अमीर गरीब को क्यों नहीं पसन्द करते है?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पिटाई इन धनवान ओशो इन अमीरों से तो तुम लाख दर्ज अच्छे हो क्योंकि तुम्हारे घर पर जो कुत्ता और गाय आती है तो कम से कम उनको एक रोटी खाने को मिलता है सूखी रोटी खिलाते होंगे आप अच्छी बात है लेकिन इन धनवान व्यक्ति धनवान हैं उनके घर पर कोई गेस्ट कभी एक रोटी दिखा सकता जीव के खाते में तो जुड़े हुए मालिक उनके बेटे बहू जी एस करते हैं बाकी यह किसी दूसरे को सहायता नहीं कर सकते उनका मन जितनी बड़ी बिल्डिंग होती है बेटा उतना ही उसका नेहरू रिज होता है हाइट बहुत रोता है उनका जितना गरीब होते हैं जो बड़ी होती है परी के आगे लिखा रहता है सुस्वागतम लेकिन इनके यहां पर गेट बंद रहता है इसलिए समझदारी भी टेस्ट में है अमीर लोग गरीबों को पसंद नहीं करते क्योंकि दर लोगों को दिखावा करने की बहुत बढ़िया आदत होती है यह लोग दिखावा पसंद करते हैं बहुत से अमीरों के घर जो कुत्ते हैं वह फाइव स्टार दूध बिस्कुट खाते हैं लेकिन किसी गरीब आदमी को यह एक समय भोजन नहीं करा सकते यह बात अलग है कि अक्षय कुमार जैसे नाना पाटेकर जैसे महान लोग भी हैं अमित गौतम गंभीर जैसे महान लोग भी हैं जो बेचारे जाता था मतदान करते हैं गरीबों के लिए डोनेशन देते हैं इन लोगों को मीत सच्चाई में अमीर कहा जा सकता है मैं मानता हूं कि इनके पास शायद उतने करोड़ों अरबों रुपए नहीं होंगे लेकिन मन अच्छा है उन्होंने विधवाओं की साहित्य की इमारतों के दिया इन्होंने ही प्रसन्न को दिया है ऐसे लोग भगवान इनकी चिरंजीव आयु बढ़ाएं दीर्घायु करें ऐसे वीर चाहिए

pitai in dhanwan osho in amiron se toh tum lakh darj acche ho kyonki tumhare ghar par jo kutta aur gaay aati hai toh kam se kam unko ek roti khane ko milta hai sukhi roti khilaate honge aap acchi baat hai lekin in dhanwan vyakti dhanwan hain unke ghar par koi guest kabhi ek roti dikha sakta jeev ke khate mein toh jude hue malik unke bete bahu ji s karte hain baki yeh kisi dusre ko sahayta nahi kar sakte unka man jitni badi building hoti hai beta utana hi uska nehru rij hota hai height bahut rota hai unka jitna garib hote hain jo badi hoti hai pari ke aage likha rehta hai suswagatam lekin inke yahan par gate band rehta hai isliye samajhdari bhi test mein hai amir log garibon ko pasand nahi karte kyonki dar logo ko dikhawa karne ki bahut badhiya aadat hoti hai yeh log dikhawa pasand karte hain bahut se amiron ke ghar jo kutte hain wah five star doodh biscuit khate hain lekin kisi garib aadmi ko yeh ek samay bhojan nahi kara sakte yeh baat alag hai ki akshay kumar jaise nana patekar jaise mahaan log bhi hain amit gautam gambhir jaise mahaan log bhi hain jo bechaare jata tha matdan karte hain garibon ke liye donation dete hain in logo ko meet sacchai mein amir kaha ja sakta hai manata hoon ki inke paas shayad utne karodo araboon rupaye nahi honge lekin man accha hai unhone vidhawao ki sahitya ki imarton ke diya inhone hi prasann ko diya hai aise log bhagwan inki Chiranjeev aayu badhaye dirghayun karein aise veer chahiye

पिटाई इन धनवान ओशो इन अमीरों से तो तुम लाख दर्ज अच्छे हो क्योंकि तुम्हारे घर पर जो कुत्ता

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  372
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
amir garib status ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!