क्या हिंदू धर्म में रावण को जलाना सही है अगर सही है तो क्यों?...


user

BK Kalyani

Teacher On Rajyoga Spiritual Knowledge

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या हिंदू धर्म में रावण को जलाना सही है अगर सही है तो क्यों भाई क्वेश्चन तो बहुत अच्छी है मैं तो कहूंगी रावण को जलाया रावण किस रावण को जलाना भैया तो हम पुतले को जलाते हैं यहां साक्षात जो रावण बैठा है उसको तो कभी हमने जलाया नहीं साक्षात् रावण तो हमारे अंदर बैठा है पांच विकारों का रावण काम क्रोध लोभ अहंकार पहले उसे तो बस हम करें अगर वह जल जाए तो फिर रावण आई कि नहीं यहां तो पुतले को इतने पैसे खर्च करके हर साल प्रति 40 साल जलाए अगले साल फिर वह बना जाता फिर दूसरे साल जलाए तीसरे चालू हुआ जाता है क्यों भाई जब जला हुआ इंसान खत्म हो जाता है तो वह दोबारा नहीं आता है उस घर में फिर वह जन्म नहीं लेता है और उस घर में फिर दोबारा चलाना नहीं पड़ता है तो यह रावण तो हमारे भारत में हड़ताल आ जाता है तो उस रावण में तो नोट जलती है पुतले रावण तोड़ते हैं रावण को जलाने के औरतें हमारे अंदर बैठा पावन काम क्रोध लोभ मोह अहंकार इस को जलाना अति आवश्यक है वह अज्ञान है नादान है भक्ति मार्ग के नियमों से उस पुतले को बनाकर जलाते हैं उस पुतले को जलाने से रावण कभी जलता नहीं है और उसको जलाने से कभी पाप कम होता नहीं है पाप हमारे अंदर बैठा उस बात को जलाना है

kya hindu dharm me ravan ko jalaana sahi hai agar sahi hai toh kyon bhai question toh bahut achi hai main toh kahungi ravan ko jalaya ravan kis ravan ko jalaana bhaiya toh hum putale ko jalate hain yahan sakshat jo ravan baitha hai usko toh kabhi humne jalaya nahi sakshat ravan toh hamare andar baitha hai paanch vikaron ka ravan kaam krodh lobh ahankar pehle use toh bus hum kare agar vaah jal jaaye toh phir ravan I ki nahi yahan toh putale ko itne paise kharch karke har saal prati 40 saal jalae agle saal phir vaah bana jata phir dusre saal jalae teesre chaalu hua jata hai kyon bhai jab jala hua insaan khatam ho jata hai toh vaah dobara nahi aata hai us ghar me phir vaah janam nahi leta hai aur us ghar me phir dobara chalana nahi padta hai toh yah ravan toh hamare bharat me hartal aa jata hai toh us ravan me toh note jalti hai putale ravan todte hain ravan ko jalane ke auraten hamare andar baitha paavan kaam krodh lobh moh ahankar is ko jalaana ati aavashyak hai vaah agyan hai nadan hai bhakti marg ke niyamon se us putale ko banakar jalate hain us putale ko jalane se ravan kabhi jalta nahi hai aur usko jalane se kabhi paap kam hota nahi hai paap hamare andar baitha us baat ko jalaana hai

क्या हिंदू धर्म में रावण को जलाना सही है अगर सही है तो क्यों भाई क्वेश्चन तो बहुत अच्छी है

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  228
KooApp_icon
WhatsApp_icon
16 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!