नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य क्या है?...


user

Dr. Kiran Mishra

Psychologist

3:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपर क्वेश्चन नैतिक शिक्षा का मुख्य उद्देश्य क्या है यदि देखा जाए तो नैतिक शिक्षा मूल्यों की शिक्षा आज के परिवेश में बहुत ज्यादा जरूरी है लोगों में मानवता इंसानियत सबकी से खत्म होती जा रही है एक दूसरे की मदद करना नहीं चाहते हैं लोगों में पंक्चुअलिटी बिल्कुल नहीं रह गई है लोगों में सिनसीआईटी नहीं रह गई है लोग किसी की हेल्प नहीं करना चाहते एक का साइकोमेट्रिक टेस्ट है उससे ही पता पड़ता है कि किसी भी इंसान में कितने नैतिक मूल्य बच्चे हैं कि नहीं बच्चे हैं खासतौर से मैं बच्चों के बारे में बात करूंगी कि उन्हें कहीं ना कहीं नैतिक मूल बिल्कुल नहीं रहेगा है कहीं भी लड़ाई शुरु कर देते हैं अपने बड़ों का सम्मान नहीं कर रहा है कई के सुनने में आते हैं मां-बाप का आतंक का मर्डर का बच्चे उनका साथ उनके साथ में बीएफ करते हैं अपने टीचर के साथ में मिस बिहेव करते हैं टीचर्स को मारना शुरू कर देते हैं फोरम ने भी इस तरीके की कई घटनाएं सुनाई पर इंडिया में भी सुनाई पड़ते हैं तो हमें नैतिक मूल्यों की शिक्षा देना आज के परिवेश में बहुत ज्यादा जरूरी है जिससे उनका सही से पर्सनालिटी डेवलपमेंट हो आप पंचाल की एनसीईआरटी यह सब चीजें बहुत ज्यादा जरूरी है अगर हम में पंच वाल्टियर समय की पाबंदी हम किसी चीज को करने में सनसिटी के साथ कोई काम कर रहे हैं तो आप लाइफ में बहुत आगे जाएंगे किसी भी बच्चे के नंबर कितने आ रहा है मार्कशीट में या वह कितना इंटेलिजेंट है मुझे नहीं लगता कि उससे कोई आगे जाता है आप में हमारा सिलेक्शन हो जाएगा मार्कशीट में नंबर प्राइवेट जॉब गवर्नमेंट जॉब में सिलेक्शन तो होता है बट आप कितने ऊपर जाएंगे वहां पर काम पर निर्भर करता है और आप में काम किस तरीके से कर रहे हैं आजकल प्राइवेट जॉब में इंटरव्यू होते हैं डेमू होते हैं ठीक है बट जब आप काम करना शुरू करते हैं कहीं ना कहीं आप एक्टिव बैठ जाता है कि आप काम अच्छे से नहीं कर रहा है काम में ताला ताला मटोली कर रहा है लेकिन अगर आप में से आती है काम आप दिल से करते ईमानदारी से करते हैं यह भी नैतिक मूल्य में एक आता ईमानदारी और आप इमानदारी से करते हैं तो आप में आप बहुत ज्यादा ऊंचाई पर जाएंगे नैतिक शिक्षा का यह मतलब नहीं है कि कोई स्टेज पर आग एक लंबा से स्पीच दे आपने सुना और आप उसको सुन सुन लिया ताली बजा दी इतना ही नैतिक मूल्य की शिक्षा नहीं होती है नैतिक मूल्य हमें अपने जीवन में उतारने पड़ेंगे हमें मदद करनी चाहिए लोगों की हमें ईमानदार रहना चाहिए हमें पंक्चुअल रहना चाहिए आप हर पल पल कि अगर समय की कीमत समझेंगे आप लाइफ में बहुत ऊंचे जाएंगे हर काम को आप ईमानदारी से कीजिए आप जरूर ऊपर बहुत ऊंचाई को छू लेंगे मुझे लगता है आपके क्वेश्चन का आंसर मिल गया होगा थैंक यू

