ज़िंदगी में सबसे ज़्यादा प्यार किससे करना चाहिए माँ बाप, पत्नी यह पैसा?...


user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपका जो प्रश्न है कि जिंदगी में सबसे ज्यादा प्यार किससे करना चाहिए मां पिता पत्नी पैसा यह कैसा प्रश्न है कि चालू हुई चीजें है ना अजीब है तभी चालू चीजों की पेड़ की अलग अलग है अलग अलग क्षेत्र में अलग-अलग चीजें निर्भर करती है कि आप किसी को प्यार करते हो जब आपका बचपन का समय होता है जिंदगी जो होती है जिंदगी एक दो पल का खेल नहीं है जिंदगी में आप को समय देना होता है कि लंबी जिंदगी होती है कि लंबा समय होता है तो जिंदगी में जो सबसे ज्यादा प्यार कैसे करना चाहिए वह आप किस तरह से होते आप बचपन में अपनी मां को प्यार करते हो पिताजी को प्यार करते हो और चाबी खो जाते हो आपका विवाह हो जाता है तो आप अपनी पत्नी को प्रेम करते हो और पैसा एक ऐसी चीज होती है कि जिस दिन से आप समझदार होते हुए जब तक आपकी मृत्यु नहीं हो जाती वह वन साइडेड चीज चलती रहती है पर अगर इन सभी चीजों का आप की परिस्थिति में समझा जाए कि आप किस को प्यार करना चाहिए तुम मेरे हिसाब से सभी को बराबर का प्रेम करना चाहिए क्योंकि चारों चीजें ऐसी हैं जिनके बिना चीजें असंभव है माता पिता एक ऐसी चीज है जो मारा जनाधार होते तो जनाधार को भूलना मुझे लगता है कि एक अपना डाटा भी इसको देना जैसा है और पत्नी एक ऐसी चीजें जो आपका आपकी लाइफ पार्टनर होती है आपके लिए किसी दूसरे का घर छोड़ कर आई है कहीं ना कहीं आपको हमको भी कोऑर्डिनेट करना होता है पर इसका यह बिल्कुल ही मतलब नहीं है कि आप अपने माता पिता को कॉर्डिनेट नहीं कर रहे हो या उन्हें प्यार नहीं कर रहे हो प्यार एक ऐसी चीज है आप 1 लोगों के लिए ही नहीं लाखों लोगों के लिए भी रख सकते हो तो माता-पिता प्यार और पैसा पैसा भी तो ऑटोमेटिक प्यार होता है आप पैसे को प्यार करोगे तो पैसा तो आपको प्यार लेगा ही और पैसा मतलब इन चारों जी जब आपको प्यार करना चाहिए मैं यहां पर कोई भी चीज को पिटाई नहीं करूंगा आपको सारी चीजों को प्रेम करना चाहिए और यह निर्भर करेगा अब समय पर आप की स्थिति पर

kya aapka jo prashna hai ki zindagi mein sabse zyada pyar kisse karna chahiye maa pita patni paisa yah kaisa prashna hai ki chaalu hui cheezen hai na ajib hai tabhi chaalu chijon ki ped ki alag alag hai alag alag kshetra mein alag alag cheezen nirbhar karti hai ki aap kisi ko pyar karte ho jab aapka bachpan ka samay hota hai zindagi jo hoti hai zindagi ek do pal ka khel nahi hai zindagi mein aap ko samay dena hota hai ki lambi zindagi hoti hai ki lamba samay hota hai toh zindagi mein jo sabse zyada pyar kaise karna chahiye vaah aap kis tarah se hote aap bachpan mein apni maa ko pyar karte ho pitaji ko pyar karte ho aur chabi kho jaate ho aapka vivah ho jata hai toh aap apni patni ko prem karte ho aur paisa ek aisi cheez hoti hai ki jis din se aap samajhdar hote hue jab tak aapki mrityu nahi ho jaati vaah van sided cheez chalti rehti hai par agar in sabhi chijon ka aap ki paristithi mein samjha jaaye ki aap kis ko pyar karna chahiye tum mere hisab se sabhi ko barabar ka prem karna chahiye kyonki charo cheezen aisi hain jinke bina cheezen asambhav hai mata pita ek aisi cheez hai jo mara janadhar hote toh janadhar ko bhoolna mujhe lagta hai ki ek apna data bhi isko dena jaisa hai aur patni ek aisi cheezen jo aapka aapki life partner hoti hai aapke liye kisi dusre ka ghar chod kar I hai kahin na kahin aapko hamko bhi koardinet karna hota hai par iska yah bilkul hi matlab nahi hai ki aap apne mata pita ko kardinet nahi kar rahe ho ya unhe pyar nahi kar rahe ho pyar ek aisi cheez hai aap 1 logo ke liye hi nahi laakhon logo ke liye bhi rakh sakte ho toh mata pita pyar aur paisa paisa bhi toh Automatic pyar hota hai aap paise ko pyar karoge toh paisa toh aapko pyar lega hi aur paisa matlab in charo ji jab aapko pyar karna chahiye main yahan par koi bhi cheez ko pitai nahi karunga aapko saree chijon ko prem karna chahiye aur yah nirbhar karega ab samay par aap ki sthiti par

