केतु हमारी कुंडली के जिस घर में बैठता है, क्या वो उस घर या जीवन के उस क्षेत्र में असंतोष देता है?...


user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न के अनुसार केतु जिस घर में स्थित होता है या उस घर का सिर्फ व अशुभ फल ही देता जीजा कुंडली पर निर्भर करता है कि तू किस भाव में अगर शुभ भाव में स्वाग रही हो कर शुभ शुभ ग्रहों के साथ शुभ ग्रहों की दृष्टि अगर केतु पर है तो उस भाव का फल केतु शुद्धता केतु केतु अगर शुभ है या अशुभ भाव में स्थित होकर पापू कर्फ्यू द्वारा दृष्ट है या पाप ग्रहों से युक्त है तो वह पाप कर देता है यूपी के तू एक फिट बराबर ही है राहु और केतु एक छाया करा है इसका अपना कोई अस्तित्व नहीं होता है इसलिए केतु शुभ ग्रह के साथ आकर्षित होता है उसके तू बेशुमार अथवा जाता है गरमा पाप ग्रह के साथ स्थित होता है उसके पापा तो आ जाता है

aapke prashna ke anusaar Ketu jis ghar me sthit hota hai ya us ghar ka sirf va ashubh fal hi deta jija kundali par nirbhar karta hai ki tu kis bhav me agar shubha bhav me swag rahi ho kar shubha shubha grahon ke saath shubha grahon ki drishti agar Ketu par hai toh us bhav ka fal Ketu shuddhta Ketu Ketu agar shubha hai ya ashubh bhav me sthit hokar papu curfew dwara drist hai ya paap grahon se yukt hai toh vaah paap kar deta hai up ke tu ek fit barabar hi hai rahu aur Ketu ek chhaya kara hai iska apna koi astitva nahi hota hai isliye Ketu shubha grah ke saath aakarshit hota hai uske tu beshumar athva jata hai grma paap grah ke saath sthit hota hai uske papa toh aa jata hai

आपके प्रश्न के अनुसार केतु जिस घर में स्थित होता है या उस घर का सिर्फ व अशुभ फल ही देता जी

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  220
WhatsApp_icon
24 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

2:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि तुम्हारी कुंडली में जिस घर में बैठता है कि तू आज जहां भी बैठता है उस घर के लिए उसको और जो भी लोग बाग उसको समझ नहीं पाते अली फर्स्ट हाउस में केतु है फर्स्ट हाउस जिस दिन चीजों के लिए रिप्रेजेंट करता है उन चीजों के लिए लोग बाग उसको समझ नहीं पाएंगे या उसको पागल बोलेंगे क्या बोलेंगे नहीं यह बहुत करेजियस के लिए अगर वह सेकंड हाउस में बैठा है तो पैसे के मामले में आदमी समझ में नहीं आएगा और ऐसे लोगों को ईश्वर का वरदान प्राप्त होता है सिक्स सेंस प्राप्त होता है उन चीजों के लिए वह ईश्वर मतलब उनके पास में सिक्सेंस होता है उस जिस गेस्ट हाउस में बैठे हैं उसके लिए ऐसे लोग बाग उस हाउस के लिए सॉन्ग में नहीं आती ऐसे किसी का अगर फायदा उस में केतु है तो वह ट्रैवलिंग विद ज्योति है जो भ्रमण करने की उसकी आंखें होती हैं या फिर गैजेट लेने की जरूरत होती है अपने छोटे भाई बहनों से उसका संबंध होता है या फिर उसके मामले में समझ नहीं आएगा किसी को किसी को उस मामले में जाके तू बैठता है ओके तू को उस जगह के लिए सिक्सेंस ईश्वरी ताकत उनको प्राप्त रहती है उस घर की रिकॉर्डिंग अगर वह किसी को आशीर्वाद दे देते हैं जैसे कि कोई किसी व्यक्ति का केतु शिफ्ट में है वह किसी को किसी के प्रमोशन के लिए यदि दे देता है किसी को अगर आशीर्वाद देता है या फिर परीक्षा पास होने के लिए आशीर्वाद देता है तो वह हो जाता है उसका अगर सिक्स बैठा हुआ है अब कोई आदमी अपने हाथ से कोई शक्कर की गोली दे दे तब भी वह आदमी दूसरे को लग जाती है वह धूल भी उठा कर दे देगा लग जाएगी मतलब जिस हाउस में केतु बैठा है उस हाउस से संबंधित चीजों के लिए ईश्वरीय वरदान प्राप्त है ना उसमें है अगर के तू तो फिर वह किसी को देता है हम के आपको बहुत अच्छा भाग्य होगा या फिर आपको आपका भाग्योदय होगा तो उसके बाद लग जाती है ऐसे लोग समझ में नहीं आती उसे उसके रिकॉर्डिंग जैसा उसकी रिकॉर्डिंग जहां पर कि वह कि तू बैठा हुआ है उस घर में वह आदमी समझ नहीं आएगा कि के ईश्वरी शक्ति है आपको समझ नहीं आते से लोग बस आपको क्रेजी होते हैं उस हाउस के प्रति और इनके हाथ में छिपा होता है भगवान का दिया हुआ शिफा होता है जैसे कि मैंने आपको बताया गर्ज इन हाउस हाउस हाउस रिलेटेड उनके हाथ में छिपा होता है मतलब जो वह बोलते हैं वैसा हो जाता है

ki tumhari kundali me jis ghar me baithta hai ki tu aaj jaha bhi baithta hai us ghar ke liye usko aur jo bhi log bagh usko samajh nahi paate ali first house me Ketu hai first house jis din chijon ke liye represent karta hai un chijon ke liye log bagh usko samajh nahi payenge ya usko Pagal bolenge kya bolenge nahi yah bahut courageous ke liye agar vaah second house me baitha hai toh paise ke mamle me aadmi samajh me nahi aayega aur aise logo ko ishwar ka vardaan prapt hota hai six sense prapt hota hai un chijon ke liye vaah ishwar matlab unke paas me siksens hota hai us jis guest house me baithe hain uske liye aise log bagh us house ke liye song me nahi aati aise kisi ka agar fayda us me Ketu hai toh vaah travelling with jyoti hai jo bhraman karne ki uski aankhen hoti hain ya phir gadget lene ki zarurat hoti hai apne chote bhai bahnon se uska sambandh hota hai ya phir uske mamle me samajh nahi aayega kisi ko kisi ko us mamle me jake tu baithta hai ok tu ko us jagah ke liye siksens ISHWARI takat unko prapt rehti hai us ghar ki recording agar vaah kisi ko ashirvaad de dete hain jaise ki koi kisi vyakti ka Ketu shift me hai vaah kisi ko kisi ke promotion ke liye yadi de deta hai kisi ko agar ashirvaad deta hai ya phir pariksha paas hone ke liye ashirvaad deta hai toh vaah ho jata hai uska agar six baitha hua hai ab koi aadmi apne hath se koi shakkar ki goli de de tab bhi vaah aadmi dusre ko lag jaati hai vaah dhul bhi utha kar de dega lag jayegi matlab jis house me Ketu baitha hai us house se sambandhit chijon ke liye ishwariya vardaan prapt hai na usme hai agar ke tu toh phir vaah kisi ko deta hai hum ke aapko bahut accha bhagya hoga ya phir aapko aapka bhagyoday hoga toh uske baad lag jaati hai aise log samajh me nahi aati use uske recording jaisa uski recording jaha par ki vaah ki tu baitha hua hai us ghar me vaah aadmi samajh nahi aayega ki ke ISHWARI shakti hai aapko samajh nahi aate se log bus aapko crazzy hote hain us house ke prati aur inke hath me chhipa hota hai bhagwan ka diya hua shifa hota hai jaise ki maine aapko bataya garj in house house house related unke hath me chhipa hota hai matlab jo vaah bolte hain waisa ho jata hai