upper question naitik shiksha ka mukhya uddeshya kya hai yadi dekha jaaye toh naitik shiksha mulyon ki shiksha aaj ke parivesh mein BA hut zyada zaroori hai logo mein manavta insaniyat sabki se khatam hoti ja rahi hai ek dusre ki madad karna nahi chahte hai logo mein pankchualiti bilkul nahi reh gayi hai logo mein sinsiaaiti nahi reh gayi hai log kisi ki help nahi karna chahte ek ka saikometrik test hai usse hi pata padta hai ki kisi bhi insaan mein kitne naitik mulya BA cche hai ki nahi BA cche hai khaasataur se main BA cchon ke BA re mein BA at karungi ki unhe kahin na kahin naitik mul bilkul nahi rahega hai kahin bhi ladai shuru kar dete hai apne BA don ka sammaan nahi kar raha hai kai ke sunne mein aate hai maa BA ap ka aatank ka murder ka BA cche unka saath unke saath mein bf karte hai apne teacher ke saath mein miss behave karte hai teachers ko marna shuru kar dete hai forum ne bhi is tarike ki kai ghatnaye sunayi par india mein bhi sunayi chahiye padte hai toh hamein naitik mulyon ki shiksha dena aaj ke parivesh mein BA hut zyada zaroori hai jisse unka sahi se personality development ho aap panchal ki ncert yah sab cheezen BA hut zyada zaroori hai agar hum mein punch valtiyar samay ki pabandi hum kisi cheez ko karne mein suncity ke saath koi kaam kar rahe hai toh aap life mein BA hut aage jaenge kisi bhi BA cche ke number kitne aa raha hai marksheet mein ya vaah kitna Intelligent hai mujhe nahi lagta ki usse koi aage jata hai aap mein hamara selection ho jaega marksheet mein number private job government mein selection toh hota hai but aap kitne upar jaenge wahan par kaam par nirbhar karta hai aur aap mein kaam kis tarike se kar rahe hai aajkal private job mein interview hote hai demu hote hai theek hai but jab aap kaam karna shuru karte hai kahin na kahin aap active BA ith jata hai ki aap kaam acche se nahi kar raha hai kaam mein tala tala chahiye kar raha hai lekin agar aap mein se aati hai kaam aap dil se karte imaandaari se karte hai yah bhi naitik mulya mein ek aata imaandaari aur aap imaandari se karte hai toh aap mein aap BA hut zyada uchai par jaenge naitik shiksha ka yah matlab nahi hai ki koi stage par aag ek lamba se speech de aapne suna aur aap usko sun sun liya tali BA ja di itna hi naitik mulya ki shiksha nahi hoti hai naitik mulya hamein apne jeevan mein utarane padenge hamein madad karni chahiye logo ki hamein imaandaar rehna chahiye hamein Punctual rehna chahiye aap har pal pal ki agar samay ki kimat samjhenge aap life mein BA hut unche jaenge har kaam ko aap imaandaari se kijiye aap zaroor upar BA hut uchai ko chu lenge mujhe lagta hai aapke question ka answer mil gaya hoga thank you

अपर क्वेश्चन नैतिक शिक्षा का मुख्य उद्देश्य क्या है यदि देखा जाए तो नैतिक शिक्षा मूल्यों क

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य है एक दूसरे को देखकर सीखना कहानियां सुन सुन के उच्च शिक्षा के प्राप्त होती है और नैतिक शिक्षा कब है

naitik shiksha ka pramukh uddeshya hai ek dusre ko dekhkar sikhna kahaniya sun sun ke ucch shiksha ke prapt hoti hai aur naitik shiksha kab hai

नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य है एक दूसरे को देखकर सीखना कहानियां सुन सुन के उच्च शिक्षा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user
0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नैतिक शिक्षा व प्रक्रिया है जिसके माध्यम से लोग दूसरों में नैतिक मूल्यों का संचार करते हैं यह कार्य घर विद्यालय मंदिर जेल या किसी सामाजिक स्थान जैसे पंचायत भवन में किया जा सकता है व्यक्तियों का समूह समाज है जैसे व्यक्ति होंगे वैसा ही समाज बनेगा किसी देश का उत्थान या पतन इस बात पर निर्भर करता है कि इनके नागरिक किस स्तर के हैं और स्तर बहुत करके वहां की शिक्षा पर स्थिति पर निर्भर रहता है व्यक्ति के निर्माण और समाज के उत्थान में शिक्षा का अधिक महत्वपूर्ण योगदान होता है

naitik shiksha va prakriya hai jiske madhyam se log dusro mein naitik mulyon ka sanchar karte hai yah karya ghar vidyalaya mandir jail ya kisi samajik sthan jaise panchayat bhawan mein kiya ja sakta hai vyaktiyon ka samuh samaj hai jaise vyakti honge waisa hi samaj BA nega kisi desh ka utthan ya patan is BA at par nirbhar karta hai ki inke nagarik kis sthar ke hai aur sthar BA hut karke wahan ki shiksha par sthiti par nirbhar rehta hai vyakti ke nirmaan aur samaj ke utthan mein shiksha ka adhik mahatvapurna yogdan hota hai

नैतिक शिक्षा व प्रक्रिया है जिसके माध्यम से लोग दूसरों में नैतिक मूल्यों का संचार करते हैं

