शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरे जाति से करना चाहिए?...


user

Bhim Singh Kasnia

Acupunctrist,Motivational Speaker

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है कि शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरी जाति से करना चाहिए देखिए जाति पांति आजकल के युवाओं को नहीं माननी चाहिए जहां आपको कोई अच्छा लगता है आपके विचार मिलते हैं वहां आप शादी कर सकते हैं अपने पेरेंट्स की मर्जी से इसलिए ज्यादा जाती पाती पर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है मन आपके मिलने चाहिए और कुछ भी मिलाने की आवश्यकता नहीं है नमस्कार धन्यवाद

namaskar aapka sawaal hai ki shaadi apni jati se karna chahiye ya dusri jati se karna chahiye dekhiye jati panti aajkal ke yuvaon ko nahi maanani chahiye jaha aapko koi accha lagta hai aapke vichar milte hain wahan aap shaadi kar sakte hain apne parents ki marji se isliye zyada jaati pati par dhyan dene ki avashyakta nahi hai man aapke milne chahiye aur kuch bhi milaane ki avashyakta nahi hai namaskar dhanyavad

नमस्कार आपका सवाल है कि शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरी जाति से करना चाहिए देखिए जात

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
13 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह तो आप पर डिपेंड करता है कि आप कितने एडजस्टिंग हैं अगर आप ऐसे इंसान है जो कहीं भी किसी के साथ भी किसी भी कंडीशन में एडजस्ट करते हैं तो आप शादी जाती ही नहीं इंटरनेशनल भी कर सकते हैं जब न्यूज़ चाइनीस किसी के साथ भी शादी कर सकते हैं डिपेंड करता है कि आप कितने एडजस्टिंग है आपका स्वभाव कैसा है क्या फ्रेंडली है क्या आप दूसरों को अपनी लाइफ में शामिल कर लेते हैं इसलिए क्या दूसरों की मदद करते दूसरों को आप कितना कम टेबल करवाते हैं यह आप पर डिपेंड करता है कि आप कितने कहां पर किस हद तक दूसरों के साथ जो है खुशी-खुशी रह सकते हैं तो यह आपका हो गया लेकिन जिससे आप शादी करना चाहते हैं अगर अलग जाति के होंगे तो उनको भी यही आपके बारे में पूछना चाहिए कि वह भी आपके साथ ऐसे एडजस्ट कर सके लेकिन आप अपने तक ही सोच सकते हैं कि दूसरे प्रश्न के बारे में आप नहीं सोच सकते हो सकता है कि आप इस वक्त ना जानते हो कि उनकी क्या स्टेशंस है तो अगर आप एक ऐसी गोइंग पर्सन है जो न्यूट्रल अप्रोच रखते हैं लाइफ में ज्यादा इमोशनल नहीं है प्रैक्टिकल है जो बच्चे और हैं जो एडजस्ट कर सकते हैं जो ज्यादा इमोशनल ना हो जिसको गुस्सा कम आता हो जो बहुत ही वॉइस और सेंसिबल इंसान हो तो डेफिनटली आप शादी जाती नहीं देश के बाहर भी कर सकते

dekhiye yah toh aap par depend karta hai ki aap kitne edajasting hain agar aap aise insaan hai jo kahin bhi kisi ke saath bhi kisi bhi condition mein adjust karte hain toh aap shadi jaati hi nahi international bhi kar sakte hain jab news Chinese kisi ke saath bhi shadi kar sakte hain depend karta hai ki aap kitne edajasting hai aapka swabhav kaisa hai kya friendly hai kya aap dusron ko apni life mein shaamil kar lete hain isliye kya dusron ki madad karte dusron ko aap kitna kam table karwaate hain yah aap par depend karta hai ki aap kitne kahaan par kis had tak dusron ke saath jo hai khushi khushi reh sakte hain toh yah aapka ho gaya lekin jisse aap shadi karna chahte hain agar alag jati ke honge toh unko bhi yahi aapke bare mein poochna chahiye ki vaah bhi aapke saath aise adjust kar sake lekin aap apne tak hi soch sakte hain ki dusre prashna ke bare mein aap nahi soch sakte ho sakta hai ki aap is waqt na jante ho ki unki kya steshans hai toh agar aap ek aisi going person hai jo neutral approach rakhte hain life mein zyada emotional nahi hai practical hai jo bacche aur hain jo adjust kar sakte hain jo zyada emotional na ho jisko gussa kam aata ho jo bahut hi voice aur sensibal insaan ho toh definatali aap shadi jaati nahi desh ke bahar bhi kar sakte