कि तुम्हारी कुंडली में जिस घर में बैठता है कि तू आज जहां भी बैठता है उस घर के लिए उसको और

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  253
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Gupta

Astrologer And Tantrokt Vastu Consultant

0:32
Play

Likes  93  Dislikes    views  1689
WhatsApp_icon
user

Raghav Shastri

Astrologer

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केतु जिस भी घर में बैठता है उससे पहले लगन देखी जाती है लगन किसकी है फिर वह किस घर में बैठ रहा है उसके हिसाब से ही फल दिया जाएगा यह नहीं है कि तू हर कहीं अच्छा फल दो नहीं और सारे ग्रहों को लगन से ही देखा जाता है कि जब वह किस भाव में बैठा है किस लग्न की कुंडली तो उसका फल एक शुद्ध जो स्पष्ट है मरी ग्रंथों में लिखा हुआ उस पर कारणों से समझेंगे प्रैक्टिकल तुम देख पाओगे

Ketu jis bhi ghar me baithta hai usse pehle lagan dekhi jaati hai lagan kiski hai phir vaah kis ghar me baith raha hai uske hisab se hi fal diya jaega yah nahi hai ki tu har kahin accha fal do nahi aur saare grahon ko lagan se hi dekha jata hai ki jab vaah kis bhav me baitha hai kis lagn ki kundali toh uska fal ek shudh jo spasht hai mari granthon me likha hua us par karanon se samjhenge practical tum dekh paoge

केतु जिस भी घर में बैठता है उससे पहले लगन देखी जाती है लगन किसकी है फिर वह किस घर में बैठ

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user

Pt.BRAJESH JI(RADHE-KRISHAN JYOTISH ANUSANDHAN KENDRA).

Astrologer,Rashi Ratna & Vastu Visesagya.

3:01
Play

Likes  55  Dislikes    views  992
WhatsApp_icon
user

Daivagya Krishna Shastri

Astrologer, Ved, Bhagvat Mahapuran

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राधे कृष्णा श्रीमान जी बिल्कुल भी ऐसा नहीं है क्योंकि केतु ग्रह जिस से राशि के साथ बैठता है या जिस ग्रह के साथ बैठता है उसी का गुण अनुरूप ग्रहण कर लेता है केतु का कोई स्वरूप नहीं है अर्थात जैसे सूर्य के साथ बैठेगा तो सूर्य का ही गुण ग्रहण कर लेगा मेष राशि में बैठेगा तो मंगल का गुण ग्रहण कर लेगा ठीक उसी प्रकार केतु का प्रभाव 5 गुना बढ़ा देना और 5 गुना घटा देना यह कि तू के कार्य माने जाते हैं जैसे आप के प्रथम भाव पर केतु बैठा हुआ है तो आपके लगना भाव को पंच गुना बड़ा भी देगा यदि शुभ लगना पर बैठा हुआ है और यदि अशुभ लगने पर बैठा हुआ है तो 5 गुना उस भाव को घटा देगा

jai shri radhe krishna shriman ji bilkul bhi aisa nahi hai kyonki Ketu grah jis se rashi ke saath baithta hai ya jis grah ke saath baithta hai usi ka gun anurup grahan kar leta hai Ketu ka koi swaroop nahi hai arthat jaise surya ke saath baithega toh surya ka hi gun grahan kar lega mesh rashi mein baithega toh mangal ka gun grahan kar lega theek usi prakar Ketu ka prabhav 5 guna badha dena aur 5 guna ghata dena yah ki tu ke karya maane jaate hain jaise aap ke pratham bhav par Ketu baitha hua hai toh aapke lagna bhav ko punch guna bada bhi dega yadi shubha lagna par baitha hua hai aur yadi ashubh lagne par baitha hua hai toh 5 guna us bhav ko ghata dega

जय श्री राधे कृष्णा श्रीमान जी बिल्कुल भी ऐसा नहीं है क्योंकि केतु ग्रह जिस से राशि के साथ

