मेरा पड़ोसी मुझे बहुत तकलीफ देता है उसे क्या करना चाहिए?...


play
user

Saurabh Kumar

Biology student

0:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पड़ोसी आपको बहुत तकलीफ होता है तुम उसकी तकलीफ की कोई वजह तो होगी ना ऐसी कोई थोड़ी किसी को कोई तकलीफ देता है तो आप उस वजह को पहले पता कीजिए कि वह क्या वजह है कि मुझे तकलीफ होता है वह किस बात से आप से जलता है जलने की वजह पता चल जाएगी तब ले जाने की वजह पता चल जाएगी उससे बढ़िया से बैठ कर बात कीजिए तेरी भाई क्यों तुम मेरे साथ ऐसा क्यों कर रहे हो क्या परेशानी है समस्या को समझाइए आप आप दोनों के बीच अंडरस्टैंडिंग होनी चाहिए ऐसा नहीं कि सारी बातें आप भी कुछ बात करनी है उससे बात को तो समस्या कैसी बात कर समस्या जो होता है उस पर विचार करने से खत्म होता है लड़ाई करने से समाज में जो झगड़ा है आप लोगों का बहुत ज्यादा आक्रामक होगा ठीक है तो आप बैठ कर उससे बातचीत कीजिए

aapka padosi aapko bahut takleef hota hai tum uski takleef ki koi wajah toh hogi na aisi koi thodi kisi ko koi takleef deta hai toh aap us wajah ko pehle pata kijiye ki vaah kya wajah hai ki mujhe takleef hota hai vaah kis baat se aap se jalta hai jalne ki wajah pata chal jayegi tab le jaane ki wajah pata chal jayegi usse badhiya se baith kar baat kijiye teri bhai kyon tum mere saath aisa kyon kar rahe ho kya pareshani hai samasya ko samjhaiye aap aap dono ke beech understanding honi chahiye aisa nahi ki saree batein aap bhi kuch baat karni hai usse baat ko toh samasya kaisi baat kar samasya jo hota hai us par vichar karne se khatam hota hai ladai karne se samaj mein jo jhadna hai aap logo ka bahut zyada aakraman hoga theek hai toh aap baith kar usse batchit kijiye

आपका पड़ोसी आपको बहुत तकलीफ होता है तुम उसकी तकलीफ की कोई वजह तो होगी ना ऐसी कोई थोड़ी किस

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  422
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पड़ोसियों को बहुत ज्यादा तकलीफ देता है तो उसके लिए क्या करना चाहिए अगर कुछ भी आपका पड़ोसी कह रहा है और आप उसके ऊपर रेस्पॉन्ड करेंगे तो बिल्कुल इसीलिए कहता है कि आप उसके ऊपर सपोर्ट करें आपको दुख हो तकलीफ पहुंचे जिस दिन छोड़ देंगे और इग्नोर करने लगेंगे तो उसको लेकर कि यह तो इंटरेस्ट ही नहीं ले रहा है इसका कोई रिस्पांस नहीं आ रहा उसको कोई फर्क ही पड़ रहा है तो इंसान को अच्छा लगने लगता कि सामने वाले को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है तुमको काम करना भी छोड़ ता भली मैं यह नहीं कह रहा कि एक बार भी छोड़ देगा थोड़ा टाइम लगेगा लेकिन पक्का छोड़ देगा

aapka padoshiyon ko bahut zyada takleef deta hai toh uske liye kya karna chahiye agar kuch bhi aapka padosi keh raha hai aur aap uske upar respand karenge toh bilkul isliye kahata hai ki aap uske upar support kare aapko dukh ho takleef pahuche jis din chod denge aur ignore karne lagenge toh usko lekar ki yah toh interest hi nahi le raha hai iska koi response nahi aa raha usko koi fark hi pad raha hai toh insaan ko accha lagne lagta ki saamne waale ko koi fark nahi pad raha hai tumko kaam karna bhi chod ta bhali main yah nahi keh raha ki ek baar bhi chod dega thoda time lagega lekin pakka chod dega

आपका पड़ोसियों को बहुत ज्यादा तकलीफ देता है तो उसके लिए क्या करना चाहिए अगर कुछ भी आपका पड

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  247
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!