मुझे कुछ याद क्यों नहीं रहता और मुझे बंद कमरों में बहुत ही घबराहट महसूस होती है मुझे यह क्या प्रॉब्लम है?...


user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

7:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न मुझे कुछ याद क्यों नहीं रहता और मुझे बंद कमरे में बहुत ही अपनी चीज होती है मुझे यह क्या काम पहले आप की दूसरी समस्या का जवाब दे देना कि आप को बंद कमरे में बहुत ही घबराहट महसूस होती है यह क्या प्रॉब्लम है लिखित बंद करने होंगे तो उसमें क्या बरात किसी को भी होगी आपके साथ कोई नई बात नहीं है बंद कमरे या नहीं उसने कोई ऑक्सीजन और कार्बन कार्बन कार्बन चुन्नीलाल पर अपने कमरे की खिड़की खोल के रखो ऑक्सीजन ऑक्सीजन नहीं मिलेगी तो ठंडी हवा निकल रही है जल्दी वापस जा रही है तो आपको कॉल की कैसे मिलेगी इसलिए यह आपकी प्रॉब्लम नहीं है यह आपकी नींद है उसमें किसी की नौटंकी चाहिए प्रश्न आते हैं पहला फिर आज क्या आपको कुछ याद क्यों नहीं रहता कुछ याद क्यों नहीं रहता अभी आपने लिखा नहीं क्या पढ़ाई से कह रहे हैं या किसी और बात भी कह रहे हैं कुछ और भी ज्यादा पढ़ाई की बातें याद नहीं रहती है वह बहुत बेइज्जती आप सभी आकाश भतीजा जो सोचना चाहिए जो सोचते नहीं जो करना चाहिए वह करते नहीं है तो फिर यादाश्त फर्क पड़ता है मस्तिष्क की याददाश्त यानी मस्तिष्क मस्तिष्क पर काम करने के लिए हमारे लाइफ स्टाइल सही होना चाहिए तभी याद रहेगा सही नहीं रहेगा तो कैसे याद रहेगा अब दोस्त लाइफ स्टाइल में है वही आपके रहन-सहन खाना-पीना चंदना सूचित किया जाता है अच्छी तरीके से रहो मतलब यह जो बंद कमरे की बात है बंद निकालती है वह मेरे जितना समय डालती हो मैं सुबह शाम निकाल सकते निकालो सुबह जोगिंग करो आर्मी जाओ कहीं चैटिंग कर रहे दौड़ दौड़ लगाओ और कम से कम आधा घंटा 5 घंटा विश्वास योग प्राणायाम करो मुकेश करो कि मैं मृत्यु करो यह सब तो आप करते नहीं अगर यह करो तो मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपके घबराहट होगी और ना आपको याददाश्त की जो बीमारी जा रहे वह भी नहीं होगी आपको टेबलेट मिल जाए अगर आप कुछ उटपटांग के चीज देखते हैं मोबाइल पर लगे रहते हैं कुछ गलत देखते हैं वह भी आपके दिमाग को खराब कर के रख देगी नौजवान भूत पठान की चीजें देखते रहते पोर्नोग्राफी देखकर आते हैं तो फिर अच्छी बात है आपको सरकार की नजर करते हैं तो छोड़ो आपको ही छोड़ दें ठीक है और पढ़ाई करने के तरीके और लड़की बार-बार याद करो 12 क्वेश्चन आंसर अच्छे याद करा कर देखो लिख कर देखो उस से रिलेटेड प्रश्न अपने आप दिमाग में बैठ कर देखो और अगर आपको ऐसे नहीं आता तो आप बोल बोल कर दो दोस्तों के साथ मित्रों के साथ के चार के साथ बोल के सुनाओ एक दूसरे को समाचार में बदनाम तीनों को सुनाओ अपना पराया दूसरों को समझा भी सकती हो जो आपको याद नहीं होती वह किसी कमजोर स्टूडेंट को अगर या अपने भाई बहन को समझा दो तो वह आपको हमेशा याद रहेगी क्योंकि पढ़ाया हमेशा याद आता है कुछ पढ़ा हुआ याद नहीं रहता लेकिन किसी को पढ़ाया जाता है लाइफस्टाइल जरूर बदले जो मैंने शुरू में बढ़ते बताइए योग करना प्राणायाम करना मेडिकेशन थोड़ा ध्यान करना ही कम से कम एक घंटा सुबह एक डेढ़ घंटा ताल स्वामी निकालो और घर में खिड़की खोल के रखो फिर देखना कांटे कब लांच होगी और कहां से आपको प्रदर्शनी भी भाग तक पढ़ना चाहिए कि खाने-पीने का 1000 के ऊपर टंकी रहमत भाई आजकल तो वैसे ही करो ना टाइम है कोई उनके खाने का मतलब नहीं होना चाहिए घर में भी मैदे की बनी हुई तली हुई मिर्च मसाले वाली चीजें छोड़कर वाइट मैदा मैदा चावल और चीनी वह सब छोड़ दीजिए आपके मस्तिष्क को तो सारी चीजें यह खराब लाइफस्टाइल ने घेर रखा है क्या ज्यादा मेहनत नहीं कर सकता