Romanized Version
Likes  123  Dislikes    views  1874
WhatsApp_icon
user

ज्योतिष गुरु आचार्य शैलेश उपाध्याय

पाराशर ज्योतिष कार्यालय,हरहुआ,वाराणसी।

5:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरि ओम नमो नारायण जय श्री कृष्णा मैं हूं ज्योतिष गुरु आचार्य शैलेश उपाध्याय वाराणसी से आप सज्जन ने प्रश्न किया है कि तू हमारे कुंडली के जिस घर में बैठता है क्या वह घर या जीवन के उस क्षेत्र में संतोष देता है जी मैं ही बता दूं कि ऐसी जो आपने धारणा बना ली है या जो आपको ऐसा बताए हैं यह बिल्कुल ही गलत बात है मैं ऐसा नहीं मानता हर ग्रहों का अलग-अलग प्रभाव होता है ज्योतिष ज्योतिष के द्वार माध्यम से मैं बता दूं कि जो हमारे द्वादश भाव होते हैं हर भाव में जो जो ग्रह होते हैं जिन जिन राज्यों में गिरा होते उन्हें के अनुरूप जातक को प्रभावित करते हैं और ऐसा नहीं है कि सब कुछ गड़बड़ ही असंतुष्ट ही देते हैं या गड़बड़ी करते हैं ऐसा नहीं है पापा ग्रह जो है अगर केंद्र आस्था त्रिकोण में हूं उसके हूं मित्र क्षेत्री हूं स्वच्छ खेत्री हूं स्वराशि के हूं तो मैं बता दूं कि उसकी दशा में उनका 15 जैसे केतु की दशा है और जो मैंने बताया उस अनुसार अगर होगा कि तू का सामान शांतनु सा होगा तो मैं आपको बता दूं कि आपको बहुत ऊंचा ले जाएगा इसमें कोई दो राय नहीं दो मत नहीं है मैं एकदम सीधी-सादी सीधी सीधी बात करता हूं और रही बात ऐसे कहां देना सर्वथा यथोचित नहीं रहेगा कि केतु असंतोष देगा ऐसी बात नहीं है यह पापा तो राजा बना देते कहां गया ना कि तू ध्वजा फहरा तेरे कम मांगलिक जो है बोला जाता है सुनो मांगने का मंगलाचरण जो होता है बोला जाता है उसे बोलता है कि उसको से भरे भरे को और की ताजा फहराते रहने वाले विजय दिन आने वाले हैं हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी का केतु देखिए बहुत अच्छा रहा कर मार्क्स रहा है कर्म स्थान को देखा उसका समय भी आया और देखिए उनको पद मिल गया मुख्यमंत्री का चेहरा फर्क नहीं पड़ा तो ऐसी बात नहीं होती है हां कीर्ति यह है कि अगर पापा ग्रह स्थान में चले गए मित्र क्षेत्र चले गए शत्रु राशि के घर में हैं गलत भाव में स्थित रिकार्ड स्थान से 8 12 भाव में है ऊपर से शत्रु रही है या नीच के हैं तो निश्चित ही उनकी दशा मा मांसा जब आती है इसमें कोई वह नहीं है दो मत नहीं है वह अवश्य ही परेशान करेंगे कष्ट देंगे सारे कष्ट मानसिक आर्थिक कष्ट देंगे और जो भाव इस भाव में रहते हैं उस भाव के अनुसार वह कष्ट देंगे जैसे यह केवल एक ही क्षेत्र में नहीं कहा जा सकता जैसे अगर मृत्यु स्थान में है और अस्त व्यस्त हैं नीच के हैं शत्रु क्षेत्री हैं शत्रु गई हैं या बैठे हैं ऊपर से पापा भी देख रहे हैं तो होता क्या है उसकी दशा महादशा में अंतर्दशा में उत्तर दिशा में जातक पर सारे कष्ट आर्थिक कष्ट और मृत्यु या मृत्यु का कष्ट इस तरह का देखा गया है यही होता है और यह जो आपने बोला है घर या जीवन के उस क्षेत्र में संतोष देता है तो उस दशा महादशा अंतर्दशा प्रत्यंतर दशा में अवश्य करेगा जो जो मैंने बताया कि इस स्थिति में अगर केतु केतु को उठाना में बहुत प्रबल भी माना जाता है यह नहीं कि किसी क्षेत्र में वह खराब भी होता है तो किस क्षेत्र में अच्छा भी होता है जिससे 3 11 भाव में अगर केतु है और वह चुका है अब जैसे सख्त भाव में अगर कृतु हो जाए तो मैं बता दूं कि उस शत्रु पर विजय प्राप्त करता है और अगर तीसरे स्थान में एक छोटा सा बता रहा हूं इसकी विस्तृत जानकारी लेनी है तो आप हमारे नंबर पर डायरेक्ट कॉल करके बात कर सकते हैं छोटा छोटा है क्योंकि समय का अभाव रहता है किस स्थान में है तो कहा गया कि छात्र शुभम भाई भाई का सुख मिलता है भाई को मुक्ति दिलाता है के तीसरे भाव में है आय में वृद्धि कर आता है तो कहा गया है कि केतु कूलर्स से उन्नति पौराणिक मंत्र आते हैं किंतु राहुल बलम करो कि सत्यम के तुगलक से उन्नति तो राहुल बाहुबली राहु जो है बाहुबल देता है और केतु कुल की उन्नति करता है तो मैं नहीं समझता कि ऐसा सोचना आपके लिए सर्वथा एक गलत रहेगा मैं इसको काटता हूं सीधे-सीधे करता हूं ऐसा नहीं है व्यक्ति की जन्म कुंडली के आधार पर जिस जिस भाव में है उसके अनुसार परीक्षण करना चाहिए मेरा यही मत है आपका आने वाला दिन शुभ हो जय श्री कृष्णा नमो नारायण

hari om namo narayan jai shri krishna main hoon jyotish guru aacharya shailesh upadhyay varanasi se aap sajjan ne prashna kiya hai ki tu hamare kundali ke jis ghar mein baithta hai kya vaah ghar ya jeevan ke us kshetra mein santosh deta hai ji main hi bata doon ki aisi jo aapne dharana bana li hai ya jo aapko aisa bataye hain yah bilkul hi galat baat hai main aisa nahi manata har grahon ka alag alag prabhav hota hai jyotish jyotish ke dwar madhyam se main bata doon ki jo hamare dwadash bhav hote hain har bhav mein jo jo grah hote hain jin jin rajyon mein gira hote unhe ke anurup jatak ko prabhavit karte hain aur aisa nahi hai ki sab kuch gadbad hi asantusht hi dete hain ya gadbadi karte hain aisa nahi hai papa grah jo hai agar kendra astha trikon mein hoon uske hoon mitra kshetri hoon swatch khetri hoon swarashi ke hoon toh main bata doon ki uski dasha mein unka 15 jaise Ketu ki dasha hai aur jo maine bataya us anusaar agar hoga ki tu ka saamaan shantanu sa hoga toh main aapko bata doon ki aapko bahut uncha le jaega isme koi do rai nahi do mat nahi hai main ekdam seedhi sari seedhi seedhi baat karta hoon aur rahi baat aise kahaan dena sarvatha yathochit nahi rahega ki Ketu asantosh dega aisi baat nahi hai yah papa toh raja bana dete kahaan gaya na ki tu dhwaja fahara tere kam maanglik jo hai bola jata hai suno mangne ka mangalacharan jo hota hai bola jata hai use bolta hai ki usko se bhare bhare ko aur ki taaza fahrate rehne waale vijay din aane waale hain hamare uttar pradesh ke mukhyamantri adityanath yogi ka Ketu dekhiye bahut accha raha kar marks raha hai karm sthan ko dekha uska samay bhi aaya aur dekhiye unko pad mil gaya mukhyamantri ka chehra fark nahi pada toh aisi baat nahi hoti hai haan kirti yah hai ki agar papa grah sthan mein chale gaye mitra kshetra chale gaye shatru rashi ke ghar mein hain galat bhav mein sthit record sthan se 8 12 bhav mein hai upar se shatru rahi hai ya neech ke hain toh nishchit hi unki dasha ma mansa jab aati hai isme koi vaah nahi hai do mat nahi hai vaah avashya hi pareshan karenge kasht denge saare kasht mansik aarthik kasht denge aur jo bhav is bhav mein rehte hain us bhav ke anusaar vaah kasht denge jaise yah keval ek hi kshetra mein nahi kaha ja sakta jaise agar mrityu sthan mein hai aur ast vyast hain neech ke hain shatru kshetri hain shatru gayi hain ya baithe hain upar se papa bhi dekh rahe hain toh hota kya hai uski dasha Mahadasha mein antardasha mein uttar disha mein jatak par saare kasht aarthik kasht aur mrityu ya mrityu ka kasht is tarah ka dekha gaya hai yahi hota hai aur yah jo aapne bola hai ghar ya jeevan ke us kshetra mein santosh deta hai toh us dasha Mahadasha antardasha pratyantar dasha mein avashya karega jo jo maine bataya ki is sthiti mein agar Ketu Ketu ko uthaana mein bahut prabal bhi mana jata hai yah nahi ki kisi kshetra mein vaah kharaab bhi hota hai toh kis kshetra mein accha bhi hota hai jisse 3 11 bhav mein agar Ketu hai aur vaah chuka hai ab jaise sakht bhav mein agar kritu ho jaaye toh main bata doon ki us shatru par vijay prapt karta hai aur agar teesre sthan mein ek chota sa bata raha hoon iski vistrit jaankari leni hai toh aap hamare number par direct call karke baat kar sakte hain chota chota hai kyonki samay ka abhaav rehta hai kis sthan mein hai toh kaha gaya ki chatra subham bhai bhai ka sukh milta hai bhai ko mukti dilata hai ke teesre bhav mein hai aay mein vriddhi kar aata hai toh kaha gaya hai ki Ketu coolers se unnati pouranik mantra aate hain kintu rahul balam karo ki satyam ke tughlaq se unnati toh rahul bahubali rahu jo hai bahubal deta hai aur Ketu kul ki unnati karta hai toh main nahi samajhata ki aisa sochna aapke liye sarvatha ek galat rahega main isko katata hoon seedhe seedhe karta hoon aisa nahi hai vyakti ki janam kundali ke aadhaar par jis jis bhav mein hai uske anusaar parikshan karna chahiye mera yahi mat hai aapka aane vala din shubha ho jai shri krishna namo narayan

