एक इंसान क्या चाहता है?...


play
user

Ravi katariya

D.C.A. Computer Opretar

0:41

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी जी आपने भी सवाल किया है कि एक इंसान क्या चाहता है तो मैं कहना चाहूंगा कि एक इंसान हर चीज जो चाहेगा उसकी लाइफ में पर्सनल लाइफ में खुशी दे रही हो तो इंसान चाहे ठीक है सर मेरे मरने की तरफ साथ एक इंसान है सारी खुशी चाहेगा वही असली जो आवर लाइफ सेट उसकी असली एक जॉब फॉर बच्चियों की ब्यूटीफुल फैमिली आफ फुल फैमिली हो अपनी लाइफ में और फुल लेना चाहेगा इनको सीजन है पी लेना चाहेगा तो उसके लिए एक इंसान लाइफ में सेट होना चाहेगा मछली आगे बढ़ने के लिए मचल के काम आती है किन सिर्फ इतना ही उसके लिए परफेक्ट बट यू लाइक इट तुम्हें इतना कहना चाहूंगा

ji ji aapne bhi sawaal kiya hai ki ek insaan kya chahta hai toh main kehna chahunga ki ek insaan har cheez jo chahega uski life mein personal life mein khushi de rahi ho toh insaan chahen theek hai sir mere marne ki taraf saath ek insaan hai saree khushi chahega wahi asli jo hour life set uski asli ek job for bachiyo ki beautiful family of full family ho apni life mein aur full lena chahega inko season hai p lena chahega toh uske liye ek insaan life mein set hona chahega machli aage badhne ke liye machal ke kaam aati hai kin sirf itna hi uske liye perfect but you like it tumhe itna kehna chahunga

जी जी आपने भी सवाल किया है कि एक इंसान क्या चाहता है तो मैं कहना चाहूंगा कि एक इंसान हर ची

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  296
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mehraj Shayyad

Learner,listener,speaker

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पूरी तरह से यह नहीं कहा जा सकता कि एक इंसान क्या चाहता क्योंकि हर एक इंसान से अगर आप यह सवाल पूछेंगे तो उनकी एकल अपनी अलग अलग रहा है होती है कोई पैसा चाहता है कोई प्यार चाहता है तो कोई परिवार के साथ मिलकर रहना चाहते हैं तो यह सवाल का सही जवाब यही है कि हर एक इंसान की इंसान की अपनी अलग अलग चाहत होती है

dekhiye puri tarah se yah nahi kaha ja sakta ki ek insaan kya chahta kyonki har ek insaan se agar aap yah sawaal puchenge toh unki ekal apni alag alag raha hai hoti hai koi paisa chahta hai koi pyar chahta hai toh koi parivar ke saath milkar rehna chahte hain toh yah sawaal ka sahi jawab yahi hai ki har ek insaan ki insaan ki apni alag alag chahat hoti hai

देखिए पूरी तरह से यह नहीं कहा जा सकता कि एक इंसान क्या चाहता क्योंकि हर एक इंसान से अगर आप

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  276
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
insan kya chahta hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!