देखिए यह तो आप पर डिपेंड करता है कि आप कितने एडजस्टिंग हैं अगर आप ऐसे इंसान है जो कहीं भी

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  558
WhatsApp_icon
user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स देखिए ऐसा कहीं नहीं लिखा हुआ की शादी आपको अपनी जाति में करनी है दूसरे की जाति में करनी है इसके पीछे कोई साइंटिफिक रीजन भी नहीं है हां यह जरूर है कि हमारी गोत्र में शादी नहीं करनी चाहिए उसके पीछे साइंटिफिक रीजन है क्योंकि हिंदू धर्म में शादी करने का मतलब होता है कि हो सकता है हमारे सिस्टर से वो तो हमारे जींद अगर मैच कर जाते हैं तो जो नहीं हो और जेनरेशन होती है वह अपने और बनाने के चांसेस होती है हमारे गोत्र में शादी नहीं करनी चाहिए शादी कर सकते जरूरी नहीं है कि वह आप की कास्ट अगर आपका नेचर एडजस्टिंग है आप एडजस्ट कर पा रहे हैं उसके साथ अब कर लीजिए शादी है जो ऑल अबाउट ठेर हैप्पीनेस कि आप किसके साथ क्वेश्चन ऐसा जरूरी नहीं है कि आप उसके साथ ही खुश रहे जो आप की कास्ट है और कास्ट के अमृत तो कहूंगा अगर आप किसी इंटरनेशनल लेवल पर भी कर सकते हैं या किसी दूसरे धर्म में भी अगर आपको शायद आप कर सकते हैं ओन्ली हो 24

hello friends dekhiye aisa kahin nahi likha hua ki shadi aapko apni jati mein karni hai dusre ki jati mein karni hai iske peeche koi scientific reason bhi nahi hai haan yah zaroor hai ki hamari gotra mein shadi nahi karni chahiye uske peeche scientific reason hai kyonki hindu dharam mein shadi karne ka matlab hota hai ki ho sakta hai hamare sister se vo toh hamare Jind agar match kar jaate hain toh jo nahi ho aur generation hoti hai vaah apne aur banaane ke chances hoti hai hamare gotra mein shadi nahi karni chahiye shadi kar sakte zaroori nahi hai ki vaah aap ki caste agar aapka nature edajasting hai aap adjust kar paa rahe hain uske saath ab kar lijiye shadi hai jo all about ther Happiness ki aap kiske saath question aisa zaroori nahi hai ki aap uske saath hi khush rahe jo aap ki caste hai aur caste ke amrit toh kahunga agar aap kisi international level par bhi kar sakte hain ya kisi dusre dharam mein bhi agar aapko shayad aap kar sakte hain only ho 24

हेलो फ्रेंड्स देखिए ऐसा कहीं नहीं लिखा हुआ की शादी आपको अपनी जाति में करनी है दूसरे की जात

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  838
WhatsApp_icon
play
user