हरि ओम नमो नारायण जय श्री कृष्णा मैं हूं ज्योतिष गुरु आचार्य शैलेश उपाध्याय वाराणसी से आप

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं आपने जो लिखा है केतु जिस भाव में बैठता है उससे संबंधित संतोष देता है ऐसा बिल्कुल नहीं है क्योंकि कहते को हमेशा खराब नहीं समझना चाहिए मीन राशि का केतु बहुत शुभ माना जाता है ब्रांच पद के साथ केतु की युति और उसका अंतर बहुत अच्छा योग देता है इसलिए हर स्थिति में केतु खराब नहीं होता इस बात का सदैव ध्यान रखें धनु राशि का केतु और मीन राशि का केतु सदैव उत्तम फल मिथुन राशि का केतु अच्छा फल नहीं देता है इसलिए केवल बैठने मात्र से भाव नहीं बिगड़ता किस राशि में है किन ग्रहों के प्रभाव में है इसको रखते हुए ही कोई निर्णय लिया जा सकता है

ji nahi aapne jo likha hai Ketu jis bhav me baithta hai usse sambandhit santosh deta hai aisa bilkul nahi hai kyonki kehte ko hamesha kharab nahi samajhna chahiye meen rashi ka Ketu bahut shubha mana jata hai branch pad ke saath Ketu ki yuti aur uska antar bahut accha yog deta hai isliye har sthiti me Ketu kharab nahi hota is baat ka sadaiv dhyan rakhen dhanu rashi ka Ketu aur meen rashi ka Ketu sadaiv uttam fal maithun rashi ka Ketu accha fal nahi deta hai isliye keval baithne matra se bhav nahi bigadta kis rashi me hai kin grahon ke prabhav me hai isko rakhte hue hi koi nirnay liya ja sakta hai

जी नहीं आपने जो लिखा है केतु जिस भाव में बैठता है उससे संबंधित संतोष देता है ऐसा बिल्कुल न

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
play
user
1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बी जैसा कि आपका प्रश्न है कि केतु जिस भाव में बैठता है वह उस भाव के जो कष्ट होते जीवन में देता है तो देखिए केतु और राहु यह जो है यह छाया ग्रह है यह कभी अपने फल नहीं देते अलग यह नेगेटिव प्लैनेट्स होते हैं तो जहां बैठेंगे वहां नेगेटिव प्रभाव तो आएगा ही परंतु इनके जो फल जांच करने रहता खासकर क्योंकि हम लोग दशा अंतर्दशा प्रत्यंतर दशा पर ज्यादा जोर देते हैं तो अगर केतु की दशा नहीं चल रही होगी तो उस प्रकार के फल नहीं मिलेंगे इसीलिए तू जो है यह जब छाया ग्रह है तो यह जिस राशि में बैठता है यह उसके फल देता है या फिर इसके ऊपर किसी की ग्रह की दृष्टि होती है तो उसके फल देगा या किसी ग्रह के साथ कंजाइंड होगा उसके फल देगा हम लोग जब केपी एस्ट्रोलॉजी फॉलो करते हैं तो उसके नक्षत्र और अपना क्षेत्र पर भी ध्यान दिया जाता है तो जब तक पूरा एनालिसिस नहीं करेंगे हम जज नहीं करता

be jaisa ki aapka prashna hai ki Ketu jis bhav mein baithta hai vaah us bhav ke jo kasht hote jeevan mein deta hai toh dekhiye Ketu aur rahu yah jo hai yah chhaya grah hai yah kabhi apne fal nahi dete alag yah Negative planets hote hain toh jahan baitheange wahan Negative prabhav toh aayega hi parantu inke jo fal jaanch karne rehta khaskar kyonki hum log dasha antardasha pratyantar dasha par zyada jor dete hain toh agar Ketu ki dasha nahi chal rahi hogi toh us prakar ke fal nahi milenge isliye tu jo hai yah jab chhaya grah hai toh yah jis rashi mein baithta hai yah uske fal deta hai ya phir iske upar kisi ki grah ki drishti hoti hai toh uske fal dega ya kisi grah ke saath kanjaind hoga uske fal dega hum log jab KP astrology follow karte hain toh uske nakshtra aur apna kshetra par bhi dhyan diya jata hai toh jab tak pura analysis nahi karenge hum judge nahi karta

बी जैसा कि आपका प्रश्न है कि केतु जिस भाव में बैठता है वह उस भाव के जो कष्ट होते जीवन में

