इस समय देश में हो रही मॉब लिंचिंग से कैसे निपटा जा सकता है?...


user

Virendra Singh

Public figure

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोब लिंचिंग से निपटने के लिए आपको यह करना होगा कि सबसे पहले उन लोगों की पहचान करें जो मोब लिंचिंग जो करते हैं ज्यादातर वह किस संगठन से जुड़े हुए लोग हैं किस दल से जुड़े हुए लोग हैं किस पार्टी से जुड़े हुए लोग हैं उन्हें आप को वोट नहीं देना है उन्हें आप को सत्ता से बाहर करवाना है यह सीधे-सीधे किसी संगठन से जुड़े हुए हो सकते हैं या इन्हें समर्थन प्राप्त हो सकता है दोनों चीजें हो सकती हैं तो आपको ऐसी विचारधारा के जो लोग हैं उन्हें सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाना है तभी यह मॉब लिंचिंग रुकेगी नहीं तो कट्टरपंथी मोब लिंचिंग जो अफगानिस्तान में हुआ जो तालिबान ने किया वही यहां होगा इसीलिए आपको इन्हें सत्ता से बाहर करना है यह किसी भी तरह का प्रोत्साहन नहीं देना है

mob lynching se nipatane ke liye aapko yah karna hoga ki sabse pehle un logo ki pehchaan kare jo mob lynching jo karte hain jyadatar vaah kis sangathan se jude hue log hain kis dal se jude hue log hain kis party se jude hue log hain unhe aap ko vote nahi dena hai unhe aap ko satta se bahar karwana hai yah sidhe sidhe kisi sangathan se jude hue ho sakte hain ya inhen samarthan prapt ho sakta hai dono cheezen ho sakti hain toh aapko aisi vichardhara ke jo log hain unhe satta se bahar ka rasta dikhana hai tabhi yah mob lynching rukegi nahi toh kattarapanthi mob lynching jo afghanistan me hua jo taliban ne kiya wahi yahan hoga isliye aapko inhen satta se bahar karna hai yah kisi bhi tarah ka protsahan nahi dena hai

मोब लिंचिंग से निपटने के लिए आपको यह करना होगा कि सबसे पहले उन लोगों की पहचान करें जो मोब

Romanized Version
Likes  131  Dislikes    views  1571
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sanjana Singh Transgender

motivator & Transgegender Social Activist

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस समय देश में होरी मोब लिंचिंग को अगर हम सिर्फ खामोश अगर देखते रहेंगे तो इस बैंकों से लगाना मुश्किल है लिए आवाज उठाना बहुत जरूरी है एकजुट होना बहुत जरूरी है अगर मुख्य दिनों की तरह इस तरह देखते रहे हैं तो इस चीज को कभी रुका नहीं जा सकता है और देश में यह गतिविधि होती रहेगी और कहीं ना कहीं हम यह सोचते हैं कि हमारा क्या जा रहा है हमारे साथ ऐसा कुछ नहीं हो रहा है फिर एक समय आ जाता है कि हमारे ऊपर भी है सब बहुत चीजें लागू होती हैं इसलिए समय ज्यादा समय रहते ही जाग जाए समय रहती है अभी होना बहुत जरूरी है और इसके खिलाफ आवाज उठाना बहुत जरूरी है

is samay desh me hori mob lynching ko agar hum sirf khamosh agar dekhte rahenge toh is bankon se lagana mushkil hai liye awaaz uthana bahut zaroori hai ekjut hona bahut zaroori hai agar mukhya dino ki tarah is tarah dekhte rahe hain toh is cheez ko kabhi ruka nahi ja sakta hai aur desh me yah gatividhi hoti rahegi aur kahin na kahin hum yah sochte hain ki hamara kya ja raha hai hamare saath aisa kuch nahi ho raha hai phir ek samay aa jata hai ki hamare upar bhi hai sab bahut cheezen laagu hoti hain isliye samay zyada samay rehte hi jag jaaye samay rehti hai abhi hona bahut zaroori hai aur iske khilaf awaaz uthana bahut zaroori hai