क्या आपका जो प्रश्न है कि जिंदगी में सबसे ज्यादा प्यार किससे करना चाहिए मां पिता पत्नी पैस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ramesh Prajapati

||....Be....Legendary......||

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में सबसे ज्यादा प्यार अपने माता पिता से ही करना चाहिए ना कि किसी धन दौलत अश्व राम सेना पत्नी से भी कुछ लोग ऐसे ऐसे होते हैं जो आप अपनी के बहकावे में आकर अपने मां बाप को ठोकर मार देते हैं ठीक और और उनका दिल दुखाते हैं कि जिंदगी में सबसे ज्यादा प्यार मां बाप से ही होता देखें आप भगवान से पहले मां बाप का नाम लिया जाता है पर मां बाप ही है जो अपना सब कुछ हार कर हमें उस मुकाम पर खड़ा करते हैं जहां हमें हारने की जरूरत ना पड़े तो सब अपने माता पिता से ही प्यार करें करना सब अपने माता पिता से प्यार करें और माता-पिता से प्यार करना चाहिए हमेशा मां-बाप सब कुछ है

zindagi mein sabse zyada pyar apne mata pita se hi karna chahiye na ki kisi dhan daulat ashv ram sena patni se bhi kuch log aise aise hote hain jo aap apni ke bahakaave mein aakar apne maa baap ko thokar maar dete hain theek aur aur unka dil dukhate hain ki zindagi mein sabse zyada pyar maa baap se hi hota dekhen aap bhagwan se pehle maa baap ka naam liya jata hai par maa baap hi hai jo apna sab kuch haar kar hamein us mukam par khada karte hain jaha hamein haarne ki zarurat na pade toh sab apne mata pita se hi pyar kare karna sab apne mata pita se pyar kare aur mata pita se pyar karna chahiye hamesha maa baap sab kuch hai

जिंदगी में सबसे ज्यादा प्यार अपने माता पिता से ही करना चाहिए ना कि किसी धन दौलत अश्व राम स

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  377
WhatsApp_icon
play
user

Saurabh Kumar

Biology student

1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी जिंदगी में किसी से भी ज्यादा प्यार नहीं करना चाहिए अगर आप ज्यादा प्यार करते हैं किसी से भी तू आपके लिए नुकसानदेह ही होगा और एग्जांपल जैसे कि आपको खाना खाना बहुत ही आवश्यक है आप खाना खाते हैं पोस्ट को दर्शाते हैं क्या वही पौष्टिक पदार्थ अधिक मात्रा में ज्यादा मात्रा में खाने लगे तो क्या हुआ पैसे के लिए फायदेमंद रहेगा नहीं रहेगा उसी तरह से प्यार अच्छी बात है लेकिन ज्यादा प्यार बिल्कुल भी नहीं करना कि किसी के साथ भी नहीं मां-बाप पत्नी पैसा किसी से भी नहीं कहना कि अगर हम किसी से प्यार करते हैं तुम पूर्ण रूप से उस पर आश्रित हो जाते हैं हमसे अपेक्षाएं रखने लगते हैं कि वह हमारी मदद करेगा या फिर वह हमारे हमेशा हर मुसीबत में साथ देगा और जब किसी चीज की जरूरत होती है फिल्म किसी मुसीबत में होते हैं उस समय अगर वह हमारे साथ नहीं थे हम पूरी तरह से टूट जाते हैं पूरी तरह से टूट जाते हैं इसलिए ज्यादा प्यार किसी पर भी नहीं करना अच्छी नॉर्मल ही जितना सब ठीक है वह होना चाहिए ठीक है