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  1587
WhatsApp_icon
user
0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि जिस घर में केतु बैठेगा उसी घर को असंतोष पैदा करेगा ऐसा नहीं है यदि कुंडली में मकर लग्न है या कुंभ लग्न है और मकर लग्न और कुंभ लग्न में केतु बलवान होकर लग्न में स्थित है तो वह व्यक्ति पर्व कार्यों में विजय प्राप्त करेगा और केतु उसके उस व्यक्ति के नाम को रोशन करेगा और वह व्यक्ति अपने क्षेत्र में अपनी पहचान बना कर हमेशा अच्छे पद पर कायम रहेगा मकर लग्न या कुंभ लग्न में केतु बैठा हो तो वह बहुत ही अच्छे फल देता है धन्यवाद

aisa nahi hai ki jis ghar me Ketu baithega usi ghar ko asantosh paida karega aisa nahi hai yadi kundali me makar lagn hai ya kumbh lagn hai aur makar lagn aur kumbh lagn me Ketu balwan hokar lagn me sthit hai toh vaah vyakti parv karyo me vijay prapt karega aur Ketu uske us vyakti ke naam ko roshan karega aur vaah vyakti apne kshetra me apni pehchaan bana kar hamesha acche pad par kayam rahega makar lagn ya kumbh lagn me Ketu baitha ho toh vaah bahut hi acche fal deta hai dhanyavad

ऐसा नहीं है कि जिस घर में केतु बैठेगा उसी घर को असंतोष पैदा करेगा ऐसा नहीं है यदि कुंडली म

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल के तू जहां भी बैठता है जिस स्थान में बैठता है उस स्थान में सदैव चिंता ग्रस्त बनाए रखता है कि तू का मंगल से और गुरु से सीधा संबंध होता है किस कारण से चंद्रशेखर पुरोहित है तो निश्चित तौर से मन में उद्योग नेता और उसे स्थान में चंचलता बनाए रखता है

bilkul ke tu jahan bhi baithta hai jis sthan mein baithta hai us sthan mein sadaiv chinta grast banaye rakhta hai ki tu ka mangal se aur guru se seedha sambandh hota hai kis karan se chandrashekhar purohit hai toh nishchit taur se man mein udyog neta aur use sthan mein chanchalata banaye rakhta hai

बिल्कुल के तू जहां भी बैठता है जिस स्थान में बैठता है उस स्थान में सदैव चिंता ग्रस्त बनाए

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user

Brajwasi sharma

Astrologer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भाई सही है जैसे झांसी में कुल केतु की दशा होती है वह संतोष देता है और कोई वेबसाइट करता है कलाइयां पैदा करता है केतु का प्रभाव है उसके लिए आप सबसे बड़े एक ही काम करो मैम कैटरीना का जाप करें तथा पीपल के पेड़ के नीचे सनी का तेल का दीपक जलाएं और चारों के ब्राह्मणों को थोड़ा दान देगा तो कुत्तों को भोजन में पक्षियों को दाना डालें ताकि आपका राशि जो है प्रधान हो सके आपका केचुआ पर भक्तों की को भी पक्षी को दाना डालने से कितनी चला जाता है अंतरिक्ष और मंगल करें धन्यवाद

haan bhai sahi hai jaise jhansi me kul Ketu ki dasha hoti hai vaah santosh deta hai aur koi website karta hai kalaiyan paida karta hai Ketu ka prabhav hai uske liye aap sabse bade ek hi kaam karo maam katrina ka jaap kare tatha pipal ke ped ke niche sunny ka tel ka deepak jalaen aur charo ke brahmanon ko thoda daan dega toh kutto ko bhojan me pakshiyo ko dana Daalein taki aapka rashi jo hai pradhan ho sake aapka kechuaa par bhakton ki ko bhi pakshi ko dana dalne se kitni chala jata hai antariksh aur mangal kare dhanyavad

हां भाई सही है जैसे झांसी में कुल केतु की दशा होती है वह संतोष देता है और कोई वेबसाइट करता

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  266
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  7  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्री राधे-राधे ऐसा बिल्कुल नहीं होता मैं कहते हैं कि के तू जो होता है वह सड़कों का धड़ है राहु और केतु राहु अग्रसर है तो केतु धन है तो देखा जाता है उनके ऊपर कौन से ग्रह की दृष्टि पड़ रही है अगर शुभ ग्रह की दृष्टि पड़ेगी तो अच्छा ही करेंगे और बुरे ग्रह की दृष्टि अगर हम को प्रभावित कर रही देख रही है उस घर में दिक्कतें उत्पन्न कर सकते हैं इसलिए कुंडली का विश्लेषण करना और संपूर्ण जानकारी सिर्फ यहां से या 2 शब्दों में नहीं कर सकते हम क्योंकि कुंडली अथवा होती है जन्म से लेकर मृत्यु तक को दर्शाती है तो इसमें जीवन यापन करने का जीने का एक नया उमंग सर्वत्र की प्राप्त करने की स्थितियां जानकारी प्राप्त हो सकती है जिससे कि अपने जीवन को एक नई दिशा एक बेहतर दिशा दे सकते हैं और अपने आप को उस योग्य बना सकते हैं सक्षम बना सकते हैं जैसे कि हम अपनी सारी इच्छाओं को धीरे-धीरे संपूर्ण कर ले श्री राधे राधे

shri radhe radhe aisa bilkul nahi hota main kehte hain ki ke tu jo hota hai vaah sadkon ka dhad hai rahu aur Ketu rahu agrasar hai toh Ketu dhan hai toh dekha jata hai unke upar kaun se grah ki drishti pad rahi hai agar shubha grah ki drishti padegi toh accha hi karenge aur bure grah ki drishti agar hum ko prabhavit kar rahi dekh rahi hai us ghar me dikkaten utpann kar sakte hain isliye kundali ka vishleshan karna aur sampurna jaankari sirf yahan se ya 2 shabdon me nahi kar sakte hum kyonki kundali athva hoti hai janam se lekar mrityu tak ko darshatee hai toh isme jeevan yaapan karne ka jeene ka ek naya umang sarvatra ki prapt karne ki sthitiyan jaankari prapt ho sakti hai jisse ki apne jeevan ko ek nayi disha ek behtar disha de sakte hain aur apne aap ko us yogya bana sakte hain saksham bana sakte hain jaise ki hum apni saari ikchao ko dhire dhire sampurna kar le shri radhe radhe

श्री राधे-राधे ऐसा बिल्कुल नहीं होता मैं कहते हैं कि के तू जो होता है वह सड़कों का धड़ है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  60  Dislikes    views  1246
WhatsApp_icon
user