इस समय देश में होरी मोब लिंचिंग को अगर हम सिर्फ खामोश अगर देखते रहेंगे तो इस बैंकों से लगा

Romanized Version
Likes  165  Dislikes    views  2227
WhatsApp_icon
user

Harish Chand

Social Worker

3:14
Play

Likes  184  Dislikes    views  2074
WhatsApp_icon
user

Anju pandey

Social Worker

2:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है इस समय देश में हो रही मोबलीचिंग से कैसे निपटा जा सकता है हां आजकल यह बहुत ज्यादा हो गया है और हमारे यहां पर जब भी कहीं भी धर्म पर सांप्रदायिकता पर या किसी भी चीज पर ऐसी कोई बात चलती है खुशी खुशी ज्यादा होती है और इसके लिए जिम्मेदार लोग हैं वहां चिंपू कुछ समझ में नहीं आता वह इस काम को ज्यादा करते हैं मालूम कुछ होता नहीं है और भीड़ के साथ इकट्ठा होकर एक दूसरे को मारना पीटना या कुछ इस तरह की घटनाओं को अंजाम देते हैं तो इससे निपटने के लिए सबसे बड़ी समस्या आ रही है कि वह अज्ञानता है जो लोगों के अंदर उसकी वजह से इस घटना को अंजाम देते हैं और दूसरा कि आप हर समाज में कोई ना कोई एक ऐसा व्यक्ति होता है जो ऐसे लोगों का यूज करके अपना काम करता है इसमें कोई राजनेता भी हो सकता है समाज का कोई प्रभु को भी हो सकता किसी भी प्रकार का तू क्या कर दी कि ऐसे लोगों को खाते हैं जो बिना कुछ सोचे-समझे उनका कहना मानते हैं और ऐसी घटनाओं को अंजाम देते हैं तो सबसे पहले यह हमें खत्म करना चाहिए कि आज ऑफिस तरह के लोग इसमें अनमोल होते हैं वह दूसरों को उकसा कर अपना काम करवाते हैं या किसी के प्रति किसी को घर आते हैं और चार-पांच लोग 10 लोग इकट्ठा होते हैं और किसी को कभी मार दिया कभी कुछ कर यह जो अज्ञानता है जो शिक्षा नहीं ग्रहण करते या शिक्षा का गलत फायदा उठाते हैं उनको लगता है कि किसी की बात सुनकर उसने कहा वह कर देना ही हमारा धर्म है हमारा कर्तव्य है इस तरह से करना चाहिए क्योंकि इससे निपटना आसान नहीं है आजकल किसी को मारने की या किसी के प्रति कुछ ज्यादा ही आस्था रखने की परंपरा हो गई है कोई धर्म के लिए किसी की बात सुनता है कोई राजनीतिक दल होते हैं कोई नेता होता है सेहत रेगर समाज में है और ऐसे लोगों का कर ऐसा काम करवाते हैं उनको कुछ पैसे भी दे देते हैं कभी-कभी और नहीं तो उनको बहुत से लोग दारू दे देते हैं कोई कुछ कर देता है किसी के लिए फायदा नहीं हो रहा है आप का प्रयोग करके आपका यूज करके बोलो अपना फायदा ले रहे हैं अगर कोई काम होगा अभियान के रूप में ले सकता है तो उसको इस काम में आगे बढ़ना चाहिए और सब को सहयोग करना चाहिए

