पंथनिरपेक्ष देश में अल्पसंख्यक आयोग की क्या आवश्यकता है?...


user

Race academy maneesh

Competitive Exam Expert (Youtube- Race Academy Maneesh)https://www.youtube.com/channel/UCEwGqvTOdzZnbc70zgFiJYQ

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बढ़िया वाले 1520 देश में और गांव की क्या आवश्यकता है सही बात है जब इतने में तो काहे का डर है फिर भी जो छोटे लोग होते हैं जो कम संख्या में होते हैं उन पर अत्याचार ज्यादा होते हैं तो उनकी वजह से अल्पसंख्यक आयोग की स्थापना की है देखा जाए तो ना कि पहले ही नहीं था बाद में जोड़ा गया है तो कुछ कमी आ रही होंगी के साथ अत्याचार हुआ हुआ होगा तभी ऐसा योग बना है तुझे क्यों की संख्या ज्यादा होती है एक पक्ष की तो उसके कारण जल्दी मानेगी भी यह मताधिकार हो तो मत के अनुसार उसको ज्यादा मानता मिलती है तो जहां चले और की बात है तो उसके जूते कम होते हैं तो उनको काम अधिकार दिया जाता है उनकी मुझे पक्ष के लोग वहां नहीं पहुंच पाते संसद में तो इसीलिए वह आयोग बनाया गया था कि आयोग से अपनी बात रख सकें

badhiya waale 1520 desh me aur gaon ki kya avashyakta hai sahi baat hai jab itne me toh kaahe ka dar hai phir bhi jo chote log hote hain jo kam sankhya me hote hain un par atyachar zyada hote hain toh unki wajah se alpsankhyak aayog ki sthapna ki hai dekha jaaye toh na ki pehle hi nahi tha baad me joda gaya hai toh kuch kami aa rahi hongi ke saath atyachar hua hua hoga tabhi aisa yog bana hai tujhe kyon ki sankhya zyada hoti hai ek paksh ki toh uske karan jaldi manegi bhi yah matadhikar ho toh mat ke anusaar usko zyada maanta milti hai toh jaha chale aur ki baat hai toh uske joote kam hote hain toh unko kaam adhikaar diya jata hai unki mujhe paksh ke log wahan nahi pohch paate sansad me toh isliye vaah aayog banaya gaya tha ki aayog se apni baat rakh sake

बढ़िया वाले 1520 देश में और गांव की क्या आवश्यकता है सही बात है जब इतने में तो काहे का डर

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  575
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!