Pandit Prem

शायर, पुस्तक संपादक

1:10

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मित्र जातिवाद और धर्म बाद हमारे देश की सबसे बड़ी विडंबना है हैं जिनकी वजह से एक दूसरे को हम छोटा बड़ा समझते हैं एक दूसरे के साथ बैठना उतना पसंद नहीं करते एक दूसरे को भरपूर प्यार नहीं दे पाते एक दूसरे के साथ का सम्मान नहीं कर पाते या एक दूसरे को नीचा दिखाने की कोशिश में लोग रखे रहते हैं मेरा मानना यह है कि जाति धर्म ना होता तो ज्यादा अच्छा होता और आप ना माने तो ज्यादा बेहतर रहेगा मान लीजिए आप ने अपनी जाति वर्ग में शादी कर ली और फिर आपके जीवन में तनाव ना या फिर आपके जीवन में कोई ऐसी परेशानी आई जो 2 लोगों ने मिलकर उन दो लोगों के मनों मनोभाव याद उसे विचार ना मिलने से हो तब आप क्या करेंगे तो मेरा मानना यह है कि जाति में हो या गैर जाति में हो शादी अगर आप करें तो आपके विचार आपके जीवनसाथी से आपका सहयोग मिलना आप की बहुत सारी चीजें मिलनी चाहिए आपके जीवन खुशहाल होना चाहिए अन्यथा इसकी शादी का कोई फायदा नहीं हो जाती में करें अगर जाति में करें तो जातिवाद ना मानकर करें ज्यादा बेहतर है जीवनसाथी का चुनाव अच्छे का करें धन्यवाद

namaskar mitra jaatiwad aur dharam baad hamare desh ki sabse badi widambana hai hain jinki wajah se ek dusre ko hum chota bada samajhte hain ek dusre ke saath baithana utana pasand nahi karte ek dusre ko bharpur pyar nahi de paate ek dusre ke saath ka sammaan nahi kar paate ya ek dusre ko nicha dikhane ki koshish mein log rakhe rehte hain mera manana yah hai ki jati dharam na hota toh zyada accha hota aur aap na maane toh zyada behtar rahega maan lijiye aap ne apni jati varg mein shadi kar li aur phir aapke jeevan mein tanaav na ya phir aapke jeevan mein koi aisi pareshani I jo 2 logon ne milkar un do logon ke manon manobhaav yaad use vichar na milne se ho tab aap kya karenge toh mera manana yah hai ki jati mein ho ya gair jati mein ho shadi agar aap karen toh aapke vichar aapke jeevansathi se aapka sahyog milna aap ki bahut saree cheezen milani chahiye aapke jeevan khushahal hona chahiye anyatha iski shadi ka koi fayda nahi ho jaati mein karen agar jati mein karen toh jaatiwad na manakar karen zyada behtar hai jeevansathi ka chunav acche ka karen dhanyavad

नमस्कार मित्र जातिवाद और धर्म बाद हमारे देश की सबसे बड़ी विडंबना है हैं जिनकी वजह से एक दू

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  650
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पणजी गोसीगर अगर विवाह स्वयं की समान जाति में क्या जाए तो जाता उत्तम होता है लेकिन आज के युग में प्रेम विवाह ज्यादा हो रहा है और लोग अन्य जातियों में भी विवाह कर रहे हैं दोनों ही स्थितियों में विवाह सफल हो यह पति पत्नी जीवन पर निर्भर करता है

panaji gosigar agar vivah swayam ki saman jati mein kya jaaye toh jata uttam hota hai lekin aaj ke yug mein prem vivah zyada ho raha hai aur log anya jaatiyo mein bhi vivah kar rahe hain dono hi sthitiyo mein vivah safal ho yah pati patni jeevan par nirbhar karta hai

पणजी गोसीगर अगर विवाह स्वयं की समान जाति में क्या जाए तो जाता उत्तम होता है लेकिन आज के यु