Gurudev Jyotish Kendra, Call-09334552913

Online Astrologer & Palmist, Gemstones Advice, Astrology Solution/Remedies

3:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार मैं ऑनलाइन अष्टभुजा बोल रहा हूं मेरा काम है ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श देना आपके पास कोई भी समस्या हो कोई भी कंफ्यूजन हो लाइफ से जुड़ा हुआ के सभी सवाल हो बिजनेस करके नौकरी लव मैरिज शादी विवाह रिलेटेड कोई परेशानी हो कोई जानकारी चाहिए तो आप मुझे कॉल कर सकते हैं मैं आपकी कुंडली हस्तरेखा देखकर क्या आपको ज्योतिष परामर्श दूंगा और जो भी दोषी है जो भी प्रॉब्लम दिखेगा उसका ज्योतिषी उपाय बताऊंगा आप का सवाल है कि कि तू आपकी जन्मकुंडली में जिस घर में बैठता है क्या वह घर या जीवन के उस क्षेत्र में संतोष देता है जनरल यह सही है यह सही है कि केतु एक छाया ग्रह होता है उसको शैडोग्राफ बोला जाता है यह जिस घर में बैठेगा उस घर को डर से भर देगा उस घर में विकनेस पैदा कर देगा तो नॉर्मल बातें हैं लेकिन उसमें भी देखना पड़ेगा कि तू का डिग्री कितना है कि तू कितना स्ट्रांग्ली बैठा हुआ है कि तू कम डिग्री का है तो कम नुकसान पहुंचाएगा उसको डिग्री ज्यादा है तो ज्यादा नुकसान पहुंचेगा के तो उसका है कि केतु नीच का है यह भी देखना पड़ेगा यह भी देखना पड़ेगा कुछ जिस घर में केतु बैठा हुआ है उस घर में किसी शुभ ग्रह की दृष्टि तो नहीं पड़ रही है अगर दृष्टि पड़ रही है तो उसे भी फर्क पड़ेगा यह भी देखा जाता है कि लगने क्या है लगन के हिसाब से भी फर्क पड़ता है कम या ज्यादा लेकर जनरल यह होता है कि जिस घर में बैठेगा उस घर के प्रभाव को कम करेगा या दूषित करेगा अगर नेगेटिव होकर बैठा हुआ है नीच का होकर बैठा हुआ है गला सूख गया शुभ राशि में होकर बैठा हुआ है तो उस घर के प्रभाव को रिलेटिव कर देगा और उस घर से नकारात्मक फल पड़ेगा अगर मानते हैं किस से बंद था उसमें कितनी बैठा हुआ है कुंडली के सातवें घर में केतु बैठा हुआ है तो मैरिज का घर होता है पति का घर होता है सेवंथ हाउस बिजनेस कभी घर होता है पार्टनरशिप का घर होता है तो उसी से लेकर आपके मेरे से लेते शादी विवाह से रिलेटेड पति के नेचर पति के कलेक्टर से रिलेटेड भोले की रेट करेगा अब किसी भी प्रकार का पार्टनरशिप होगा पति पत्नी के बीच का पार्टनरशिप हो जाए और भी मार्केटिंग का पार्टनरशिप बिजनेस में कोई पाटनर हो तो उस पार्टनरशिप में यह दरार पैदा करेगा और बिजनेस पर कोई न कोई ट्रबल इसमें देगा कोई बिजनेस करते हैं तो बिजनेस तभी वो ट्रैवलक्लिक करेगा तू कि तू का किसी भी घर में बैठा हूं ना जिंदगी अच्छा नहीं माना जाता है लेकिन बहुत सारी बातें हैं और भी तथ्य उन सारे बातों को विचार कर लेंगे उसके बाद ही निर्णय पर पहुंचेंगे अगर आप अपनी जन्म कुंडली हमसे दिखाना चाहते हैं जन्मकुंडली श्रेष्ठ कोई सवाल है लाइव के जड़ से जुड़ा हुआ कोई सवाल है तो हमसे पूछिए इसके लिए पक्का डिटेल भेजें नाम जन्म तिथि जन्म समय जन्म स्थान और दोनों आपका फोटो मेरे को भेजिए व्हाट्सएप पर मैं आपकी कुंडली देख करके आपको ज्योतिष परामर्श दूंगा जो भी सवाल आप करेगा उसका जवाब दूंगा और जो भी दोस्त मिले जो भी अशोक चीजें कुंडली में दिखाई देंगी यह केतु से ही जुड़ा हुआ कोई ऐसी चीज है कुंडली में केतु आपके लिए हानिकारक है तो उससे जोरावर ज्योतिषी उपाय मैं आपको बताऊंगा कि आप मुझे कॉल कीजिए मेरा नंबर है 99342 52913 इस नंबर पर मेरे को व्हाट्सएप भी कर सकते हैं मेरा वेबसाइट भी है www.my गुड लक डॉट इन मेरा ऑनलाइन कंसल्टेशन फी है रूपीस 500 अगर मेरे से कोई मतलब ते हैं ऑनलाइन कुछ ज्योति से चला लेते हैं यह कोई जो तीसरे यह रेमेडीज पाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको मेरा ₹500 परामर्श शुल्क के तौर पर देखना होगा

