हमारे नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने कितने निकाह करें और क्यों करें?...


play
user

Ramandeep Singh

Waheguru industry

2:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए निकाह तो इंसान का सिर्फ एक ही से होना है जिस्म के रूप में वह चाहे 10 से शादी कर ले हजार से शादी कर ले हजारों रानियां रख ले यह जितनी मर्जी शादियां कर ले चाहे वह गुरु नानक हो चाहे वह मोहम्मद साहब हो ऐसा हो गुस्सा हो वो कोई बुद्ध हो कोई जैन हो विराम हो कोई प्रसन्न हो इन सब की शादी इन सब का निकाह सिर्फ परमात्मा से होना है सिर्फ ईश्वर उस अल्लाह उस खुदा से होना है उसे एक से इन सब की शादी होनी है जो पतिव्रता औरत है उसी को ही परमात्मा उसी को ही परमात्मा अपने सबसे खूबसूरत बीवी बनाता है जो औरत अपने मायके में यानी इस दुनिया में चाहे वह देवी हो देवता हो या कोई भी हो चाहे वह कोई भी पीर पैगंबर हो जो इस दुनिया में आया है इंसान हो जानवर हो पत्थर हो जो गलत कर्म करता है अपने परमात्मा ईश्वर के नियमों का उल्लंघन करता है वह कभी भी कभी भी वह जो आत्मा है वह दागी हो जाती हैं वह कभी भी परमात्मा उसको स्वीकार नहीं करता अर्थात उससे निकाह नहीं करता उससे शादी नहीं करता उसको दोबारा से उसको दोबारा से खुद को पवित्र करना पड़ता है पतिव्रता औरत बहुत कुछ कर सकती है और सभी जितने भी संसार में हैं सब परमात्मा की परमात्मा के साथ ही इनका निका होगा एक और पैसा जरूर आएगा सबका अनिका सिर्फ परमात्मा से होगा और किसी से भी नहीं और सब का निकाह एक ही है एक ही से होने वाला है और किसी से भी नहीं जिस्म के रूप में हम चाहे कितनी भी शादियां करते जाएं कोई फर्क नहीं पड़ता धन्यवाद

dekhiye nikah toh insaan ka sirf ek hi se hona hai jism ke roop me vaah chahen 10 se shaadi kar le hazaar se shaadi kar le hazaro raaniyan rakh le yah jitni marji shadiyan kar le chahen vaah guru nanak ho chahen vaah muhammad saheb ho aisa ho gussa ho vo koi buddha ho koi jain ho viraam ho koi prasann ho in sab ki shaadi in sab ka nikah sirf paramatma se hona hai sirf ishwar us allah us khuda se hona hai use ek se in sab ki shaadi honi hai jo PATIVRATA aurat hai usi ko hi paramatma usi ko hi paramatma apne sabse khoobsurat biwi banata hai jo aurat apne mayke me yani is duniya me chahen vaah devi ho devta ho ya koi bhi ho chahen vaah koi bhi pir paigambar ho jo is duniya me aaya hai insaan ho janwar ho patthar ho jo galat karm karta hai apne paramatma ishwar ke niyamon ka ullanghan karta hai vaah kabhi bhi kabhi bhi vaah jo aatma hai vaah daagi ho jaati hain vaah kabhi bhi paramatma usko sweekar nahi karta arthat usse nikah nahi karta usse shaadi nahi karta usko dobara se usko dobara se khud ko pavitra karna padta hai PATIVRATA aurat bahut kuch kar sakti hai aur sabhi jitne bhi sansar me hain sab paramatma ki paramatma ke saath hi inka nika hoga ek aur paisa zaroor aayega sabka anika sirf paramatma se hoga aur kisi se bhi nahi aur sab ka nikah ek hi hai ek hi se hone vala hai aur kisi se bhi nahi jism ke roop me hum chahen kitni bhi shadiyan karte jayen koi fark nahi padta dhanyavad

देखिए निकाह तो इंसान का सिर्फ एक ही से होना है जिस्म के रूप में वह चाहे 10 से शादी कर ले ह

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  275
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!