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  1661
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरे जाति से करना यह कोई जरूरी नहीं है कि अपनी जाति में शादी कर लिया अपनी दूसरी जाति में शादी अपनी जाति में शादी करने का लोग ज्यादातर चीजें आचार विचार जो घर के और जाति के एक जैसे होने कारण समस्या सिर्फ दो लोगों को नजर में रखते हुए सिर्फ वह दोनों एक दूसरे को एडजस्टमेंट कर ले और एक दूसरे का सहयोग करें एक दूसरे से प्रेम भाव के रहें और अपनी जिंदगी को जाए उसको मजा मद्देनजर रखकर लोग लव मैरिज की करते हैं और सफल भी होते हैं लेकिन दो परिवारों का मिलन होता है अंतर जाति विवाह करने पर दो समाज का मिलन होता है और अंतर धरनी विवाह होने पर दो धर्मों का मिलन होता है और अंतर्राष्ट्रीय विवाद होते हैं उसमें दूर राष्ट्र के कल्चर का मिलन होता है अब कन्या और वह तो सिर्फ प्रतिनिधि रूप में ही शादी करते हैं लेकिन इस तरह से मिलन होते हैं देखे गए लेकिन उसको विवाह करना तो कर लिया लेकिन उसको ठिकाना इसमें से दोनों को अपना परिवार चलाना और सफल रिक्शा चलाना उसने बहुत ही अंडरस्टैंडिंग एक दूसरे की होनी जरूरी से एक दूसरे का विश्वास होना जरूरी है एक दूसरे को समझना भी बहुत जरूरी है और प्रेम पहले एक दूसरे के ऊपर होना चाहिए स दीजिए विवाह होते और टिकाने के लिए अंत समय तक यह मन में होना चाहिए कि हम अब जीवन साथी नहीं बदलेंगे और हम एक दूसरे का साथ जीवन पर निकाय विभाग के साथ अगर अंतरजातीय वा करें चाहे अंतर जर्नी विवा करें या अंतरराष्ट्रीय वाकड़ अगर आप पर अपने विचार पर दोनों कायम हैं और सुख रूप रह सकते हैं तो वह करना में कोई बुराई नहीं धन्यवाद जय

shadi apni jati se karna chahiye ya dusre jati se karna yah koi zaroori nahi hai ki apni jati mein shadi kar liya apni dusri jati mein shadi apni jati mein shadi karne ka log jyadatar cheezen aachar vichar jo ghar ke aur jati ke ek jaise hone karan samasya sirf do logon ko nazar mein rakhte hue sirf vaah dono ek dusre ko adjustment kar le aur ek dusre ka sahyog karen ek dusre se prem bhav ke rahein aur apni zindagi ko jaaye usko maza maddenajar rakhakar log love marriage ki karte hain aur safal bhi hote hain lekin do parivaron ka milan hota hai antar jati vivah karne par do samaaj ka milan hota hai aur antar dharani vivah hone par do dharmon ka milan hota hai aur antarrashtriya vivaad hote hain usmein dur rashtra ke culture ka milan hota hai ab kanya aur vaah toh sirf pratinidhi roop mein hi shadi karte hain lekin is tarah se milan hote hain dekhe gaye lekin usko vivah karna toh kar liya lekin usko thikana isme se dono ko apna parivar chalana aur safal riksha chalana usne bahut hi understanding ek dusre ki honi zaroori se ek dusre ka vishwas hona zaroori hai ek dusre ko samajhna bhi bahut zaroori hai aur prem pehle ek dusre ke upar hona chahiye s dijiye vivah hote aur tikane ke liye ant samay tak yah man mein hona chahiye ki hum ab jeevan sathi nahi badalenge aur hum ek dusre ka saath jeevan par nikaay vibhag ke saath agar antarjaatiye va karen chahen antar journey viva karen ya antararashtriya vakad agar aap par apne vichar par dono kayam hain aur sukh roop reh sakte hain toh vaah karna mein koi burayi nahi dhanyavad jai

शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरे जाति से करना यह कोई जरूरी नहीं है कि अपनी जाति में श