hello namaskar main online ashtabhuja bol raha hoon mera kaam hai online jyotish paramarsh dena aapke paas koi bhi samasya ho koi bhi confusion ho life se juda hua ke sabhi sawaal ho business karke naukri love marriage shadi vivah related koi pareshani ho koi jaankari chahiye toh aap mujhe call kar sakte hain main aapki kundali hastarekha dekhkar kya aapko jyotish paramarsh dunga aur jo bhi doshi hai jo bhi problem dikhega uska jyotishi upay bataunga aap ka sawaal hai ki ki tu aapki janmakundali mein jis ghar mein baithta hai kya vaah ghar ya jeevan ke us kshetra mein santosh deta hai general yah sahi hai yah sahi hai ki Ketu ek chhaya grah hota hai usko shaidograf bola jata hai yah jis ghar mein baithega us ghar ko dar se bhar dega us ghar mein weakness paida kar dega toh normal batein hain lekin usmein bhi dekhna padega ki tu ka degree kitna hai ki tu kitna strangli baitha hua hai ki tu kam degree ka hai toh kam nuksan pahuchaayega usko degree zyada hai toh zyada nuksan pahunchaega ke toh uska hai ki Ketu neech ka hai yah bhi dekhna padega yah bhi dekhna padega kuch jis ghar mein Ketu baitha hua hai us ghar mein kisi shubha grah ki drishti toh nahi pad rahi hai agar drishti pad rahi hai toh use bhi fark padega yah bhi dekha jata hai ki lagne kya hai lagan ke hisab se bhi fark padta hai kam ya zyada lekar general yah hota hai ki jis ghar mein baithega us ghar ke prabhav ko kam karega ya dushit karega agar Negative hokar baitha hua hai neech ka hokar baitha hua hai galaa sukh gaya shubha rashi mein hokar baitha hua hai toh us ghar ke prabhav ko relative kar dega aur us ghar se nakaratmak fal padega agar maante hain kis se band tha usmein kitni baitha hua hai kundali ke satave ghar mein Ketu baitha hua hai toh marriage ka ghar hota hai pati ka ghar hota hai sevanth house business kabhi ghar hota hai partnership ka ghar hota hai toh usi se lekar aapke mere se lete shadi vivah se related pati ke nature pati ke collector se related bhole ki rate karega ab kisi bhi prakar ka partnership hoga pati patni ke beech ka partnership ho jaaye aur bhi marketing ka partnership business mein koi partner ho toh us partnership mein yah daraar paida karega aur business par koi na koi trouble isme dega koi business karte hain toh business tabhi vo traivalaklik karega tu ki tu ka kisi bhi ghar mein baitha hoon na zindagi accha nahi mana jata hai lekin bahut saree batein hain aur bhi tathya un saare baaton ko vichar kar lenge uske baad hi nirnay par pahunchenge agar aap apni janam kundali humse dikhana chahte hain janmakundali shreshtha koi sawaal hai live ke jad se juda hua koi sawaal hai toh humse puchiye iske liye pakka detail bheje naam janam tithi janam samay janam sthan aur dono aapka photo mere ko bhejiye whatsapp par main aapki kundali dekh karke aapko jyotish paramarsh dunga jo bhi sawaal aap karega uska jawab dunga aur jo bhi dost mile jo bhi ashok cheezen kundali mein dikhai dengi yah Ketu se hi juda hua koi aisi cheez hai kundali mein Ketu aapke liye haanikarak hai toh usse zoravar jyotishi upay main aapko bataunga ki aap mujhe call kijiye mera number hai 99342 52913 is number par mere ko whatsapp bhi kar sakte hain mera website bhi hai www my good luck dot in mera online kansalteshan fee hai Rupees 500 agar mere se koi matlab chalaate hain online kuch jyoti se chala lete hain yah koi jo teesre yah remedies paana chahte hain toh uske liye aapko mera Rs paramarsh shulk ke taur par dekhna hoga

हेलो नमस्कार मैं ऑनलाइन अष्टभुजा बोल रहा हूं मेरा काम है ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श देना आपके

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल भी नहीं कि तू जिस घर में बैठता है उस घर में दुष्प्रभाव भी दे यह आवश्यक नहीं है कि तू ध्वज है और उचित नक्षत्र में बैठा हूं उचित जैसे गुरु अगर आदि ग्रहों की शुभ ग्रहों की युति में हो तो केतु आपको शुभ फल पर देगा

bilkul bhi nahi ki tu jis ghar mein baithta hai us ghar mein dushprabhav bhi de yah aavashyak nahi hai ki tu dhwaj hai aur uchit nakshtra mein baitha hoon uchit jaise guru agar aadi grahon ki shubha grahon ki yuti mein ho toh Ketu aapko shubha fal par dega

बिल्कुल भी नहीं कि तू जिस घर में बैठता है उस घर में दुष्प्रभाव भी दे यह आवश्यक नहीं है कि

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user

Abhishek sharma

Astrologer

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी ऐसा बिल्कुल भी नहीं है जबकि के तू ही एक मात्र ऐसा ग्रह माना जाता है जो सबसे ज्यादा संतुष्ट है कि किसके पास पर नहीं होता और सारी समस्याएं सारा टेंशन आपको सर में ही रहेगा यह धड़ है इसलिए काफी ज्यादा सेटिस्फाइड भी रहता है अब केतु जिस भी घर में बैठा है आपके मान लीजिए वह दूसरे भाव में बैठा है तो के दूसरा भाव होता है धन का तो आपकी जिंदगी में ऐसा रहेगा कि जितना भी धरना पर चेक करेंगे जितना भी कमाई आप करेंगे जितना भी पैसा कमाएंगे आपसे संतुष्ट रहेंगे आपकी कभी ज्यादा महत्व कांक्षा पैसे की प्रति कभी नहीं बनेगी और जगताप काम आएंगे आप उतने में ही संतुष्ट रहेंगे और अगर माली जी यह सप्तम भाव में बैठे हैं नहीं विभाग स्थान पर तो जैसा भी जीवन साथी आपको मिलेगा आप उसके साथ संतुष्ट रहेंगे आपका भी ज्यादा महत्व कांची नहीं होंगे अपने विवाह या अपने जीवनसाथी के प्रति केतु और अगर आप नहीं जानते होंगे तो मैं आपको बता दूं कि आपके जीवन में आपके धन का कारक भी होता है क्योंकि जहां पर भी जिस भाव में केतु बैठा होगा उस भाव से उस भाव की जो मूल चीजें हैं उस भाव से जुड़ी जो मामूली बात है बेसिक चीजें हैं उस भाव कि वह चीजें करने से आपकी लाइफ में पैसा आपके पास आएगा मान लीजिए अगर आपका फिर था उसमे बैठा है कि तू तो आपके पास टीचिंग से पैसा सकता है आपके पास परफॉर्म करने से कोई क्रिएटिव चीज करने से पैसा आ सकता है सप्तम भाव में बैठा है तो आपको ससुराल पक्ष से भी पैसा आ सकता है लोगों के साथ पार्टनरशिप बिजनेस करने से पैसा आ सकता है दूसरे भाव में बैठे हैं कम्युनिकेशन से पैसा आ सकता है बप्पा बोलचाल से पैसा आ सकता है बहुत से ऐसी चीजें हैं जो कि ₹2 सेंड करता है केतु को कभी नेगेटिव मत लीजिएगा केतु एकमात्र सबसे पॉजिटिव करें बहुत-बहुत धन्यवाद