vicky zindagi mein kisi se bhi zyada pyar nahi karna chahiye agar aap zyada pyar karte hain kisi se bhi tu aapke liye nukasaanadeh hi hoga aur example jaise ki aapko khana khana bahut hi aavashyak hai aap khana khate hain post ko darshate kya wahi पौष्टिक padarth adhik matra mein zyada matra mein khane lage toh kya hua paise ke liye faydemand rahega nahi rahega usi tarah se pyar achi baat hai lekin zyada pyar bilkul bhi nahi karna ki kisi ke saath bhi nahi maa baap patni paisa kisi se bhi nahi kehna ki agar hum kisi se pyar karte hain tum purn roop se us par aashrit ho jaate hain humse apekshayen rakhne lagte hain ki vaah hamari madad karega ya phir vaah hamare hamesha har musibat mein saath dega aur jab kisi cheez ki zarurat hoti hai film kisi musibat mein hote hain us samay agar vaah hamare saath nahi the hum puri tarah se toot jaate hain puri tarah se toot jaate hain isliye zyada pyar kisi par bhi nahi karna achi normal hi jitna sab theek hai vaah hona chahiye theek hai

विकी जिंदगी में किसी से भी ज्यादा प्यार नहीं करना चाहिए अगर आप ज्यादा प्यार करते हैं किसी

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  405
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्यार कोई चीज या कोई वस्तु नहीं है जिसे एक तोला या नापा जा सके या उसका माफ किया जा सके कि आप किस से कितना प्यार करते भावना है जो हर एक के साथ अलग-अलग मौकों पर अलग अलग तरीके से जाहिर होती है आप इसको किसी पैमाने से माफ नहीं सकते हैं कि आप किस से ज्यादा प्यार करते हैं माता-पिता से पत्नी से या पैसे से क्योंकि यह सभी हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण है जहां माता पिता और पत्नी हमारी जिंदगी में अहमियत रखते हैं वही पैसा भी हमारी जिंदगी की जरूरत है और यह सभी चीजें जरूरत के हिसाब से इस्तेमाल की जाती है और जरूरत के हिसाब से ही काम में ली जाती है माता पिता और पत्नी एक रिश्ता है जिसे हम जिंदगी भर निभाते हैं उसमें कभी नहीं होता है कभी प्यार होता है कभी लड़ाई झगड़ा होता है कभी मनमुटाव होता है कहीं तार कई सारी पड़ी थी क्यों से गुजर कर यह रिश्ते जिंदगी में हमारे साथ चलते रहते हैं और इनको हम किसी भी तरह से नाप तोल नहीं सकते हैं कि हम किसे कम और किसे ज्यादा प्यार करते हैं इसलिए मैं मुझे लगता है कि यह कोई ना अपने यह बताने की चीज नहीं है यह हमारी भावना है जो समय-समय पर अलग-अलग रूप में अलग-अलग हिस्सों में दिखाई देती है और हमने वाली को भी पता चलता है कि हां हम उससे प्यार करते हैं उसे नापने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह नापने की चीज नहीं है यह भावना है जो हर किसी के साथ परिस्थितियों के अनुसार बदलती रहती है

pyar koi cheez ya koi vastu nahi hai jise ek tola ya napa ja sake ya uska maaf kiya ja sake ki aap kis se kitna pyar karte bhavna hai jo har ek ke saath alag alag maukon par alag alag tarike se jaahir hoti hai aap isko kisi paimane se maaf nahi sakte hain ki aap kis se zyada pyar karte hain mata pita se patni se ya paise se kyonki yah sabhi hamare jeevan ke liye mahatvapurna hai jaha mata pita aur patni hamari zindagi mein ahamiyat rakhte hain wahi paisa bhi hamari zindagi ki zarurat hai aur yah sabhi cheezen zarurat ke hisab se istemal ki jaati hai aur zarurat ke hisab se hi kaam mein li jaati hai mata pita aur patni ek rishta hai jise hum zindagi bhar nibhate hain usme kabhi nahi hota hai kabhi pyar hota hai kabhi ladai jhagda hota hai kabhi manmutaav hota hai kahin taar kai saree padi thi kyon se gujar kar yah rishte zindagi mein hamare saath chalte rehte hain aur inko hum kisi bhi tarah se naap tol nahi sakte hain ki hum kise kam aur kise zyada pyar karte hain isliye main mujhe lagta hai ki yah koi na apne yah batane ki cheez nahi hai yah hamari bhavna hai jo samay samay par alag alag roop mein alag alag hisson mein dikhai deti hai aur humne wali ko bhi pata chalta hai ki haan hum usse pyar karte hain use napne ki zarurat nahi hai kyonki yah napne ki cheez nahi hai yah bhavna hai jo har kisi ke saath paristhitiyon ke anusaar badalti rehti hai

प्यार कोई चीज या कोई वस्तु नहीं है जिसे एक तोला या नापा जा सके या उसका माफ किया जा सके कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!