prashna hai is samay desh me ho rahi mobliching se kaise nipta ja sakta hai haan aajkal yah bahut zyada ho gaya hai aur hamare yahan par jab bhi kahin bhi dharm par saampradayikta par ya kisi bhi cheez par aisi koi baat chalti hai khushi khushi zyada hoti hai aur iske liye zimmedar log hain wahan chimpu kuch samajh me nahi aata vaah is kaam ko zyada karte hain maloom kuch hota nahi hai aur bheed ke saath ikattha hokar ek dusre ko marna pitana ya kuch is tarah ki ghatnaon ko anjaam dete hain toh isse nipatane ke liye sabse badi samasya aa rahi hai ki vaah agyanata hai jo logo ke andar uski wajah se is ghatna ko anjaam dete hain aur doosra ki aap har samaj me koi na koi ek aisa vyakti hota hai jo aise logo ka use karke apna kaam karta hai isme koi raajneta bhi ho sakta hai samaj ka koi prabhu ko bhi ho sakta kisi bhi prakar ka tu kya kar di ki aise logo ko khate hain jo bina kuch soche samjhe unka kehna maante hain aur aisi ghatnaon ko anjaam dete hain toh sabse pehle yah hamein khatam karna chahiye ki aaj office tarah ke log isme anmol hote hain vaah dusro ko ukasa kar apna kaam karwaate hain ya kisi ke prati kisi ko ghar aate hain aur char paanch log 10 log ikattha hote hain aur kisi ko kabhi maar diya kabhi kuch kar yah jo agyanata hai jo shiksha nahi grahan karte ya shiksha ka galat fayda uthate hain unko lagta hai ki kisi ki baat sunkar usne kaha vaah kar dena hi hamara dharm hai hamara kartavya hai is tarah se karna chahiye kyonki isse nipatna aasaan nahi hai aajkal kisi ko maarne ki ya kisi ke prati kuch zyada hi astha rakhne ki parampara ho gayi hai koi dharm ke liye kisi ki baat sunta hai koi raajnitik dal hote hain koi neta hota hai sehat regar samaj me hai aur aise logo ka kar aisa kaam karwaate hain unko kuch paise bhi de dete hain kabhi kabhi aur nahi toh unko bahut se log daaru de dete hain koi kuch kar deta hai kisi ke liye fayda nahi ho raha hai aap ka prayog karke aapka use karke bolo apna fayda le rahe hain agar koi kaam hoga abhiyan ke roop me le sakta hai toh usko is kaam me aage badhana chahiye aur sab ko sahyog karna chahiye

प्रश्न है इस समय देश में हो रही मोबलीचिंग से कैसे निपटा जा सकता है हां आजकल यह बहुत ज्यादा

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  218
WhatsApp_icon
user

Sunil Kumar Pandey

Editor & Writer

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है इस समय देश में हो रही ना प्लीज सिंह को है कैसे निकाला सकता है पराया महाराष्ट्र में पालघर में हुई साधुओं की हत्या इस तरह का माप लिंकिंग का यह परिणाम है उसके बाद भारत के विभिन्न राज्यों में इस तरह की माप लिंकिंग हो रही है और सरकार उन पर अंकुश लगाने में नाकामयाब साबित हो रही है तत्कालीन सरकारों से अनुरोध है कि इस तरह के मामले जिन पर रोक लगाई जाए और इसमें जो व्यक्ति शामिल हैं उन्हें पकड़कर कठोरतम से कठोरतम सजा दी जाए साया सरकार अभी तक इस नाम लिखने में जो लोग शामिल हुए हैं उनको पता नहीं में नाकामयाब रही है कहीं न कहीं सरकार की मानसिकता दर्शाता है कि वह मामा ब्लीचिंग जैसे कृत्य को खत्म करने के मूड में नहीं है क्योंकि यदि किसी व्यक्ति को पकड़ लेगी इससे उसका वोट बैंक अनुषा इसलिए सरकार कहीं ना कहीं मोबलीचिंग जैसे मुद्दों पर लीपापोती कर रही है धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai is samay desh me ho rahi na please Singh ko hai kaise nikaala sakta hai paraaya maharashtra me palghar me hui sadhuon ki hatya is tarah ka map linking ka yah parinam hai uske baad bharat ke vibhinn rajyo me is tarah ki map linking ho rahi hai aur sarkar un par ankush lagane me nakamayab saabit ho rahi hai tatkalin sarkaro se anurodh hai ki is tarah ke mamle jin par rok lagayi jaaye aur isme jo vyakti shaamil hain unhe pakadakar kathortam se kathortam saza di jaaye saya sarkar abhi tak is naam likhne me jo log shaamil hue hain unko pata nahi me nakamayab rahi hai kahin na kahin sarkar ki mansikta darshata hai ki vaah mama bleaching jaise kritya ko khatam karne ke mood me nahi hai kyonki yadi kisi vyakti ko pakad legi isse uska vote bank anusha isliye sarkar kahin na kahin mobliching jaise muddon par lipapoti kar rahi hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है इस समय देश में हो रही ना प्लीज सिंह को है कैसे निकाला सकता है पराया

