UPSC परीक्षा में हिंदी मीडियम के छात्र क्यों पीछे रह जाते हैं?...


user

professor Govind Tripathi

Professor(P.hd in mathematics)/Social worker

3:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं प्रोफेसर गोविंद त्रिपाठी आपका प्रश्न है यूपीएससी की परीक्षा में हिंदी मीडियम के छात्र क्यों पीछे रह जाते हैं पहले बात तो बता दो की हिंदी मीडियम की छात्र पीछे नहीं रहते हैं जो थोड़ा बहुत कारण था पीछे रहने का वह सीसैट का एग्जामिनेशन था तो सीसैट एग्जामिनेशन जब आया उसमें इंग्लिश इतनी क्रिस्ट पूछी जाती थी कि वह उसका ट्रांसलेशन गूगल ट्रांसलेशन पूछा जाता था इसलिए हिंदी मीडियम के छात्र उसका साल भर नहीं कर पाते थे और वह कंपलसरी सजेस्ट्स सीसैट का लेकिन जब से पिछले 2 सालों से सीसैट का एग्जामिनेशन सिर्फ कॉलीफैक पेपर कर दिया गया है उससे हिंदी मीडियम के छात्र दोबारा सक्से उनका बढ़ गया है एक तो सी शर्ट के पेपर के कारण हिंदी माध्यम के विद्यार्थी थोड़ा पीछे रह जाते थे लेकिन एक दूसरा कारण और भी था जिसमें पहले जैसा आर्ट्स के छात्र ही यूपीएससी का पेपर कसम भरते थे लेकिन इसके चारों को देख करके एमबीबीएस डॉक्टर इंजीनियर आयाम एलएलबी सारे छात्र यूपीएससी का फॉर्म भरने लगे क्योंकि इसकी मिनिमम क्वालिफिकेशन कीजिए उसके बाद कोई भी व्यक्ति का फॉर्म भर सकता है जहां आई एम के छात्र मैनेजमेंट कोर्स में जाते थे बीटेक और इंजीनियर छात्र और डॉक्टर जितने भी लाकर छात्र अब सब इसी का फॉर्म भरने लगे हैं इसलिए वहां पढ़ाई तो इंग्लिश मीडियम से होती हैं ज्यादातर क्षेत्र में चाय मोर्चा बी टेक हो या बी हो या एमबी भी हंसो तो यह लोग भी फॉर्म भरने लगे और इन लोगों को कैरेक्टर साइंस अच्छा होता है तो जनरल साइंस पैसे तैयार कर लेते हैं बड़ी अच्छी होती है अभी तैयार कर लेते हैं और यह सीसैट का पेपर भी इसलिए क्लियर कर लेते थे इसलिए इनका परसेंटेज ज्यादा पड़ने लगा लेकिन आपका यह कहना हिंदी मीडियम के छात्र बहुत पीछे रह जाते हैं तो ऐसा नहीं है हिंदी में छात्र भी काफी निकलते हैं और अब कुछ वर्षों से तो हिंदी फिल्म के छात्र काफी अच्छी रैंकिंग मिला रहे हैं ऐसा कुछ नहीं है और हिंदी मीडियम के छात्रों में बहुत अधिक गुण होते हैं पिपरिया ताजा हिंदी मीडियम कैसे हो चाहे इंग्लिश मीडियम का इसलिए सिर्फ एक कारण था और दूसरा कारण जो उसके चार मुख के बढ़ने के लिए कारण जो दूसरे भर के विद्यार्थी भी इसको भरने लगे थे इसलिए कुछ परसेंटेज हिंदी मीडियम के छात्रों का गिरा था धन्यवाद

namaskar main professor govind tripathi aapka prashna hai upsc ki pariksha me hindi medium ke chatra kyon peeche reh jaate hain pehle baat toh bata do ki hindi medium ki chatra peeche nahi rehte hain jo thoda bahut karan tha peeche rehne ka vaah csat ka examination tha toh csat examination jab aaya usme english itni krist puchi jaati thi ki vaah uska translation google translation poocha jata tha isliye hindi medium ke chatra uska saal bhar nahi kar paate the aur vaah compulsory suggests csat ka lekin jab se pichle 2 salon se csat ka examination sirf kalifaik paper kar diya gaya hai usse hindi medium ke chatra dobara sakse unka badh gaya hai ek toh si shirt ke paper ke karan hindi madhyam ke vidyarthi thoda peeche reh jaate the lekin ek doosra karan aur bhi tha jisme pehle jaisa arts ke chatra hi upsc ka paper kasam bharte the lekin iske charo ko dekh karke MBBS doctor engineer aayam llb saare chatra upsc ka form bharne lage kyonki iski minimum qualification kijiye uske baad koi bhi vyakti ka form bhar sakta hai jaha I M ke chatra management course me jaate the btech aur engineer chatra aur doctor jitne bhi lakar chatra ab sab isi ka form bharne lage hain isliye wahan padhai toh english medium se hoti hain jyadatar kshetra me chai morcha be take ho ya be ho ya MB bhi hanso toh yah log bhi form bharne lage aur in logo ko character science accha hota hai toh general science paise taiyar kar lete hain badi achi hoti hai abhi taiyar kar lete hain aur yah csat ka paper bhi isliye clear kar lete the isliye inka percentage zyada padane laga lekin aapka yah kehna hindi medium ke chatra bahut peeche reh jaate hain toh aisa nahi hai hindi me chatra bhi kaafi nikalte hain aur ab kuch varshon se toh hindi film ke chatra kaafi achi ranking mila rahe hain aisa kuch nahi hai aur hindi medium ke chhatro me bahut adhik gun hote hain piparia taaza hindi medium kaise ho chahen english medium ka isliye sirf ek karan tha aur doosra karan jo uske char mukh ke badhne ke liye karan jo dusre bhar ke vidyarthi bhi isko bharne lage the isliye kuch percentage hindi medium ke chhatro ka gira tha dhanyavad

नमस्कार मैं प्रोफेसर गोविंद त्रिपाठी आपका प्रश्न है यूपीएससी की परीक्षा में हिंदी मीडियम क

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  614
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!