यदि कोई दूसरी समाज में शादी करता है तो समाज के लोग उसे समाज से बाहर क्यों करते है?...


user
0:21
Play

Likes  219  Dislikes    views  3125
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समाज के रीति रिवाज में से बाहर जाकर और अन्य समाज की विवाह करने से कई समाज के लोग नाराज हो जाते हैं और कई बार पूरे समाज से बाहर कर दिया जाए

samaj ke riti rivaaj me se bahar jaakar aur anya samaj ki vivah karne se kai samaj ke log naaraj ho jaate hain aur kai baar poore samaj se bahar kar diya jaaye

समाज के रीति रिवाज में से बाहर जाकर और अन्य समाज की विवाह करने से कई समाज के लोग नाराज हो

Romanized Version
Likes  277  Dislikes    views  4886
WhatsApp_icon
user
0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न का जवाब यह है कि दूसरी समाज में शादी करने पर लोग समाज से बाहर क्यों करते हैं समाज से तो बाहर कोई नहीं कर सकता लेकिन अपनी जाति से बाहर कर सकते हैं करते हैं और उनका एक प्रकार का सामाजिक बहिष्कार किया जाता है जिसको उत्साह पढ़ना सहन कर पाना हमारे और आपके जैसे साधारण मनुष्यों के लिए संभव नहीं है और यह एक प्रकार का रूढ़िवादिता है अंधविश्वास है जो वैज्ञानिक है और इसको जब तक हम इस रूढ़िवादिता को ही वैज्ञानिक चीजों को ही हतोत्साहित नहीं करेंगे तब तक यह चीजें होती रहेंगी

aapke prashna ka jawab yah hai ki dusri samaj me shaadi karne par log samaj se bahar kyon karte hain samaj se toh bahar koi nahi kar sakta lekin apni jati se bahar kar sakte hain karte hain aur unka ek prakar ka samajik bahishkar kiya jata hai jisko utsaah padhna sahan kar paana hamare aur aapke jaise sadhaaran manushyo ke liye sambhav nahi hai aur yah ek prakar ka rudhivadita hai andhavishvas hai jo vaigyanik hai aur isko jab tak hum is rudhivadita ko hi vaigyanik chijon ko hi hatotsahit nahi karenge tab tak yah cheezen hoti rahegi

आपके प्रश्न का जवाब यह है कि दूसरी समाज में शादी करने पर लोग समाज से बाहर क्यों करते हैं स

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  839
WhatsApp_icon
user

Sagar

Teacher

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा यदि कोई दूसरी समाज में शादी करता है तो समाज के लोग उस समाज से बाहर क्यों करते हैं तो यह समाज के कुछ नियम कायदे होते हैं जो हमारे पूर्वजों द्वारा बनाए गए होते हैं उन नियमों के अनुसार चलना होता है तो अब लाइट से बात है एक या दो आदमियों के लिए पूरा समाज तो नहीं बदलने वाला समाज में तो हजारों लाखों लोग रहते हैं तो इतने लोग थोड़ी चेंज होंगे क्या तो जैसी बातें फिर यह इतने लोग चेंज नहीं होंगे तो बस वह उनको दो जो समाज की नियमों के विपरीत कार्य उन्होंने किया है जो 2 लोग उनको ही बाहर करेंगे ना वह समाज से तो बस इसलिए करते हैं

aapne poocha yadi koi dusri samaj mein shadi karta hai toh samaj ke log us samaj se bahar kyon karte hain toh yah samaj ke kuch niyam kayade hote hain jo hamare purvajon dwara banaye gaye hote hain un niyamon ke anusaar chalna hota hai toh ab light se baat hai ek ya do adamiyo ke liye pura samaj toh nahi badalne vala samaj mein toh hazaro laakhon log rehte hain toh itne log thodi change honge kya toh jaisi batein phir yah itne log change nahi honge toh bus vaah unko do jo samaj ki niyamon ke viprit karya unhone kiya hai jo 2 log unko hi bahar karenge na vaah samaj se toh bus isliye karte hain

आपने पूछा यदि कोई दूसरी समाज में शादी करता है तो समाज के लोग उस समाज से बाहर क्यों करते है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
play
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:43

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी कि अगर कोई दूसरे समाज में शादी करता है तो लोग तो है उसको बहुत जल्दी से लाइक उसको एक्सेप्ट नहीं कर पाते हैं या फिर उसको अच्छी तरीके से एडॉक नहीं कर पाते हैं क्योंकि आ सकता अपना जो है वह क्रूरता रहती है या फिर कहा जाता सबका अपना अपना विश्वास रहता है कि अगर हमारे समाज का कोई है तो वह उसी में ही शादी करें किसी और समाज में जाने की जरूरत नहीं है और यह जो है जो लोग हैं पुराने लोग इस पर अडिग रहते हैं और वह नहीं चाहते हैं कि कुछ भी चीज है जो है वह चेंज हो इसी कारण से ज्यादा किसी दूसरे समाज में शादी कर ली जाती है तो उसको अपना नहीं जाता है उसको बाहर कर दिया जाता है

abhi ki agar koi dusre samaj mein shadi karta hai toh log toh hai usko bahut jaldi se like usko except nahi kar paate hain ya phir usko achi tarike se edak nahi kar paate hain kyonki aa sakta apna jo hai vaah krurta rehti hai ya phir kaha jata sabka apna apna vishwas rehta hai ki agar hamare samaj ka koi hai toh vaah usi mein hi shadi kare kisi aur samaj mein jaane ki zarurat nahi hai aur yah jo hai jo log hain purane log is par adig rehte hain aur vaah nahi chahte hain ki kuch bhi cheez hai jo hai vaah change ho isi karan se zyada kisi dusre samaj mein shadi kar li jaati hai toh usko apna nahi jata hai usko bahar kar diya jata hai

अभी कि अगर कोई दूसरे समाज में शादी करता है तो लोग तो है उसको बहुत जल्दी से लाइक उसको एक्से

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  267
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!