Romanized Version
Likes  159  Dislikes    views  1334
WhatsApp_icon
user

Ankit

Sewing artisans of readymade garments Work Experience 15 Year

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आप जानना चाहते हैं क्या इस समय देश में हो रही मॉब लिंचिंग से किस तरह से निपटा जा सकता है तो सबसे पहले तो मोहन सिंह की सबसे बड़ी वजह अफवाह और कुछ टीवी चैनल जो है वह हर न्यूज़ को जैसे बताते हैं कि फला जगह स्वर्ण ने दलित पर हमला किया तो यह जब लड़ाई होती है तब इंसान दिमाग में अपनी जात धर्म रखकर लड़ाई नहीं करता है वह कुछ एक मुद्दा होता जिसको वह लोग लड़ाई कर लेते हैं और बाद में जो रिपोर्ट लिखने जाती है या पुलिस कार्रवाई होती उसमें उन दोनों की जानते आ जाती है उनका धर्म आ जाता है कि वह एक यह छत्रिय था तो इसने दलित व्यक्ति को मारा जब वह मारता है जो उन लोगों की लड़ाई होती जाती पर नहीं होती है ओके बनके 6 छोटे-मोटे मुद्दे पर होती हैं जो इतना ज्यादा बढ़ा जाता है जिसको बाद में दलित और स्वर्ण का कभी हिंदू मुसलमान का रंग दे दिया जाता है कुछ मामला अलग होते जैसे किसी ने गाय को मारा कांटा जो भी इस टाइप की अफवाहें फैल कि इन सब पर रोक लगना चाहिए और हम लोगों को को जनता किस में वह सबसे बड़ी जिम्मेदारी है कि कोई भी व्हाट्सएप पर फेसबुक पर कोई भी न्यूज़ शेयर करने से पहले एक बार हमको खुद चेक का यह सही है या नहीं क्योंकि व्हाट्सएप फेसबुक पर आने वाली न्यू सॉन्ग न्यू जितनी भी आती है उसमें से 90 से 95 पर सेंट स्टेक रहती हूं और मोब लिंचिंग कहीं की भी हो सारी मॉब लिंचिंग में सबसे मेन पॉइंट लेता है क्या हुआ कोई फिल्म भेजो पालघर में संतों के साथ हुआ उसमें भी यही अफवाह थी कि गई वह उसमें लगती नहीं है कि यह का फॉर्म है आदमी इतना क्रूर हो जाएगी निर्दोष मुझको को मार दे वह तो कुछ वामपंथियों का काम था जिन्होंने शायद सोची समझी साजिश वीडियो पर मोदी न्यूज़ जो आती है उसमें में पता चलता कि अफवाहों की वजह से ही मॉब लिंचिंग होती