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1359
WhatsApp_icon
user

Ved prakash Mishra

Journalist Dainik jagran { Naidunia}

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सादिया विवाह एक बहुत ही निजी होने के साथ-साथ पारिवारिक और सामाजिक विषय भी हैं हम देखेंगे कि लोग अक्सर अपने जाति धर्म में ही विवाह करना पसंद करते हैं क्योंकि आज भी हमारे समाज में जाति धर्म को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है लेकिन यह पूर्ण रूप से आप पर निर्भर करता है कि आप शादी किससे करना चाहते हैं आपको जैसा उचित लगे जो आपको ठीक लगे आप वैसा कर सकते हैं किसी भी प्रकार से आप के ऊपर कोई रोक-टोक नहीं है आप अपनी जाति में शादी करना चाहते हैं तो आप मिल जाते हैं शादी करें उसकी जाती है शादी करना चाहते हैं दूसरी शादी दूसरी जाति में शादी करें कानूनन आप पर किसी प्रकार का दबाव या रोक-टोक नहीं है क्या आप इसके लिए किसी प्रकार से बात भी नहीं है कानून आपको इसके लिए पूरी छूट देता है

sadiya vivah ek bahut hi niji hone ke saath saath parivarik aur samajik vishay bhi hain hum dekhenge ki log aksar apne jati dharam mein hi vivah karna pasand karte hain kyonki aaj bhi hamare samaaj mein jati dharam ko bahut adhik mahatva diya jata hai lekin yah purn roop se aap par nirbhar karta hai ki aap shadi kisse karna chahte hain aapko jaisa uchit lage jo aapko theek lage aap waisa kar sakte hain kisi bhi prakar se aap ke upar koi rok tok nahi hai aap apni jati mein shadi karna chahte hain toh aap mil jaate hain shadi karen uski jaati hai shadi karna chahte hain dusri shadi dusri jati mein shadi karen kanunan aap par kisi prakar ka dabaav ya rok tok nahi hai kya aap iske liye kisi prakar se baat bhi nahi hai kanoon aapko iske liye puri chhut deta hai

सादिया विवाह एक बहुत ही निजी होने के साथ-साथ पारिवारिक और सामाजिक विषय भी हैं हम देखेंगे क

Romanized Version
Likes  154  Dislikes    views  1853
WhatsApp_icon
user
0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप पढ़े लिखे हैं आप निर्भर हैं विशेषकर आर्थिक रूप से तो आप अपनी मनपसंद की लड़की से शादी कर सकती है चाहे वह अपनी जाति से हो या दूसरी जाति से इसका कोई नियम नहीं है कि हमको अपनी जाति में शादी करना चाहिए कि दूसरी जाति में शादी करना चाहिए लेकिन हमारे समाज में अपने गोत्र में शादी करने की एक प्रकार से मनाही है टोटम है इसे तो हम अभी तक इससे बच्चे नहीं है

agar aap padhe likhe hain aap nirbhar hain visheshkar aarthik roop se toh aap apni manpasand ki ladki se shaadi kar sakti hai chahen vaah apni jati se ho ya dusri jati se iska koi niyam nahi hai ki hamko apni jati me shaadi karna chahiye ki dusri jati me shaadi karna chahiye lekin hamare samaj me apne gotra me shaadi karne ki ek prakar se manaahi hai totam hai ise toh hum abhi tak isse bacche nahi hai

अगर आप पढ़े लिखे हैं आप निर्भर हैं विशेषकर आर्थिक रूप से तो आप अपनी मनपसंद की लड़की से शाद

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  629
WhatsApp_icon
user

Saurabh Kumar

Biology student

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कोई नियम नहीं है कि शादी किस जाति में करना चाहिए और किस जाति में नहीं करना चाहिए पुराने सामाजिक नियमों के तौर पर यह माना जाता है यह कहा जाता है कि शादी के पास नहीं जाते में करना चाहिए मानता हूं हमारा समाज के बहुत सारे लोग यह मानते हैं कि अब ऐसी कोई भी बंधन नहीं है कोई भी लोग किसी भी जाति में शादी कर सकते हैं सरकारी जॉब से कानूनी रूप से आप कर सकते हैं इसमें कोई भी कहीं भी कुछ बाधा नहीं होती है समाज के रूढ़ीवादी लोगों से आपको लड़ना होगा कुछ परेशानियां हो भी दिक्कतें होंगी लेकिन उन सारी परेशानियों को चीरते हुए भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो दूसरी जाति में शादी कर चुके हैं और रोज कर रहे हैं तो जी बिल्कुल अगर आप करना चाहते हैं तो सेटिंग साबित आप बिल्कुल कर सकते हैं

