किसी के कुंडली में रा हूँ और केतु के प्रभाव क्या होते हैं?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू दोनों ग्रह नहीं है जिस भाव में भी यह कह सकता हूं कि तू जहां भी बैठता है जिस हाउस में भी बैठता है वहां के फलों में कमी लाता है डीजे का सप्तम भाव में है तो वैवाहिक जीवन में परेशानी लाता है यदि ग्यारहवें भाव में है कि तू तू जो आज से संबंधित काम है उसमें परेशानियां लाता है पहुंच संघर्ष के बाद में उसकी आय होती है क्योंकि राहु और केतु स्वतंत्र चुनाव का छाया ग्रह हैं तो उनके लिए इनको मनाने के लिए इनके दुष्प्रभाव को कम करने के लिए पूजा पाठ को मंत्रों का सहारा लेना चाहिए यह राहु केतु से आएंगे आकस्मिक रूप से फल प्रदान करते हैं ज्यादातर एक्सपेक्ट भी नहीं करता है और उनका नाम के चुका एकदम से चला जाता है तो किस हाउस में बैठे इसके ऊपर बहुत जरूरी है सप्तम भाव में राहु हो तो इंटर कास्ट मैरिज कर आता है ट्रक भाव में या छठे आठवें या बारहवें भाव में हो तो यह और उनके अशुभ फलों को और गद्दी करा देता है यदि अष्टम भाव में राहु हो तो आकस्मिक बीमारी कराता है इस तरीके की बीमारी देता है कि जो डायग्नोसिस नहीं हो पाती है सारी रिपोर्ट नॉर्मल आती है लेकिन आदमी को लगता है कि वह बहुत बीमार है तो इन के उपाय के लिए तंत्र मंत्र और मंत्रों का सहारा लेना चाहिए

tu dono grah nahi hai jis bhav mein bhi yah keh sakta hoon ki tu jaha bhi baithta hai jis house mein bhi baithta hai wahan ke falon mein kami lata hai DJ ka saptam bhav mein hai toh vaivahik jeevan mein pareshani lata hai yadi gyarahaven bhav mein hai ki tu tu jo aaj se sambandhit kaam hai usme pareshaniya lata hai pohch sangharsh ke baad mein uski aay hoti hai kyonki rahu aur Ketu swatantra chunav ka chhaya grah hai toh unke liye inko manane ke liye inke dushprabhav ko kam karne ke liye puja path ko mantron ka sahara lena chahiye yah rahu Ketu se aayenge aakasmik roop se fal pradan karte hai jyadatar expect bhi nahi karta hai aur unka naam ke chuka ekdam se chala jata hai toh kis house mein baithe iske upar bahut zaroori hai saptam bhav mein rahu ho toh inter caste marriage kar aata hai truck bhav mein ya chhathe aathven ya barahaven bhav mein ho toh yah aur unke ashubh falon ko aur gaddi kara deta hai yadi ashtam bhav mein rahu ho toh aakasmik bimari karata hai is tarike ki bimari deta hai ki jo diagnosis nahi ho pati hai saree report normal aati hai lekin aadmi ko lagta hai ki vaah bahut bimar hai toh in ke upay ke liye tantra mantra aur mantron ka sahara lena chahiye

तू दोनों ग्रह नहीं है जिस भाव में भी यह कह सकता हूं कि तू जहां भी बैठता है जिस हाउस में भी

Romanized Version
Likes  145  Dislikes    views  3748
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!