakaron ka manana hai ki mahabharat lagbhag 400 samanya sanvat purv se lekar lagbhag 400 saamaan chammach ke beech me likha gaya hoga wahi ramayana paanchvi se chauthi samanya sanvat purv se lekar teesri shatabdi ke beech racha gaya hilte vailet jo ek itihaaskar hain unhone abhi haal me hi apne adhyayan ke aadhar par kaha hai ki mahabharat ko dusri shatabdi samanya sammat purv ke madhya se lekar pehle samanya sangh ke beech kaafi likha gaya hoga tu jab kisi cheez ka kaal nirdharan kiya jata hai toh uska matlab hai yah ghatna pehle ghati hogi iske alava bharat ka kuch puratatva srot se bhi kuch chijon ka pata chala hai jaise mahabharat se jude hastinapur kurukshetra panipat tilpat bagpat mathura aur vaah raat jaise sthano ke utkhanan se chitrit dhoosar mridbhand sanskriti ke jude pramaan milte hain jiska ka lagbhag 1000 samanya sanvat purva ka jata hai iske alava hastinapur ke anya prakar ke pramaan milte hain jaise matsya puran aur vayu puran me kaha gaya hai ki raja ne sakshyon ke raj me taaza nick chaksu jo hai vaah arjun ke putra the aur unke kaal me ganga me I baadh ke karan rajdhani ko hastinapur se kaushambi le jaya gaya tha aur hastinapur me hue utkhanan ke aadhar par wahan par ganga me I baadh ke pramaan milte hain jiske baad kai shatabdiyon tak us sthan ko viraam chhod diya gaya tha kintu aisa kehna kathin hai ki purano me bhi isi war ki charcha ki gayi hai lekin agar hum ko relate kiye kare toh aisa lagta hai ki yah usi ward ki charcha ki gayi aur isse ek pramanikata milta hai mahabharat ka waise hi ek paschim delhi me narayana gaon se chaudahavin shatabdi public me bhi indraprasth ka ullekh hai abul fazal ne vi shatabdi me likhi apni pustak aaine akabari me likha hai ki humayun ka kila usi sthan par banaya gaya tha jaha kabhi pandavon ki rajdhani indraprasth avasthit thi toh is tarah se hum nishchit ko toh agar itihasakaron ne bhi agar puratatvik

रामायण और महाभारत हमारे देश के दो महान महाकाव्य किसे विश्व में इस बात को मानता है कि रामाय

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाभारत और रामायण रियल इंसीडेंट क्या एक काल्पनिक कहानी है तो बता तो बताना चाहूंगा कि हमारे और महाभारत को कुछ लोग कल्पना मात्र मानते हैं लेकिन भारत में आज भी कहीं-कहीं रामायण और महाभारत के कुछ अभिलेख तथा उनकी कुछ निशानियां मिलती है रामायण की निशानी में सेतु बांध आज भी देखा जा सकता है

mahabharat aur ramayana real insident kya ek kalpnik kahani hai toh bata toh batana chahunga ki hamare aur mahabharat ko kuch log kalpana matra maante hain lekin bharat me aaj bhi kahin kahin ramayana aur mahabharat ke kuch abhilekh tatha unki kuch nishaniyan milti hai ramayana ki nishani me setu bandh aaj bhi dekha ja sakta hai

महाभारत और रामायण रियल इंसीडेंट क्या एक काल्पनिक कहानी है तो बता तो बताना चाहूंगा कि हमारे

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  773
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
is mahabharat real ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!