dekhiye koi niyam nahi hai ki shadi kis jati mein karna chahiye aur kis jati mein nahi karna chahiye purane samajik niyamon ke taur par yah mana jata hai yah kaha jata hai ki shadi ke paas nahi jaate mein karna chahiye manata hoon hamara samaaj ke bahut saare log yah maante hain ki ab aisi koi bhi bandhan nahi hai koi bhi log kisi bhi jati mein shadi kar sakte hain sarkari job se kanooni roop se aap kar sakte hain isme koi bhi kahin bhi kuch badha nahi hoti hai samaaj ke rudhivadi logon se aapko ladana hoga kuch pareshaniyan ho bhi dikkaten hongi lekin un saree pareshaaniyon ko chirate hue bhi bahut saare aise log hain jo dusri jati mein shadi kar chuke hain aur roj kar rahe hain toh ji bilkul agar aap karna chahte hain toh setting saabit aap bilkul kar sakte hain

देखिए कोई नियम नहीं है कि शादी किस जाति में करना चाहिए और किस जाति में नहीं करना चाहिए पुर

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  482
WhatsApp_icon
user

Dr.. Aman chaudhary

IAS Aspirant 🇮🇳🇮🇳

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी कोई समझौता नहीं है यह प्यार का मैटर है इसमें जाती हो या फिर बनना चाहती हो यह कोई मायने नहीं रखता इंसान सभी होते हैं जाती है बना दी गई है ऐसा कुछ नहीं है आदमी को मेरा तो मानना है कि जातिवादी में कुछ नहीं रखा जाए शादी करनी है जो पसंद है उसकी शादी करो

shadi koi samjhauta nahi hai yah pyar ka matter hai isme jaati ho ya phir banna chahti ho yah koi maayne nahi rakhta insaan sabhi hote hain jaati hai bana di gayi hai aisa kuch nahi hai aadmi ko mera toh manana hai ki jativadi mein kuch nahi rakha jaaye shadi karni hai jo pasand hai uski shadi karo

शादी कोई समझौता नहीं है यह प्यार का मैटर है इसमें जाती हो या फिर बनना चाहती हो यह कोई मायन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user

preet

Student, Tutor

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जहां तक आपका सवाल शादी को लेकर है तो सबसे पहले मैं आपको यही कहना चाहूंगी कि शादी किसी व्यक्ति से की जाती है ना कि उसकी जाति से नहीं उसके धर्म से तो सबसे पहले आप जिस व्यक्ति से शादी करना चाहते हैं उसमें क्या-क्या गुण चाहिए आपको उनके विचार कैसे हो यह आपको तय करना होगा यदि आपके विचार उस व्यक्ति से मिलते हैं आप दोनों में अंडरस्टैंडिंग हो रही है जाती वगैरह तो बाद में आते हैं यह व्यक्ति से ऊपर नहीं है सबसे पहले व्यक्ति की व्यक्तिगत विचारधारा है और रही बात जाति की तो अगर आपको कोई व्यक्ति बहुत पसंद है आपको लगता है कि आपको उससे शादी कर लेनी चाहिए तो मेरा यह मानना है कि बेशक शादी कर लेनी चाहिए फिर चाहे वह अपनी जाति का हो या दूसरी जाति का