ji aisa bilkul bhi nahi hai jabki ke tu hi ek matra aisa grah mana jata hai jo sabse zyada santusht hai ki kiske paas par nahi hota aur saari samasyaen saara tension aapko sir mein hi rahega yah dhad hai isliye kafi zyada setisfaid bhi rehta hai ab Ketu jis bhi ghar mein baitha hai aapke maan lijiye vaah dusre bhav mein baitha hai toh ke doosra bhav hota hai dhan ka toh aapki zindagi mein aisa rahega ki jitna bhi dharna par check karenge jitna bhi kamai aap karenge jitna bhi paisa kamayenge aapse santusht rahenge aapki kabhi zyada mahatva kanksha paise ki prati kabhi nahi banegi aur jagtap kaam aayenge aap utne mein hi santusht rahenge aur agar maali ji yah saptam bhav mein baithe hain nahi vibhag sthan par toh jaisa bhi jeevan sathi aapko milega aap uske saath santusht rahenge aapka bhi zyada mahatva kanchi nahi honge apne vivah ya apne jeevansathi ke prati Ketu aur agar aap nahi jante honge toh main aapko bata doon ki aapke jeevan mein aapke dhan ka kaarak bhi hota hai kyonki jahan par bhi jis bhav mein Ketu baitha hoga us bhav se us bhav ki jo mul cheezen hain us bhav se judi jo mamuli baat hai basic cheezen hain us bhav ki vaah cheezen karne se aapki life mein paisa aapke paas aayega maan lijiye agar aapka phir tha usme baitha hai ki tu toh aapke paas teaching se paisa sakta hai aapke paas perform karne se koi creative cheez karne se paisa aa sakta hai saptam bhav mein baitha hai toh aapko sasural paksh se bhi paisa aa sakta hai logo ke saath partnership business karne se paisa aa sakta hai dusre bhav mein baithe hain communication se paisa aa sakta hai bappa bolchal se paisa aa sakta hai bahut se aisi cheezen hain jo ki Rs send karta hai Ketu ko kabhi Negative mat lijiega Ketu ekmatra sabse positive kare bahut bahut dhanyavad

जी ऐसा बिल्कुल भी नहीं है जबकि के तू ही एक मात्र ऐसा ग्रह माना जाता है जो सबसे ज्यादा संतु

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user

Ravi Soni

Astrologer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह बात सही कहां पर बैठता है उस स्थान सपन दोष देता है उस स्थान का रिजल्ट मिलने में देरी होगी या स्थानांतरण मेहनत करके पिछले जन्म का कुछ करना उससे जुड़े हुए उत्थान के प्रति आपकी फीलिंग्स इमोशंस और धार्मिक प्रवृत्ति का मीटर होता है

haan yah baat sahi kahaan par baithta hai us sthan sapan dosh deta hai us sthan ka result milne mein deri hogi ya sthanantaran mehnat karke pichhle janam ka kuch karna usse jude hue utthan ke prati aapki feelings emotional aur dharmik pravritti ka meter hota hai

हां यह बात सही कहां पर बैठता है उस स्थान सपन दोष देता है उस स्थान का रिजल्ट मिलने में देरी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Neeraj Kumar

Astrologer & Software Engineer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि तू जिस घर में बैठा हूं उस घर से रिलेटेड किसी चीज से जातक को असंतोष होता है जैसे कि तू अगर सेकंड हाउस में बैठा हो तो या तो जातक का धन्ना सो जाएगा या उसके परिवार में कला फसाद होते रहेंगे धन्यवाद

ki tu jis ghar mein baitha hoon us ghar se related kisi cheez se jatak ko asantosh hota hai jaise ki tu agar second house mein baitha ho toh ya toh jatak ka dhanna so jaega ya uske parivar mein kala fasad hote rahenge dhanyavad

कि तू जिस घर में बैठा हूं उस घर से रिलेटेड किसी चीज से जातक को असंतोष होता है जैसे कि तू अ

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  217
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केतु कुंडली के जिस घर में जिस भाव में बैठता है उस चीजों को लेकर जीवन में इंसान को सेटिस्फेक्शन की मिलती है संतोष की भावनाएं रहती है क्योंकि केतु सिपरेशन का कारक है अगर वह जिस भाव में बैठेगा तो उस भाव की चीजों को आपसे सेपरेट कर देगा आपने उन सब चीजों की मास्टरी होगी लेकिन फिर भी आप वह सब चीजें करना नहीं चाहोगे क्योंकि केतु को वह चीजें सिपरेशन करनी है इसलिए

Ketu kundali ke jis ghar me jis bhav me baithta hai us chijon ko lekar jeevan me insaan ko setisfekshan ki milti hai santosh ki bhaavnaye rehti hai kyonki Ketu separation ka kaarak hai agar vaah jis bhav me baithega toh us bhav ki chijon ko aapse separate kar dega aapne un sab chijon ki mastery hogi lekin phir bhi aap vaah sab cheezen karna nahi chahoge kyonki Ketu ko vaah cheezen separation karni hai isliye

केतु कुंडली के जिस घर में जिस भाव में बैठता है उस चीजों को लेकर जीवन में इंसान को सेटिस्फे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user

आचार्य चन्दन धर द्विवेदी (गुरू जी)

वेदाचार्य,ज्योतिषाचार्य,ज्योतिषशिरोमणि,प्राणिक हीलर

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जन्म कुंडली में केतु प्लानेट केतु जो ग्रह होता है वह केतु ग्रह जिस ग्रह के साथ रहता है उसके अनुसार फल देता है केतु ग्रह पर जिस ग्रह की दृष्टि होती है उस ग्रह के अनुसार फल देता है यह तो ग्रह कुंडली में जिस ग्रह के घर में होता है उसके अनुसार फल देता है केतु ग्रह अगर शुभ ग्रहों के साथ होगा तो शुभ फल देगा अशुभ ग्रहों के साथ होगा तो शुभ फल देगा

jyotish shastra ke anusaar janam kundali mein Ketu planet Ketu jo grah hota hai vaah Ketu grah jis grah ke saath rehta hai uske anusaar fal deta hai Ketu grah par jis grah ki drishti hoti hai us grah ke anusaar fal deta hai yah toh grah kundali mein jis grah ke ghar mein hota hai uske anusaar fal deta hai Ketu grah agar shubha grahon ke saath hoga toh shubha fal dega ashubh grahon ke saath hoga toh shubha fal dega

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जन्म कुंडली में केतु प्लानेट केतु जो ग्रह होता है वह केतु ग्रह ज

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  59
WhatsApp_icon
user
0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं केतु के बारे में ऐसा नहीं कर सकता है राहु के बारे में हम कह सकते हैं लेकिन किंतु अनिष्ट नहीं करता है

nahi Ketu ke bare mein aisa nahi kar sakta hai rahu ke bare mein hum keh sakte hain lekin kintu anisht nahi karta hai

नहीं केतु के बारे में ऐसा नहीं कर सकता है राहु के बारे में हम कह सकते हैं लेकिन किंतु अनिष

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी कुंडली में केतु जिस घर में बैठता है उस घर का निश्चित नुकसान करता है लेकिन यदि उसका संबंध किसी शुभ ग्रह और योग कारक ग्रहों से हो तो केतु अच्छा फल भी देता

ji kundali mein Ketu jis ghar mein baithta hai us ghar ka nishchit nuksan karta hai lekin yadi uska sambandh kisi shubha grah aur yog kaarak grahon se ho toh Ketu accha fal bhi deta

जी कुंडली में केतु जिस घर में बैठता है उस घर का निश्चित नुकसान करता है लेकिन यदि उसका संबं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!