मोदी द्वारा 2022 तक सभी गरीबों को घर उपलब्ध कराने का वादा क्या आपको सच होता दिखता है?...


user
0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल गलत 2022 क्या 2027 तक भी मोदी किसी भी गरीब को आवाज नहीं दे सकते यह उनका यह झूठा वादा है जो गरीब जनता को ठगा और लूटा जा रहा है साथ ही साथ गुमराह किया जाए

bilkul galat 2022 kya 2027 tak bhi modi kisi bhi garib ko awaaz nahi de sakte yah unka yah jhutha vada hai jo garib janta ko thaga aur loota ja raha hai saath hi saath gumrah kiya jaaye

बिल्कुल गलत 2022 क्या 2027 तक भी मोदी किसी भी गरीब को आवाज नहीं दे सकते यह उनका यह झूठा वा

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोगों की खुद की है चोट होनी चाहिए हमारी जो विटालिटी हो चुकी है मुफ्त के लेने की अगर मेरे पास मेरी खुद की कमाई है मैं खुद कर ले सकता हूं फिर भी तुझे मुंह में लेने की आदत सी हो चुकी है यह सभी लोग कह रहे हैं कि नहीं यह मुझे मिले यह लाभ मुझे मिले उसी हिसाब से अगर देखिए तो जो लोग जिन्हें जरूरत है वह लोगों को तो मिल ही रहा है और जरूरत नहीं है खुद कमा कर खुद अपना दर्द बना सकते हैं वह लोग भी लाइन में खड़े रहे हमें भी घर चाहिए तो ऐसे में तो गवर्नमेंट भी क्या कर सकती है कोई भी को मी लोगों को रिप्लाई करना चाहिए या फिर जिन लोगों को जरूरत नहीं है वह खुद का घर बना सकते हैं उन लोगों को आगे आना चाहिए हमें जरूरत नहीं है ऐसी सोच जब आएगी तभी यह सब वादे पूरे होंगे या फिर वादा करने की कोई जरूरत ही नहीं रहेगी

logon ki khud ki hai chot honi chahiye hamari jo vitaliti ho chuki hai muft ke lene ki agar mere paas meri khud ki kamai hai khud kar le sakta hoon phir bhi tujhe mooh mein lene ki aadat si ho chuki hai yah sabhi log keh rahe hain ki nahi yah mujhe mile yah labh mujhe mile usi hisab se agar dekhiye toh jo log jinhen zarurat hai vaah logo ko toh mil hi raha hai aur zarurat nahi hai khud kama kar khud apna dard bana sakte hain vaah log bhi line mein khade rahe hamein bhi ghar chahiye toh aise mein toh government bhi kya kar sakti hai koi bhi ko me logo ko reply karna chahiye ya phir jin logo ko zarurat nahi hai vaah khud ka ghar bana sakte hain un logo ko aage aana chahiye hamein zarurat nahi hai aisi soch jab aayegi tabhi yah sab waade poore honge ya phir vada karne ki koi zarurat hi nahi rahegi

लोगों की खुद की है चोट होनी चाहिए हमारी जो विटालिटी हो चुकी है मुफ्त के लेने की अगर मेरे प

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1118
WhatsApp_icon
play
user

Dilsh Sheikh

Journalist

1:31

Likes  12  Dislikes    views  291
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!