namaskar aap janana chahte hain kya is samay desh me ho rahi mob lynching se kis tarah se nipta ja sakta hai toh sabse pehle toh mohan Singh ki sabse badi wajah afavah aur kuch TV channel jo hai vaah har news ko jaise batatey hain ki phala jagah swarn ne dalit par hamla kiya toh yah jab ladai hoti hai tab insaan dimag me apni jaat dharm rakhakar ladai nahi karta hai vaah kuch ek mudda hota jisko vaah log ladai kar lete hain aur baad me jo report likhne jaati hai ya police karyawahi hoti usme un dono ki jante aa jaati hai unka dharm aa jata hai ki vaah ek yah Kshatriya tha toh isne dalit vyakti ko mara jab vaah maarta hai jo un logo ki ladai hoti jaati par nahi hoti hai ok banke 6 chote mote mudde par hoti hain jo itna zyada badha jata hai jisko baad me dalit aur swarn ka kabhi hindu musalman ka rang de diya jata hai kuch maamla alag hote jaise kisi ne gaay ko mara kanta jo bhi is type ki afwayen fail ki in sab par rok lagna chahiye aur hum logo ko ko janta kis me vaah sabse badi jimmedari hai ki koi bhi whatsapp par facebook par koi bhi news share karne se pehle ek baar hamko khud check ka yah sahi hai ya nahi kyonki whatsapp facebook par aane wali new song new jitni bhi aati hai usme se 90 se 95 par sent stake rehti hoon aur mob lynching kahin ki bhi ho saari mob lynching me sabse main point leta hai kya hua koi film bhejo palghar me santo ke saath hua usme bhi yahi afavah thi ki gayi vaah usme lagti nahi hai ki yah ka form hai aadmi itna krur ho jayegi nirdosh mujhko ko maar de vaah toh kuch vamapanthiyon ka kaam tha jinhone shayad sochi samjhi saajish video par modi news jo aati hai usme me pata chalta ki afavahon ki wajah se hi mob lynching hoti

नमस्कार आप जानना चाहते हैं क्या इस समय देश में हो रही मॉब लिंचिंग से किस तरह से निपटा जा स

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
play
user

मनोज राम

सामाजिक कार्यकर्ता

3:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते मान्यवर देश भर में हो रहे मां लीचिंग से संबंधित घटनाओं को रोकने के लिए हमें अपने आसपास की असामाजिक तत्वों को दूर करना होगा क्योंकि हमारे आसपास के बहुत सारे इसे राजनीतिक डाले चलते हैं और कुछ आशिक इसमें के लोग हैं जो चंद पैसों के लिए इस तरह की घटनाओं को अंजाम देते हैं वे नहीं चाहते हैं कि देश में भाईचारे उत्पन्न लोग मिलजुल कर रहे हैं अगर ऐसा होने लगे तो उनका जो लाभ का जो पर्दे को नष्ट हो जाएगा तो अपने लाभ के पद को बचाने के लिए देशभर में इस तरह की घटनाओं को अंजाम देते हैं फल खाते हैं अगर हम चाहते हैं किस तरह की घटनाएं ना हो तो हमें एक आदत ना के कर्तव्यों का पालन करते हुए देश की गली गली की असामाजिक तत्वों से शुरू करते हुए संपूर्ण देश की सामाजिकता को दूर करने का प्रयास करना होगा जो राजनीतिक दल सिर्फ भाषण बाजी करते हैं धर्म के नाम पर करवाने या भेदभाव उत्पन्न करने की कोशिश करते हैं उनका धिक्कार करना होगा उनका अधिकार नहीं करेंगे तो इस तरह की भाषण बाजी देने वालों की बढ़ोतरी होगी और वह देते रहेंगे क्योंकि वह जानते हैं कि हमारा विरोध करने वाला कोई नहीं है जिस प्रकार कुछ समय पहले राज ठाकरे नाम के राजनीतिज्ञ ने क्षेत्रवाद क्षेत्रवाद की राजनीति की थी किंतु उनको आज तक उनकी गलती के सजा नहीं मिल पाई है इस वजह से हमारे देश में कानून व्यवस्था पर भी सवालिया निशान लग रहा है कि जो व्यक्ति खुलेआम चित्रवाद क्षेत्रवाद की राजनीति करता है हुई कैसे बच सकते हैं कि वह एक राजनीतिज्ञ हैं हम प्रत्यक्ष रूप से ही उनके भाषणों को सुनें देखिए दिव्या पर भी चला फिर क्या हुआ सबूत तो हमारे सामने ही है फिर उनको सजा क्यों नहीं हुई इस देशद्रोही राज ठाकरे ने किस तरह की समस्याओं को उत्पन्न कर दिया था जिस समय लाखों मजदूर हजारों हजारों मजदूर आतंक में आ गए थे मतलब एक तरह से वह भी माऊलीची की तरह ही थी किंतु ना उनको सजा हो पाई ना लोगों ने आवाज उठाई जो बहुत ही गलत है इसलिए इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए हमें ही आवाज उठाना होगा एक आदर्श नागरिक के कर्तव्य का पालन करना होगा ताकि धर्म में जाति के नाम पर भी भेदभाव उत्पन्न करने वालों का मुंह बंद हो सके उनके मन में एक प्रकार का डर पैदा हो सके या का नाम इस तरह के बोलेंगे तो एक आदर्श नागरिक देश के आदर्श नागरिक उनका विरोध करेंगे धन्यवाद जय हिंद

