एक सफल इंसान हिन्दू धर्म की निंदा करता है उसको हम क्या बोलते हैं, 36000 हज़ार देवी देवता है और इस साल में 365 दिन होते हैं, अगर हम सबकी पूजा पाठ करते हैं एक साल में तो कैसा होगा?...


user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

36000 देवता नहीं है तो छोड़ देता है और 33 करोड़ का मतलब ए 33 कोटि का मतलब प्रकार इस प्रकार देवता है 12 आदित्य 11 रूद्र आठ वसु और प्रजापति और यंत्र क्या चीज देता है यार उसकी शिव की पूजा करने से जरूर प्रसन्न हो जाते हैं सूर्य की पूजा करने से 12 आदित्य प्रसन्न हो जाते हैं हॉट वर्षों में अपने बातम्या कि अपने प्राण की पूजा करने से आंखों से प्रसन्न हो जाते हैं और इंदौर प्रजापति इनकी पूजा करने से हमें मनोवांछित फल प्राप्त होता है इस तरह 23 करोड़ देवता की पूजा हो जाती है

36000 devta nahi hai toh chod deta hai aur 33 crore ka matlab a 33 koti ka matlab prakar is prakar devta hai 12 aditya 11 rudra aath vasu aur prajapati aur yantra kya cheez deta hai yaar uski shiv ki puja karne se zaroor prasann ho jaate hain surya ki puja karne se 12 aditya prasann ho jaate hain hot varshon mein apne batamya ki apne praan ki puja karne se aankho se prasann ho jaate hain aur indore prajapati inki puja karne se hamein manovanchit fal prapt hota hai is tarah 23 crore devta ki puja ho jaati hai

36000 देवता नहीं है तो छोड़ देता है और 33 करोड़ का मतलब ए 33 कोटि का मतलब प्रकार इस प्रकार

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  1138
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

33 करोड़ देवी देवताओं की पूजा कैसे करे बात करने कोई नहीं हो तो 30 करोड़ देवी देवता जैसा नहीं हो पास में पूजा की जाए तो लिखा ही नहीं है उन्हें जो फ्रेंड प्राप्त अमरीका को प्राप्त अमेरिका के लोगों को देखा जाता है धनीराम के निर्माण का जानकारी दो है अभी तक इसका तात्कालिक अरब राष्ट्रों के साथ सतीश कन्यादान किया है और वे मानव जाति और मोबाइल कीमत पर मारा मध्य प्रदेश अध्यक्ष और अमेरिका के रोगों के शिकार का आयोजन किया जाता है कि अमरीका को ही सरकार ने कहा तो पूजा अर्चना और जो मनुष्य को प्राप्त करने का मंत्र उपासना आराधना और चिंपू भक्ति करता है ब्रह्मा विष्णु महेश के सर्वोच्च सर्वोच्च और मनोज तिवारी भोपाल की आराधना उपासना चलता मांग के माध्यम से प्राप्त कर जीवन मरण के बंधन से आना चाहिए ईश्वर की उपासना MP4 को प्राप्त कर इस जीवन मरण के बंधन से मुक्त करने का प्रयास करता है कैसे बनेगा

33 crore devi devatao ki puja kaise kare baat karne koi nahi ho toh 30 crore devi devta jaisa nahi ho paas me puja ki jaaye toh likha hi nahi hai unhe jo friend prapt america ko prapt america ke logo ko dekha jata hai dhaniram ke nirmaan ka jaankari do hai abhi tak iska tatkalik arab rashtro ke saath satish kanyadan kiya hai aur ve manav jati aur mobile kimat par mara madhya pradesh adhyaksh aur america ke rogo ke shikaar ka aayojan kiya jata hai ki america ko hi sarkar ne kaha toh puja archna aur jo manushya ko prapt karne ka mantra upasana aradhana aur chimpu bhakti karta hai brahma vishnu mahesh ke sarvoch sarvoch aur manoj tiwari bhopal ki aradhana upasana chalta maang ke madhyam se prapt kar jeevan maran ke bandhan se aana chahiye ishwar ki upasana MP4 ko prapt kar is jeevan maran ke bandhan se mukt karne ka prayas karta hai kaise banega

33 करोड़ देवी देवताओं की पूजा कैसे करे बात करने कोई नहीं हो तो 30 करोड़ देवी देवता जैसा नह

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  538
WhatsApp_icon
play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:07

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी इंसान अगर सफलता को प्राप्त करता है तो किसी भी धर्म की जो है निंदा करने की जो है बिल्कुल होने की अनुमति नहीं दी जाती है हमारा भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है यहां पर जो है बहुत सारी धर्म पाई जाती हो सकते हैं हिंदू मुसलमान सिख इसाई जैन धर्म बौद्ध धर्म अपने धर्म के अनुसार को बेहतर है हिंदू धर्म की निंदा करते बिल्कुल गलत नहीं होना चाहिए और इस साल में 365 दिन होते हैं अगर हम सब की जगह पूजा पाठ करते हैं 1 साल में तो कैसे हो पाएगा कि नहीं है कि हम देवी देवता का पूजन के लिए रखते हैं जैसे कि दशहरा दीवाली और होली फेस्टिवल अरे तू का कोई भी अगर सफल इंसान ऐसा कर दी थी बहुत ही बहुत ही बड़ी गलत काम आप बोल सकते हैं यह बहुत ही गलती है

koi bhi insaan agar safalta ko prapt karta hai toh kisi bhi dharm ki jo hai ninda karne ki jo hai bilkul hone ki anumati nahi di jaati hai hamara bharat ek dharmanirapeksh desh hai yahan par jo hai bahut saree dharm payi jaati ho sakte hain hindu musalman sikh isai jain dharm Baudh dharm apne dharm ke anusaar ko behtar hai hindu dharm ki ninda karte bilkul galat nahi hona chahiye aur is saal mein 365 din hote hain agar hum sab ki jagah puja path karte hain 1 saal mein toh kaise ho payega ki nahi hai ki hum devi devta ka pujan ke liye rakhte hain jaise ki dussehra diwali aur holi festival are tu ka koi bhi agar safal insaan aisa kar di thi bahut hi bahut hi badi galat kaam aap bol sakte hain yah bahut hi galti hai

कोई भी इंसान अगर सफलता को प्राप्त करता है तो किसी भी धर्म की जो है निंदा करने की जो है बिल

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  285
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!