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नैतिक शिक्षा का मुख्य उद्देश्य छात्रों में नैतिक मूल्यों का बधावा देना नैतिक मूल्य कहानी से तत्पर है यहां पर सामाजिक स्तर पर परिवारिक का स्तर पर अपने बड़ों का सम्मान करना देश के प्रति प्रेम होना राज्य के प्रति प्रेम होना सरकारी संपत्ति के प्रति इज्जत रखना सामान को नुकसान ना पहुंचा ना यह सब नैतिक शिक्षा के मूल उद्देश्य है

naitik shiksha ka mukhya uddeshya chhatro mein naitik mulyon ka BA dhava dena naitik mulya kahani se tatpar hai yahan par samajik sthar par pariwarik ka sthar par apne BA don ka sammaan karna desh ke prati prem hona rajya ke prati prem hona sarkari sampatti ke prati izzat rakhna saamaan ko nuksan na pohcha na yah sab naitik shiksha ke mul uddeshya hai

नैतिक शिक्षा का मुख्य उद्देश्य छात्रों में नैतिक मूल्यों का बधावा देना नैतिक मूल्य कहानी स

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  304
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य

naitik shiksha ka pramukh uddeshya

नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  338
WhatsApp_icon
user
1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार आपका प्रश्न है नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य क्या है सबसे बड़ी बात है नैतिक शिक्षा का अर्थ होता है नैतिकता से जुड़ी बातें अनुशासन से जुड़ी बातें ना कि समाज भी जीने के लिए अनुशासन बहुत जरूरी है अनुशासन होना बहुत ही बुरी बात है जो बच्चों में बाद में देखी जाती है जिस घर में शुरू से बच्चों को नैतिक शिक्षा नहीं पढ़ाई जाती नहीं दिखाई जाती वह बच्चे बड़े होकर गार्जियंस के अभिभावक के बाद की अवहेलना करते हैं अपनी मनमानी करते हैं और जिंदगी में बहुत सारी सारी समस्याओं का सामना करते हैं इसलिए शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य ही होता है कि बच्चों में शुरू से ही शिक्षा का बीज बोया जाए जिससे कि बच्चे समाज में नीला अपने समाज में अपने बड़ों का सम्मान करें आदर करें छोटू से प्रेम करें और ऑपरेशन की भावना उनमें का प्रमुख उद्देश्य धन्यवाद

hello namaskar aapka prashna hai naitik shiksha ka pramukh uddeshya kya hai sabse BA di BA at hai naitik shiksha ka arth hota hai naitikta se judi BA tein anushasan se judi BA tein na ki samaj bhi jeene ke liye anushasan BA hut zaroori hai anushasan hona BA hut hi buri BA at hai jo BA cchon mein BA ad mein dekhi jaati hai jis ghar mein shuru se BA cchon ko naitik shiksha nahi padhai jaati nahi dikhai jaati vaah BA cche BA de hokar garjiyans ke abhibhavak ke BA ad ki avhelna karte hai apni manmani karte hai aur zindagi mein BA hut saree saree samasyaon ka samana karte hai isliye shiksha ka pramukh uddeshya hi hota hai ki BA cchon mein shuru se hi shiksha ka beej boya jaaye jisse ki BA cche samaj mein neela apne samaj mein apne BA don ka sammaan kare aadar kare chotu se prem kare aur operation ki bhavna unmen ka pramukh uddeshya dhanyavad

हेलो नमस्कार आपका प्रश्न है नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य क्या है सबसे बड़ी बात है नैतिक

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
play
user

Riya

Volunteer

0:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रमगढ़ बात करें कि नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य क्या होता है तना टिक सिस्टम मतलब कि आपको जो भी ज्ञान देने की चीजें होती है जो भी आपके निजी जीवन में फॉलो होती है उसको किस तरीके से करनी है या फिर अपने जीवन को किस तरीके से जीना है किस तरीके से लोगों की आपको मदद करनी है तो यही अपेक्षा होती है और इसका प्रमुख उद्देश्य होता है समाज में एक यूनिट की सराहना एक अच्छी चीजों का प्रारंभ करना

vikramgarh BA at kare ki naitik shiksha ka pramukh uddeshya kya hota hai tana tick system matlab ki aapko jo bhi gyaan dene ki cheezen hoti hai jo bhi aapke niji jeevan mein follow hoti hai usko kis tarike se karni hai ya phir apne jeevan ko kis tarike se jeena hai kis tarike se logo ki aapko madad karni hai toh yahi apeksha hoti hai aur iska pramukh uddeshya hota hai samaj mein ek unit ki sarahana ek achi chijon ka prarambh karna

विक्रमगढ़ बात करें कि नैतिक शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य क्या होता है तना टिक सिस्टम मतलब कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
नैतिक शिक्षा के उद्देश्य ; नैतिक शिक्षा ; naitik shiksha ; नैतिक शिक्षा का उद्देश्य है ; naitik shiksha ke uddeshy ; नैतिक शिक्षा का उद्देश्य ; naitik shiksha kya hai ; naitik shiksha ka pramukh uddeshya kya hai ; naitik shiksha ke pramukh uddeshya ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!