namaste manyavar desh bhar me ho rahe maa Leaching se sambandhit ghatnaon ko rokne ke liye hamein apne aaspass ki asamajik tatvon ko dur karna hoga kyonki hamare aaspass ke bahut saare ise raajnitik dale chalte hain aur kuch aashik isme ke log hain jo chand paison ke liye is tarah ki ghatnaon ko anjaam dete hain ve nahi chahte hain ki desh me bhaichare utpann log miljul kar rahe hain agar aisa hone lage toh unka jo labh ka jo parde ko nasht ho jaega toh apne labh ke pad ko bachane ke liye deshbhar me is tarah ki ghatnaon ko anjaam dete hain fal khate hain agar hum chahte hain kis tarah ki ghatnaye na ho toh hamein ek aadat na ke kartavyon ka palan karte hue desh ki gali gali ki asamajik tatvon se shuru karte hue sampurna desh ki samajikta ko dur karne ka prayas karna hoga jo raajnitik dal sirf bhashan baazi karte hain dharm ke naam par karwane ya bhedbhav utpann karne ki koshish karte hain unka dhikkar karna hoga unka adhikaar nahi karenge toh is tarah ki bhashan baazi dene walon ki badhotari hogi aur vaah dete rahenge kyonki vaah jante hain ki hamara virodh karne vala koi nahi hai jis prakar kuch samay pehle raj thakare naam ke rajanitigya ne kshetravad kshetravad ki raajneeti ki thi kintu unko aaj tak unki galti ke saza nahi mil payi hai is wajah se hamare desh me kanoon vyavastha par bhi savaliya nishaan lag raha hai ki jo vyakti khuleaam chitravad kshetravad ki raajneeti karta hai hui kaise bach sakte hain ki vaah ek rajanitigya hain hum pratyaksh roop se hi unke bhashano ko sunen dekhiye divya par bhi chala phir kya hua sabut toh hamare saamne hi hai phir unko saza kyon nahi hui is deshdrohi raj thakare ne kis tarah ki samasyaon ko utpann kar diya tha jis samay laakhon majdur hazaro hazaro majdur aatank me aa gaye the matlab ek tarah se vaah bhi maulichi ki tarah hi thi kintu na unko saza ho payi na logo ne awaaz uthayi jo bahut hi galat hai isliye is tarah ki ghatnaon ko rokne ke liye hamein hi awaaz uthana hoga ek adarsh nagarik ke kartavya ka palan karna hoga taki dharm me jati ke naam par bhi bhedbhav utpann karne walon ka mooh band ho sake unke man me ek prakar ka dar paida ho sake ya ka naam is tarah ke bolenge toh ek adarsh nagarik desh ke adarsh nagarik unka virodh karenge dhanyavad jai hind

नमस्ते मान्यवर देश भर में हो रहे मां लीचिंग से संबंधित घटनाओं को रोकने के लिए हमें अपने आस

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  337
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  9  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!