aapke prashna mujhe kuch yaad kyon nahi rehta aur mujhe band kamre me bahut hi apni cheez hoti hai mujhe yah kya kaam pehle aap ki dusri samasya ka jawab de dena ki aap ko band kamre me bahut hi ghabarahat mehsus hoti hai yah kya problem hai likhit band karne honge toh usme kya baraat kisi ko bhi hogi aapke saath koi nayi baat nahi hai band kamre ya nahi usne koi oxygen aur carbon carbon carbon chunnilal par apne kamre ki khidki khol ke rakho oxygen oxygen nahi milegi toh thandi hawa nikal rahi hai jaldi wapas ja rahi hai toh aapko call ki kaise milegi isliye yah aapki problem nahi hai yah aapki neend hai usme kisi ki nautanki chahiye prashna aate hain pehla phir aaj kya aapko kuch yaad kyon nahi rehta kuch yaad kyon nahi rehta abhi aapne likha nahi kya padhai se keh rahe hain ya kisi aur baat bhi keh rahe hain kuch aur bhi zyada padhai ki batein yaad nahi rehti hai vaah bahut beijjati aap sabhi akash bhatija jo sochna chahiye jo sochte nahi jo karna chahiye vaah karte nahi hai toh phir yadashat fark padta hai mastishk ki yadadasht yani mastishk mastishk par kaam karne ke liye hamare life style sahi hona chahiye tabhi yaad rahega sahi nahi rahega toh kaise yaad rahega ab dost life style me hai wahi aapke rahan sahan khana peena chandana suchit kiya jata hai achi tarike se raho matlab yah jo band kamre ki baat hai band nikalati hai vaah mere jitna samay daalti ho main subah shaam nikaal sakte nikalo subah jogging karo army jao kahin chatting kar rahe daudh daudh lagao aur kam se kam aadha ghanta 5 ghanta vishwas yog pranayaam karo mukesh karo ki main mrityu karo yah sab toh aap karte nahi agar yah karo toh main aapko vishwas dilata hoon ki aapke ghabarahat hogi aur na aapko yadadasht ki jo bimari ja rahe vaah bhi nahi hogi aapko tablet mil jaaye agar aap kuch utaptang ke cheez dekhte hain mobile par lage rehte hain kuch galat dekhte hain vaah bhi aapke dimag ko kharab kar ke rakh degi naujawan bhoot pathan ki cheezen dekhte rehte pornography dekhkar aate hain toh phir achi baat hai aapko sarkar ki nazar karte hain toh chodo aapko hi chhod de theek hai aur padhai karne ke tarike aur ladki baar baar yaad karo 12 question answer acche yaad kara kar dekho likh kar dekho us se related prashna apne aap dimag me baith kar dekho aur agar aapko aise nahi aata toh aap bol bol kar do doston ke saath mitron ke saath ke char ke saath bol ke sunao ek dusre ko samachar me badnaam tatvo ko sunao apna paraaya dusro ko samjha bhi sakti ho jo aapko yaad nahi hoti vaah kisi kamjor student ko agar ya apne bhai behen ko samjha do toh vaah aapko hamesha yaad rahegi kyonki padhaya hamesha yaad aata hai kuch padha hua yaad nahi rehta lekin kisi ko padhaya jata hai lifestyle zaroor badle jo maine shuru me badhte bataiye yog karna pranayaam karna medication thoda dhyan karna hi kam se kam ek ghanta subah ek dedh ghanta taal swami nikalo aur ghar me khidki khol ke rakho phir dekhna kante kab launch hogi aur kaha se aapko pradarshani bhi bhag tak padhna chahiye ki khane peene ka 1000 ke upar tanki rahmat bhai aajkal toh waise hi karo na time hai koi unke khane ka matlab nahi hona chahiye ghar me bhi maide ki bani hui tali hui mirch masale wali cheezen chhodkar white maida maida chawal aur chini vaah sab chhod dijiye aapke mastishk ko toh saari cheezen yah kharab lifestyle ne gher rakha hai kya zyada mehnat nahi kar sakta

आपके प्रश्न मुझे कुछ याद क्यों नहीं रहता और मुझे बंद कमरे में बहुत ही अपनी चीज होती है मुझ

Romanized Version
Likes  750  Dislikes    views  9539
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!