dekhiye jahan tak aapka sawaal shadi ko lekar hai toh sabse pehle main aapko yahi kehna chahungi ki shadi kisi vyakti se ki jaati hai na ki uski jati se nahi uske dharam se toh sabse pehle aap jis vyakti se shadi karna chahte hain usmein kya kya gun chahiye aapko unke vichar kaise ho yah aapko tay karna hoga yadi aapke vichar us vyakti se milte hain aap dono mein understanding ho rahi hai jaati vagairah toh baad mein aate hain yah vyakti se upar nahi hai sabse pehle vyakti ki vyaktigat vichardhara hai aur rahi baat jati ki toh agar aapko koi vyakti bahut pasand hai aapko lagta hai ki aapko usse shadi kar leni chahiye toh mera yah manana hai ki beshak shadi kar leni chahiye phir chahen vaah apni jati ka ho ya dusri jati ka

देखिए जहां तक आपका सवाल शादी को लेकर है तो सबसे पहले मैं आपको यही कहना चाहूंगी कि शादी किस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Ganpatlaljambhani

Vet Coumpuder

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरी जाति से करना चाहिए अब देखो कि आपके समाज का रिवाज किया है आपने पिता जी ने आपके दादा जी ने आपके फैमिली बैकग्राउंड ने किस से शादी की अदर कास्ट की है या पशु समाज की है एक बार आप खुद की समाज से शादी करो अच्छा महसूस होता है शादी करो तो फिर आगे जाके सक्सेसफुल देंगे ठीक है कोई किसी की भी बंदे को देख नहीं कर सकते समाज समाज होती है जो आदमी समाज के नहीं तो किसी की नहीं एक अपना खुद की गाय का दूध पीते हैं दूसरे गाय का दूध पीते मोहल्ला के उसमें पानी डाल देते हैं उसे अपने संतान अच्छी नहीं होगी संतान अपने अंदर में नहीं रहेंगे तो शिकार नहीं दे पाएंगे फैमिली में मनमुटाव हो जाएगा खुद की समाज से शादी करनी चाहिए

aapka prashna hai ki shadi apni jati se karna chahiye ya dusri jati se karna chahiye ab dekho ki aapke samaaj ka rivaaj kiya hai aapne pita ji ne aapke dada ji ne aapke family background ne kis se shadi ki other caste ki hai ya pashu samaaj ki hai ek baar aap khud ki samaaj se shadi karo accha mahsus hota hai shadi karo toh phir aage jake successful denge theek hai koi kisi ki bhi bande ko dekh nahi kar sakte samaaj samaaj hoti hai jo aadmi samaaj ke nahi toh kisi ki nahi ek apna khud ki gaay ka doodh peete hain dusre gaay ka doodh peete mohalla ke usmein paani daal dete hain use apne santan achi nahi hogi santan apne andar mein nahi rahenge toh shikaar nahi de payenge family mein manmutaav ho jaega khud ki samaaj se shadi karni chahiye

आपका प्रश्न है कि शादी अपनी जाति से करना चाहिए या दूसरी जाति से करना चाहिए अब देखो कि आपके

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी अपनी जान से करनी चाहिए दूसरी जाति से तो शादी कैसा बंधन है जो कि आप इन से बांध के रखता है तो मुझे लगता है जाती है वह इंपॉर्टेंट नहीं है कि कृपया इंर्पोटेंट एजुकेशन पोर्टल ताकि बेहतर लाइफ लोंग वीडियो सबसे कम गुजार प्रकाश को बहुत ज्यादा साथ किया जाता है तो बिल्कुल आप जो इस ओर समस्याएं का डिजाइन भेज सकते हैं

shadi apni jaan se karni chahiye dusri jati se toh shadi kaisa bandhan hai jo ki aap in se bandh ke rakhta hai toh mujhe lagta hai jaati hai vaah important nahi hai ki kripya important education portal taki behtar life long video sabse kam gujar prakash ko bahut zyada saath kiya jata hai toh bilkul aap jo is aur samasyaen ka design bhej sakte hain

शादी अपनी जान से करनी चाहिए दूसरी जाति से तो शादी कैसा बंधन है जो कि आप इन से बांध के रखता

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  272
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!