लोग शादी क्यों करते हैं? अगर किसी को नहीं करनी हो तो क्या करें?...


play
user

Saurabh Kumar

Biology student

1:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के सिंपल से सवाल आपने पूछा है कि लोग शादी क्यों करते हो तो शादी ही लोग अपने बहुत सारी जरूरतों को पूरा करने के लिए करते हैं उसमें से एक जरूरत सारिक संबंध का होता है दूसरे घर में काम करने वाली क्या होता है तीसरी बार घर में काम करने वाली का मतलब यह नहीं कि अपनों का ख्याल रखने वाला जो कि आपका हमेशा ख्याल रखें यह होना चाहिए इसका मतलब यह है और दूसरा है कि आपको जीवन में हर समय साथ रहे दुख और सुख को कभी भी वापस साथ ना छोड़े कठिन से कठिन फैसला लेना हो कोई बड़ा फैसला हो किसी मुसीबत रहो जिंदगी का कोई कठिन सफल हो उसमें भी वह आपके साथ रहे इसी को तो जीवन संगिनी कहते हैं हिंदू धर्म में विवाह से पहले संबंध के लिए नहीं बल्कि हिंदू धार्मिक मेवाड़ के लिए भी बनाया जाता है हिंदू धार्मिक के रूप में हिंदू परिवार को मनाया जाता है शादी के बिना लोग अधूरे माने जाते हैं हिंदू धर्म के अनुसार से शादी हो जाने के बाद वह पूर्ण रूप कल आया था कि वह पूर्ण हो गए हैं आप और आपका सवाल है कि मैं कोई अगर शादी नहीं करना चाहता है तो उसे क्या करना चाहिए कि सबसे पहले आपको यह ध्यान देना होगा कि सच में आपको शादी नहीं करना है आप अपने जीवन में संतुष्ट हैं आप अपने केयर खुद कर सकते हैं आपको जीवन में और सारी जन्नते होने वाली है पत्नी कि उसे उसको आप सहन कर सकते हैं और कुर्ती जरूरत नहीं है लाइफ में तो आप बिल्कुल ही नहीं कर सकते हैं उसका भी मत कीजिए इसमें कोई जबरदस्ती तो होती नहीं है किसी के साथ भी

ke simple se sawaal aapne poocha hai ki log shadi kyon karte ho toh shadi hi log apne bahut saree jaruraton ko pura karne ke liye karte hain usme se ek zarurat sarik sambandh ka hota hai dusre ghar mein kaam karne wali kya hota hai teesri baar ghar mein kaam karne wali ka matlab yah nahi ki apnon ka khayal rakhne vala jo ki aapka hamesha khayal rakhen yah hona chahiye iska matlab yah hai aur doosra hai ki aapko jeevan mein har samay saath rahe dukh aur sukh ko kabhi bhi wapas saath na chode kathin se kathin faisla lena ho koi bada faisla ho kisi musibat raho zindagi ka koi kathin safal ho usme bhi vaah aapke saath rahe isi ko toh jeevan sangini kehte hain hindu dharm mein vivah se pehle sambandh ke liye nahi balki hindu dharmik mewad ke liye bhi banaya jata hai hindu dharmik ke roop mein hindu parivar ko manaya jata hai shadi ke bina log adhure maane jaate hain hindu dharm ke anusaar se shadi ho jaane ke baad vaah purn roop kal aaya tha ki vaah purn ho gaye hain aap aur aapka sawaal hai ki main koi agar shadi nahi karna chahta hai toh use kya karna chahiye ki sabse pehle aapko yah dhyan dena hoga ki sach mein aapko shadi nahi karna hai aap apne jeevan mein santusht hain aap apne care khud kar sakte hain aapko jeevan mein aur saree jannate hone wali hai patni ki use usko aap sahan kar sakte hain aur kurtee zarurat nahi hai life mein toh aap bilkul hi nahi kar sakte hain uska bhi mat kijiye isme koi jabardasti toh hoti nahi hai kisi ke saath bhi

के सिंपल से सवाल आपने पूछा है कि लोग शादी क्यों करते हो तो शादी ही लोग अपने बहुत सारी जरूर

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  490
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!