मोहनजोदड़ो का खोज कितने ईस्वी में हुई थी और इसे किसने खोजा था?...


user
1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोहनजोदड़ो की खोज सा दयाराम साहनी ने सन 1921 में की की खोज करने के पहले क्या था कि अंग्रेज शासन का इंजीनियर भारत से पाकिस्तान जो भारत का अभिन्न अंग था उस एरिया में वह रेलवे लाइन बिछाने की कोशिश कर रहा था जब उसने खुदाई की तो यहां पता चला के विभिन्न प्रकार की सीटें मिली जबकि वह इंजीनियर था तो उसने विभाग से संपर्क साधा और बताया कि यहां पर हमें कुछ मिला है तो आजकल विभाग के स्वामी दयानंद साहनी में 1921 में आया और उसे रिया को खुशी तो उन्हें यहां पता चला कि हां बहुत बड़ा बाथरूम टाइप कर खोल है पर है घर के दरवाजे रोड के पीछे क्यों मिले हैं जिसे बाद में मोहनजोदारो बोला मिला इसके अलावा यहां पर मोहनजोदारो इसलिए भी मिला नाम घर आ गया क्योंकि यहां पर बहुत सारे लाश मिले ना सके शहर पर महल खड़ा हुआ था

mohenjodaro ki khoj sa dayaram sahani ne san 1921 me ki ki khoj karne ke pehle kya tha ki angrej shasan ka engineer bharat se pakistan jo bharat ka abhinn ang tha us area me vaah railway line bichane ki koshish kar raha tha jab usne khudai ki toh yahan pata chala ke vibhinn prakar ki seaten mili jabki vaah engineer tha toh usne vibhag se sampark saadha aur bataya ki yahan par hamein kuch mila hai toh aajkal vibhag ke swami dayanand sahani me 1921 me aaya aur use riya ko khushi toh unhe yahan pata chala ki haan bahut bada bathroom type kar khol hai par hai ghar ke darwaze road ke peeche kyon mile hain jise baad me mohenjadaro bola mila iske alava yahan par mohenjadaro isliye bhi mila naam ghar aa gaya kyonki yahan par bahut saare laash mile na sake shehar par mahal khada hua tha

मोहनजोदड़ो की खोज सा दयाराम साहनी ने सन 1921 में की की खोज करने के पहले क्या था कि अंग्रेज

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  342
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

Likes  8  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोहनजोदड़ो की खोज किसने सी में हुई थी और किसने खोजा था तो मोहनजोदड़ो की खोज 1922 नहीं राखल दास बनर्जी के द्वारा खोजी गई थी

mohenjodaro ki khoj kisne si me hui thi aur kisne khoja tha toh mohenjodaro ki khoj 1922 nahi rakhal das banerjee ke dwara khoji gayi thi

मोहनजोदड़ो की खोज किसने सी में हुई थी और किसने खोजा था तो मोहनजोदड़ो की खोज 1922 नहीं राखल

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  2185
WhatsApp_icon
user

Pal

Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि मोहनजोदड़ो की खोज इतनी असली में और किसके द्वारा हुई थी तो मोहनजोदड़ो की खोज 1922 ईस्वी में श्री राखल दास बनर्जी के द्वारा हुई थी इसका अधिकतर क्षेत्र पाकिस्तान और अफगानिस्तान में मिलता है धन्यवाद

aapka prashna hai ki mohenjodaro ki khoj itni asli me aur kiske dwara hui thi toh mohenjodaro ki khoj 1922 isvi me shri rakhal das banerjee ke dwara hui thi iska adhiktar kshetra pakistan aur afghanistan me milta hai dhanyavad

आपका प्रश्न है कि मोहनजोदड़ो की खोज इतनी असली में और किसके द्वारा हुई थी तो मोहनजोदड़ो की

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!