play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको प्रेस ने भगत सिंह को फांसी कब दी गई थी कि भगत सिंह जो है भारत के प्रमुख क्रांतिकारी हैं जिन्होंने अंग्रेजों की सत्ता को उखाड़ फेंकने के लिए हिंसा का रास्ता अपनाया था असेंबली में बम फेंकने और सांडर्स की हत्या करने की अपराध में भगत सिंह को फांसी की सजा सुनाई गई थी और 23 मार्च 1931 को लाहौर सेंट्रल जेल में शाम को 7:00 बजे भगत सिंह के साथ राजगुरु और सुखदेव के द्वार क्रांतिकारी जिनके साथ थे उनको फांसी पर लटका दिया गया था

aapko press ne bhagat Singh ko fansi kab di gayi thi ki bhagat Singh jo hai bharat ke pramukh krantikari hain jinhone angrejo ki satta ko ukhad fenkne ke liye hinsa ka rasta apnaya tha assembly me bomb fenkne aur sandars ki hatya karne ki apradh me bhagat Singh ko fansi ki saza sunayi gayi thi aur 23 march 1931 ko lahore central jail me shaam ko 7 00 baje bhagat Singh ke saath raajguru aur sukhadeva ke dwar krantikari jinke saath the unko fansi par Latka diya gaya tha

आपको प्रेस ने भगत सिंह को फांसी कब दी गई थी कि भगत सिंह जो है भारत के प्रमुख क्रांतिकारी ह

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  227
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!